30 की उम्र से पहले अवश्य सीख लें इन 5 टाइम मैनेजमेंट स्किल्स को

वस्तुतः हमारा जीवन जीने के लिए बहुत कम है और समय का प्रबंधन समय की सख्त आवश्यक्ता है.

अमेरिकी पेशेवर मुक्केबाज मुहम्मद अली ने समय प्रबंधन के विषय में अपने विचार कुछ इस तरह प्रेषित किये हैं -

हाँ! समय प्रबंधन उसे कहते हैं जिसमें आप अपने जीवन के बाकी हिस्सों को खर्च करने का फैसला करते हैं. समय का सदुपयोग तथा दुरूपयोग दोनों आपके हांथों में है. आप अपनी इस कीमती संपत्ति के मालिक पूरी तरह आप ही हैं. आप अपने समय का सही सदुपयोग कर मिल का पत्थर हासिल कर अपने नियति तक में बदलाव ला सकते हैं.

नीचे 30 की उम्र तक पहुँचने से पहले समय के सही प्रबंधन की कला में माहिर होने के लिए कुछ टिप्स दिए गए हैं. इन टिप्स की मदद से आप अपने करियर ग्राफ को बड़ी आसानी से सफलता के शिखर तक ले जा सकते हैं.

1. चीजों को कल पर छोड़ना बंद कीजिये

एक स्पेनिश कहावत है कि कल अक्सर सप्ताह का सबसे व्यस्त दिन होता है. वतुतः कोई कार्य विलंब

से करने तथा उसे टालने के पीछे सबसे बड़ी समस्या यह है कि यह व्यक्ति को आलसी और अक्षम बनाता चला जाता है. इस आदत को नहीं छोड़ने वाले लोग आपना कार्य समय सीमा के अंदर पूरा नहीं करने के कारण आलोचनाओं के शिकार होते हैं. आपको अपने  इस आदत में सुधार लाते हुए समय प्रबंधन की कला सीखनी चाहिए. इसके लिए आप निम्नांकित कार्य कर सकते हैं.

  • अपने दिन की योजना बनाएं
  • कार्यों को प्राथमिकता दें.
  • काम करने के बारे में सोचना और चिंता करने की बजाय उसे करना शुरू करें.
  • सबसे कठिन कार्य के साथ अपना दिन शुरू करें और इसे जल्द से जल्द पूरा करें.

2. अपनी खुद की समय सीमा और योजना निर्धारित करें

आप खुद की समय सीमा तथा योजना निर्धारित करना शुरू कीजिये. इससे कार्य विलंब से करने की आदत से छुटकारा मिलेगा. छात्र जीवन, पारिवारिक जीवन या फिर पेशेवर जीवन हर जगह सफलता पाने के लिए अपने निर्धारित कार्यों की समय सीमा निश्चित करें और उसे उसी समय सीमा में पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध भी रहें. व्यावसायिक जीवन में समय सीमा के अन्दर कार्य करना सफलता के पैमानों में से एक है.  समय सीमा का उल्लंघन अक्सरहां दंड का कारण बनता है.

समय सीमा के भीतर काम को पूरा करने के लिए आपको प्राथमिकताओं के अनुसार अपने कार्यो को सूचीबद्ध करना चाहिए.

3. भटकाव से बचें

अपने समय का सही प्रबंधन नहीं कर पाने का मुख्य कारण भटकाव की स्थिति है. आगे चलकर यह बहुत बड़ी चिंता का विषय बनता है. हफ़िंगटन पोस्ट के अनुसार एक कर्मचारी दिन में लगभग 6.3 घंटे अपने ईमेल,मोबाइल सन्देश, फेसबुक और चैट जैसे विकल्पों पर लगाता है. काम से अलग इस तरह के भटकाव आपका फोकस आपके काम पर बहुत कम कर देगा तथा दिनों दिन आप कार्य करने में अक्षम होते जायेंगे जो आगे चलकर आपकी असफलता का मुख्य कारण बनेगा. अतः जरुरत मात्र ही इनका इस्तेमाल करें तथा हमेशा इस भटकाव और टाईमपास करने की प्रवृति से अपने आप को दूर रखें.

4. आत्म नियन्त्रण

काम के बीच में थोड़े समय का ब्रेक लेना उचित है और यह आपको एनेर्जेटिक बनाता है. लेकिन ब्रेक का मतलब यह नहीं कि 15 मिनट के ब्रेक की जगह आप 1 घंटे का ब्रेक ले रहे हैं. इससे आपके समय की बर्बादी के साथ साथ आपकी कार्य क्षमता भी बढ़ती है. आत्म-नियंत्रण की कला से जीवन के कई क्षेत्रों की समस्याओं का हल बड़ी आसानी से किया जा सकता है.

एक मध्ययुगीन दार्शनिक और धर्मशास्त्री सेंट थॉमस एक्विनास के अनुसार,स्वयं-नियंत्रित लोग स्वस्थ और स्वयं को खुश रखने के लिए सही चीजें करने में सक्षम होते हैं.

कॉर्पोरेट जीवन में या फिर जहाँ कहीं भी आप जाते हैं, आपके व्यवहार का निर्धारण आपके आत्म-नियंत्रण के आधार पर ही किया जाता है.

5. मेडिटेशन

ध्यान उन लोगों के लिए एक रामबाण के रूप में कार्य करता है जो समय के प्रबंधन और कार्य जीवन के मध्य संतुलन बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. ध्यान के कुछ मिनट निश्चित रूप से आपको केंद्रित और शांत रहने में मदद करते हैं. अतः दिन में थोड़े समय के लिए मेडिटेशन करके आप अपने सभी कार्यों को कुशलतापूर्वक समय सीमा के अंतर्गत कर सकते हैं.

इस कार्टून स्ट्रिप के नीचे पढ़ें, जिसमें एक मालिक अपने कर्मचारी को समय प्रबंधन का रहस्य बता रहा है. केवल ध्यान की मदद से ही आप अपना अपेक्षित कार्य बिना किसी मदद के समय सीमा के अन्दर पूरा कर सकते हैं. 

हम ध्यान की अनुशंसा करते हैं. चूँकि भविष्य के बारे में सोचना और योजना बनाना मनुष्य की नसैर्गिक प्रवृति है. ध्यान मन को शांत करता है तथा हमें वर्तमान क्षण में वापस लाता है.

 

समय का प्रबंधन करने की कुंजी आपके भीतर है और आप अपने कुछ गलत आदतों को दूर कर अपने समय का प्रबंधन उचित तरीके से कर सकते हैं.आखिरकार यह सबसे बहुमूल्य संपत्ति है जो आपके भविष्य को बनाने की क्षमता रखती है. ध्यान रखिये यह आपके उस तरीके पर निर्भर करता है जिसमें आप इसका प्रयोग करते हैं.

Related Categories

Also Read +
x