जानें किन वेबसाइट्स पर छात्र खरीद या बेच सकते हैं कॉलेज टेक्स्टबुक्स ?

वो दिन अब बीत गये जब आपको कम कीमत पर महंगी किताबें और अध्ययन सामग्री प्राप्त करने के लिए पुस्तक बाजारों में जाना पड़ता था या फिर, आप अपने सीनियर्स के कमरे के बार-बार चक्कर लगाते रहते थे. आजकल कई ऐसी वेबसाइट्स हैं जो आपको सही लोगों के साथ संपर्क कायम करके कॉलेज टेक्स्टबुक्स उधार लेने, बेचने और खरीदने में मदद देती हैं ताकि आप इस कार्य की परेशानी से बच सकें.

1. बुकस्टोर नेक्स्ट डोर

कभी-कभी, कई ऐसी पुस्तकें होती हैं जिन्हें हम पढ़ना चाहते हैं, लेकिन वे किताबें आसानी से उपलब्ध नहीं होती हैं या फिर, काफी महंगी होती हैं या कम संख्या में उन किताबों का प्रिंट होने की वजह से हम वे किताबें पढ़ नहीं सकते हैं. लेकिन आपके इलाके के आसपास किसी व्यक्ति के पास वह पुस्तक हो सकती है और वह व्यक्ति उस किताब को पढ़ लेने के बाद अब उस किताब को किसी और व्यक्ति को देना या उस किताब को बेचना चाहता है. ये वास्तव में ऐसे ही लोगों के लिए बनी वेबसाइट है जो आपको इन लोगों से संपर्क कायम करने में मदद देती है ताकि आप ज्यादा प्रयास किए बिना और कम कीमत पर अपनी पसंदीदा किताब पाप्त कर सकें. आप ऐसे लोगों से बुकस्टोर नेक्स्ट डोर पर संपर्क कायम कर सकते हैं और अपनी पसंद की किताब कम कीमत पर खरीद सकते हैं.

दूसरी तरफ, आपके पास कई ऐसी पुस्तकें हो सकती हैं जिन्हें आपने कई बार पढ़ लिया हो और शेल्फ में अधिक जगह बनाने के लिए उन किताबों को किसी को देना या बेचना चाहते हों. ऐसा भी हो सकता है कि आप अपनी रिहाइश बदल रहे हों और आप सब कुछ अपने साथ लेकर जाना नहीं चाहते हैं. आप इन पुस्तकों की लिस्ट इस साइट पर प्रदर्शित कर सकते हैं और इन किताबों को उन लोगों को बेच सकते हैं जिन्हें इन किताबों की आपसे ज़्यादा जरूरत है. चूंकि यह वेबसाइट आपको किताबें उधार भी देती है, इसलिए आप एक निर्धारित अवधि तक अपनी पसंदीदा किताबें उधार भी ले सकते हैं.

2. इंडिया बुकस्टोर. नेट

इंडियाबुकस्टोर.नेट किताबों के लिए एक त्वरित और सरल सर्च इंजन है और आपको विभिन्न ऑनलाइन बुकस्टोर्स पर पुस्तकों की कीमत और उपलब्धता के बारे में पता करने में मदद करता है. इसमें अन्य पाठकों द्वारा बुक स्टोर्स की समीक्षा भी शामिल है जिससे आप किताबों को खरीदने के लिए अपना मनपसन्द ऑनलाइन बुक स्टोर चुन सकते हैं. इस वेबसाइट का अपना ब्लॉग भी है जिसमें पुस्तकों और अन्य सूचनाओं से संबद्ध कई लेख होते हैं. वे पाठकों को  लेखकों, प्रकाशकों और ऑनलाइन बुक स्टोर्स जैसे, रैंडम हाउस इंडिया, रूपा प्रकाशन, हार्पर कॉलिन्स, वेस्टलैंड, अमेज़ॅन इंडिया के बारे में जानकारी भी उपलब्ध करवाते हैं. 

3. बुक चम्स

एक प्रौद्योगिकी उद्यमी, संजय पुरी द्वारा स्थापित, बुक चम्स एक ऐसी वेबसाइट है जो इस विश्वास के साथ शुरू की गई कि यह भारतीयों को ज्ञान से सशक्त बनाने में विशेष भूमिका निभाएगी, विशेष रूप से ग्रामीण और दूरदराज के इलाकों में, जहां लोगों के पास मोबाइल फोन तो हैं लेकिन लाइब्रेरी या बुकस्टोर्स नहीं हैं. प्रौद्योगिकी का उपयोग करके समाज को कुछ वापस देने से प्रेरित होकर, संजय पुरी पढ़ने की आदत को बढ़ावा देना चाहते हैं. बुक चम्स  एक ईबुक रिपॉजिटरी है और इसका लक्ष्य डिजिटल माध्यम से भारत में शिक्षा और पढ़ने की आदतों को बढ़ावा देना है.

यह मंच पुस्तकें और ईबुक्स प्रदान करता है, जिनमें से कुछ मुफ्त हैं और इसका आदर्श वाक्य 'आपकी किताबें मित्रों को एकत्रित करें, धूल नहीं' इस मंच की पहल का कारण स्पष्ट करता है. इसमें ब्लॉग और लेखक प्रोफाइल भी है. यह लेखक प्रोफाइल आपको लेखक के बीते जीवन के बारे में बताता है जैसेकि उनके जीवन में कौन-सी घटनाओं ने उनके लेखों को आकार दिया है. इसके अलावा, इस पृष्ठ में लेखक की पुस्तकों, ईबुक्स, वेबसाइट/ ब्लॉग, इंटरव्यू, यूट्यूब पेज, ट्विटर और फेसबुक होम पेज के लिंक के साथ ‘क्या आपको पता था’ सेक्शन है. ब्लॉक के इस सेक्शन में आप बेस्टसेलर लेखकों, समीक्षकों द्वारा ख्यातिप्राप्त लेखकों और नए लेखकों के बारे में पता कर सकते हैं.

4. दि रीडिंग टब

दि रीडिंग टब फैमिली रीडिंग और साक्षरता के लिए किताबें एकत्रित और वितरित करता है. उनके अनुसार, बच्चों को सफल होने के लिए पढ़ने या रीडिंग करने की जरूरत है और दि रीडिंग टब के लोग इस काम के लिए दान देकर मदद करते हैं. उन्हें प्राप्त होने वाला 100 प्रतिशत धन साक्षरता की जानकारी और किताबें प्रदान करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. दि रीडिंग टब अपनी किताबें जोखिम की स्थिति से गुजरने वाले पाठकों को वितरित करता है, चाहे वह कोई ऐसा बच्चा हो जिसके घर पर पढ़ने के लिए कोई किताबें नहीं है या फिर कोई ऐसे शिक्षक हों जो अपने संघर्षरत छात्रों के लिए एक क्लासरूम लाइब्रेरी का निर्माण कर रहे हों.

5. स्टूडेंट डेस्क

स्टूडेंट डेस्क संचार की कमी को दूर कर रहा है और विभिन्न संस्थानों के बुक रीडर्स को आपस में जोड़ता है. पुस्तकों का पुन: उपयोग और खपत न केवल पुस्तक प्राप्त करने को किफायती बनाता है बल्कि स्थिर पर्यावरण का निर्माण करने में भी मदद करेगा. पाठ्य पुस्तकों के मामले में, हर बार जब कोई छात्र किसी पुस्तक को खरीदना चाहता है तो उसका पहला विचार यह होता है कि पहले क्यों न मैं यह किताब पुस्तकालय में तलाश करूं? यदि ऐसा नहीं हो तो छात्र के मन में दूसरा विचार यह आता है कि अगर नई पुस्तकों में समान विषयवस्तु है तो फिर मैं क्यों न यूस्ड बुक्स ही खरीद लूं? लेकिन, यूस्ड बुक्स की उपलब्धता की कमी के कारण, छात्रों को नई किताबें खरीदनी ही पड़ती हैं, जिससे हमारा काफी खर्च हो जाता है. अब पुस्तक प्रेमी जो किताब पढ़ना चाहते हैं, उन्हें वह किताब पढ़ने के लिए उस किताब को खरीदना जरुरी नहीं होगा. स्टूडेंटडेस्क.इन ऐसी पुस्तकों की एक सूची प्रदान करता है जो उपयोगकर्ता एक समुदाय के तौर पर आपस में किताबों का आदान-प्रदान करके पढ़ना चाहते हैं. पुस्तकों का पुन: उपयोग, विनिमय और आदान-प्रदान न केवल किताबें पढ़ने के लिए किफायती है बल्कि पर्यावरण का संरक्षण करने में भी इससे मदद मिलेगी.

किताबों को खरीदने और किताबों का आदान-प्रदान करने के ये डिजिटल प्लेटफॉर्म्स पाठकों का सपना है. ये डिजिटल प्लेटफॉर्म्स रीडर्स को किताबों की खोज, उनके आदान-प्रदान और अच्छी किताबें किफायती दामों पर खरीदने जैसे कठिन कार्य आसान बना देते हैं. कॉलेज लाइफ से संबंधित ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए  www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अलावा, आप नीचे दिए गए बॉक्स में अपना ईमेल-आईडी सबमिट करके भी ये आर्टिकल सीधे अपने इनबॉक्स में प्राप्त कर सकते हैं.

Advertisement

Related Categories