Advertisement

लेखन से बनाएं पहचान

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की एक राजनेता के साथ-साथ कवि के रूप में भी पहचान थी। ‘हार नहीं मानूंगा, रार नई ठानूंगा, काल के कपाल पे लिखता मिटाता हूं...’ जैसी कविताएं बरबस ही लोगों की जुबां पर जाती हैं। आखिर एक लेखक या कवि कैसे राष्ट्र निर्माण का संचालक हो सकता है, कैसे इस पेशे में रहकर भी एक अलग पहचान बनाई जा सकती है, बता रहे हैं विनीत टंडन...

भारत कवियों की भूमि रहा है। संत कबीर दास, रवींद्र नाथ टैगोर से लेकर मिर्जा गालिब, साहिर लुधियानवी, वसीम बरेलवी जैसे अनेक नाम हैं, जिनके काव्यात्मक विचारों की शक्ति एवं अभिव्यक्ति अद्भुत रही है। हालांकि कविता लेखन के पारंपरिक रूप में अब गिरावट आई है, लेकिन आज की पीढ़ी के बीच रचनात्मक लेखन का एक नया प्रारूप देखा जा रहा है। हम में से अनेक लोगों के पास गाने, शायरी और गानों की धुन लिखने का वह हुनर है, जिसे निखार कर अलग पहचान बनाई जा सकती है।

बनें शब्दों का चैम्पियन

एक चित्रकार को अपने चित्रों से प्यार होता है और मूर्तिकार को अपनी गढ़ी मूर्ति से प्यार। वैसे ही कवियों को अपने शब्दों से प्यार होता है। इसलिए आपको अनेक प्रकार के शब्द ज्ञात करने की जरूरत है, जिसे आप ढेर सारी पढ़ाई करके, शब्दों का अवलोकन करके और शब्दों, वाक्यांशों, कहावतों और नए दिलचस्प विचारों का संग्राहक बनकर कर सकते हैं।

बढ़ाते रहें अनुभव

कवि का ज्यादातर लेखन उसके अपने अनुभवों पर आधारित होता है, लेकिन फिर भी अपने अनुभव का संवर्धन करने के लिए यह अच्छा है कि आप अपने चारों ओर के संसार को और ज्यादा तलाशें। विभिन्न प्रकार के साहित्य पढ़ें। लोगों से मिलिए। कवि सम्मेलनों और साहित्य उत्सवों में भाग लीजिए। अपने दृष्टिकोण का संवर्धन कीजिए। इससे आपको अपने लेखन में विशाल विविधता बढ़ाने का मौका मिलेगा।

तलाशें कमाई के स्नोत

ऑस्कर वाइल्ड ने लिखा है, ‘साहित्य में सर्वश्रेष्ठ कार्य हमेशा वे लोग करते हैं जो अपनी रोजी-रोटी के लिए इस पर निर्भर नहीं हैं...।’ यह काफी बुद्धिमानी का सुझाव है, क्योंकि जब आप कमाई शुरू करने के लिए काव्यात्मक कार्य पर निर्भर हैं तब आप शायद तुरंत भाग्यशाली साबित हों या हों। इसलिए आपको अपना जीवन चलाने के लिए कमाई के एक स्नोत की जरूरत है, जो रचनात्मक लेखन के साथ शायद तुरंत आए। लेकिन अगर आप इसे अपना व्यवसाय बनाने को लेकर वाकई गंभीर हैं, तो इस पेशे से भी पर्याप्त नाम और पैसा कमाया जा सकता है। आप अपनी कृतियों का प्रकाशन करवाकर (पुस्तक की रॉयल्टी), अपने गानों/धुनों को किसी फिल्म में शामिल करवाकर, अपने रचनात्मक कार्य का प्रकाशन करने के लिए अपना यूट्यूब चैनल बनाकर या फिर एक कलाकार के रूप में अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

लेखन शैली का विस्तार

आप गाने लिखने में अच्छे हो सकते हैं, लेकिन शायद कविता लिखने में समर्थ न हों। इसी प्रकार, आप शायद कविताएं लिखने में अच्छे हों, लेकिन विज्ञापन फिल्मों के लिए लघु पटकथाएं लिखने में अच्छे न हों। एक उदीयमान लेखक या कवि के रूप में, लेखन के विभिन्न प्रारूपों में अपनी रचनात्मकता को आजमाइये, ताकि आप उनका अधिक से अधिक लाभ उठा सकें। कॉपी राइटिंग में एक अल्पावधि कोर्स कीजिए और किसी विज्ञापन एजेंसी में काम करने की कोशिश कीजिए।

अपनाएं ऑनलाइन प्लेटफॉर्म

आज आपको एक किताब प्रकाशित करवाने के लिए एक प्रकाशक की जरूरत नहीं है। वह एक ज्यादा लंबी प्रक्रिया है और आप खुद को स्थापित करने के बाद उस तरीके को आजमा सकते हैं। अभी आप एक ब्लॉग शुरू कीजिए, उस पर कविताएं पोस्ट कीजिए या अपनी कृतियों की इंस्टाग्राम पोस्ट या ट्विटर पोस्ट क्रिएट कीजिए और उसे ऑनलाइन प्रकाशित कीजिए।

Advertisement

Related Categories

Advertisement