फ्रेश ग्रेजुएट्स के लिए ये हैं कुछ उम्दा जॉब ऑप्शन्स

भारत में जॉब मार्केट की वास्तविक स्थिति

अगर हम दुनिया की आबादी की बात करें तो चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है और जल्दी ही भारत दुनिया की 5 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो जायेगा. हमारे देश में जैसे ही हर वर्ष कॉलेज का सेशन समाप्त होता है, लाखों फ्रेश ग्रेजुएट्स एक नई पेशेवर दुनिया में कदम रखते हैं और अपना मनचाहा करियर या कोई स्टार्टअप शुरू करने के लिए आने वाली चुनौतियों का सामना करने में जुट जाते हैं. लेकिन, स्कूल और कॉलेज की दुनिया से पेशेवर दुनिया बिलकुल अलग होती है और फिर, भारत जैसे देश में जहां जनसंख्या विस्फोट की स्थिति बनी हुई है, जॉब मार्केट का कॉम्पीटीशन दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है. एक सर्वे के मुताबिक वर्ष 2019 तक भारत में करीबन 19 मिलियन लोग बेरोजगार होंगे. यह डाटा हैरान करने वाला है. ऐसे में अगर स्टूडेंट्स को सही गाइडेंस मिल जाए तो उनके लिए जॉब हासिल करना कुछ आसान हो सकता है. दरअसल, सभी स्टूडेंट्स अपनी पसंद और काबिलियत के मुताबिक ही जॉब या पेशा चुनना चाहते हैं, लेकिन कुछ ऐसी जॉब्स या पेशे हैं जो अधिकांश फ्रेश ग्रेजुएट्स के लिए काफी सूटेबल होते हैं. इस आर्टिकल में फ्रेश ग्रेजुएट्स के लिए ऐसे ही कुछ उम्दा जॉब ऑप्शन्स की चर्चा पेश है. आइये आगे पढ़ें:

मैनेजमेंट का प्रोफेशन है बेस्ट चॉइस

मैनेजमेंट जॉब्स में आप खुद काम करने के बजाय अन्य कर्मचारियों के काम के माध्यम से अपने टारगेट्स प्राप्त करते हैं. उदाहरण के लिए, कोई प्रोडक्शन मैनेजर कोई भी मशीन खुद नहीं चलाता है फिर, भले ही उनके पास अपने अधीनस्थ प्रत्येक कर्मचारी से कहीं बेहतर उस मशीन को चलाने की काबिलियत हो. इसी तरह, कोई सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट मैनेजर कोड लाइन्स खुद नहीं लिखता है लेकिन, वह इस कार्य में काफी निपुण होता है. मैनेजमेंट जॉब्स में लोग केवल एक ही काम करते हैं और वह काम है अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को अच्छे ढंग से मैनेज करना ताकि निर्धारित टारगेट्स प्राप्त किये जा सकें.

टॉप मैनेजमेंट कॉलेज: आईआईएम, आईआईटी, एक्सएलआरआई, एफएमएस, आईआईएफटी और सिम्बायोसिस.

इंवेस्टमेंट बैंकिंग में मिलता है शानदार सैलरी पैकेज

किसी इंवेस्टमेंट बैंकर की जॉब उन ट्रेड्स और व्यापारों को आपस में जोड़ना होता है जिनमें इन्वेस्टर्स के लिए फाइनेंसिंग की जरूरत होती है और ये फाइनेंस बांड्स या स्टॉक के रूप में उपलब्ध करवाया जाता है. इंवेस्टमेंट बैंकर्स रूपये की सहायता से और ज्यादा रुपया कमाते हैं और प्राइवेट कॉरपोरेशन्स को इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग्स (IPO) के माध्यम से आम जनता से धन एकत्रित करने में मदद करते हैं. ये ऑफरिंग्स कठोर फाइनेंशल रेगुलेशन्स के अधीन होती हैं और जो कंपनियां IPOs जारी करती हैं, उन्हें सख्त शर्तें पूरी करनी होती हैं.

इंवेस्टमेंट बैंकिंग के टॉप कॉलेज: नई दिल्ली में भारतीय विदेश व्यापार संस्थान, शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज (दिल्ली विश्वविद्यालय), गुरु गोबिंद सिंह कॉलेज ऑफ कॉमर्स (दिल्ली विश्वविद्यालय), फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज (दिल्ली विश्वविद्यालय), नरसी मोंजी इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज, आईएक्सएलआरआई, स्कूल ऑफ़ बिजनेस एंड ह्यूमन रिसोर्सेज, इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट.

जॉब फेयर्स में जॉब पाने के कुछ असरदार तरीके

आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग को फ्रेश ग्रेजुएट्स करते हैं काफी पसंद

आजकल तकरीबन सभी इंडस्ट्रीज में आईटी इंजीनियर्स को काम पर रखा जाता है ताकि टेक्नोलॉजी और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम्स को क्रिएट, इन्सटॉल या ट्रबलशूट किया जा सके. आईटी इंजीनियर्स अपनी टेक्निकल जानकारी का इस्तेमाल विभिन्न किस्म की टेक्नोलॉजिकल चुनौतियों का समाधान तलाशने के लिए करते हैं. वे नई टेक्नोलॉजीज भी तैयार कर सकते हैं जिनमें सॉफ्टवेयर प्रोग्राम्स और नेटवर्किंग सोल्यूशन्स शामिल होते हैं.

टॉप आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज: इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी आदि.

करियर में कामयाबी के लिए ग्रेजुएट्स जरुर सीखें ये स्किल्स

मेडिकल लाइन भी ज्वाइन कर सकते हैं फ्रेश ग्रेजुएट्स

मेडिकल का पेशा लोगों को खुद स्वस्थ रहने के साथ ही अन्य लोगों का स्वास्थ्य बनाये रखने के लिए अहम भूमिका निभाता है. किसी डॉक्टर का काम एक्सीडेंट होने पर जख्मी लोगों को तुरंत सेवायें उपलब्ध करवाना, शरीर के विभिन्न अंगों जैसे नाक, कान, आंख, दिल आदि के रोगों में एक्सपर्ट ट्रीटमेंट देने के साथ-साथ रोजाना सामान्य बीमारियों का इलाज करना होता है. डॉक्टर अपने ज्ञान और उपलब्ध रिसोर्सेज का बेहतरीन इस्तेमाल करते हैं. वे रोगियों की देखभाल करते समय अन्य हेल्थ प्रोफेशनल्स एवं इंस्टिट्यूट्स के साथ पूरा सहयोग करते हैं और निरंतर अपने पेशे में होने वाली गतिविधियों तथा विकास से अपडेटेड रहते हैं ताकि अपने मरीजों को लगातार बेहतरीन सेवायें देकर उन्हें दुबारा स्वस्थ कर दें.

टॉप मेडिकल कॉलेज: ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स), क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज (सीएमसी), आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज (एएफएमसी), जेआईपीएमईआर कॉलेज, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (एमएएमसी), लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी), मद्रास मेडिकल कॉलेज, ग्रांट मेडिकल कॉलेज, कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज (केएमसी), श्री रामचंद्र मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर, किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज

लॉ की फील्ड में मिलेंगे कई शानदार ऑप्शन्स

किसी लॉयर या वकील का काम अपने क्लाइंट को कानूनी मामलों की राय देना और उनकी कानून संबंधी समस्याओं या केसों को सुलझाना होता है. निजी मामलों से लेकर कॉरपोरेट मामलों तक और सभी प्रकार की अदालती सुनवाईयों में किसी वकील का काम अपने क्लाइंट के हितों की रक्षा करना होता है. अदालत के अलावा भी, वकील कई किस्म के सिविल और क्रिमिनल मुकदमों से संबंधित कार्य कर सकते हैं. इसलिये, लॉ के क्षेत्र में कई किस्म के जॉब ऑप्शन्स होते हैं. किसी वकील का रोजाना का काम अपने  क्लाइंट्स की जरूरतों और उनके लॉ संबंधी कार्यक्षेत्र पर निर्भर करता है. 

टॉप लॉ कॉलेज: नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया, फैकल्टी ऑफ़ लॉ (दिल्ली विश्वविद्यालय), सिम्बायोसिस लॉ स्कूल, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, स्कूल ऑफ लॉ क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, एमिटी लॉ स्कूल. 

जर्नलिज्म में हैं विशेष करियर ऑप्शन्स

किसी जर्नलिस्ट का काम जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी अपने क्षेत्र, राज्य, देश और विश्व में होने वाली सभी प्रकार की घटनाओं और कार्यक्रमों की सूचना लोगों तक पहुंचाना होता है. इस काम में कई किस्म के नैतिक मसले भी जुड़े होते हैं क्योंकि हमारे व्यकितगत हित और सामाजिक हित तथा पसंद और ना-पसंद आपस में अक्सर टकराते हैं. किसी जर्नलिस्ट को हमेशा निष्पक्ष रहना चाहिए और न्यूज़ को उसके वास्तविक रूप में लोगों तक पहुंचाना चाहिए. जर्नलिज्म में डेस्क जॉब और फील्ड जॉब के ऑप्शन्स शामिल होते हैं और आप अपनी पसंद के अनुसार उक्त दोनों किस्म के जॉब ऑप्शन्स में से किसी में भी अपना करियर शुरू कर सकते हैं.

जर्नलिज्म के टॉप कॉलेज: इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन (आईआईएमसी), लेडी श्री राम कॉलेज में जर्नलिज्म विभाग, एशियाई कॉलेज ऑफ जर्नलिज्म, एमिटी स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन, जामिया मिलिया इस्लामिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन.

फैशन डिजाइनिंग है आज के जमाने की मांग

एक फैशन डिज़ाइनर के तौर पर, आपका काम कई किस्म की ड्रेसों को तैयार करना और उनपर खूबसूरत डिज़ाइन बनाना तथा उन ड्रेसों को विभिन्न रूप और आकार देना होता है. आजकल आप फैशन डिजाइनिंग में 3 मुख्य क्षेत्रों में से अपनी पसंद का कार्य क्षेत्र चुन सकते हैं जैसेकि, कोल्थिंग, फुटवियर या एक्सेसरीज. आप किसी मशहूर ब्रांड के लिए भी ड्रेस या डिज़ाइन तैयार करने का काम कर सकते हैं. आपके काम में डिजाइनिंग की शुरुआत से लेकर फाइनल ड्रेस तैयार करने और उसकी मार्केटिंग करने तक सभी कार्यों की देख-रेख शामिल होती है. डिज़ाइनर्स हरेक क्लाइंट की जरूरतों के अनुसार ड्रेस/फुटवियर या एक्सेसरी की फैशन डिजाइनिंग करने के साथ ही सेल्स एवं मार्केटिंग मैनेजर्स के साथ मिलकर काम करते हैं ताकि लोगों तक अपने क्रिएटिव डिज़ाइन्स पहुंचा सकें.

टॉप फैशन डिजाइनिंग कॉलेज: नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, पर्ल एकेडेमी, सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ डिज़ाइन, एमिटी स्कूल ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, वोग इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी.

क्रिएटिव लोगों के लिए कुछ बेहतरीन जॉब ऑप्शन्स

सारांश

आपकी सहूलियत के लिए इस लिस्ट में भारत में फ्रेश कॉलेज ग्रेजुएट्स के लिए उपलब्ध कुछ सबसे ज्यादा लोकप्रिय जॉब ऑप्शन्स पेश किये गए हैं. लेकिन, यह लिस्ट यहीं समाप्त नहीं हो जाती है और आजकल के इस डिजिटल जमाने में फ्रेश ग्रेजुएट्स के लिए ढेरों नये-नये जॉब ऑप्शन्स आते जा रहे हैं..... जरूरत है तो बस अपनी काबिलियत निरंतर बढ़ाते जाने के साथ-साथ अपने कार्य-क्षेत्र में लेटेस्ट जानकारी और विकास से अपडेटेड रहने की. 

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? यदि हां ! तो इसे अपने दोस्तों और सहपाठियों के साथ अवश्य शेयर करें. कॉलेज स्टूडेंट्स, जॉब ऑप्शन्स, करियर और कॉलेज लाइफ से संबंधित ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें.

Related Categories

Popular

View More