Search

एकाग्रता शक्ति बढ़ाने के 5 ख़ास टिप्स

Aug 23, 2018 14:22 IST
    How to increase concentration?
    How to increase concentration?

    किसी भी क्षेत्र में व्यक्ति की सफलता को निर्धारित करने वाली सबसे महत्वपूर्ण, मूल और निर्णायक कारक उसकी एकाग्रता शक्ति होती है.

    उदाहरण के लिए महाकाव्य महाभारत में एक दिन, पांडवों और कौरवों को तीरंदाजी की शिक्षा देने के दौरान गुरु द्रोणाचार्य ने अपने विद्यार्थियों की एकाग्रता शक्ति को परखने का फैसला किया.

    द्रोणाचार्य ने पेड़ की शाखा पर लकड़ी की एक चिड़िया लगा दी. वे एक– एक कर अपने विद्यार्थी को बुलाते और उससे उस चिड़िया की आँख भेदने को कहते. विद्यार्थियों द्वारा आँख भेदते समय गुरु द्रोणाचार्य उनसे पूछते आप को क्या दिखाई दे रहा है? उस समय हर एक विद्यार्थी ने उत्तर दिया और  किसी को पेड़ की शाखाएं नजर आतीं, किसी को पूरी चिड़िया और उसके आस– पास की चीजें लेकिन सिर्फ अर्जुन ही था जिसने कहा था कि  उसे सिर्फ चिड़िया की आंख दिखाई दे रही है.

    ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि सिर्फ वही था जो चिड़िया  की आंख (लक्ष्य) पर खुद को एकाग्र कर बाकी सभी विकर्षणों को पीछे छोड़ पाया था। यह उसकी एकाग्रता शक्ति थी जिसने उसे उस समय के सबसे बड़े तीरंदाजों में से एक बनाया था।

    विद्वानों का मानना था कि अल्बर्ट आइंस्टीन विशेष तकनीक का प्रयोग करते थे जिसके जरिए वे किसी भी चीज पर आस– पास के विकर्षणों को नजरअंदाज करते हुए एक घंटे से अधिक समय तक ध्यान केंद्रित कर सकते थे ।

    फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने के आसान तरीके

      Recommended Video: Motivational video for students

    हम सब यह बात जानते हैं कि सिक्स पैक एब्स (six pack abs) एक दिन में नहीं बनाया जा सकता, इसे बनाने में समय, प्रयास और समर्पण लगता है. इसी प्रकार किसी को भी अपनी एकाग्रता शक्ति बढ़ाने के लिए समय, प्रयास और अभ्यास की जरूरत होती है.

    एकाग्रता शक्ति को बढ़ाने के लिए नीचे कुछ बेहद कारगर तकनीक बताए जा रहे हैं. इन तकनीकों का नियमित अभ्यास कर आप अपनी एकाग्रता शक्ति को बढ़ा सकते हैं.

    1. स्पाइडर वेब तकनीक

    Image Source: greatist.com; listupon.com; femmesonly.com

    एकाग्रता में सुधार लाने की स्पाइडर वेब तकनीक सबसे प्रसिद्ध तकनीकों में से एक है. इस तकनीक के नियमित अभ्यास से आप किसी भी प्रकार की घबराहट से बच सकते हैं.

    यदि आप मकड़ी के किसी जाल को चम्मच से छूते हैं तो मकड़ी प्रतिक्रिया करेगी और देखने लगेगी कि जाल को कौन सी चीज छू रही है. लेकिन यही काम यदि आप कई बार करेंगे तो मकड़ी को एहसास हो जाएगा कि कोई कीड़ा– मकोड़ा नहीं है और फिर वह देखना बंद कर देगी.

    इसी प्रकार जब आप अपने वर्कस्टेशन के सामने बैठते हैं तो पांच मिनट का समय लगाएं और संभावित व्याकुलता के स्रोतों के बारे में सोचें. इसके बाद अपने मस्तिष्क को निर्देश दें कि वह ऐसी व्याकुलताओं को नजरअंदाज कर दे.

    उदाहरण के लिए जब आप पढ़ाई कर रहे होंगे, कोई दरवाजा जोर से बंद कर देगा तो कोई आपको पास आकर कुछ गिरा देगा. इसलिए पढ़ाई शुरु करने से पहले आप अपने दिमाग में यह बैठा लें कि ऐसी घटनाएं होंगी लेकिन आप उन पर ध्यान नहीं देंगे.

    2. कीवर्ड तकनीक       

          

    Image Source: klankosova.tv 

    यह बेहद सरल लेकिन प्रभावी तकनीक है. इस तकनीक में आपको सिर्फ जारी कार्य से संबंधित एक अनूठा शब्द (या कीवर्ड) ढूंढ़ना होता है.

    जब कभी भी आपको लगे कि आपका ध्यान भटक रहा है, आप अपने मन में उसी शब्द को बार– बार तब तक दुहराते रहें जब तक कि आप जारी काम पर वापस न आ जाएं.

    अगर आप फेल हो गये हैं तो अब आगे क्या सोचा है ?

    कीवर्ड चुनने का कोई खास नियम नहीं है और आप इसे अपनी सुविधा के अनुसार चुन सकते हैं.

    उदाहरण के लिए आप पियानो बजाना सीख रहे हैं और अचानक आपका ध्यान किसी चीज की वजह से टूटने लगता है फिर आप तब तक म्युजिक, म्युजिक शब्द मन ही मन दुहराते रहते हैं जब तक कि आप फिर से पियानो नहीं बजाना शुरु कर देते.

    3. गहरी नींद, छोटा ब्रेक और ध्यान

    Image Source: greatist.com; listupon.com; femmesonly.com

    अनुसंधान से पता चलता है कि जब कोई व्यक्ति सोता है या आराम करता है, तब उस व्यक्ति का मस्तिष्क रीबूट (reboots) हो जाता है. आराम करने के बाद व्यक्ति का मस्तिष्क अधिक कारगर तरीके से काम करने लगता है. औसत दर्जे का शारीरिक श्रम करने वालों के लिए एक दिन ( 24 घंटे) में 7 – 8 घंटों की नींद पर्याप्त होती है. बहुत अधिक सोने से आपकी एकाग्रता शक्ति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

    काम करने के दौरान या पढ़ाई करते समय छोटे ब्रेक लें या 15 से 30 मिनटों की नींद ले लें. ऐसा करने से आपका मस्तिष्क तरोताजा हो जाएगा और आपकी एकाग्रता शक्ति भी बढ़ेगी.

    क्या आप जानते है इन 10 बड़े सफलता के सूत्रों को

    एकाग्रता शक्ति में सुधार लाने के लिए ध्यान सिद्ध तकनीक है. काम के दौरान आराम करते समय, अपने मन में किसी अनूठी चीज चाहे वह कोई निशान हो, प्रतीक या मूर्ति हो, पर ध्यान लगाने की कोशिश करें. यह योग का सबसे सरल तकनीक है जिसका अभ्यास आप कभी भी और कहीं भी कर सकते हैं और अपनी एकाग्रता शक्ति में सुधार ला सकते हैं.

    4. दिमाग वाले खेल

    Image Source: reveelium.com

    सुडोकू, शतरंज, सोलिटेयर जैसे कुछ खेल हैं जो न सिर्फ आपके दिमाग को तरोताजा करते हैं बल्कि आपकी एकाग्रता शक्ति को भी बढ़ाते हैं. इन सभी खेलों के लिए बहुत एकाग्रता चाहिए होती है. इन खेलों के खेलने वाले व्यक्ति की निर्णय करने की क्षमता में भी सुधार होता है.

    हम सभी इस बात को जानते हैं कि लगातार व्यायाम करने से व्यक्ति की मांसपेशियां मजबूत बन जाती हैं. इसी प्रकार हमारा मस्तिष्क भी मांसपेशी माना जा सकता है और शतरंज, क्रॉसवर्ड पजल्स और तस्वीर वाली पहेलियों आदि जैसे खेल को बार– बार खेल कर लंबे समय के लिए उच्च एकाग्रता प्राप्त की जा सकती है. आप ये खेल स्मार्टफोन पर कभी भी और कहीं भी खेल सकते हैं.

    5. शारीरिक व्यायाम और मस्तिष्क विकसित करने वाले आहार

    Image Source: viraltabloid.in; dubtrack.fm; readersdigest.ca

    स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है. अगर कोई व्यक्ति बीमार है या कई प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त है तो वह अपने मन को एकाग्र नहीं कर सकता. इसलिए एकाग्रता में सुधार लाने के लिए शारीरिक व्यायाम और स्वस्थ आहार बहुत जरूरी है.

    तेज कदम से टहलना, जंपिंग जैक्स, दौड़ लगाने जैसे एरोबिक व्यायाम आपके मस्तिष्क में ऑक्सीजन की सांद्रता बढ़ाते हैं. एरोबिक्स व्यायाम को अपने दैनिक जीवन के सुखद भाग का हिस्सा बनाएं. यह आपको फिट बनाए रखने में मदद करेगा और आपकी एकाग्रता शक्ति को भी बढ़ाएगा. ताली बजाकर, शेर वाली हंसी हंस कर, हंसी के साथ गहरी सांस वाले व्यायाम से वार्म अप करें. ये बेहद हल्के व्यायाम हैं जो आपके तनाव के स्तर को कम करने में भी मदद करते हैं.

    व्यायाम के अलावा स्वस्थ आहार भी एकाग्रता के स्तर में सुधार लाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. कुछ ऐसे भोजन हैं जिनका व्यक्ति के मन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. बेर, ब्रोकली, एवाकाडो, साबूत अनाज, मछली और कद्दू के बीज ऐसे भोजन के कुछ उदाहरण हैं. जंक फूड खाने से बच कर और ऐसे भोजन को अपने आहार में शामिल कर, आप अपनी एकाग्रता शक्ति में सुधार कर सकेंगे.

     निष्कर्ष

    इसलिए प्रिय छात्रों, याद रखें एकाग्रता शक्ति में सुधार करना एक धीमी प्रक्रिया है और इसके लिए आपको उपरोक्त उल्लिखित तकनीकों का रोजाना अभ्यास करने की जरूरत है. शुरुआत में इन तकनीकों का इस्तेमाल करने से आपको कोई बदलाव महसूस नहीं हो सकता है लेकिन समय के साथ जीवन के सभी क्षेत्रों में आपके प्रदर्शन में अवश्य सुधार होगा.

    इस आर्टिकल को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

      DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

      X

      Register to view Complete PDF

      Newsletter Signup

      Copyright 2018 Jagran Prakashan Limited.
      This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK