Advertisement

एकाग्रता शक्ति बढ़ाने के 5 ख़ास टिप्स

किसी भी क्षेत्र में व्यक्ति की सफलता को निर्धारित करने वाली सबसे महत्वपूर्ण, मूल और निर्णायक कारक उसकी एकाग्रता शक्ति होती है.

उदाहरण के लिए महाकाव्य महाभारत में एक दिन, पांडवों और कौरवों को तीरंदाजी की शिक्षा देने के दौरान गुरु द्रोणाचार्य ने अपने विद्यार्थियों की एकाग्रता शक्ति को परखने का फैसला किया.

द्रोणाचार्य ने पेड़ की शाखा पर लकड़ी की एक चिड़िया लगा दी. वे एक– एक कर अपने विद्यार्थी को बुलाते और उससे उस चिड़िया की आँख भेदने को कहते. विद्यार्थियों द्वारा आँख भेदते समय गुरु द्रोणाचार्य उनसे पूछते आप को क्या दिखाई दे रहा है? उस समय हर एक विद्यार्थी ने उत्तर दिया और  किसी को पेड़ की शाखाएं नजर आतीं, किसी को पूरी चिड़िया और उसके आस– पास की चीजें लेकिन सिर्फ अर्जुन ही था जिसने कहा था कि  उसे सिर्फ चिड़िया की आंख दिखाई दे रही है.

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि सिर्फ वही था जो चिड़िया  की आंख (लक्ष्य) पर खुद को एकाग्र कर बाकी सभी विकर्षणों को पीछे छोड़ पाया था। यह उसकी एकाग्रता शक्ति थी जिसने उसे उस समय के सबसे बड़े तीरंदाजों में से एक बनाया था।

विद्वानों का मानना था कि अल्बर्ट आइंस्टीन विशेष तकनीक का प्रयोग करते थे जिसके जरिए वे किसी भी चीज पर आस– पास के विकर्षणों को नजरअंदाज करते हुए एक घंटे से अधिक समय तक ध्यान केंद्रित कर सकते थे ।

फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने के आसान तरीके

 

हम सब यह बात जानते हैं कि सिक्स पैक एब्स (six pack abs) एक दिन में नहीं बनाया जा सकता, इसे बनाने में समय, प्रयास और समर्पण लगता है. इसी प्रकार किसी को भी अपनी एकाग्रता शक्ति बढ़ाने के लिए समय, प्रयास और अभ्यास की जरूरत होती है.

एकाग्रता शक्ति को बढ़ाने के लिए नीचे कुछ बेहद कारगर तकनीक बताए जा रहे हैं. इन तकनीकों का नियमित अभ्यास कर आप अपनी एकाग्रता शक्ति को बढ़ा सकते हैं.

1. स्पाइडर वेब तकनीक

Image Source: greatist.com; listupon.com; femmesonly.com

एकाग्रता में सुधार लाने की स्पाइडर वेब तकनीक सबसे प्रसिद्ध तकनीकों में से एक है. इस तकनीक के नियमित अभ्यास से आप किसी भी प्रकार की घबराहट से बच सकते हैं.

यदि आप मकड़ी के किसी जाल को चम्मच से छूते हैं तो मकड़ी प्रतिक्रिया करेगी और देखने लगेगी कि जाल को कौन सी चीज छू रही है. लेकिन यही काम यदि आप कई बार करेंगे तो मकड़ी को एहसास हो जाएगा कि कोई कीड़ा– मकोड़ा नहीं है और फिर वह देखना बंद कर देगी.

इसी प्रकार जब आप अपने वर्कस्टेशन के सामने बैठते हैं तो पांच मिनट का समय लगाएं और संभावित व्याकुलता के स्रोतों के बारे में सोचें. इसके बाद अपने मस्तिष्क को निर्देश दें कि वह ऐसी व्याकुलताओं को नजरअंदाज कर दे.

उदाहरण के लिए जब आप पढ़ाई कर रहे होंगे, कोई दरवाजा जोर से बंद कर देगा तो कोई आपको पास आकर कुछ गिरा देगा. इसलिए पढ़ाई शुरु करने से पहले आप अपने दिमाग में यह बैठा लें कि ऐसी घटनाएं होंगी लेकिन आप उन पर ध्यान नहीं देंगे.

2. कीवर्ड तकनीक       

      

Image Source: klankosova.tv 

यह बेहद सरल लेकिन प्रभावी तकनीक है. इस तकनीक में आपको सिर्फ जारी कार्य से संबंधित एक अनूठा शब्द (या कीवर्ड) ढूंढ़ना होता है.

जब कभी भी आपको लगे कि आपका ध्यान भटक रहा है, आप अपने मन में उसी शब्द को बार– बार तब तक दुहराते रहें जब तक कि आप जारी काम पर वापस न आ जाएं.

अगर आप फेल हो गये हैं तो अब आगे क्या सोचा है ?

कीवर्ड चुनने का कोई खास नियम नहीं है और आप इसे अपनी सुविधा के अनुसार चुन सकते हैं.

उदाहरण के लिए आप पियानो बजाना सीख रहे हैं और अचानक आपका ध्यान किसी चीज की वजह से टूटने लगता है फिर आप तब तक म्युजिक, म्युजिक शब्द मन ही मन दुहराते रहते हैं जब तक कि आप फिर से पियानो नहीं बजाना शुरु कर देते.

3. गहरी नींद, छोटा ब्रेक और ध्यान

Image Source: greatist.com; listupon.com; femmesonly.com

अनुसंधान से पता चलता है कि जब कोई व्यक्ति सोता है या आराम करता है, तब उस व्यक