Search

यूपी बोर्ड परीक्षा 2019: 10 लाख कम आए आवेदन

UP बोर्ड के 2019 की परीक्षा से सम्बंधित फिर से एक चौकाने वाली बात सामने आई है. 2019 में आयोजित होने वाली 10वीं तथा 12वीं की परीक्षाओं में पिछले साल की अपेक्षा परीक्षार्थी घट गए है. तथा यह आंकड़ा छोटी मोटी संख्या का नहीं है बल्कि 10 लाख से अधिक परीक्षार्थी सीधे तौर पर कम हो गए हैं. 10वीं में 32,03,041 और 12वीं में 25,84,957 कुल 57,87,998 छात्र छात्राओं का पंजीकरण हुआ था.

Sep 10, 2018 17:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
10 lakh students dropped out of exam this year
10 lakh students dropped out of exam this year

UP बोर्ड के 2019 की परीक्षा से सम्बंधित फिर से एक चौकाने वाली बात सामने आई है. 2019 में आयोजित होने वाली 10वीं तथा 12वीं की परीक्षाओं में पिछले साल की अपेक्षा परीक्षार्थी घट गए है. तथा यह आंकड़ा छोटी मोटी संख्या का नहीं है बल्कि 10 लाख से अधिक परीक्षार्थी सीधे तौर पर कम हो गए हैं. 10वीं में 32,03,041 और 12वीं में 25,84,957 कुल 57,87,998 छात्र छात्राओं का पंजीकरण हुआ था.

पिछले साल यह संख्या 66.39 लाख थी. इस प्रकार स्टूडेंट्स की संख्या में 8.52 लाख की कमी आई है. पहले 10वीं 12वीं के रजिस्ट्रेशन की तारीख 20 अगस्त तय थी. दरअसल तब तक 10वीं में 31.56 लाख और इंटर में 24.90 लाख छात्र छात्राओं का पंजीकरण हुआ था. लेकिन कुछ ही समय बाद कई स्कूलों ने रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि बढ़ाने का अनुरोध किया था. जिसके अंतर्गत बोर्ड ने 6 सितंबर तक तारीख बढ़ा दी थी.

 

माना जा रहा है कि नकल पर सख्ती और आधार कार्ड की अनिवार्यता आदि के कारण बोर्ड परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आई है. गत वर्ष भी सख्ती का ही नतीजा था जिस कारण बोर्ड परीक्षा 10 लाख से अधिक छात्र छात्राओं ने बीच में ही छोड़ दी थी.

2018 में यूपी बोर्ड की परीक्षा को नकलविहीन कराने के लिए तमाम कड़े इंतजाम किए गए थे. जिसके चलते परीक्षार्थियों ने बीच में ही परीक्षा छोड़ दी थी. साथ ही 2019 में पूरी उम्मीद है कि सरकार अपनी नकल विहीन परीक्षा को कराए जाने के लिए चला रही नीति को और अधिक प्रभावी बनाएगी. जिससे नकल कर पास होने वाले स्टूडेंट्स के लिए मुश्किलें बढ़ेंगी.

UP बोर्ड पंजीकरण 2019 का आकड़ा:

क्या है आंकड़ा UP बोर्ड माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि 10वीं तथा 12वीं के पंजीकरण की आखिरी तिथि 20 अगस्त को थी. रात 12 बजे तक होने वाले पंजीकरण को स्वीकार किया गया है. पंजीकरण समाप्त होने के बाद 2019 की परीक्षा के लिए 56 लाख 46 हजार छात्र छात्राओं के पंजीकरण का आंकड़ा सामने आया है. इसमे हाईस्कूल में 31.56 लाख और इंटरमीडिएट में 24.90 लाख छात्र छात्राओं का पंजीकरण हुआ है. उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार 10 लाख से अधिक परीक्षार्थियों की संख्या घट गई है.

गत बर्ष में पंजीकरण का आंकड़ा:

बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़े के अनुसार 2018 में 10वीं तथा 12वीं की परीक्षा में 66.39 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे. जिसमें 10वीं में 36,56,272 और 12वीं में 29,82,996 यानि 6639268 परीक्षार्थी पंजीकृत थे. जबकि वर्ष 2017 की परीक्षा में इंटर और हाईस्कूल में कुल 60 लाख 61 हजार 34 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए. चूंकि कई साल से लगातार बोर्ड की परीक्षाओं में परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ रही थी. यानी पंजीकरण लगातार बढ़ रहा था. लेकिन, अचानक से इस वर्ष एकाएक 10 लाख परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आई है.

निष्कर्ष: UP बोर्ड में इस साल छात्रों के पंजीकरण की संख्या में कमी जहाँ निराशाजनक है, वहीँ UP बोर्ड द्वारा चलाए नक़ल विहीन परीक्षा के इस मुहीम से छात्रों को आगे कई लाभ मिलने वाले हैं.

यूपी बोर्ड कक्षा 10 गणित पिछले 5 वर्षों के साल्व्ड प्रश्न पत्र

Related Stories