SSC CGL 2018-19 को क्रैक करने के लिए 5 दैनिक रूटीन प्रैक्टिसेज

हर वर्ष लाखों उम्मीदवार सरकारी नौकरी पाने के लिये SSC CGL परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं. चूँकि इस परीक्षा में अत्यधिक उम्मीदवारों की संख्या के कारण प्रतिस्पर्धा का स्तर बहुत अधिक हैं, इसीलिए परीक्षा की तैयारी के दौरान उम्मीदवारों को कुछ महत्वपूर्ण दैनिक रूटीन प्रैक्टिसेज पर फोकस करना चाहिए. कर्मचारी चयन योग (SSC) के द्वारा जारी आधिकारिक नोटीफीकेशन के अनुसार, SSC CGL टियर-1 की परीक्षा को 25 जुलाई से 20 अगस्त 2018 तक आयोजित किया जायेगा. अत: उम्मीदवारों के लिए SSC CGL टियर-1 परीक्षा की तैयारी शुरू करने का समय आ गया हैं. 

इस आर्टिकल में, हमने 5 दैनिक रूटीन प्रैक्टिसेज को सूचीबद्ध किया हैं जिसकी सहायता से आप SSC CGL 2018 की परीक्षा को उत्तीर्ण कर सकते हैं. आइये- इन प्रैक्टिसेज के विवरण पर एक नज़र डालते हैं-

1. एक स्टडी प्लान को बनाये और उसका अनुसरण करें

SSC CGL 2018 परीक्षा के सभी चरणों में उत्तीर्ण होने के लिए, उम्मीदवारों को एक ठोस स्टडी प्लान के साथ इसकी तैयारी शुरू करनी चाहिए. एक बेहतर स्टडी प्लान को बनाने के महत्वपूर्ण तत्व हैं- परीक्षा से सम्बंधित चरणों का नवीनतम परीक्षा पैटर्न और विस्तृत सिलेबस. प्रश्न पत्र के सभी अनुभागो के लिए एक उचित स्ट्रेटेजी और समय-सारिणी का अनुसरण कीजिये. एक बात याद रखें कि एक अच्छे स्टडी प्लान को इस प्रकार से तैयार करना चाहिए कि वह आपके दैनिक रूटीन के अनुकूल हो. इस स्टडी प्लान को बनाने का उद्देश्य, इसमें तैयार की गयी दैनिक प्रक्रिया को अभ्यास में लाना होना चाहिए. प्रयास कीजिये कि इसमें अन्य गतिविधियों को न जोड़ा जाएँ क्योंकि ऐसा करने से आपकी तैयारी करने की स्ट्रेटेजी ख़राब हो सकती हैं.

Trending Now

SSC CGL परीक्षा को 30 दिनों में उत्तीर्ण करने हेतु विस्तृत स्टडी-प्लान

2. पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्र और ऑनलाइन मॉक टेस्ट्स का अभ्यास करें

पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों और मौक टेस्ट्स को प्रतिदिन हल करने की आदत डालें, इससे आपकी स्पीड और सटीकता में सुधार होगा. पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों को हल करना इसलिए आवश्यक हैं क्योंकि इनमें से कई प्रश्नों को परीक्षा में बार-बार पूछा जाता हैं. नियमित अभ्यास से इस परीक्षा में उच्च स्कोर और बेहतर सटीकता को हांसिल किया जा सकता हैं. इसके अलावा, प्रतिदिन 2-3 ऑनलाइन मॉक टेस्ट्स का भी अभ्यास कीजिये, ऐसा करने से आपको ऑनलाइन परीक्षा में प्रश्न-पत्र को तेज़ी से हल करने में मदद मिलेगी क्योंकि SSC CGL टियर-1 की परीक्षा का आयोजन बहुविकल्पीय प्रश्नों के आधार पर ऑनलाइन माध्यम से होगा. परीक्षा के लिए सही अध्ययन सामग्री को चुनने में सतर्कता बरतें. SSC CGL की तैयारी के लिए केवल सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों की ही मदद लें.

Strategy for SSC CGL exam

 

3. इंग्लिश के ज्ञान को बढ़ाने और सुधारने के लिए प्रतिदिन पढ़ें

SSC CGL परीक्षा की तैयारी के दौरान, दैनिक रूप से पढने की आदत आपकी कई प्रकार से मदद कर सकती हैं. यह प्रत्यक्ष रूप से आपकी दो अनुभागो- जनरल अवेयरनेस व जनरल नॉलेज और इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रिहेंशन की तैयारी करनें में मदद करेगी. जनरल अवेयरनेस से सम्बंधित सभी नवनीतम जानकारी के लिए, मैगजीन्स, न्यूज़-पेपर्स और अन्य न्यूज़ चैनल्स को नियमित रूप से देखें. न्यूज़-पेपर को पढना एक अच्छा विकल्प हैं परन्तु मात्र ठोस तथ्यों को पढ़ना, जोकि प्रतिदिन घटित होते है, आपकी पढने की स्किल्स को विकसित करने के लिए पर्याप्त नहीं हैं. अत: फीचर-स्टोरीज, एडिटोरियल में छपे ओपिनियन, बिज़नस मैगजीन्स इत्यादि को पढने में वरीयता दीजिये. ऐसा करने से आपकी इंग्लिश को तेज़ी से पढने और समझने की स्किल्स में बढोत्तरी होगी. एक बार जब आप उपरोक्त अध्ययन सामग्री को पढने के अभ्यस्त हो जायेंगे उसके बाद कंप्यूटर पर इंग्लिश लिटरेचर और इससे सम्बंधित पैराग्राफ को पढना भी बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इन दिनों अधिकतर परीक्षा कंप्यूटर के माध्यम से ऑनलाइन आयोजित की जाती हैं.

SSC परीक्षा में सामान्य जागरूकता की तैयारी हेतु विश्वसनीय स्त्रोत

4. नोट्स बनाये और दोहराएँ

रटकर पढने की बजाय, तथ्यों को याद रखने के लिए नोट्स और माइंड-मैप्स को बनायें और साथ ही बार-बार इसे दोहराएँ. चारों अनुभागो के सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं को एक नोटबुक में नोट करते रहिये. उदहारण के लिए- क्वांटिटेटिव एपटीट्युड अनुभाग के लिए शॉर्टकट मेथड्स और फोर्मुले; इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग से नए शब्द और उनके अर्थ; जी०ए० & जी०के० से महत्वपूर्ण तथ्य और दिनांक. इन अनुभाग में, रिवीज़न का एक महत्वपूर्ण रोल हैं. एक बार पढने से आपको ज्यादा लाभ नहीं होगा. इस सभी बिन्दुओं को, आपको समय-समय पर रिवाइज करके याद रखना होगा.

5. महत्वपूर्ण टॉपिक्स की प्रैक्टिस करें और अपने कमज़ोर क्षेत्रों को मज़बूत करें

उम्मीदवारों को सभी चारों अनुभागों के विस्तृत सिलेबस का विश्लेषण करने की आवश्यकता हैं और उसके बाद पहले महत्वपूर्ण टॉपिक्स को तैयार करना शुरू करें. महत्वपूर्ण टॉपिक्स की प्राथमिकता को तय करने से, परीक्षा की सिस्टेमेटिक ढंग से तैयारी करने में मदद मिलेगी. महत्वपूर्ण टॉपिक्स की सूची बनाने के बाद, अपने मज़बूत और कमज़ोर क्षेत्रों का विश्लेषण कीजिये और अधिकांश समय उन्हें सुधारने में बितायें. अपना अधिक समय कमज़ोर क्षेत्रों के लिए व कम समय को मज़बूत क्षेत्रों की तैयारी में लगायें. 

SSC CGL 2018 Tier-1 परीक्षा: तैयारी की युक्तियाँ और रणनीति

याद रखें कि इस परीक्षा में कोई अनुभागीय समय सीमा और अनुभागीय कटऑफ नहीं हैं. अत: आपका मुख्य कार्य कुछ भी करके अपना स्कोर बढ़ाना हैं. इस बात को सुनिश्चित कीजिये कि आपने प्रतिदिन एक उचित स्टडी प्लान का अनुसरण किया हैं जिसमें पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्र, ऑनलाइन मॉक टेस्ट्स और सर्वोत्तम अध्ययन सामग्री सम्मिलित हैं. प्रतिदिन पढना, नोट्स बनाते रहना और उन्हें प्रतिदिन रिवाइज करना, आपकी तैयारी की नीति  का एक हिस्सा होना चाहिए. इन सभी प्रैक्टिसेज का सामायिक प्रबंधन करने से आपको SSC CGL 2018 की परीक्षा को उत्तीर्ण करने में अवश्य ही मदद मिलेगी.

यदि आपको “SSC CGL 2018 को क्रैक करने की 5 दैनिक रूटीन प्रैक्टिस के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी हो तो SSC परीक्षा 2018 के बारे में इस तरह की अधिक जानकारी के लिए www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर विजिट करें.

Related Categories

Also Read +
x