छात्रों के लिए पुस्तक पढ़ने की कुछ ख़ास रणनीतियां

अक्सर देखा गया है कि छात्रों को पाठ्य पुस्तक यानि की सिलेबस बुक पढ़ना बहुत ही बोरियत का काम नज़र आता है| जबकि यह छात्रों के लिए बेहद ज़रूरी है कि वे अपने सिलेबस बुक को अच्छी तरह दिलचस्पी से पढ़ें ताकि छात्र अपने विषय को ठीक तरह से समझ सकें| आज इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे खास टिप्स बताने जा रहें हैं जिसकी मदद से आसानी से आप भी अपने टेक्स्ट बुक्स को पुरे रूचि के साथ पढ़ सकते हैं| तो आइये जानते हैं उन ख़ास रणनीतियों को और देखते हैं किस प्रकार हम अपने दिनचर्या में उसका प्रयोग कर सफल हो सकते हैं:

1. पढ़ने से पहले :

आपके लिए आपकी किताबें उबाऊ और विस्तार से भरी तब लगती हैं जब आपको यह ठीक तरीके से पता ही नहीं होता है कि आपको क्या पढ़ना है और कितना| यदि आप किसी भी टॉपिक को पढ़ने से पहले यह निर्धारित कर लें की आपको उस टॉपिक में क्या-क्या पढ़ना है तो आपके लिए पढ़ना शुरू करना आसान हो जायेगा क्यूंकि आपको पता होगा की आपको बुक खोलते ही क्या शुरू करना है|

2. जब आप पढ़ रहे हों :

जब भी किसी विषय को पढ़ना शुरू करें तो हमेशा पढ़ते समय महत्वपूर्ण बिन्दुओं और पैसेज को हाईलाइट करें| लेकिन आपको इस बात का खास ध्यान देना होगा की जब आप किसी भी टॉपिक के पॉइंट्स को हाईलाइट कर रहें हैं तो उस टॉपिक का 20% से अधिक भाग ना हाईलाइट हो क्यूंकि यदि आपने सभी बिन्दुओं को ही हाईलाइट करना शुरू कर दिया तो आपके लिए फिर से उन टॉपिक को याद रखना और पढ़ना बोरियत से कम नहीं होगा| इसलिए हमेशा सब हैडिंग, टॉपिक के कुछ खास की वर्ड्स और महत्वपूर्ण बिन्दुओं को ही हाईलाइट करें|

3. पढ़ने के बाद :

किसी भी विषय को पढ़ने के बाद आप क्या करते हैं?..... यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सवाल है| जब भी आप किसी भी विषय को पढ़ते हैं या कोई भी टॉपिक जो आपने पढ़ के समाप्त किया है| उसे हमेशा पढ़ने के बाद किसी को समझाने की कोशिश करें| इसके लिए सबसे अच्छा तरीका यह है की आप अपने दोस्तों के साथ उस टॉपिक पर ग्रुप डिस्कशन करें, क्यूंकि जब एक बार पढ़ें हुवे टॉपिक को आप किसी और को बताते या समझाते हैं तो वह टॉपिक आपको और अच्छी तरह याद रहती है| यदि कभी आप ग्रुप डिस्कशन किसी कारण नहीं कर सके तो अपने घर में ही mirror के सामने बैठ कर उस टॉपिक को दोहरा सकते हैं|

छात्रों के लिए खेल में करियर के अनेक विकल्प

4. रीडिंग हैबिट बनाएं रखें :

जब भी आप खाली बैठे हो या छुट्टी का समय हो तो अपने पुरे दिनचर्या के रुटीन में किताबों को भी थोड़ा समय दें| छात्र अपने अनुसार अपना समय अपने पसंद के किसी विषय या नॉबल को दे सकते हैं| जिससे आपकी किताबों के प्रति रूचि बनी रहे| क्यूंकि अक्सर ऐसा देखा गया है कि छात्र एग्जाम के बाद की छुट्टियों या किसी त्यौहार की छुट्टियों के बाद अपने किताबों में उतनी रूचि नहीं बना पाते हैं जितनी उस छुट्टी से पहले थी और इसका कारण ही यह होता है कि आप एक समय अन्तराल तक किताबों से दूर हो जाते हैं जिस कारण दुबारा उसमें रूचि बनाने में कुछ समय लग जाता है|

6. अच्छी लएब्रेरिज़ का शोध करें:

यह एक ऐसा तरीका है जहाँ आप अपने पसंद की कई किताबें आसानी से प्राप्त कर सकते हैं| जब भी समय मिले किसी आस-पास के लाइब्रेरी में जा कर अपने पसंद की किताबों का चयन कर पढ़ना शुरू कर सकते हैं| यहाँ आपको आसानी से कई ऐसी किताबें मिल जाएँगी जिसमें आपकी रूचि हो तथा लाइब्रेरी में आपको कई ऐसे ऑप्शन्स भी मिलेंगे जिन्हें पढ़ कर आपको उसमें रूचि आ जाए| यह एक ऐसा तरीका है जिससे आपकी रूचि किताबों के प्रति और व्यापक होती जाएगी|

निष्कर्ष : इस आर्टिकल में बताए इन टिप्स के अनुसार यदि आप अपने सिलेबस बुक को पढ़ने की शुरुवात करें तो बड़े आसानी से आप इसमें सफलता प्राप्त कर सकते हैं|

जाने रीडिंग हैबिट को कैसे करें विकसित

जानना चाहते हैं अपना Career Goal तो खुद से करें ये 10 सवाल

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x