CBSE Class 12 Hindi (Elective) Question Paper 2017: All India

Sep 8, 2017 18:19 IST

CBSE Class 12 Hindi (Elective) Question Paper 2017
CBSE Class 12 Hindi (Elective) Question Paper 2017

CBSE Class 12 Hindi (Elective) 2017 board exam question paper (All India, Set - 1) is available here for download in PDF format. You can download the complete paper with the help of download link given at the end of this article.  CBSE Class 12 Hindi board exam was held on 22nd April, 2017 from 10:30 AM to 01:30 PM.

Format of CBSE Class 12 Hindi (Elective) 2017 board exam question paper

CBSE Class 12 Hindi (Elective) question paper contains 14 questions totaling to 100 marks. All questions must be attempted within 3 hours of duration. There is no overall choice in the question paper; however, internal choices are available in some questions.

Some randomly selected questions from the question paper are given below:

प्रश्न:

(क) 'अपना मालवा' पाठ के आधार पर लिखिए कि आज की सभ्यता नदियों को पानी के गंदे नाले कैसे बना रही है । नदियों के जल को स्वच्छ रखने के लिए आपका क्या योगदान हो सकता है?

(ख)'बिस्कोहर की माटी' में लेखक ने किन कारणों से अपनी माँ की तुलना बत्तख से की है? उन पर प्रकाश डालिए ।

CBSE Class 12 Question Papers 2017: All Subjects

प्रश्न:

“तो हम भी सौ लाख बार बनाएँगे।” सूरदास के इस कथन के आलोक में जीवन-मूल्य के रूप में सकारात्मक दृष्टिकोण के महत्व पर अपने विचार व्यक्त कीजिए।

प्रश्न:

रामचंद्र शुक्ल अथवा निर्मल वर्मा के जीवन और रचनाओं का संक्षिप्त परिचय देते हुए उनकी भाषा-शैली की दो प्रमुख विशेषताएँ बताइए।

अथवा

मलिक मुहम्मद जायसी अथवा जयशंकर प्रसाद के जीवन और रचनाओं का संक्षिप्त परिचय देते हुए उनकी दो प्रमुख काव्यगत विशेषताओं पर प्रकाश डालिए।

प्रश्न:

निम्नलिखित में से किन्हीं दो प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

(क) 'व्यापार यहाँ भी था ।' - 'दूसरा देवदास' पाठ के आधार पर इस कथन का आशय स्पष्ट कीजिए।

(ख) जलालगढ़ लौटने के बाद बड़ी बहुरिया के सामने हरगोबिन ने क्या संकल्प किया और क्यों?

(ग) “धर्म का रहस्य जानना सिर्फ़ धर्माचार्यों का काम नहीं । कोई भी व्यक्ति अपने स्तर पर उस रहस्य को जानने का हकदार है, अपनी राय दे सकता है ।” टिप्पणी कीजिए।

प्रश्न:

निम्नलिखित गद्याश की सप्रसंग व्याख्या कीजिए :

साहित्य का पांचजन्य समर-भूमि में उदासीनता का राग नहीं सुनाता । वह मनुष्य को भाग्य के आसरे बैठने और पिंजड़े में पंख फड़फड़ाने की प्रेरणा नहीं देता । इस तरह की प्रेरणा देने वालों के वह पंख कतर देता है। वह कायरों और पराभव-प्रेमियों को ललकारता हुआ एक बार उन्हें भी समर-भूमि में उतरने के लिए बुलावा देता है।

प्रश्न:

निम्नलिखित में से किन्हीं दो काव्यांशों का काव्य-सौन्दर्य स्पष्ट कीजिए :

(क) सुनते हैं मिट्टी में रस है जिसमें उगती दूब है अपने मन के मैदानों पर व्यापी कैसी ऊब है ।

(ख) हेम कुंभ ले उषा सवेरे भरती दुलकाती सुख मेरे । मदिर ऊँघते रहते जब-जगकर रजनी भर तारा ।

(ग) जे पय प्याइ पोखि कर-पंकज वार वार चुचुकारे। क्यों जीवहिं, मेरे राम लाडिले! ते अब निपट बिसारे । भरत सौगुनी सार करत हैं अति प्रिय जानि तिहारे । तदपि दिनहिं दिन होत झाँवरे मनहूँ कमल हिम मारे।

निम्नलिखित में से किन्हीं दो प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

(क) फाल्गुन मास में जायसी की विरहिणी नायिका की वेदना-अनुभूति का वर्णन कीजिए।

(ख) 'यह दीप अकेला' के आधार पर व्यष्टि और समष्टि पर लेखक के विचारों पर टप्पणी कीजिए ।

(ग) 'मैं जानऊँ निज नाथ सुभाऊ' में राम के स्वभाव की किन विशेषताओं की ओर संकेत किया गया है ? स्पष्ट कीजिए।

Download CBSE Class 12 Hindi (Elective) Question Paper 2017: All India - in PDF format

Show Full Article

Post Comment

Register to get FREE updates

All Fields Mandatory
  • Please Select Your Interest
  • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

X

Register to view Complete PDF

Newsletter Signup

Copyright 2017 Jagran Prakashan Limited.