करियर सिलेक्शन: कॉलेज स्टूडेंट्स इन बातों का रखें ख्याल, इन गलतियों से जरुर बचें 

हमारे देश में आज भी कॉलेज स्टूडेंट्स के पेरेंट्स, भाई-बहन, प्रोफेसर्स, सीनियर्स या दोस्त सूटेबल  करियर सिलेक्ट में उनकी बहुत मदद करते हैं. अब स्टूडेंट्स किसी करियर काउंसेलर से भी अपने भावी करियर के बारे में सलाह ले सकते हैं. लेकिन, अंतिम फैसला तो कॉलेज स्टूडेंट्स को ही करना होता है क्योंकि यह उनकी जिंदगी और उनके भावी करियर का प्रश्न जो होता है.

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि कॉलेज स्टूडेंट्स अपने भावी जीवन में क्या करना चाहते हैं? क्योंकि कॉलेज स्टूडेंट्स अपने करियर के संबंध में कई तरह के संदेहों से घिरे रहते हैं जैसेकि, अगर मैंने अपने लिए कोई गलत करियर सिलेक्ट कर लिया तो क्या होगा? अगर कुछ समय बाद मुझे अपना करियर पसंद न आया तो क्या होगा? इन विचारों से कॉलेज स्टूडेंट्स अपने करियर के बारे में कोई सूटेबल निर्णय लेने से घबराते हैं. बेशक, कॉलेज स्टूडेंट्स इस सारे तनाव से बच सकते हैं और अपने लिए एक सूटेबल करियर सिलेक्ट कर सकते हैं....कैसे? इस आर्टिकल में हमने कुछ ऐसी जरुरी बातों का विवरण प्रस्तुत किया है जिनका ध्यान रखकर ही कॉलेज स्टूडेंट्स अपने लिए कोई सूटेबल करियर सिलेक्ट कर सकते हैं:

हमने इस आर्टिकल में आपके लिए कुछ ऐसी गलतियों का विवरण पेश किया है, कॉलेज स्टूडेंट्स को अपना करियर सिलेक्ट करते समय जिनसे जरुर बचना चाहिए. आइये अब आगे पढ़ें यह आर्टिकल:

अपने भावी करियर के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स की जानकारी न रखना

कुछ अपवादों को छोड़कर बहुत-सी इंडस्ट्रीज खुलती और बंद होती रहती हैं. कोई उद्योग या इंडस्ट्री कब तक चल पायेगी, यह इस बात पर निर्भर करता है कि वह इंडस्ट्री कितनी जल्दी तकनीकी विकास करती है. उदाहरण के लिए, पहले प्रिंटिंग संचार का सबसे सशक्त माध्यम थी, उसके बाद टेलीविज़न ने संचार की दुनिया में एक क्रांति ला दी और अब पूरी दुनिया में डिजिटल मीडियम लोकप्रिय होने के कारण बहुत ही तेज़ गति से अपनाए जा रहे हैं. जरा इस बात पर भी गौर फरमाएं कि कभी लोग घोड़ागाड़ी से अपना सफ़र तय करते थे लेकिन, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के आते ही सफर के लिए घोड़ागाड़ी का इस्तेमाल तकरीबन न के बराबर हो गया.  

Trending Now

उक्त उदाहरणों से हमें एक ही बात समझ में आती है और वह यह है कि कोई भी करियर विकल्प शत- प्रतिशत सुरक्षित नहीं है. अब, हमारे सामने यह प्रश्न उठता है कि क्या हमें अपने कार्यक्षेत्र या इंडस्ट्री में होने वाले बदलावों पर नजर रखनी चाहिए ताकि हम भविष्य का अनुमान कुछ पहले ही लगा सकें? यह तकरीबन संभव है. किसी भी कार्यक्षेत्र और इंडस्ट्री में नई तकनीक के विकसित होने का मतलब यह है कि पुराने तरीके जल्दी ही बदल दिए जायेंगे. लेकिन, इसमें कितना समय लगेगा? यह इस बात पर निर्भर करता है कि साधारण लोग उस तकनीक से कितने समय में अच्छी तरह जुड़ पाते हैं? इसलिये, अपने कार्यक्षेत्र और उससे संबद्ध इंडस्ट्री में होने वाले सभी लेटेस्ट बदलावों का पूरा ध्यान रखें और यह जानने की कोशिश करें कि अगले 10 – 20 वषों में आपके पेशे से संबद्ध कार्यक्षेत्र और इंडस्ट्री का क्या भविष्य हो सकता है?. अपने पेशे से जुड़े सभी पहलुओं का अच्छी तरह विश्लेषण करके ही अपने करियर का चयन करें.

सैलरी को प्राथमिकता दें या नहीं?

बहुत से मशहूर लोग यह कहते हैं कि, ‘पैसा ही सबकुछ नहीं है.’ पैसे से आप हरेक ख़ुशी नहीं खरीद सकते हैं. लेकिन, यह भी सत्य है कि किसी धनहीन व्यक्ति को अपने बिल चुकाने के लिए और अपने बच्चों का पालन-पोषण करने के लिए धन की सबसे ज्यादा जरूरत होती है. फिर भी, इसका यह मतलब कदापि नहीं है कि आप अपना करियर चुनते समय भी केवल रूपये-पैसे को ही प्राथमिकता दें. धन भले ही अपने साथ सुरक्षा ले कर आये तो भी यह करियर चुनते वक्त प्राथमिक कारक नहीं बन सकता है. अगर आप केवल पैसे के आधार पर ही कोई जॉब करने लगते हैं तो आगे चलकर न तो आप खुश ही रहेंगे और कई समस्यायें भी आप को घेर लेंगी.

असल में, अगर आप अपने पेशे में सफलता पाना चाहते हैं तो आपको वह काम करने में आनंद आना चाहिए. अगर आपके पास एक बड़ा घर, एक बड़ी कार और हर तरह की सुख-सुविधायें हैं लेकिन आप अपने काम या पेशे से नफरत करते हैं तो आप इन सुख-सुविधाओं का इस्तेमाल करते हुए भी कभी सुखी नहीं रह पायेंगे. हम यहां सिर्फ इतना ही कहना चाहते हैं कि आपको धन और करियर को लेकर एक संतुलन कायम करना होगा. आप अपने लिए एक उपयुक्त और पसंदीदा करियर चुन सकते हैं जिसमें आपको अच्छी सैलरी मिले. शुरू में आप कम सैलरी पर अपना पसंदीदा करियर शुरू कर सकते हैं लेकिन अगर आपको अपना काम पसंद है तो फिर आप कड़ी मेहनत करेंगे और फिर, सफलता मिलने के साथ ही काफी पैसा भी कमा लेंगे.

ऐसी जॉब्स जिनमें न हो करियर ग्रोथ की कोई उम्मीद

तकरीबन प्रत्येक इंडस्ट्री में अक्सर लोग एंट्री लेवल की जॉब्स से काम शुरू करके ही समय बीतने के साथ ही अपनी काबिलियत और अनुभव बढ़ने की वजह से टॉप लेवल तक पहुंच जाते हैं. लेकिन प्रत्येक इंडस्ट्री में ऐसा नहीं होता है. इसलिये, कोई इंडस्ट्री ज्वाइन करते समय उसके विकास की संभावनाओं के बारे में अवश्य पता करें. क्या उस इंडस्ट्री में काम करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा? क्या आप किसी ऐसे करियर से संतुष्ट रह सकते हैं जहां तरक्की और विकास की संभावनायें काफी सीमित हैं? आप तरक्की करने के लिए होने वाले संघर्ष और कड़ी मेहनत की आवश्यकता को भी बिलकुल नज़रंदाज़ न करें. अपने विकास और अपनी कड़ी मेहनत का फल प्राप्त करने के लिए अपनी रूचि के अनुसार ही अपना पेशा और उससे संबद्ध इंडस्ट्री को चुनें.

कॉलेज स्टूडेंट्स पेरेंट्स की मर्जी के मुताबिक अपना करियर चुनें या नहीं

बहुत बार ऐसा देखा गया है कि पेरेंट्स अपनी मर्जी के मुताबिक अपने बच्चों को करियर चुनने के लिए दबाव डालते हैं. उदाहरण के लिए, मान लीजिये कि आपको म्यूजिक का बहुत शौक है लेकिन आपके पेरेंट्स आपको अपने पुश्तैनी बिजनेस में ही लगाना चाहते हैं. ऐसे में वे चाहेंगे कि आप कोई बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स या डिग्री प्राप्त करें. वे आपको किसी बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के लिए भारत की किसी बढ़िया मैनेजमेंट यूनिवर्सिटी या विदेश में भी पढ़ने भेज सकते हैं.  

ऐसी स्थिति में आप अपने पेरेंट्स की मर्जी के मुताबिक बिजनेस में अपना करियर शुरू कर सकते हैं या बिजनेस स्टडीज की पढ़ाई करने के साथ ही म्यूजिक भी सीख सकते हैं या फिर, अपने पेरेंट्स की मर्जी के खिलाफ जा कर और अपने शौक को पूरा करने के लिए म्यूजिक के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं. वास्तव में कुछ भी सही या गलत नहीं है. खास बात तो यह है कि आप क्या चाहते हैं? आपको क्या करने में ख़ुशी मिलती है? क्या आप अपने पेरेंट्स की मर्जी से अपना करियर अपना रहे हैं? याद रखें कि यह आपकी जिंदगी है और आप अपनी पसंद के अनुसार अपना करियर खुद चुन सकते हैं क्योंकि आखिरकार आपके पेशे का आपके भावी जीवन पर शत-प्रतिशत असर पड़ता है. आप अपने पेरेंट्स से अपने करियर के बारे में खुलकर बात करें और फिर कोई निर्णय करें.

करियर सिलेक्शन: बिना सोचे-विचारे, देखा-देखी कोई निर्णय लेना

बहुत बार कॉलेज स्टूडेंट्स को यह पता नहीं होता है कि उनके लिए कौन-सा पेशा उपयुक्त रहेगा और वे वास्तव में क्या करना चाहते हैं?....लेकिन स्टूडेंट्स बस देखा-देखी में या अपने दोस्तों के करियर को ही अपना पेशा बनाने के लिए तैयर हो जाते हैं. लेकिन आप ऐसी गलती कभी न करें, नहीं तो आपको बाद में पछताना पड़ सकता है क्योकि यह आपका जीवन है और आप जो करियर चुनते हैं, उसका आपके भावी जीवन पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है. इसलिये अपने करियर को लेकर गंभीरतापूर्वक विचार करें और फिर निर्णय लें.

अक्सर कुछ वर्षों के बाद अपना पेशा बदलना काफी कठिन हो जाता है, भले ही यह असंभव नहीं है क्योंकि अपना करियर बदलने पर आपको उससे संबद्ध स्किल्स और डिग्रीज भी तो चाहिए. बहुत बार ऐसा देखा गया है कि लोग चाहे अपने काम को पसंद करें या नहीं लेकिन वे बाद के वर्षों में अपना पेशा नहीं बदल पाते हैं. इसलिये आप अपना पेशा चुनने में जल्दबाजी बिलकुल न करें.

परफेक्ट करियर चुनने के लिए समय बरबाद करना

आप कभी भी अपनी पसंद की नौकरी पाने के इंतज़ार में जरूरत से ज्यादा समय बरबाद न करें और अन्य अच्छे मौके न गवाएं क्योंकि कोई भी पेशा शत-प्रतिशत आपकी पसंद के मुताबिक नहीं हो सकता है. समय बीतने के साथ कोई नौकरी पाना भी मुश्किल होता जाता है इसलिये, आपको बातचीत और समझौता करने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए. बहुत बार लोग अपने पसंदीदा पेशे में भी हर रोज़ खुश नहीं रहते हैं. असल में, किसी भी पेशे में आपका सकारात्मक रवैया ही आपको सफलता दिलवा सकता है.

विशेष करियर के लिए विशेष टैलेंट चाहिए या नहीं

अक्सर लोग सोचते हैं कि राइटर, आर्टिस्ट्स और म्यूजिशियन्स के पास जन्मजात हुनर होता है. लेकिन, जन्मजात हुनर होने पर आप एक अच्छी शुरुआत तो कर सकते हैं किंतु सफलता हासिल करने के लिए आपको कड़ी मेहनत तो करनी ही होगी. अगर आप किसी काम को करने का मन बना लेते हैं तो आप कुछ भी कर सकते हैं. जैसे, अगर आपको म्यूजिक का शौक है लेकिन आपको लगता है कि आप अच्छे सिंगर नहीं हैं और आप इंस्ट्रूमेंट्स भी नहीं बजा सकते हैं तो भी आप कड़ी मेहनत और पूरी निष्ठा से म्यूजिक के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं क्योंकि यदि आपको अपने पर भरोसा है तो आप कुछ भी कर सकते हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

वोकेशनल कोर्सेज: इंडियन स्टूडेंट्स के लिए मनचाहा करियर ज्वाइन करने का हैं प्रमुख साधन  

भारत में मैनेजमेंट की विभिन्न फ़ील्ड्स में हैं बेशुमार करियर ऑप्शन्स

ये हैं इंडियन स्पोर्ट्स में करियर के बेहतरीन अवसर

 

Related Categories

Live users reading now