Advertisement

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड कक्षा 10: हिन्दी के लिए मॉडल पेपर

इस लेख में हम बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड कक्षा 10वीं के छात्रों को हिन्दी के मॉडल प्रश्न पत्र उपलब्ध करवा रहे हैं. सभी मॉडल प्रश्न पत्र बोर्ड द्वारा प्रकाशित किए गए हैं.

आम तौर पर छात्र तीन मुख्य विषयों गणित, विज्ञान व सामाजिक विज्ञान की ओर ज़्यादा रूचि दिखाते हुए लैंग्वेज सब्जेक्ट के महत्त्व को अनदेखा कर देते है. इस वजह से उन्हें परीक्षा के दौरान कम आंके जाने वाले विषयों के पाठ्यक्रम को पढ़ने व समझने में दिक्कत आती है. इसलिए ऐसे विषयों के लिए छात्रों को पहले से ही नियमित तैयारी करनी चाहिए.

बिहार बोर्ड कक्षा 10 हिन्दी मॉडल पेपर का महत्त्व:

बिहार बोर्ड कक्षा 10 के छात्रों को हिन्दी विषय की बोर्ड परीक्षा की तैयारी को आसान व प्रभावी बनाने के लिए बोर्ड द्वारा प्रकाशित मॉडल प्रश्न पत्र को ज़रूर हल करना चाहिए. मॉडल पेपर से छात्रों को परीक्षा के पैटर्न, मार्किंग स्कीम और सवालों के स्वरूप के बारे में पता चलता है।

मॉडल पेपर के पैटर्न को समझने के बाद छात्र पूरे सिलेबस को कवर करने की चिंता न करके कोर्स को पैटर्न के लिहाज से दोहरा सकते हैं। इससे आपका समय तो बचता ही है, साथ ही पढ़ाई का दबाव भी कम होता है। इसके आलावा मॉडल पेपर की मदद से छात्र परीक्षा से जुड़े सभी प्रकार के संभावित महत्वपूर्ण प्रश्न भी जान पाते हैं.

इस प्रकार परीक्षा की तैयारी को व्यवस्थित व आसान बनाने के लिए छात्रों को कक्षा 10 हिन्दी मॉडल प्रश्न पत्र को ज़रूर हल करना चाहिए.

बिहार बोर्ड कक्षा 10: हिन्दी विषय के लिए एग्जामिनेशन पैटर्न

बिहार बोर्ड कक्षा 10वीं हिन्दी मॉडल पेपर का आकार इस प्रकार है:

1. मॉडल पेपर कुल 100 अंकों के लिए है.

2. पेपर में कुल 56 प्रश्न हैं जिन्हें तीन खण्डों अ और ब में विभाजित किया गया है.

3. खंड-अ में प्रश्न संख्या 1-50 बहुविकल्पीय प्रश्न हैं. सभी प्रश्न अनिवार्य हैं व प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित है.

4. खण्ड-ब में प्रश्न सं0 1 से 6 निबंध लेखन, संवाद, अपठित गद्यांश व पाठ्यपुस्तक के आधार पर हैं जिनके लिए अलग-अलग अंक निर्धारित हैं.

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड ने कक्षा 10वीं विज्ञान के लिए मॉडल पेपर्स के पाँच सेट प्रकाशित किए हैं. हर एक सेट में पूछे गए प्रश्न एक दुसरे से अलग हैं.

कक्षा 10वीं हिन्दी मॉडल पेपर सेट-1 में दिए कुछ प्रश्न इस प्रकार हैं:-

प्र. अमीना हामिद की ......है ।

क. दादी

ख. दीदी

ग. नानी

घ. काकी

प्र. कर्मवीर की पहचान है :-

क. कायर होना

ख. चंचल होना

ग. साहसी होना

घ. भाग्य भरोसे रहना

बिहार राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (NTSE) परीक्षा पैटर्न तथा सिलेबस

प्र. 'गदगद' होना का अर्थ है :-

क. खुश होना

ख. परेशान होना

ग. भाग जाना

घ. छिप जाना

प्र. 'निराला 'किस काल के कवि हैं:-

क. भक्तिकाल

ख. रीति काल

ग. आधुनिक काल

घ. आदिकाल

प्र. 'खुशबू रचते हैं हाथ' किनकी रचना है :-

क. विद्यापति

ख. निराला

ग. अरुण कमल ।

घ. बिहारी

प्र. आशा का विलोम होता है :-

क. निराशा

ख. ख़ुशी

ग. दु:ख

घ. प्रसन्न

प्र. परीक्षा की तैयारी का वर्णन करते हुए अपने पिता को एक चित्र लिखें.

बिहार राष्ट्रीय आय सह मेधा छात्रवृत्ति परीक्षा

प्र. निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर दिए गए प्रश्नों के उत्तर लिखें :-

भारत में वस्त्र निर्माण प्राचीन काल से ही एक प्रमुख व्यवसाय था ढाका का मलमल सारे संसार में अपनी बारीकी के लिए प्रसिद्ध था दक्षिण भारत में कांचीपुरम सूती वस्त्र निर्माण का प्रमुख केंद्र था | खम्वत के रेशमी कपडे की मांग काफी अधिक थी |काश्मीर उनी शौल के लिए विख्यात था|

क. भारत में प्राचीन काल से कौन सा प्रमुख व्यवसाय था?

ख. ढाका किसके लिए प्रसिद्ध था?

ग. रेशमी कपडे की मांग कहाँ अधिक थी ?

घ. सूती वस्त्र निर्माण का प्रमुख केंद्र कहाँ था ?

ड. काश्मीर किस चीज के लिए विख्यात था ?

प्र. अपने देश में चिकित्सा की कितनी पद्धतियाँ प्रचलित हैं? उनमे से किन-किन पद्धतियों से लेखक ने अपनी चिकित्सा कराई ?

सम्पूर्ण मॉडल पेपर प्राप्त करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें:

बिहार बोर्ड कक्षा 10 हिन्दी मॉडल पेपर् 

ज़रूरी नोट: यहाँ दिए गए पेपर का पैटर्न व सैंपल प्रश्नों का आधार बिहार बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर कक्षा 10वीं हिन्दी विषय के लिए उपलब्ध मॉडल पेपर था. परन्तु बिहार बोर्ड कक्षा 10वीं तथा 12वीं के नतीजों की घोषणा के बाद बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट में कुछ बदलाव किये गए और पहले दिए गए मॉडल पेपर्स की जगह हर विषय के लिए नए मॉडल पेपर डाल दिए गए हैं जो पुराने पैटर्न पर आधारित हैं. इसलिए अभी हम बिहार बोर्ड द्वारा दिए जाने वाले मौजूदा मॉडल पेपर्स उपलब्ध करवा रहे हैं.

Advertisement

Related Categories

Advertisement