DU में एडमिशन लिए बिना भी आर्ट्स के स्टूडेंट्स कर सकते हैं ये कोर्सेज

दिल्ली यूनिवर्सिटी के विभिन्न कॉलेजों की कट-ऑफ लिस्ट निकलते ही जहां एक तरफ कई स्टूडेंट्स किसी फेमस कॉलेज की लिस्ट में अपना नाम देख कर खुश हो जाते हैं, वहीँ लाखों स्टूडेंट्स का दिल्ली यूनिवर्सिटी के किसी जाने-माने कॉलेज में एडमिशन लेने का सपना टूट जाता है. वास्तव में, हरेक साल लाखों स्टूडेंट्स दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए अप्लाई करते हैं लेकिन दिल्ली यूनिवर्सिटी के सभी कॉलेजों की सभी सीट्स को मिलाकर कुल सीट्स केवल कुछ हज़ार ही होती हैं. इस साल DU में 54 हजार से कुछ अधिक सीट्स ही स्टूडेंट्स के एडमिशन के लिए उपलब्ध हैं. अब, यह तो स्वाभाविक ही है कि ऐसे में लाखों स्टूडेंट्स को अपना मनचाहा कोर्स पढ़ने के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी के अलावा देश के अन्य जाने-माने कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज़ या एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में एडमिशन लेना होगा. यहां हम उन आर्ट्स के स्टूडेंट्स के लिए विभिन्न कोर्स ऑप्शन्स पेश कर रहे हैं जिनको किसी भी कारण से दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन न मिल सके. आर्ट्स के स्टूडेंट्स को यह जानकार काफी ख़ुशी होगी कि दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने के अलावा भी उनके पास अपना मनचाहा कोर्स करने के कई बेहतरीन अवसर मौजूद हैं. आइये आगे पढ़ें:  

भारत में हैं कई जाने-माने कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स और सुप्रसिद्ध यूनिवर्सिटीज़

हम सभी यह बात अच्छी तरह जानते हैं कि हमारे देश में ह्युमनिटीज़ या आर्ट्स स्ट्रीम से अपनी 12वीं क्लास पास करने के बाद स्टूडेंट्स आमतौर पर अपनी दिलचस्पी के मुताबिक विभिन्न अंडरग्रेजुएट कोर्सेज जैसेकि, बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (पास कोर्स), बैचलर ऑफ़ आर्ट्स – ऑनर्स (पोलिटिकल साइंस/ हिस्ट्री/ इकोनॉमिक्स/ हिंदी/ इंग्लिश/ संस्कृत/ बंगाली/ जियोग्राफी/ साइकोलॉजी/ सोशियोलॉजी/ जर्नलिज्म/ हिंदी जर्नलिज्म/ फिलोसोफी/ सोशल वर्क/ बिजनेस इकोनॉमिक्स या मैथमेटिक्स) में से कोई एक कोर्स करना चाहते हैं. ये सभी अंडरग्रेजुएट कोर्सेज 3 साल की अवधि के स्टडी कोर्स होते हैं. अब जाहिर-सी बात है कि अगर आर्ट्स स्ट्रीम के लाखों स्टूडेंट्स को दिल्ली यूनिवर्सिटी के किसी कॉलेज में इन स्टडी कोर्सेज में से किसी एक मनचाहे कोर्स में एडमिशन न मिले तो अब स्टूडेंट्स बिना किसी फ़िक्र या ज्यादा सोच-विचार के भारत के अन्य जाने-माने कॉलेजों या यूनिवर्सिटीज़ जैसेकि, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ पंजाब, सिक्किम यूनिवर्सिटी, बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बाबा साहिब अम्बेडकर यूनिवर्सिटी, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, त्रिपुरा यूनिवर्सिटी, हैदराबाद यूनिवर्सिटी, राजस्थान यूनिवर्सिटी, केरल यूनिवर्सिटी, कर्नाटक यूनिवर्सिटी, झारखण्ड यूनिवर्सिटी, हिमाचल यूनिवर्सिटी, हरियाणा यूनिवर्सिटी और महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय आदि में एडमिशन ले सकते हैं.  

आर्ट्स के स्टूडेंट्स ले सकते हैं कोई मनचाहा वोकेशनल कोर्स  

आमतौर पर वोकेशनल कोर्सेज’ वे कोर्सेज होते हैं जिनका पर्पस किसी पेशे या फील्ड के लिए स्टूडेंट्स या पेशेवरों को प्रैक्टिकल स्किल्स सिखाना होता है. ये कोर्सेज किसी जॉब फील्ड के मुताबिक स्टूडेंट्स को तैयार करने के लिए ‘टेलर मेड’ होते हैं. इसलिए, इन कोर्सेज में से अपनी पसंद का कोई वोकेशनल कोर्स करने के बाद आप उस कोर्स से संबंधित करियर फील्ड में अपने स्किल्स अपग्रेड करके जॉब ज्वाइन कर  सकते हैं या फिर, अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं. 

हमारे देश में आजकल बहुत ज्यादा कॉम्पीटीटिव जॉब मार्केट में हरेक वेकेंसी के लिए बहुत बड़ी संख्या में कैंडिडेट्स अप्लाई करते हैं या वॉक-इन-इंटरव्यू में शामिल होते हैं. इसलिए, जॉब सीकर्स चाहे किसी भी एज-ग्रुप के हों, लेकिन उन्हें इस अत्यधिक कॉम्पीटीटिव जॉब मार्केट में अपने लिए कोई सूटेबल जॉब प्राप्त करने के लिए अपने स्किल-सेट को निखारने का लगातार प्रयास करना चाहिए और अपनी क्वालिफिकेशन को बढ़ाते रहना चाहिए.

आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं पास स्टूडेंट्स निम्नलिखित वोकेशनल कोर्सेज कर सकते हैं:

डिप्लोमा इन  - फ़ूड एंड बिवरेज सर्विस, बेकरी एंड कन्फेक्शनरी, कुकरी, हाउस कीपिंग, रेस्टोरेंट एंड काउंटर सर्विस, ब्यूटी कल्चर, हेयर स्टाइल, ट्रेवल एंड टिकटिंग, इंस्ट्रूमेंट रिपेयरिंग, फैशन डिजाइनिंग, स्टेनोग्राफी/ पीएस, होटल रिसेप्शन एंड बुक कीपिंग, होटल एंड हॉस्पिटैलिटी ऑपरेशन मैनेजमेंट, फैशन डिज़ाइन, फ़ूड टेक्नोलॉजी, गारमेंट टेक्नोलॉजी, इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, इंस्ट्रूमेंटेशन टेक्नोलॉजी, इंटीरियर डिजाईन एंड डेकोरेशन आदि.

डिस्टेंस लर्निंग के फायदे ही फायदे: मिलेगी डिग्री और वर्क एक्सपीरियंस के साथ करें कमाई भी

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU) हमारे देश की सबसे फेमस कॉरेस्पोंडेंस यूनिवर्सिटी है जो नेशनल-इंटरनेशनल लेवल पर बहुत लोकप्रिय है. हर साल देश-विदेश के लाखों स्टूडेंट्स इस यूनिवर्सिटी से अपनी मनचाही आर्ट्स स्ट्रीम में विभिन्न अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट और प्रोफेशनल कोर्सेज करके अपने करियर को नई दिशा देते हैं. हमारे देश के यंगस्टर्स इन दिनों कम उम्र में ही जॉब के साथ अपनी स्टडीज़ भी जारी रखना चाहते हैं. अगर आप भी ऐसे ही कोई यंगस्टर हैं जिसने इस साल आर्ट्स की स्ट्रीम से अपनी 12वीं क्लास पास की है और आप अपनी स्टडीज़ के साथ कोई जॉब भी ज्वाइन करना चाहते हैं तो आप किसी प्राइवेट कंपनी में ऑफिस एग्जीक्यूटिव या ऑफिस असिस्टेंट की जॉब करने के साथ ही इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी से आर्ट्स की स्ट्रीम से संबंधित विभिन्न अंडरग्रेजुएट कोर्सेज जैसेकि बीए पास/ बीए ऑनर्स या अन्य संबद्ध अंडरग्रेजुएट कोर्सेज कर सकते हैं. इसी तरह, आपको यह जानकार प्रसन्नता होगी कि अब दिल्ली यूनिवर्सिटी जैसी हमारे देश की कुछ फेमस  रेगुअलर यूनिवर्सिटीज़ भी स्टूडेंट्स को डिस्टेंस लर्निंग कोर्सेज उपलब्ध करवा रही हैं. स्टूडेंट्स इन यूनिवर्सिटीज़ से अपनी मन-पसंद आर्ट्स स्ट्रीम में कोई अंडरग्रेजुएट कोर्स कर सकते हैं. लाखों स्टूडेंट्स आर्ट्स की स्ट्रीम में अपनी 12वीं क्लास पास करने के बाद इन यूनिवर्सिटीज़ से आर्ट्स की किसी संबंधित फील्ड में डिप्लोमा कोर्सेज कर सकते हैं हमारे देश की कुछ प्रमुख डिस्टेंस लर्निंग यूनिवर्सिटीज़ हैं - दिल्ली यूनिवर्सिटी, अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, सिक्किम मनिपाल यूनिवर्सिटी, मुंबई यूनिवर्सिटी, महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, नेताजी सुभाष ओपन यूनिवर्सिटी, कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी, आदि.  

अगर किसी कारण नहीं लेना चाहते हायर कोर्स में एडमिशन डिग्री तो ITI में उपलब्ध हैं कई कोर्स ऑप्शन्स

आर्ट्स की स्ट्रीम से अपनी 12 वीं क्लास पास करने के बाद अगर आप किसी ITI से अपनी मनचाही  फील्ड में कोई ट्रेनिंग कोर्स पूरा कर लेते हैं तो आप कभी बेरोजगार नहीं रह सकते और अन्य सभी जॉब सीकर्स की तुलना में आपको जॉब मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है क्योंकि आपके पास अपनी संबंधित वर्क फील्ड में प्रोफेशनल ट्रेनिंग का सर्टिफिकेट होता है. हर साल जुलाई/ अगस्त के महीने में विभिन्न ITI  ट्रेड्स में नए एडमिशन्स होते हैं. हर साल 01 अगस्त से नया सेशन शुरू होता है. नेशनल काउंसिल ऑन वोकेशनल ट्रेनिंग (NCVT) की गाइडलाइन्स के मुताबिक देश के विभिन्न ITI  इंस्टीट्यूट्स में एडमिशन मेरिट बेस्ड/ रिटन एग्जाम के आधार पर दिए जाते हैं. विभिन्न प्राइवेट ITI  इंस्टीट्यूट्स में स्टूडेंट्स को डायरेक्ट एडमिशन दे दिया जाता है. आमतौर पर विभिन्न ITI  कोर्सेज की अवधि 6 महीने से 2 वर्ष तक होती है जो विभिन्न कोर्सेज के टाइप और नेचर पर निर्भर करती है. लेकिन कंप्यूटर हार्डवेयर जैसे कुछ कोर्सेज की अवधि 3 वर्ष तक भी हो सकती है.

आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए निम्नलिखित ITI कोर्सेज उपलब्ध हैं:

बुक बाइंडर, प्लम्बर, पैटर्न मेकर, एडवांस्ड वेल्डिंग, एडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक्स, शीट मेटल वर्कर, टूल एंड डाई मेकर, एडवांस्ड टूल एंड डाई मेकर, पेंटर जनरल, माउल्डर, टर्नर, मशीनिस्ट, ड्राफ्ट्समैन मैकेनिकल, मैकेनिक कंप्यूटर हार्डवेयर, फ्रिज एंड एसी मैकेनिक, मैकेनिक मोटर व्हीकल, मैकेनिक टूल मेंटेनेंस, मैकेनिक रेडियो एंड टीवी, इंस्ट्रूमेंट मैकेनिक, बेकर एंड कन्फेक्शनर, कटिंग एंड सीविंग, स्टेनोग्राफी – इंग्लिश. इन कोर्सेज के अलावा भी ITI में आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए कई अन्य टेक्निकल कोर्सेज उपलब्ध हैं और स्टूडेंट्स अपनी रूचि के मुताबिक कोई कोर्स चुन सकते हैं.

आज जब स्टूडेंट्स स्टडीज़ में नए-नए आयाम प्राप्त कर रहे हैं तो ऐसे में, आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए भी हमारे देश के अनेक लोकप्रिय कॉलेजों, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज़ में ढेरों कोर्स ऑप्शन्स मौजूद हैं. इसके अलावा डिस्टेंस लर्निंग ने नौकरी-पेशा स्टूडेंट्स के लिए हायर डिग्रीज़ प्राप्त करना बहुत आसान कर दिया है. इसी तरह, अगर हेल्थ इशू जैसे किन्हीं पर्सनल या इकनोमिक रीज़न्स के कारण अगर आप अपनी पढ़ाई आगे जारी नहीं रख पाते और कोई कारोबार या जॉब करना चाहते हैं तो भी आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं पास स्टूडेंट्स भारत में मुहैया कई वोकेशनल कोर्सेज या ITI ट्रेनिंग कोर्सेज में से अपनी दिलचस्पी के मुताबिक कोई कोर्स पूरा करके अपना शानदार करियर/ पेशा या जॉब शुरू कर सकते हैं.........तो अब घबराइए नहीं और दिल्ली यूनिवर्सिटी के एडमिशन फॉर्म भरने के साथ-साथ इस आर्टिकल में आपके लिए पेश किए गए अन्य कोर्स ऑप्शन्स पर भी गौर फरमाएं और अपनी पसंद, काबिलियत और स्किल-सेट के मुताबिक कोई एजुकेशनल या टेक्निकल कोर्स जरुर कर लें ......हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं.   

एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, जॉब, करियर, इंटरव्यू के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

Related Categories

Popular

View More