एसएससी सीएचएसएल 2015 के परिणाम आज होंगे घोषित; ssc.nic.in पर देखें परिणाम

आज कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी), सीएचएसएल परिणाम 2015 की घोषणा करने करने वाला है. लोअर डिवीज़न क्र्लक (एलडीसी) और डाटा एण्ट्री ऑपरेटर (डीईओ) पदों के लिए सीएचएसएल के परिणाम घोषित किए जायेंगे. उम्मीदवार जो एलडीसी/डीईओ पदों की परीक्षा में शामिल हुए थे एसएससी की अधिकारिक वेबसाइट पर अपने परिणाम प्राप्त कर सकते हैं.

आयोग ने एसएससी सीएचएसएल (संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर) के लिए 01, 15, 22 नवंबर 2015 और 06 दिसंबर 2015 को लिखित परीक्षा आयोजित की थी. पोस्टल असिस्टेंट, सोर्टिंग असिस्टेंट, डाटा एण्ट्री ऑपरेटर  और एलडीसी के विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन संपूर्ण राष्ट्र के विभिन्न परीक्षा केन्द्रों में हुआ था.

चयन प्रक्रिया: चयन प्रक्रिया लिखित परीक्षा, कौशल परीक्षा और टायपिंग परीक्षा के द्वारा की जाएगी. एसएससी सीएचएसएल परीक्षा 2015 चार भागों में 200 प्रश्नों को शामिल किया गया था जिनके कुल अंक 200 थे. प्रत्येक प्रश्न पत्र में समान संख्या में प्रश्न (50) शामिल थे. परीक्षा में चार प्रश्न पत्र थे जिनके नाम जनरल इंटेलीजेंस, इंग्लिश लेंगवेज, क्वानटेटिव एप्टीट्यूड, और जनरल अवेयरनेस थे. पूछे गए प्रश्न बहु विकल्प वस्तुनिष्ठ थे और प्रत्येक प्रश्न के साथ ऋणात्मक अंक जुड़े थे.  

लोअर डिवीज़न क्लर्क का पद वर्णन:

एलडीसी का संबंध कार्यलय के नियमित कार्यों से होता है तथा कार्यालय में प्रत्येक दिन के कार्य की जि़म्मेदारी सहजता और निपुणता के साथ निभाना आवश्यक है. उन्हें कार्यालय में आवंटित कार्यों को सरलता से निष्पादित करना आवश्यक है और उनसे डाटा को संभालने, फाईल और दस्तावेजों को कार्यालय की उचित जगह में रखने को कहा जाता है. वे डाटा समूह और संबंधित कार्यालय/विभाग के लिए पुस्तकालय की सूचना से जानकारी प्राप्त करने के लिए उत्तरदायी हैं. उनसे कभी-कभी कार्यालय कर्मचारियों जो कि कार्यालय के विभिन्न विभागों में कार्य करते हैं कि सैलरी स्लिप बनाने को भी कहा जाता है. उनसे कभी-कभी अपने वरिष्ठों के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेजों और फाईल को भेजने और प्राप्त करने जैसा काम भी करना होता है.

डाटा एण्ट्री ऑपरेटर पद वर्णन
लोअर डिवीज़न क्र्लक पद की तरह ही डाटा एण्ट्री ऑपरेटर का एक अन्य पद है. इस पद के लिए चयनित उम्मीदवारों के लिए अंग्रेज़ी या किसी भी क्षेत्रीय भाषा में वार्तालाप करना आवश्यक है. इसके साथ ही कार्यालयों में प्रयुक्त हो रहे कम्प्यूटर एप्लीकेशंस और टायपिंग के साथ कम्प्यूटर का पर्याप्त ज्ञान होना आवश्यक है. किसी भी शासकीय कार्यालय में डीईओ एक महत्वपूर्ण घटक है जो कंपनी और उसके स्टाफ के रिकॉर्ड  को नियमित आधार पर रखने के लिए उत्तरदायी है.

Related Categories

Also Read +
x