फ़ूड स्टाइलिस्ट का करियर और जॉब पर्सपेक्टिव

हमारे देश में शिवेश भाटिया, अमृता राणा, कंकना सक्सेना, दीबा राजपाल, सबा गज़ियानी और अंकित गुलाबनी कुछ प्रमुख फ़ूड स्टाइलिस्ट हैं. भारत में फ़ूड स्टाइलिंग यद्यपि एक नया पेशा है और अधिकतर लोग इस पेशे के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते हैं. लेकिन हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में यह पेशा अपना खास महत्व रखता है. दरअसल, फ़ूड स्टाइलिंग एक ऐसा पेशा है जिसमें आपके स्किल्स के साथ-साथ निर्णय लेने की क्षमता का काफी महत्व होता है क्योंकि फ़ूड स्टाइल का टाइम-स्पान (समय-सीमा) काफी कम होता है. यह बिलकुल सही है कि कोई खाना बनकर तैयार होने से लेकर उसे खाने तक ही हम अपना फ़ूड स्टाइलिंग का हुनर दिखा सकते हैं क्योंकि बाद में तो विभिन्न फ़ूड आइटम्स के आकर्षक फोटोग्राफ्स ही हमारे इस हुनर को संजोते और प्रदर्शित करते हैं. फ़ूड स्टाइलिंग में सर्वोपरि कार्य खाने या विभिन्न फ़ूड आइटम्स को इस तरीके से सजाकर परोसना है कि उन फ़ूड आइटम्स को देखते ही उन्हें खाने का मन करने लगे. जहां भारत सहित पूरी दुनिया में हेल्दी मील्स पर विशेष बल दिया जा रहा है, वहीँ फ़ूड स्टाइलिंग के माध्यम से विभिन्न फ़ूड आइटम्स को ऐसे पेश किया जाता है कि हम उन फ़ूड आइटम्स को टेस्ट करने के लिए तुरंत तैयार हो जाते हैं. जहां पहले कभी विभिन्न 3 स्टार और 5 स्टार होटल्स, मोटल्स और रेस्टोरेंट्स ही अपने कारोबार को बढ़ावा देने के लिए फ़ूड स्टाइलिंग के महत्व को समझते हुए इसका इस्तेमाल करते थे, वहीँ आजकल फ़ूड रियल्टी शोज़, कुकिंग बुक्स एंड मैगजीन्स, फ़ूड फोटोग्राफी, विभिन्न फूड्स की प्रिंट और टीवी एडवरटाइजिंग और फ़ूड पैकेजिंग के लिए काफी बड़े पैमाने पर फ़ूड स्टाइलिंग का इस्तेमाल भारत सहित पूरी दुनिया में हो रहा है क्योंकि आसान शब्दों में, यह फ़ूड स्टाइलिंग का ही कमाल है जो विभिन्न फ़ूड आइटम्स की सेल में कई गुणा इजाफ़ा करता है.  

अगर हम डाटा के माध्यम से अपने पॉइंट को स्पष्ट करें तो अगले साल अर्थात 2020 तक हमारे देश की फ़ूड रिटेल मार्केट 61 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जायेगी. हमारे देश की टोटल फ़ूड मार्केट में इंडियन फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री का योगदान 32 फीसदी है और फ़ूड स्टाइलिंग प्रोफेशन का सीधा संबंध फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री से है.

फ़ूड स्टाइलिस्ट के पेशे की खासियत

फ़ूड स्टाइलिस्ट या कलिनरी प्रोफेशनल्स का प्रमुख काम विभिन्न फ़ूड आइटम्स को फोटोजनिक बनाने के साथ इस तरह से पेश करना है कि उन फ़ूड आइटम्स को देखते ही सभी लोगों का मन उन्हें खाने या टेस्ट करने के लिए उत्सुक हो जाए. फ़ूड स्टाइलिस्ट्स अक्सर शेफ के साथ मिलकर अपना काम करते हैं. जहां शेफ्स अपने फ़ूड आइटम्स तैयार करते समय हेल्थ और टेस्ट का पूरा ध्यान रखते हैं, वहीँ फ़ूड स्टाइलिस्ट्स उन फ़ूड आइटम्स को हमारी आंखों तथा कैमरे के सामने आकर्षक बनाने के लिए अपने हुनर का बखूबी इस्तेमाल करते हैं.

भारत में फ़ूड स्टाइलिस्ट की पोस्ट के लिए एलिजीबिलिटी

अगर आप भारत में फ़ूड स्टाइलिस्ट के तौर पर अपना करियर शुरू करना चाहते हैं तो आपने कम से कम किसी एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास अवश्य पास की हो. इसके बाद आप होटल मैनेजमेंट की फील्ड में सर्टिफिकेट, डिप्लोमा या बैचलर डिग्री कोर्स कर सकते हैं. आप होटल मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री कोर्स भी कर सकते हैं. होटल मैनेजमेंट की फील्ड में कोई कोर्स पूरा करने के बाद कैंडिडेट्स विभिन्न संगठनों के हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में अपनी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन और वर्क एक्सपीरियंस के मुताबिक विभिन्न जॉब प्रोफाइल्स पर काम कर सकते हैं.   

फ़ूड स्टाइलिस्ट के पेशे के लिए जरुरी प्रोफेशनल स्किल्स

हरेक पेशे की तरह ही फ़ूड स्टाइलिस्ट के पेशे में सफल होने के लिए भी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के साथ-साथ कुछ खास स्किल्स आपके पास जरुर होने चाहिए जैसेकि,

  • विभिन्न फ़ूड आइटम्स तैयार करने की अच्छी जानकारी.
  • विभिन्न फ़ूड आइटम्स को सबसे आकर्षक तरीके से परोसने का तरीका और स्टाइल.
  • फ़ूड से संबंधित टेक्निकल नॉलेज और क्रिएटिविटी.
  • नेटवर्किंग स्किल्स और टीम वर्क क्योंकि आपको शेफ और फोटोग्राफर के साथ मिलकर अपना काम करना पड़ता है.
  • नेचुरल फ़ूड कलर्स को फोटोग्राफ्स में ज्यादा आर्टिस्टिक टच देने का स्किल ताकि फ़ूड आइटम्स की फ़ोटोज़ और पिक्चर्स की तरफ सबका ध्यान आकर्षित हो.  

भारत में फ़ूड स्टाइलिंग से संबंधित विभिन्न कोर्सेज करवाने वाले इंस्टीट्यूट्स

हमारे देश में फ़ूड स्टाइलिंग से संबंधित कोर्सेज करने के लिए आप निम्नलिखित एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में एडमिशन ले सकते हैं:

  • नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, नॉएडा
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • लक्ष्य भारती इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंटरनेशनल होटल मैनेजमेंट (LBIIHM), नई दिल्ली
  • दी होटल स्कूल, नई दिल्ली
  • APG शिमला यूनिवर्सिटी, शिमला
  • DPMI, नई दिल्ली
  • कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी, टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट डिपार्टमेंट, हरियाणा
  • दिल्ली पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली
  • फ़ूड क्राफ्ट इंस्टीट्यूट, पुणे

भारत में फ़ूड स्टाइलिस्ट को मिलने वाला सैलरी पैकेज

हमारे देश में किसी फ़ूड स्टाइलिस्ट को शुरु के दिनों में 15 – 20 हजार रुपये मासिक मिलते हैं. लेकिन कुछ वर्षों के अनुभव के बाद ये पेशेवर 30 – 35 हजार रुपये मासिक या उससे अधिक का सैलरी पैकेज कमा सकते हैं. अन्य सभी पेशों की तरह ही इस लाइन में भी आपका वर्क एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ-साथ आपका सैलरी पैकेज भी बढ़ता रहता है. इसी तरह, बड़े होटल्स, इंटरनेशनल फ़ूड चेन्स और फ़ूड ब्रांड्स एंड रिटेल स्टोर्स में यह सैलरी पैकेज सालाना कई लाख रुपये तक हो सकता है. कई बार इन पेशेवरों को असाइनमेंट के मुताबिक भी रुपये मिलते हैं जैसेकि हमारे देश में इन पेशेवरों को हरेक फ़ूड असाइनमेंट के लिए 500 – 1500 रुपये (उससे अधिक रुपये भी) मिलते हैं. अगर इन्हें किसी पार्टी या फंक्शन के लिए व्यवस्था करनी हो तो इन पेशेवरों को 5000 – 8000 रुपये प्रति दिन के हिसाब से भुगतान किया जाता है.    

भारत में फ़ूड स्टाइलिस्ट्स  के लिए यहां है बढ़िया जॉब पर्सपेक्टिव

हमारे देश में वैसे तो फ़ूड स्टाइलिंग अपेक्षाकृत कुछ नया करियर विकल्प है तो भी यहां फ़ूड से संबंधित कंटेंट्स के लिए फोटोग्राफ्स हेतु फ़ूड मैगजीन्स, न्यूज़पेपर्स, कुकिंग बुक्स, टीवी एडवरटाइजिंग एंड फ़ूड रियल्टी शोज़, होटल्स, मोटल्स और रेस्टोरेंट्स, फ़ूड चेन्स, फ़ूड ब्रांड्स एंड रिटेल स्टोर्स, फ़ूड पैकेजिंग इंडस्ट्री, फ़ूड ड्रिंक्स एंड बिवरेजिस, फ़ूड कोर्ट्स, किचन मार्केट्स और सुपरमार्केट्स में विभिन्न फ़ूड आइटम्स को ‘रेडी टू ईट’ फॉर्म में पेश करने के लिए क्वालिफाइड और टैलेंटेड फ़ूड स्टाइलिस्ट्स के लिए करियर ग्रोथ की अच्छी संभावना है. इस फील्ड में फ्रीलांसिंग के माध्यम से भी अच्छी कमाई की जा सकती है.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

Advertisement

Related Categories

Popular

View More