एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तरीय (10 +2) परीक्षा 2014: बेहतर तैयारी के लिए रणनीति

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) ने सत्र 2014 के अपने संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर (10 +2) परीक्षा को संचालित करने के लिए पूरी तरह से तैयारी कर ली है. इसकी लिखित परीक्षा दो तिथियों-2 नवंबर 2014 और 9 नवंबर 2014 को  संपन्न होगी. एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तरीय (10 +2) परीक्षा डाटा एंट्री ऑपरेटर और लोअर डिवीजनल क्लर्क के पदों को भरने के लिए आयोजित की जाती है, जो सरकार के विभिन्न विभागों में नियुक्त किये जाते हैं. इच्छुक उम्मीदवार 19 अगस्त 2014 तक अपने आवेदन पत्र भी भेज चुके होंगें. नजदीक आ चुकी इस परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए उम्मीदवारों को अब बिना समय गवाएं परीक्षा की तैयारी आरंभ करने की जरूरत है.

एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तरीय (10 +2) परीक्षा-2014 की लिखित परीक्षा में चार भाग होंगे. प्रत्येक भाग में एक-एक अंक के 50-50 प्रश्न होते हैं. इस तरह परीक्षा में कुल 200 प्रश्न पूंछे जाएंगें जो कुल 200 अंकों के होंगे.
 
लिखित परीक्षा के चार भाग निम्नलिखित हैं:
• सामान्य बुद्धिमत्ता
• अंग्रेजी भाषा
• मात्रात्मक योग्यता
• सामान्य जानकारी

उम्मीदवारों को अंतिम कट ऑफ बनाने के लिए प्रत्येक भाग में स्कोर करने की जरूरत है. प्रत्येक प्रश्न के गलत जवाब पर एक ऋणात्मक अंक होता है. जो उम्मीदवार आगे एक अच्छी परीक्षा के लिए देख रहे हैं, कुछ सुझाव और रणनीति पर गौर कर सकते है जो उनकी तैयारी में उन्हें मदद कर सकता है. जिससे कि वे परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं.

अपने संग्रह को ध्यानपूर्वक अच्छा करें : किसी भी परीक्षा के लिए तैयारी करते समय किताबें परीक्षार्थी के सच्चे दोस्त हैं. आपको परीक्षा के विषयों के लिए एकदम सही किताबें खोजने की जरूरत है. ऐसा करने के लिए आप  इंटरनेट से खोज कर सकते हैं. किताबों के अलावा आप विभिन्न अन्य ऑनलाइन स्रोतों से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. आपको प्रश्न पद्धति के बारे में एक स्पष्ट विचार प्राप्त करने के लिए पिछले वर्ष के प्रश्न और मॉक प्रश्न पत्रों के माध्यम से जानने की जरूरत है. आप अपने उपयोग के अनुसार उपयोगी डेटा और जानकारी एकत्र करने के लिए एक शक्तिशाली हथियार के रूप में इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं.

विषयों को अच्छी तरह तैयार करें : उम्मीदवार द्वारा विषयों की अच्छी पकड़ के लिए परीक्षा का प्रश्न-पत्र सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है. अगर आपको अच्छी तरह पता है कि आप क्या कर रहे हैं, तो आप अंततः अपने लिए सर्वोत्तम प्रबंधन कर सकते हैं. परीक्षा का  सामान्य बुद्धि खंड वास्तव में तार्किक विचार खंड है, जहां उम्मीदवार के तर्क और तर्क बनाने की क्षमता की जाँच की जाती है. उम्मीदवार को अपने विषयों के साथ सचेत रहना चाहिए और परीक्षा केन्द्र पर अनावश्यक परेशानी से बचने के लिए उन्हें ठीक तरह पूरा करना चाहिए.

ढीले शिकंजे अच्छी तरह कस लें : यह आपके ढीले सिरों को मजबूत करने का समय है. यदि आपको लगता है कि आप, विषयों में से किसी में कमजोर हैं, तो यह इस पर काम करने के लिए सबसे अच्छा समय है. आप अपने आप को उस विषय के लिए प्रशिक्षित करने के लिए पर्याप्त सामग्री प्राप्त कर सकते हैं जिसे क्रैक  करना मुश्किल लगता है. अगर यह अंग्रेजी भाषा है, जो व्याकरण, शब्दावली और पठनबोध परीक्षण जरूरत पर जोर देता है, आपको खुद को कसने और भाषा से प्यार करने के लिए नई चीजें को प्राप्त करने  की आवश्यकता है. जिससे आप डरते हैं, उससे छुटकारा पाने के लिए एक ही रास्ता है. उसका सामना करें.

खुद को समसामयिक घटनाओं से अवगत रखें :  समाचार हर पल आता है, और परीक्षा देने के लिए इच्छुक उम्मीदवारों का  सभी आने वाले नवीनतम समाचार के साथ संपर्क में रहना बहुत जरुरी है ताकि आपको अपनी परीक्षा के किसी भी भाग में पीछे हटने की जरुरत न हो. यह एक ऐसा विषय है जहाँ बहुत से उम्मीदवार कठिनाई महसूस  करते हैं, क्योंकि यह परीक्षार्थी के पूरे नियंत्रण में नहीं है. आपको समसामयिक घटनाओं से पूरी तरह अवगत  रहने की आवश्यकता है ताकि आप अपने समग्र परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकें. यह खंड हल करने में कम समय भी लगता है, जो इसे उम्मीदवार के लिए बोनस खंड बनता है.

विश्वास के साथ अपने सवालों के जवाब दें : अगर आप अपने जवाब के लिए पूरी तरह से सुनिश्चित नहीं हैं तो प्रश्न का उत्तर न दें. हर सवाल के गलत मूल्यांकन का एक ऋणात्मक अंक होता है जो अन्ततः आपका  स्कोर काम  सकता है. जब आप सवालों को हल करने का  प्रयास कर रहे हैं, तब आपको  बहुत ही सटीक और आश्वस्त होने की जरूरत है. अगर आप अपने उत्तर से  पूरी तरह आश्वस्त नहीं हैं तो उस प्रश्न पर अपना समय बर्बाद  न करें और आगे बढ़ें . आप बाद में  अन्य ज्ञात सवालों को समाप्त करने के बाद  वापस उस प्रश्न के लिए आ सकते हैं.

चीजों की एक सही अनुसूची बनाएं : परीक्षा के लिए एक निश्चित समय सीमा है. आपको उसके अनुसार खुद को तैयार करने की जरूरत है. परीक्षा में समय प्रबंधन मॉक प्रश्न पत्रों और नमूना प्रश्न पत्रों का लगातार प्रयास के माध्यम से ही किया जा सकता है. आपको अपनी तैयारी के समय को इस तरीके से सारणीबद्ध करने की जरूरत है कि आप एक दिन में एक मॉक प्रश्न या नमूने प्रश्न पत्र हल करें. यदि आप प्रत्येक प्रश्न पत्र को पूरा करने के लिए लिया गया समय ध्यान रखेंगे, तो आप पाएंगे कि अंततः आपका अपनी तैयारी के समय के साथ सुधार हुआ है और आप वास्तव में प्रदर्शन कर सकते हैं जबकि यह मायने रखता है.

एक समय में छोटे लक्ष्यों को प्राप्त करने का प्रयास करें: अगर आप के मन में बड़ा लक्ष्य है, तो आपको छोटे लक्ष्यों पर पहले ध्यान देने की जरूरत है और पहले उन्हें प्राप्त करने के लिए प्रयास करें. आपको तैयारी करते समय प्रत्येक दिन के लिए लक्ष्य निर्धारित करने और उसे पूरा करने की जरूरत है. परीक्षा के लिए अपने को तैयार करने के अलावा यह आपको आवश्यक आत्मविश्वास और आपके आगामी लक्ष्यों के लिए ताकत प्रदान करेगा.

अपने आप को बतायेँ आप सर्वोत्तम हैं : अगर आपको विश्वास हैं, तो बहुत ऊंचाई तक पहुंच सकते हैं. अतः यह किसी भी उम्मीदवार से स्वीकार्य नहीं है कि वह पीछे हटें और निराश हों. अपने आप को प्रेरित करने और कड़ी तैयारी की राह को वापस पाने के लिए, अपने आप को बताने की जरूरत है कि आप सबसे अच्छे हैं. आपको अपने वांछित लक्ष्य तक पहुँचने के लिए लहर के खिलाफ तैरना है जहां भारी प्रतिस्पर्धा हो सकती है.

अन्य बातों के लिए समय दीजिए: यद्यपि यह आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है कि इस परीक्षा में सफल हों और इसकी सफलता के लिए जो भी हो उसे करें भी. परन्तु आपको अपनी पढ़ाई और अन्य गतिविधियों के बीच एक संतुलन रखने की जरूरत है, जो  आपको तरोताज़ा और फिर से जीवंत कर सकता हैं, जो आपकी तैयारी को और भी बेहतर बना सकता है. अपने आपको अध्ययन से थोड़ा विराम दें और वह करें जो आपको पसंद हो, जिससे आप उनमें सांत्वना प्राप्त करें और अध्ययन करने के लिए ख़ुशी-ख़ुशी वापस आएं.

घबराएं नहीं : बहुत से उम्मीदवार परीक्षा देते वक़्त या परीक्षा से पहले बहुत ज्यादा घबरा जाते हैं, इस तरह के अभ्यास का ध्यान रखें और जिस प्रश्न का उत्तर देना है उस पर ध्यान केंद्रित करें. अन्य विकल्प हमेशा वहाँ उपलब्ध हैं.

 

Related Categories

Also Read +
x