एस्ट्रोनॉमी: इंडियन स्पेस साइंस में हैं कई शानदार करियर ऑप्शन्स

एस्ट्रोनॉमी और स्पेस साइंस:  विश्व स्तर पर भारत की है मजबूत स्थिति

आज भारत पूरी दुनिया के सामने स्पेस मिशन्स को लेकर किसी पहचान का मोहताज नहीं है. आपको यह जानकारी काफी ख़ुशी होगी कि, भारत ने अपना स्पेस मिशन वर्ष 1975 में शुरू किया था और इस समय हम पूरी दुनिया में इस फील्ड में टॉप 10 देशों में शामिल हो चुके हैं. इसका सारा श्रेय हमारे देश के महान साइंटिस्ट्स, एस्ट्रोनॉमर्स और स्पेस इंजीनियर्स के साथ देश के स्पेस मिशन से जुड़ी विभिन्न स्टाफ टीम्स को जाता है. भारत में अंतरिक्ष विभाग, भारत सरकार के अधीन इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO) देश के विभिन्न स्पेस मिशन और एस्ट्रोनॉमी तथा स्पेस से संबद्ध अन्य रिसर्च वर्क की समस्त तौर पर देख-भाल करता है. इस समय इसरो में तकरीबन 16 हजार से अधिक साइंटिस्ट्स, इंजीनियर्स तथा अन्य स्टाफ के लोग काम करते हैं. आने वाले समय में स्पेस रिसर्च मिशन्स और स्पेस वॉर थ्रेट्स आदि के चलते हमारे देश में एस्ट्रोनॉमी और एस्ट्रोफिजिक्स के क्षेत्र में बहुत ज्यादा विकास की संभावनाएं हैं. इस आर्टिकल में हम एस्ट्रोनॉमी और इंडियन स्पेस साइंस में एजुकेशनल डिग्रीज़, एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के साथ ही इन फ़ील्ड्स में उपलब्ध विभिन्न करियर ऑप्शन्स के बारे में विस्तार से चर्चा कर रहे हैं.

एस्ट्रोनॉमी और सह-संबंधित विषय  

आकाश की तरह ही एस्ट्रोनॉमी अध्ययन का एक विस्तृत विषय है. एस्ट्रोनॉमी और/ या स्पेस साइंस के तहत हम सूरज, चांद, तारों, ग्रहों और अन्य आकाशीय पिंडों जैसेकि धूमकेतू और उल्का आदि के बारे में अध्ययन करते हैं. एस्ट्रोनॉमी के साथ कई अन्य विषय सह-संबंधित हैं जैसेकि:

भारत के यंगस्टर्स के लिए एग्री-टेक में हैं स्टार्टअप के बेहतरीन अवसर

एस्ट्रोनॉमी: प्रमुख एजुकेशनल कोर्सेज और एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

हमारे देश में किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से साइंस विषय के साथ 12वीं पास स्टूडेंट्स ग्रेजुएशन लेवल पर निम्नलिखित कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं:

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज: हमारे देश में आमतौर पर इन कोर्सेज की अवधि 3 - 4 साल होती है.

पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज: किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से एस्ट्रोनॉमी या संबद्ध विषय में ग्रेजुएट स्टूडेंट्स एस्ट्रोनॉमी में पोस्टग्रेजुएशन कर सकते हैं. आमतौर पर इन कोर्सेज की अवधि 2 वर्ष होती है.

डॉक्टोरल कोर्सेज: किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से पोस्टग्रेजुएट स्टूडेंट्स इन कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं. इन कोर्सेज की अवधि आमतौर पर 3 -5 वर्ष होती है.

इंटीग्रेटेड कोर्सेज: भारत में इन कोर्सेज की अवधि आमतौर पर 5 – 7 वर्ष होती है और किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएटेड स्टूडेंट्स इन कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं.

भारत में एस्ट्रोनॉमी की स्टडी के लिए प्रमुख एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स

भारत में वैसे तो तकरीबन सभी कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज़ में एस्ट्रोनॉमी को साइंस की एक ब्रांच के तौर पर पढ़ाया जाता है लेकिन निम्नलिखित प्रमुख एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स से भी स्टूडेंट्स एस्ट्रोनॉमी के विभिन्न डिग्री या डिप्लोमा कोर्सेज कर सकते हैं:

कॉलेज स्टूडेंट्स को मिलते हैं BSc कोर्स करने के ये फायदे

एस्ट्रोनॉमी: भारत में उपलब्ध हैं प्रमुख करियर ऑप्शन्स

भारत सहित पूरी दुनिया में एस्ट्रोनॉमी में ग्रेजुएशन, पोस्टग्रेजुएशन या पीएचडी करने के बाद स्टूडेंट्स विभिन्न रिसर्च इंस्टीट्यूशन्स, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के साथ एस्ट्रोनॉमी से संबंधित बिजनेस फ़ील्ड्स और इंडस्ट्रीज़ में निम्नलिखित करियर ऑप्शन्स/ जॉब प्रोफाइल्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं:

ये पेशेवर अंतरिक्ष और आकाशीय पिंडों के बारे में रिसर्च करते हैं.

ये पेशेवर विभिन्न स्पेस मिशनों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं जो स्पेस ट्रेवलिंग के माध्यम से स्पेसक्राफ्ट्स और स्पेस स्टेशन्स से अपने काम को अंजाम देते हैं.

ये पेशेवर हमारे सोलर सिस्टम, सूरज, अन्य प्लैनेट्स, आकाशगंगाओं, तारों और पूरे यूनिवर्स का अध्ययन करते हैं.

ये पेशेवर देश-दुनिया के विभिन्न कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज़ में एस्ट्रोनॉमी या संबद्ध विषय पढ़ाते हैं और एजुकेशनल लेवल पर इस फील्ड में रिसर्च वर्क भी करते हैं.

फोटोनिक्स: साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए है खास करियर

एस्ट्रोनॉमी: पेशेवरों को मिलता है इतना सैलरी पैकेज

हमारे देश में एस्ट्रोनॉमी की फील्ड से संबंधित विभिन्न पेशेवरों को काफी आकर्षक सैलरी पैकेज मिलता है. किसी एस्ट्रोनॉमर को शुरू में ही एवरेज 50 हजार रुपये मासिक मिलते हैं. इस फील्ड में कुछ वर्क एक्सपीरियंस, टैलेंट और हायर डिग्री होल्डर पेशेवरों को एवरेज 10 – 12 लाख सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है. किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाले लेक्चरर या प्रोफेसर को एवरेज 80 हजार – 1.20 लाख रुपये मासिक वेतन मिलता है.

एस्ट्रोनॉमी: भारत में टॉप रिक्रूटर्स

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Also Read +
x