Search

एएमसीएटी एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट – आयु, एलिजिबिलिटी और पैटर्न

Aug 24, 2018 15:36 IST

अब वो दिन नहीं रहें जब सिर्फ एकेडमिक क्वालिफिकेशन ही अपने सपनों को पूरा करने के लिए काफी हुआ करते थे. आज के इस कठिन प्रतियोगिता के दौर में ग्रेजुएट तथा प्रीमियर इंजीनियरिंग कॉलेजों और बी-स्कूलों से डिस्टिंक्शन में पास आउट उम्मीदवारों को भी अच्छी जॉब के लिए अपनी योग्यता को साबित करना पड़ता है. ऐसी परिस्थितयों में ही एएमसीएटी एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट के महत्व का पता चलता है. तो आइये यह जानने की कोशिश करते हैं कि एएमसीएटी या एस्पिरिंग माइंड्स कंप्यूटर एप्टीट्यूड टेस्ट किस तरह उम्मीदवारों की मदद टॉप एमएनसी या फॉर्च्यून 500 कंपनी में अपनी ड्रीम जॉब हासिल करने में करता है?

एएमसीएटी क्या है ?

एएमसीएटी एक ऐसा टेस्ट है जो टॉप एमएनसी में नौकरी करने की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों की योग्यता,टेक्नीकल स्किल्स,मेंटल कैपेबिलिटी और रीजनिंग स्किल्स की टेस्ट करता है.एएमसीएटी को एस्पिरिंग माइंड्स एसेसमेंट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा एक स्टैण्डर्ड एप्टीट्यूड टेस्ट के रूप में आयोजित किया जाता है, जिसके माध्यम से एक संभावित उम्मीदवार के विभिन्न प्रकार के स्किल्स की माप और तुलना की जा सकती है. यह टेस्ट ऑर्गनाइजेशन को किसी जॉब के लिए सही उम्मीदवार को स्क्रीन करने में मदद करता है.

कंप्यूटर एडेप्टिव टेस्ट क्या है ?

अन्य प्रवेश परीक्षाओं या टेस्ट से अलग यह एक कंप्यूटर एडेप्टिव टेस्ट है. एक कंप्यूटर एडेप्टिव टेस्ट उम्मीदवार की परफॉर्मेंस के आधार पर कठिन या आसान होता है.उदाहरण के लिए  यदि आप पहले प्रश्न का सही उत्तर देते हैं, तो आपके लिए प्रस्तुत किया गया अगला प्रश्न पिछले प्रश्न की तुलना में थोड़ा कठिन होगा.इसके विपरीत  यदि आपका उत्तर गलत है, तो टेस्ट के हिस्से के रूप में आपको प्राप्त होने वाला अगला प्रश्न पिछले प्रश्न की तुलना में अपेक्षाकृत आसान होगा.

एएमसीएटी एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट : एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

एएमसीएटी एक एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट है जो उम्मीदवार के स्किल्स को प्रमाणित कर एक एम्प्लॉयर के समक्ष उम्मीदवार की योग्यता को एक स्टैण्डर्ड रूप में प्रस्तुत करता है. इसलिए कोई भी ऐसा उम्मीदवार जिसके पास वैलिड डिप्लोमा,ग्रेजुएशन,पोस्ट ग्रेजुएशन तथा डॉक्टरेट की डिग्री हो,वे इस परीक्षा में बैठने के योग्य हैं. इस परीक्षा में बैठने की कोई निश्चित या अधिकतम आयु सीमा नहीं है. साथ ही इस परीक्षा में बैठने की संख्या भी निश्चित नहीं है. लेकिन एएमसीएटी देने वाले उम्मीदवारों को दो परीक्षा के बीच कम से कम 3 महीने का गैप अवश्य रखना चाहिए.

एएमसीएटी क्यों?

पिछले दशक से जब भी एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट की बात आती है तो एएमसीएटी इंडस्ट्री नॉर्म बन चुका है. यह नौकरी के लिए उपयुक्त और योग्य उम्मीदवार हायर करने वाली कंपनियों तथा अच्छी नौकरी की तलाश कर रहे उम्मीदवारों के बीच एक कड़ी (पुल) का कार्य करता है. साथ ही यह उम्मीदवारों को उनके स्किल सेट के आधार पर सही नौकरी के लिए सही एम्प्लॉयर तक पहुँचने में मदद करता है. ये उम्मीदवार तथा रिक्रूटर्स दोनों के लिए विन विन की सिचुएशन पैदा करता है.

उम्मीदवारों के लिए

यह परीक्षा उमीदवारों को एक विस्तृत रिपोर्ट कार्ड प्रदान करता है जिसमें उम्मीदवार के मेरिट तथा डिमेरिट दोनों का समान रूप से वर्णन रहता है. यह उम्मीदवार को यह बताता है कि किन किन क्षेत्रों में वे बहुत अच्छे हैं तथा इंडस्ट्री स्टैण्डर्ड के अनुसार किन क्षेत्रों में सुधार की आवश्यकता है? उदाहरण के लिए अगर कोई टेक्नीकल उम्मीदवार अपने कम्युनिकेशन स्किल में कमी के कारण रिक्रूट नहीं हो पाता है,तो एएमसीएटी ऐसे कमजोर क्षेत्रों की पहचान कर अपनी सही प्रतिक्रिया के माध्यम से उम्मीदवारों को खुद को सुधारने का मौका देता है.

रिक्रूटर्स  के लिए

सामान्यतः ट्रेडिशनल एप्टीट्यूड टेस्ट केवल उम्मीदवारों की वर्बल कम्प्रिहेंसन और लॉजिकल रीजनिंग का टेस्ट करते हैं.लेकिन एएमसीएटी के अंतर्गत पर्सनाल्टी टेस्ट और स्किल डोमेन पर भी फोकस किया जाता है. इस परीक्षा में उम्मीदवारों के स्किल सेट को मात्रात्मक तरीके से प्रस्तुत किया जाता है. इसके आधार पर रिक्रूटर्स आवश्यक नौकरी प्रोफाइल के साथ उम्मीदवार के स्किल्स सेट का मिलान करते हैं और पूरी तरह स्किल्स के मेल खाने पर उन्हें इंटरव्यू के लिए कॉल किया जाता है. लगभग 700 से अधिक कम्पनियों ने एंट्री लेवल रोल्स के लिए उम्मीदवारों के चयन हेतु एएमसीएटी टेस्ट को कम्पलसरी टेस्टिंग मेकेनिज्म के रूप में अपनाया है.

एएमसीएटी टेस्ट शिड्यूल

वैसे एएमसीएटी का कोई फिक्स्ड प्रोग्राम नहीं होता है.लेकिन इसका आयोजन पूरे भारत वर्ष में हर महीने लगभग 32 शहरों में किया जाता है.आम तौर पर इस टेस्ट को प्रोफेशनल्स और स्टूडेंट्स के बिजी शेड्यूल को देखते हुए शनिवार और रविवार को विभिन्न स्लॉट में आयोजित किया जाता है.परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों की संख्या के आधार पर परीक्षा की आवृत्ति एक शहर से दूसरे शहर में भिन्न होती है. देश के आईटी हब  बैंगलोर और हैदराबाद जैसे शहरों के लिए टेस्ट अन्य शहरों की तुलना में अधिक बार आयोजित किये जाते हैं.

एएमसीएटी-टेस्ट पैटर्न और फॉर्मेट

एएमसीएटी एक 3-घंटे का एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट है, जिसे कंप्यूटर-आधारित फॉर्मेट में आयोजित किया जाता है. इस परीक्षा में पांच प्रमुख मॉड्यूल शामिल हैं जिनमें से तीन अनिवार्य हैं जबकि दो विकल्पों का चुनाव उम्मीदवार को अपनी इच्छा और इंडस्ट्री की जरूरतों के अनुसार करना होता है.अनिवार्य मॉड्यूल में इंग्लिश कम्प्रिहेंसन, लॉजिकल रीजनिंग और क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड शामिल है.

इंजीनियरिंग ग्रेजुएट

मैनेजमेंट ग्रेजुएट्स

अन्य विषयों में  ग्रेजुएट्स

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग

मार्केटिंग

मार्केटिंग

कंप्यूटर साइंस

ह्यूमन रिसोर्स

एक्सेल

इलेक्ट्रॉनिक्स एंड सेमीकंडक्टर

ऑपरेशंस

फिजिक्स

टेली कम्युनिकेशंस

बेसिक स्टेटिसटिक्स

कंप्यूटर

इलेक्टिकल

बैंक एंड फायनेंसियल सर्विसेज

केमिस्ट्री

मेकेनिकल


बायोलॉजी

इंडस्ट्रियल


हाउसकीपिंग

प्रोडक्शन


फूड प्रोडक्शन

मेटालॉर्जिकल


फ्रंट ऑफिस

पॉलीमर


फूड एंड बिभरेज सर्विसेज

ऑटोमोटिव


फार्मास्यूटिकल

इंस्ट्रुमेंटेशन


फायनांस एंड अकाउंटिंग

एएमसीएटी के लिए एग्जाम फॉर्मेट

पेपर

टाइम /क्वेश्चन्स

टाइम

मैक्सिमम मार्क्स

इंग्लिश कम्प्रिहेंशन

18 क्वेश्चन्स

16 मिनट

900 मार्क्स

क्वांटिटेटिव एबिलिटी

16 क्वेश्चन्स

18 मिनट

900 मार्क्स

लॉजिकल एबिलिटी

14 क्वेश्चन्स

16 मिनट

900 मार्क्स

ऑप्शनल मोड्यूल्स

अनिर्धारित

अनिर्धारित

900 मार्क्स

टोटल

3 घंटे

 

3600 मार्क्स

एएमसीएटी के बाद क्या?

एएमसीएटी टेस्ट देने के बाद उम्मीदवार अपने अकाउंट्स में लॉग इन करके आधिकारिक वेबसाइट से अपना एएमसीएटी स्कोरकार्ड देख या डाउनलोड कर सकते हैं. अपनी अंतिम प्रोफाइल स्कोर उपलब्ध होने के बाद  एएमसीएटी एडमिन द्वारा इसे उन कंपनियों को भेजा जाता है जो आवश्यक स्किल सेट वाले उम्मीदवारों की तलाश में हैं. उम्मीदवार के स्कोर के आधार पर रिक्रूटर्स की तरफ से उम्मीदवार को  इंटरव्यू कॉल आना शुरू हो जायेगा. उम्मीदवार का स्कोर जितना अधिक होगा उसके लिए इंटरव्यू के लिए कॉल अधिक से अधिक आएगा. सामान्यतः स्टैण्डर्ड के अनुसार 90+ मार्क्स को एएमसीएटी के लिए एक  सम्मानजनक स्कोर माना जाता है.

एएमसीएटी को क्वालीफाई करने के बाद नौकरियां कहां मिल सकती हैं?

एएमसीएटी स्कोर के आधार पर हायर करने वाली कंपनियों में बड़ी कम्पनियां, मध्यम आकार की कम्पनियां और यहाँ तक कि स्टार्ट-अप जैसी नवीन कम्पनियां भी शामिल हैं.इसलिए एएमसीएटी उम्मीदवारों के पास नौकरी के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं.

आईटी सर्विसेज और सॉल्यूशंस, कंसल्टिंग, कंज्यूमर एंड फाइनेंशियल सर्विसेज और ऑनलाइन मीडिया आदि विभिन्न इंडस्ट्री में वे जॉब कर सकते हैं.कुछ प्रमुख कंपनियां जो कि एएमसीएटी स्कोर के आधार पर हायर करती हैं उनमें कॉग्निजेंट, एचसीएल, माइक्रोसॉफ्ट, बेंजू, उबर, मोफिसिस, फुलर्टन इंडिया, एरिसेंट, क्विकर और कई अन्य शामिल हैं.

पिछले कुछ दशकों से  एएमसीएटी एक लोकप्रिय एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट बन गया है जो अपने स्किल सेट के आधार पर नौकरी की तलाश करने वाले उम्मीदवारों को उनके लिए उपयोगी रिक्रूटर्स से जोड़ता है.

हर महीने एएमसीएटी स्कोर के आधार पर उम्मीदवारों को लगभग 1.5 लाख इंटरव्यू कॉल किये जाते हैं. इस बात से यह पूरी तरह स्पष्ट है कि उम्मीदवारों के लिए एम्पलॉएबिलिटी टेस्ट बहुत महत्वपूर्ण है.

करियर गाइडेंस और काउंसलिंग से संबंधित वीडियो के लिए  देखते रहें www.jagranjosh.com/videos

DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

X

Register to view Complete PDF