IAS की परीक्षा के लिए इंडिया ईयर बुक कैसे पढ़ें?

May 3, 2017 16:54 IST

Tips on India Yearbook

IAS की तैयारी में इंडिया ईयर बुक बहुत मददगार साबित हो सकती है। यह किताब IAS प्रीलिम्स की लिए उपयोगी आंकड़े और नवीनतम घटनाओं के लिए एक संदर्भ पुस्तक के रूप में कार्य करती है । लेकिन इंडिया ईयर बुक को पूरा न पढ़के केवल चुनिंदा रूप में ही पढ़ना चाहिए ताकि इसे समय पर प्रभावी ढंग से कवर किया जा सके।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2017 के लिए करंट अफेयर्स: 24 अप्रैल 2017

यहां, IAS परीक्षा के पाठ्यक्रम के अनुसार, हम IAS उम्मीदवारों को इंडिया ईयर बुक को कवर करने के कुछ उपयोगी टिप्स प्रदान कर रहे हैं।

इंडिया ईयर बुक क्या है?

इंडिया ईयर बुक विभिन्न क्षेत्रों में भारत की प्रगति की सबसे व्यापक रिपोर्ट है। यह पुस्तक कृषि से उद्योग, ग्रामीण से शहरी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और संरक्षण, कला और संस्कृति, अर्थव्यवस्था, स्वास्थ्य आदि के विकास और उनके सभी पहलुओं से संबंधित है। इंडिया ईयर बुक में संघ, राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की महत्वपूर्ण घटनाओं की एक डायरी शामिल है जिसमे भारत के हर क्षेत्र से जुड़े हुए महत्वपूर्ण आंकड़े हैं ।

IAS परीक्षा के लिए इंडिया ईयर बुक कैसे पढ़ी जाए?

इंडिया ईयर बुक एक बहुत बड़ी किताब है और पूरी किताब को याद रखना असंभव है, इसलिए सभी IAS उम्मीदवारों को पहले पिछले सालो में पूछे गए उन सवालो को पढ़ना चाहिए जिन्हें इंडिया ईयर बुक से पूछा गया है। उदाहरण के लिए, इंडिया ईयर बुक के पर्यावरण अध्याय से प्रश्न प्रायः IAS  परीक्षा में पूछे गए हैं।
इसके अलावा, छात्र IAS के कुछ पिछले साल के सवालों का भी अध्यन कर सकते हैं, जहां उनका इंडिया ईयर बुक का ज्ञान भी काम आ सकता है। लेकिन इस तरह की व्यापक पुस्तक दो बार पढ़ना, एक बार IAS prelims  के लिए और फिर IAS mains के लिए बेवकूफी होगी।

IAS परीक्षा के अंतिम प्रयास की तैयारी कैसे करें?

इस किताब को पड़ने से पहले, ias के पूर्वे में पूछे गए प्रश्नों को ठीक से पड़ना चाहिए, फिर उन्हें इस किताब के विषय वस्तु के अनुसार सूचीबद्ध करके पड़ना चाहिए। यह अभ्यास छात्रों के  परीक्षा से सम्बंधित दृष्टिकोण को विकसित करने में मदद करता है.

विषय सूची

अध्याय इंडिया ईयर बुक से

भारतीय नीति, अधिकारों के मुद्दों और सामाजिक विकास

2. राष्ट्रीय प्रतीक

3. राजनीति

20. कानून और न्याय

10. शिक्षा

15. खाद्य और नागरिक आपूर्ति

16. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण

21. श्रम, कौशल विकास और रोजगार

23. योजना

24. ग्रामीण और शहरी विकास

28. कल्याण

भूगोल, पर्यावरण और विज्ञान और प्रौद्योगिकी

1. भूमि और लोग

4. कृषि

12. पर्यावरण

25. वैज्ञानिक और तकनीकी विकास

27. जल संसाधन

30. राज्य और संघ शासित प्रदेशों

अर्थव्यवस्था और विकास

8. संचार और सूचना प्रौद्योगिकी 11. ऊर्जा

17. आवास

19. उद्योग

26. परिवहन

अंतर्राष्ट्रीय संबंध और रक्षा

9. रक्षा

18. भारत और विश्व

सामान्य ज्ञान और विविध

5. संस्कृति और पर्यटन

22. मास कम्युनिकेशन

29. युवा मामलों और खेल

30. राज्य और संघ शासित प्रदेशों

31. राष्ट्रीय घटनाक्रम की डायरी

32. सामान्य सूचना

इंडिया ईयर बुक को एक तय अनुक्रम में पढ़ने के बजाय,इस किताब को विषय- अनुसार पढ़ना चाहिए ।  ऊपर  दी गयी टेबल इंडिया ईयर बुक को विषय- अनुसार पढ़ने में छात्रों को  मारगदर्शन प्रदान कर  सकती  है जैसे कि कौनसा अध्याय किस विषय में पढ़ना चाहिए।

इंडिया ईयर बुक को पढ़ते  समय: क्या करना चाहिए

IAS उम्मीदवारों को इंडिया ईयर बुक में दिए गयी सूचनाओं का उपयोग प्रभावी ढंग से करना चाहिए जैसे की अनावश्यक तथ्यों और आंकड़ों को न पढ़े और उन बिंदुओं पर ध्यान न दे जो IAS परीक्षा के लिए बहुत उपयोगी नहीं हैं।

इंडिया ईयर बुक को पढ़ने के लिए नीचे दिए गए कुछ बिंदुओं पर विचार किया जाना चाहिए:

• NCERT से विषय की मूल बातें पढ़ने के बाद, इंडिया ईयर बुक के चयनात्मक अध्यायों को पढ़ना शुरू करें।

IAS Toppers की IAS Prelims की रणनीति

• उन संगठनों पर दिए गए आंकड़े जो नोट करना महत्वपूर्ण हैं जो पहले  पूछे जा चुके है, उन संगठनो का उद्देश्य, निर्माण और भविष्य की संभावनाएं पढ़े, न कि विस्तृत आंकड़े।

• इंडिया ईयर बुक में उल्लेखित सभी नए बिल / अधिनियम / कानून को prs.org वेबसाइट से अलग से पढ़ा जाना चाहिए और उम्मीदवारों को इन नए बिलों पर अलग-अलग नोट्स भी बना लेने चाहिए।

• इंडिया ईयर बुक में उल्लिखित नीतियां और योजनाएं IAS prelims और IAS mains दोनों के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं, लेकिन यहां भी उम्मीदवारो को  उन चुनिंदा योजनाओ को पहले पढ़ना चाहिए जो की  सामाजिक कल्याणकारी योजना है.

• IAS prelims के अनुसार, केवल पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, ऊर्जा, उद्योग, भूगोल से संबंधित अध्यायो को प्राथमिकता दी जानी चाहिए I IAS prelims के परिणाम के बाद भी बाकी किताबें पढ़ी जा सकती हैं।

निष्कर्ष:

अंत में,  इंडिया ईयर बुक भारत में होने वाली सभी नवीनतम घटनाओं पर एक व्यापक विचार रखने के लिए एक उपयोगी स्रोत है। प्राथमिकता के कौशल को इंडिया ईयर बुक पढ़ने में बहुत मदद मिल सकती है क्योंकि इसमें बहुत से आंकड़े हैं और यह सभी को याद रखना बहुत कठिन है, इसलिए इसको विषय- अनुसार पढ़ना चाहिए।

इसके अलावा, भारत सरकार द्वारा एक आधिकारिक उत्पाद होने के नाते IAS  उम्मीदवारों को इस स्रोत का बौद्धिक उपयोग करना चाहिए और इसके बारे में नोट्स बनाने चाहिए।

IAS प्रारंभिक परीक्षा सिलेबस

Show Full Article

Post Comment

Register to get FREE updates

All Fields Mandatory
  • Please Select Your Interest
  • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

X

Register to view Complete PDF

Newsletter Signup

Copyright 2017 Jagran Prakashan Limited.