फेडेरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेकनेलॉजी में प्रवेश लें. पढाई के साथ इंज्वाय लें

स्विट्जरलैंड की खूबसूरत वादियों के बीच स्थित स्विस फेडेरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेकनेलॉजी इंजीनियरिंग, साइंस, मैथमेटिक्स और मैनेजमेंट की शिक्षा देने वाला एक विश्वस्तरीय संस्थान है। ज्यूरिख की इस पब्लिक यूनिवर्सिटी में 17 हजार से अधिक विद्यार्थी विभिन्न विषयों की शिक्षा हासिल कर रहे हैं।

हमेशा रहा है आगे

विश्व के जो शिक्षण संस्थान अपनी स्थापना के कुछ दिनों बाद ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने में सफल हुए हैं, यह विश्वविद्यालय इन्हीं में से एक है। इस यूनिवर्सिटी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जितनी भी संस्थाएं विश्वविद्यालयों की रैंकिंग तय करती हैं, उन्होंने हमेशा अच्छे शीर्ष क्रम में स्थान दिया है। यहां से पढकर निकले छात्रों की सफलता अन्य विद्यार्थियों को आकर्षित करती है।

रैंकिंग में भी दम

इस यूनिवर्सिटी को इंजीनियरिंग शिक्षा देने वाले विश्व के संस्थानों में शुरुआती 10 केन्द्रों में शामिल माना जाता है। अगर यूरोपीय विश्वविद्यालयों की बात की जाए तो साइंस एवं टेकनेलॉजी के मामले में यह यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज के बाद दूसरे स्थान पर मानी जाती है। सन 2012 की क्यूएस व‌र्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में इसे विश्वस्तर पर 13वीं पोजीशन दी गई है। वहीं टाइम्स हायर एजूकेशन ने इसी क्रम में इसे 15वां स्थान दिया है।

नेक उद्देश्य

इस विश्वविद्यालय की स्थापना स्विस फेडेरल गवर्नमेंट द्वारा सन 1854 में की गई थी। उद्देश्य रखा गया था इंजीनियरिंग एवं साइंस की अच्छी शिक्षा युवाओं को देना एवं विद्यार्थियों और उद्योगों के मध्य सामंजस्य बनाना। यूनिवर्सिटी आज भी उसी लक्ष्य पर कायम है। विश्वविद्यालय इंटरनेशनल एलायंस ऑफ रिसर्च यूनिवर्सिटीज, सीईएसएईआर और टॉप इंडस्ट्रियल मैनेजर्स फॉर यूरोप सहित कई समूहों का सदस्य है।

शिक्षा एवं भाषा

विश्वविद्यालय में प्रवेश पूर्वनिर्धारित पैमाने के आधार के बाद ही दिया जाता है। जिसमें अच्छे शक्षिक रिकॉर्ड वाले छात्रों को वरीयता दी जाती है। यूनिवर्सिटी में अंडर ग्रेजुएट लेवल की शिक्षा जर्मन एवं अंग्रेजी भाषा में दी जाती है, वहीं मास्टर्स डिग्री की शिक्षा मुख्यत: अंग्रेजी भाषा में ही प्रदान की जाती है।

कैंपस

विश्वविद्यालय के दो कैंपस हैं। यहां की मुख्य इमारत का निर्माण सन 1860 में किया गया था। यूनिवर्सिटी की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए नए कैंपस को बनाया गया है। यह कैंपस शहर से कुछ दूरी पर है। नए कैंपस में मैटेरियल साइंस, आर्किटेक्चर, सिविल इंजीनियरिंग, फिजिक्स, बायोलॉजी और केमिस्ट्री के डिपार्टमेंट हैं। दोनों कैंपस छात्रों को दी जाने वाली सुविधाओं के मामले में किसी भी शिक्षण संस्थान से कमतर नहीं हैं।

प्रमुख विषय

इस विश्वविद्यालय से संबंधित छात्रों एवं प्रोफेसरों ने 20 से अधिक नोबेल प्राइज जीते हैं। एलबर्ट आइंस्टीन भी इन्हीं में से एक हैं।

शरद अगिन्होत्री

Related Categories

Also Read +
x