ग्रेजुएशन के बाद कुछ लोकप्रिय करियर ऑप्शंस

किसी भी छात्र के लिए उसके एजुकेशनल करियर के दौरान ग्रेजुएशन पूरा करना वाकई एक सुनहरे सपने के पूरा होने जैसा होता है क्योंकि अब यहीं से उसके करियर का नया रास्ता खुलता है. लेकिन कभी कभी छात्रों के सामने एक बड़ा सवाल खड़ा होता है कि आखिर ग्रेजुएशन के बाद क्या किया जाय ? इस उहापोह में कभी कभी इतने बैचैन हो उठते हैं कि इच्छा और रूचि न होने के बावजूद भी दूसरों के बताये हुए रस्ते पर बिना परिणाम की चिंता किये आगे निकल जाते हैं और कुछ दिनों बाद पता चलता है कि अरे मैंने तो रास्ता ही कुछ और पकड़ लिया है. बेमन, बिना उत्साह के अपने काम को मजबूरीवश करते चले जाते हैं. इसीलिए ग्रेजुएशन करने के बाद किसी ऐसे कोर का चयन करना जिसमें आपका मन लगता है,हमेशा फायदेमंद साबित हो सकता है. वस्तुतः यही वह समय होता है जिस समय आप अपने एजुकेशनल और प्रोफेशनल दोनों ही करियर के भविष्य को निर्धारित करते हैं. यूँ तो इस तरह की समस्यांए हर छात्र के समक्ष आती हैं लेकिन बीए आर्ट्स वाले छात्रों को ऐसी समस्याओं का सामना बहुत ज्यादा करना पड़ता है. ऐसे आर्ट्स ग्रेजुएट्स जिन्होंने अपनी बीए की डिग्री पूरी कर ली है,  के लिए यह एक जटिल समस्या है.

जब करियर के विकल्पों और आकर्षक नौकरी की पेशकश की बात आती है, तो आर्ट्स ग्रेजुएट्स को थोड़ी मायूसी झेलनी पड़ती है.करियर की पसंद और औसत नौकरी के अवसरों की सीमित संख्या के कारण आर्ट्स ग्रेजुएट्स हमेशा इस बारे में सोचते रहते हैं कि उनके उज्ज्वल और सफल भविष्य के निर्माण के लिए सही रास्ता क्या हो सकता है?  लेकिन बीए के छात्रों के लिए हाल के दिनों में परिस्थितियों में कुछ सुधार देखने को मिल रहा है.

आज, बीए ग्रेजुएट्स के पास कई नए करियर विकल्प मौजूद हैं जो न केवल एकेडमिक रूप से दिलचस्प हैं, बल्कि उत्कृष्ट नौकरी के अवसर भी प्रदान करते हैं. आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए उपलब्ध विकल्पों में हो रही वृद्धि के बावजूद अभी भी कई ऐसे छात्र हैं जो अपने लिए उपलब्ध इन नए करियर विकल्पों से अनजान हैं. ऐसे छात्रों की मदद करने के लिए हमने सभी पारंपरिक और नए करियर विकल्पों को एक साथ संकलित किया है, जिसके विषय में जानकर उनका चयन आर्ट्स स्टूडेंट्स अपनी अपनी बीए की डिग्री पूरी करने के बाद आसानी से कर सकते हैं.

Trending Now

मास्टर ऑफ आर्ट्स / एम ए

बीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद अधिकांश छात्रों की पसंद होती हैं अपने ग्रेजुएशन के विषय में ही एमए करना.मास्टर ऑफ आर्ट्स स्नातकोत्तर स्तर के डिग्री प्रोग्राम हैं जिसे  बीए ऑनर्स वाले अपनी पसंद के क्षेत्र में उच्च अध्ययन को आगे बढ़ाने के लिए चुन सकते हैं.भारत भर के सभी प्रमुख विश्वविद्यालय विभिन्न विषयों में एमए कराते हैं. एमए में एडमिशन भी अन्य कोर्सेज के वनिस्पत आसानी से मिल जाता है.

एमए का कोर्स उन छात्रों के लिए भी आइडियल है जो एम.फिल और डॉक्टरेट प्रोग्राम्स के माध्यम से अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं. एमए की डिग्री उन छात्रों के लिए भी आदर्श है जो भविष्य में अपने आप को एक टीचर या प्रोफेसर के रूप में देखना चाहते हैं. एमए के उम्मीदवार अपने संबंधित विषयों के लिए स्कूलों और कॉलेजों में टीचिंग पदों के लिए पात्र होने के लिए संबंधित टीईटी / नेट परीक्षा में उपस्थित होकर टीचर बनने की योग्यता हासिल कर सकते हैं.

बीएड/ बैचलर ऑफ एजुकेशन

यह भी टीचिंग के क्षेत्र में जाने की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों के लिए एक आदर्श शैक्षणिक कार्यक्रम है. बैचलर ऑफ एजुकेशन की डिग्री छात्रों को स्कूलों में पढ़ाने के दौरान प्रयोग की जाने वाली शिक्षण पद्धति के विषय में प्रशिक्षित करती है. इसके अंतर्गत प्रैक्टिकल तथा थियरी दोनों ही चीजें पढ़ाई जाती हैं.छात्र अपनी बीए ऑनर्स की डिग्री पूरी होने के बाद इस प्रोग्राम का विकल्प चुन सकते हैं., बी.एड डिग्री के आधार पर व्यक्ति को स्कूल शिक्षक के रूप में नियुक्त किया जाता है.आजकल, सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए उम्मीदवारों को टीईटी (शिक्षक पात्रता परीक्षा) के लिए भी उपस्थित होना जरुरी है.

डिप्लोमा कोर्सेज

डिप्लोमा कोर्सेज भी बीए ऑनर्स वालों के लिए जो अपने प्रोफेशनल स्किल्स को बढ़ाना चाहते हैं उनके लिए एक महत्वपूर्ण शैक्षणिक कार्यक्रम के रूप में उभरा है.एक डिप्लोमा कोर्सेज में शामिल होने के प्रमुख लाभों में से एक यह है कि वे छात्रों को शॉर्ट टर्म ट्रेनिंग देते हैं और उन्हें अपने प्रोफेशन अथवा  नौकरी की जिम्मेदारियों को शुरू करने के लिए मानसिक रूप से तैयार करते हैं. डिप्लोमा कोर्सेज का चयन करने का दूसरा और अधिक महत्वपूर्ण कारण इनका विशाल डोमेन भी है.छात्र अपनी ऑनर्स डिग्री के बाद एनीमेशन, फिल्म-निर्माण, अभिनय, नृत्य, चित्रकला, मैनेजमेंट, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी और कई अन्य क्षेत्रों में डिप्लोमा कोर्सेज में शामिल होने का विकल्प चुन सकते हैं.

एल.एलबी / बैचलर ऑफ लॉ

बीए ऑनर्स करने वाले छात्रों के लिए एक और महत्वपूर्ण करियर विकल्प है लॉ की डिग्री लेकर एक वाकिल (लॉयर ) बनने का. एल.एल.बी का फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ लेजिस्लेटिव लॉ. यह शैक्षणिक प्रोग्राम उन छात्रों के लिए है जो कानूनी क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं. एलएलबी डिग्री धारक निजी और सरकारी एजेंसियों में कानूनी सलाहकार और वकील का भी काम कर सकते हैं.

देश भर में लोक सेवा आयोगों द्वारा आयोजित न्यायिक सेवा परीक्षा को पास कर वे जज भी बन सकते हैं.

एमबीए (मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन)

आजकल भारत में बीए के बाद छात्रों द्वारा सर्वधिक पसंद किये जाने वाले कोर्सेज में से एक है एमबीए. इस कोर्स को करने के बाद कारपोरेट जगत में अच्छे पैकेज वाली नौकरी प्राप्त की जा सकती है. इस कोर्स के अंतर्गत छात्रों को बिजनेस से जुडी सभी समस्याओं की पर्याप्त जानकारी देने के बाद प्राइवेट तथा पब्लिक सेक्टर में मैनेजर बनने के लिए आवश्यक गुणों का विकास किया जाता है. इसके अतिरिक्त जो छात्र खुद का बिजनेस कर अपना मालिक स्वयं अर्थात इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं वे भी अपना सपना एमबीए की पढ़ाई कर पूरी कर सकते हैं. एमबीए में एडमिशन कैट तथा मैट आदि परीक्षाओं के जरिये होता है. कुछ कॉलेज या इंस्टीट्यूट एमबीए में एडमिशन देने के लिए स्वयं का एंट्रेंस एग्जाम भी आयोजित करते हैं.

एमएससी आईटी  ( मास्टर ऑफ साइंस इन इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ) 

यह बीए ऑनर्स के छात्रों के लिए जिन्होंने गणित या सांख्यिकी में ऑनर्स किया हो उनके लिए उपलब्ध बेहतर विकल्पों में से एक है. कुछ इंस्टीट्यूट इस कोर्स में एडमिशन के लिए साइंस स्ट्रीम से ग्रेजुएशन की डिग्री की डिमांड करते हैं. लेकिन कुछ ऐसे इंस्टीट्यूट भी हैं जो गणित या सांख्यिकी में ऑनर्स करने वाले उम्मीदवारों का भी चयन करते हैं.

एमएससी आईटी एक प्रोफेशनल डिग्री है जिसका उद्देश्य छात्रों को सूचना प्रौद्योगिकी अवधारणाओं की गहरी समझ विकसित करने में मदद करना तथा आईटी सेवाओं में पर्याप्त योगदान देने की क्षमता विकसित करना है.सूचना प्रौद्योगिकी डोमेन भारतीय अर्थव्यवस्था के सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्र में से एक है और इससे यह बात बिलकुल स्पष्ट है कि एमएससी आईटी प्रोग्राम पूरा करने वाले छात्रों के लिए नौकरी के बेहतरीन अवसरों की कोई कमी नहीं है

ये हैं बीए या फिर बीए ऑनर्स छात्रों के लिए कुछ उपयुक्त कोर्सेज जिनका चयन वे बीए करने के तत्काल बाद कर सकते हैं तथा अपने सपनो के करियर की दुनिया में अपना पहला कदम रख सकते हैं. इन सभी कोर्सेज के अलावा एयर-होस्टेस, होटल मैनेजमेंट, इवेंट मैनेजमेंट, जर्नलिज्म और अन्य जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कई अन्य शैक्षणिक प्रोग्राम हैं जिनमें आर्ट्स ग्रेजुएट्स एक आकर्षक करियर बनाकर अपने सपनों को नया आयाम दे सकते हैं.

Related Categories

Live users reading now