शोर्ट नोट्स बनाने के 5 बेस्ट तरीके

अक्सर देखा गया है कि कई छात्र सभी विषय के शोर्ट नोट्स बनाते हैं लेकिन उनके लिए फिर से उन नोट्स को दोहराना मुश्किल हो जाता है| जीस कारण वश एग्जाम के समय किसी भी टॉपिक को फिर से दोहराना या उसके महत्वपूर्ण बिन्दुओं को समझना कठिन लगने लगता है| आज हम आपको कुछ ऐसे खास टिप्स बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप आसानी से न केवल अपने शोर्ट नोट्स बना सकते हैं बल्कि आपके लिए टॉपिक को रिवाईज़ करना भी आसान हो जायेगा| तो आइये जानते है कि सॉर्ट नोट्स बनाया कैसे जाए और किन-किन पॉइंट्स को दिमाग में रखा जाए ताकि आपके नोट्स अच्छे बने:

1. पहली बार में ही कभी नोट्स तैयार’ न करें :

दरअसल किसी भी टॉपिक के कांसेप्ट को समझने का  जो बेसिक लेवल होता है वह एक बार पढ़ने पर बहुत ही बुनयादी तौर पर समझ आता है| यदि आपने एक बार पढ़ कर ही नोट्स बनाना शुरू कर दिया तो वह नोट्स बहुत ही विस्तार पूर्वक बन जाता है जिस कारण ऐसे नोट्स की मदद से टॉपिक को दोहराना मुश्किल हो जाता है| तो हमेशा नोट्स बनाने से पहले टॉपिक को अच्छी तरह पढ़ कर समझ लें| उसे एक बार पढ़ कर ही उसके टॉपिक के नोट्स को न तैयार करें|

2. पहले अच्छी तरह समझ लें :

नोट्स बनाते समय इस बात का भी खास ध्यान दें की टॉपिक आपको अच्छी तरह से समझ आ गया है या नहीं?...........टॉपिक के सभी पॉइंट्स को ठीक तरीके से समझें तथा 2 से 3 बार अच्छी तरह पढ़ लें| जब आप पूरी तरह से उस टॉपिक के सभी बिन्दुओं को अच्छी तरह समझ लें, तब उस टॉपिक से जुड़े कुछ टेस्ट देकर देखें और अंत में उसके महत्वपूर्ण बिन्दुओं को ठीक तरीके से समझ कर नोट्स बनाएं|

3. नोट्स हमेशा छोटे तथा to the Point बनाएं :

अब आपको यह तो पता है कि नोट्स बनाते समय टॉपिक को ठीक तरीके से समझना ज़रूरी है और उसके सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं को जानना...... जब आपको यह बात समझ आ जाएगी तो अब आपको नोट्स बनाते समय किन- किन बिन्दुओं को अपने नोट्स में अंकित करना है पता होगा| दरअसल अब आप यह भी अच्छी तरह समझ गए हैं कि आपके नोट्स को आपको बहुत बड़ा नहीं बनाना, बस उन पॉइंट्स और उदाहरण को अपने नोट्स में रखना है जो बहुत महत्वपूर्ण हैं l

4. किताबी भाषा का प्प्रयोग न करे   :

नोट्स बनाते समय सबसे महत्वपूर्ण यह है कि जब आप उसे दोहराए तो वह आपको आसानी से समझ आ जाए| इसके लिए सबसे अच्छी बात यह है कि जब भी आप नोट्स बनाना शुरू करें तो उसे अपने किताब की भाषा में नहीं बल्कि आपको उसे अपने तरीके से अपनी खुद की भाषा में लिखना चाहिए और यह नोट्स आपके लिए ज्यादा कारगर साबित होगा| आप चाहें तो अपने नोट्स में टॉपिक को समझने के लिए चित्र, फ्लो चार्ट, महत्वपूर्ण बिन्दुओं तथा उदहारण का प्रयोग कर सकते हैं|

5. टॉपिक दोहराते समय शोर्ट नोट्स का करे इस्तेमाल :

जब भी किसी टॉपिक को दुबारा पढ़ना हो या कई चैप्टरस को दोहराना हो हमेशा अपने बनाये शोर्ट नोट्स की मदद लें| क्यूंकि जब आप अपने नोट्स की मदद लेंगे टॉपिक को दुबारा पढ़ने के लिए तो आपको समझ आजायेगा की आपके लिये टॉपिक को समझना कितना सरल है तथा साथ के साथ आप अपने टेक्स्टबुक को भी रेफ़रेंस बुक के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं|

निष्कर्ष : आज हमने आपको बहुत ही सरल तरीका बताया है जिसकी मदद से बड़े आसानी से आप अपने शोर्ट नोट्स बना सकते हैं तथा बड़े से बड़े सिलेबस को बहुत ही कम समय में दोहरा सकते है

स्कूल एग्जाम में अच्छे मार्क्स प्राप्त करने 8 बेस्ट तरीके

छात्रों के लिए पुस्तक पढ़ने की कुछ ख़ास रणनीतियां

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x