एडवरटाइज़मेंट की दुनिया में ये हैं करियर के बेजोड़ अवसर

दुनिया का समस्त कारोबार सशक्त एडवरटाइजमेन्ट्स की वजह से लगातार फलफूल रहा है. भारत भी इसका अपवाद नहीं है और पिछले कुछ वर्षों से भारत की एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में आशातीत विकास देखा गया है. भारत में लगभग 460 इंटरनेट यूजर्स हैं और अब भारत की पहचान दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ऑनलाइन मार्केट के तौर पर बन चुकी है. भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या में लगातार इजाफ़ा हो रहा है और इसलिए हमारी एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में भी क्रांतिकारी बदलाव देखा जा रहा है. एक अनुमान के मुताबिक 9 बिलियन अमरीकी डॉलर के रेवेन्यु के साथ भारत की पहचान दुनिया के 9वीं सबसे बड़ी एडवरटाइजिंग मार्केट के तौर पर भी बन चुकी है. ऐसे में भारत के यंगस्टर्स में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में अपना करियर शुरू करने का क्रेज बढ़ना लाजमी है. 

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में करियर शुरू करने के लिए जरुरी योग्यताएं

हमारे देश में एडवरटाइजिंग की फील्ड में अपना करियर शुरू करने के लिए स्टूडेंट्स या कैंडिडेट्स अगर एडवरटाइजिंग की किसी संबंधित फील्ड में कोई डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर लें तो उन्हें इसका फायदा जरुर मिलता है. हमारे देश में एडवरटाइजिंग की फील्ड में कोई कोई डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त शिक्षा बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास जरुर पास की हो. पीजी कोर्स करने के लिए एडवरटाइजिंग की फील्ड या किसी संबंधित फील्ड में ग्रेजुएशन की डिग्री अनिवार्य होती है.

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री से संबद्ध कुछ महत्वपूर्ण एडवरटाइजिंग कोर्सेज

  • डिप्लोमा – एडवरटाइजिंग एंड मार्केटिंग कम्युनिकेशन्स
  • डिप्लोमा – जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन
  • डिप्लोमा – फिल्म, टेलीविज़न एंड डिजिटल वीडियो प्रोडक्शन
  • सर्टिफिकेट कोर्स – मीडिया एंड विजूअल आर्ट्स कनेक्ट
  • सर्टिफिकेट कोर्स – एडवरटाइजिंग, सेल्स प्रमोशन एंड सेल्स मैनेजमेंट
  • बीए – फिल्म स्टडीज
  • बीएससी – मास कम्युनिकेशन एंड वीडियोग्राफी (प्रमुख वोकेशनल)
  • बैचलर – मल्टीमीडिया एंड एनीमेशन
  • पीजी डिप्लोमा प्रोग्राम – एडवरटाइजिंग एंड पब्लिक रिलेशन्स
  • पीजी डिप्लोमा प्रोग्राम - एडवरटाइजिंग एंड मीडिया
  • पीजी सर्टिफिकेट प्रोग्राम – एडवरटाइजिंग मैनेजमेंट (ऑनलाइन)
  • एमए – एंटरटेनमेंट, मीडिया एंड एडवरटाइजिंग

एडवरटाइजिंग की फील्ड में इंटर्नशिप

एडवरटाइजिंग की फील्ड में अंडरग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री कोर्स, सर्टिफिकेट कोर्स या डिप्लोमा कोर्स पूरा करने के बाद इस फील्ड में अपना मनचाहा करियर शुरू करने से पहले कैंडिडेट को किसी प्रसिद्ध एडवरटाइजिंग एजेंसी में 6 माह या 1 साल की इंटर्नशिप (पेड/ अनपेड) जरुर कर लेनी चाहिए ताकि उन्हें एडवरटाइजिंग की फील्ड में होने वाले काम के साथ-साथ एडवरटाइजिंग एजेंसीज के वर्क कल्चर का पता चल सके. इससे फ्रेशर कैंडिडेट्स का आत्म-विश्वास बढ़ेगा. अगर कोई फ्रेशर कैंडिडेट अपनी एडवरटाइजिंग एजेंसी शुरू करना चाहता है तो उसे भी इंटर्नशिप करने से काफी फायदा होगा.

भारत में एडवरटाइजिंग कोर्सेज करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ एडवरटाइजिंग, नई दिल्ली
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी
  • वाईएमसीए सेंटर फॉर मास मीडिया
  • मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली
  • मुद्रा इंस्टीट्यूट ऑफ़ कम्युनिकेशन्स, अहमदाबाद
  • ज़ेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ़ कम्युनिकेशन्स, मुंबई
  • मुंबई यूनिवर्सिटी, मुंबई
  • सेंट ज़ेवियर कॉलेज, कलकत्ता

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री से करियर शुरू करने के लिए जरुरी स्किल सेट

एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री की किसी भी लाइन में अपना करियर शुरू करने के लिए कैंडिडेट के पास खास स्किल सेट होने पर उन्हें अपने करियर में प्रमोशन के लिहाज से काफी फायदा मिलता है जैसेकि:

  • एडवरटाइजिंग की फील्ड में कामयाब होने के लिए कैंडिडेट के पास प्रभावी कम्युनिकेशन स्किल्स होने ही चाहिए.
  • एडवरटाइजमेंट तैयार करने के बाद उस एडवरटाइजमेंट को प्रभावी तरीके से प्रेजेंट और उस एडवरटाइजमेंट की मार्केटिंग को मैनेज करने से संबंधित स्किल्स भी हैं जरुरी.  
  • टीम के साथ मिलजुल कर विभिन्न एडवरटाइजिंग प्रोजेक्ट्स पूरे करने में हों माहिर.
  • लीडरशिप स्किल्स से बेहतरीन एडवरटाइजमेंट्स तैयार करवाने में मिलती है काफी मदद.
  • एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में आपको देर रात तक और वीकेंड्स पर भी काम करना पड़ता है इसलिए स्ट्रेस और प्रेशर में काम करने की आदत होनी चाहिए.
  • इस फील्ड में आत्म-विश्वास और कॉम्पीटीटिवनेस से भी कैंडिडेट्स का करियर ग्राफ आगे ही बढ़ता जाता है.

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में विभिन्न करियर ऑप्शन्स

हमारे देश की एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री अब ऑडियो-विजुअल के साथ डिजिटल और ऑनलाइन भी बन चुकी है और इस इंडस्ट्री में निम्नलिखित पेशेवर अपना करियर शुरू कर सकते हैं:

  • क्रिएटिव डायरेक्टर
  • आर्ट डायरेक्टर
  • कॉपी राइटर
  • ट्रांसलेटर
  • मार्केटिंग हेड
  • डायरेक्ट मार्केटिंग मैनेजर
  • ऑनलाइन/ डिजिटल मार्केटिंग हेड
  • इंटरनल मार्केटिंग मैनेजर
  • ग्राफ़िक डिज़ाइनर
  • क्लाइंट सर्विसिंग एग्जीक्यूटिव
  • कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन एग्जीक्यूटिव
  • पब्लिक रिलेशन एग्जीक्यूटिव

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में प्रमुख जॉब प्रोवाइडर्स

हमारे देश के यंगस्टर्स जिन टॉप एडवरटाइजिंग एजेंसियों में काम करना चाहते हैं, उनकी लिस्ट निम्नलिखित है:

  • हिंदुस्तान थोम्सन एसोसिएट्स (एचटीए)
  • मेक्केन एरिक्सन
  • लियो बरनेट,
  • लिंटास इंडिया लि.
  • मुद्रा कम्युनिकेशन्स लि.
  • क्रेयोंस एडवरटाइजिंग
  • हावास वर्ल्डवाइड इंडिया
  • फाउंटेनहेड डिजिटल
  • फॉरच्यून कम्युनिकेशन्स
  • ऊर्जा कम्युनिकेशन्स

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में विभिन्न पेशेवरों को मिलने वाला सैलरी पैकेज

हमारे देश में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में शुरू में किसी फ्रेशर कैंडिडेट को एवरेज रु. 8 हजार प्रति माह मिलते हैं और किसी मैनेजमेंट ट्रेनी को इस इंडस्ट्री में शुरू में लगभग 15 हजार  - 20 हजार रु. मिलते हैं. कुछ वर्षों के अनुभव के बाद किसी प्रसिद्ध एडवरटाइजिंग एजेंसी में कैंडिडेट्स को 30 हज़ार रूपए मासिक का सैलरी पैकेज भी मिलता है. एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में एक टैलेंटेड और अनुभवी क्रिएटिव डायरेक्टर को सबसे ज्यादा सैलरी मिलती है जैसेकि किसी क्रिएटिव डायरेक्टर को रु. 10 लाख सालाना तक का सैलरी पैकेज मिलता है. आर्ट डायरेक्टर को इस इंडस्ट्री में एवरेज 4.75 लाख सालाना का सैलरी पक्कागे मिलता है.

एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में कुछ अन्य प्रमुख पेशेवरों की एवरेज सालाना सैलरी निम्नलिखित है:

  • मार्केटिंग हेड –3.50 लाख – 5 लाख रु.
  • ऑनलाइन/ डिजिटल मार्केटिंग हेड – 2.50 लाख – 3.75 लाख रु.
  • कॉपी राइटर – 1.15 लाख – 2.25 लाख रु.
  • ग्राफ़िक डिज़ाइनर – 1.75 लाख – 2.20 लाख रु.
  • डायरेक्ट मार्केटिंग मैनेजर – 2 लाख – 3.75 लाख रु.
  • इंटरनल मार्केटिंग मैनेजर – 2.50 लाख – 3.50 लाख रु.
  • पब्लिक रिलेशन एग्जीक्यूटिव -  1.50 लाख – 2.50 लाख  रु.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Continue Reading
Advertisement

Related Categories

Popular