सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में करियर स्कोप और संभावनाएं

सेल्स एंड मार्केटिंग आज दुनिया-भर में युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय करियर ऑप्शन है और इसका सबसे बड़ा कारण तो यह है कि भारत सहित दुनिया के सभी देशों में सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में जॉब्स के बेशुमार अवसर उपलब्ध हैं. दरअसल पूरी दुनिया में लगातार विकास-शील इस मानव सभ्यता में हजारों वर्षों से गुड्स एंड सर्विसेज का लेन-देन या सेल-परचेज़ का कारोबार चल रहा है और इसी वजह से सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में यंगस्टर्स और पेशेवरों के लिए हमेशा करियर बनाने और तरक्की करने के बेहतरीन स्कोप उपलब्ध रहने के साथ ही आशाजनक संभावनाएं बनी रहती हैं. आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपके लिए सेल्स एंड परचेज़ की फील्ड में मौजूद कई करियर ऑप्शन्स के बारे में विस्तृत जानकारी पेश कर रहे हैं.

भारत में सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड के प्रमुख करियर ऑप्शन्स और जॉब प्रोफाइल्स

आज भी जब हम सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में अपने देश में उपलब्ध करियर ऑप्शन्स और संबंधित जॉब प्रोफाइल्स की बात करते हैं तो सबसे पहले हमारे दिमाग में किसी मार्केटिंग मैनेजर या सेल्स मैन की इमेज आती है लेकिन आज के इस इंटरनेट और डिजिटल वर्ल्ड में यह तस्वीर अब बिलकुल बदल चुकी है और हमारे देश भारत में भी अब शॉप-कीपर, सेल्स मैन और मार्केटिंग मैनेजर्स के अलावा सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में ढेरों करियर ऑप्शन्स और जॉब प्रोफाइल्स उपलब्ध हैं जिन्हें आप सीधे-सीधे इंटरनेट और डिजिटल वर्ल्ड से जोड़ सकते हैं. जब दुनिया-भर में बिटकॉन जैसी करंसी के साथ ही हमारे देश में पेटीएम, फ़ोन पे, गूगल पे जैसे डिजिटल वॉलेट्स के साथ-साथ डेबिट/ क्रेडिट कार्ड और ऑनलाइन पेमेंट के जरिये ऑनलाइन शॉपिंग का चलन दिन-पर-दिन बढ़ता ही जा रहा है और अमेज़न, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील, मिन्त्रा तथा ग्रोफ़र्स जैसी ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स लगातार मुनाफा कमा रही हैं..... तो आप सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में डिजिटल एक्सपर्ट्स के लिए उपलब्ध बेशुमार करियर ऑप्शन्स और जॉब प्रोफाइल्स के बारे में बड़ी आसानी से अनुमान लगा सकते हैं. आजकल भारत में सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में निम्नलिखित जॉब्स उपलब्ध हैं:

  • सेल्स मैनेजर

अपनी कंपनी की ओवरऑल सेल्स के लिए ये पेशेवर जिम्मेदार होते हैं. ये पेशेवर अपनी कंपनी की सेल्स पॉलिसीज़ के मुताबिक कंपनी की प्रोडक्ट सेल्स को निरंतर बढ़ाने का प्रयास करते हैं.

  • प्रोडक्ट मैनेजर

ये पेशेवर किसी प्रोडक्ट को शुरू से अंत तक तैयार करने के काम की पूरी निगरानी करते हैं. ये पेशेवर ही सुनिश्चित करते हैं कि उनकी कंपनी के निर्धारित बजट और निर्धारित समय-सीमा के भीतर ही प्रोडक्ट पूरा हो जाए ताकि कंपनी को फायदा हो और अन्य नए प्रोडक्ट्स शुरू किए जा सकें.

  • डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर

ये पेशेवर अपनी कंपनी के गुड्स एंड सर्विसेज के मुताबिक लेटेस्ट डिजिटल मार्केटिंग ट्रेंड्स पर नजर रखते हैं और अपने प्रोडक्ट्स की डिजिटल मार्केटिंग करते हैं.

  • सोशल मीडिया मैनेजर

आजकल हमारे जीवन में फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और लिंक्डइन जैसे विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का जबरदस्त प्रभाव है. इसलिए, एक सोशल मीडिया मैनेजर अपनी कंपनी के सोशल मीडिया मार्केटिंग कैंपेन को मैनेज करता है. इन पेशेवरों का मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच अपनी कंपनी की ब्रांड अवेयरनेस के साथ विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिये अपनी कंपनी के प्रोडक्ट्स और/ या सर्विसेज की सेल तथा कंपनी के बिजनेस प्रॉफिट को लगातार बढ़ाना होता है. ये पेशेवर सोशल मीडिया के लेटेस्ट ट्रेंड्स की पूरी जानकारी रखकर अपने बिजनेस के लिए इन लेटेस्ट बिजनेस ट्रेंड्स का इस्तेमाल करते हैं.

  • मार्केटिंग स्पेशलिस्ट

ये पेशेवर अपनी कंपनी के विभिन्न प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को प्रमोट करने के लिए मार्केटिंग कैंपेन्स तैयार करते हैं. इन लोगों को अपने प्रोडक्ट्स के लिए कस्टमर्स की डिमांड, परचेजिंग ट्रेंड्स और फीडबैक की अच्छी जानकारी होने के साथ-साथ लेटेस्ट मार्केट ट्रेंड्स के बारे में भी पता होना चाहिए. ये पेशेवर मार्केटिंग ट्रेंड्स, प्रोडक्ट डिमांड, बिजनेस कॉम्पीटीशन, नए प्रोडक्ट्स और कीमतों के आधार पर अपनी रिपोर्ट्स और प्रेजेंटेशन्स तैयर करते हैं.  

  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन स्पेशलिस्ट

ये पेशेवर वेबसाइट्स के लिए सर्च इंजन रैंकिंग्स को लगातार सुधारने के लिए जिम्मेदार होते हैं. ये अपने सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के लिए उपयुक्त की-वर्ड्स को सेलेक्ट करते हैं. ये पेशेवर ऐसा वेबसाइट डिज़ाइन तैयार करने के लिए जिम्मेदार होते हैं जो यूज़र-एक्सपीरियंस को बढ़ा सके. ये अपनी कंपनी के सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैंपेन को प्रभावी बनाते हैं.  

  • वेब कंटेंट राइटर

ये पेशेवर अपनी कंपनी की वेबसाइट के लिए उपयुक्त कंटेंट मैटर तैयार करते हैं. अपनी कंपनी के प्रोडक्ट्स और सर्विसेज के लिए ये लोग ब्लॉग पोस्ट करते हैं और सटीक प्रोडक्ट डिटेल्स तथा अन्य जरुरी राइटिंग मटीरियल लिखते हैं.

भारत में सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में इंटरनेट और कंप्यूटर से जुड़े कुछ अन्य प्रमुख करियर ऑप्शन्स/ जॉब प्रोफाइल्स

हमारे देश में सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में किसी डिजिटल/ इंटरनेट बिजनेस एक्सपर्ट के तौर पर आपके लिए निम्नलिखित जॉब्स उपलब्ध हैं:

  • डिजिटल मार्केटिंग डायरेक्टर
  • ई-कॉमर्स मैनेजर  
  • सेल्स ट्रेनी
  • मार्केटिंग एनालिस्ट
  • एकाउंट एग्जीक्यूटिव
  • एकाउंट मैनेजर
  • एकाउंट डायरेक्टर
  • एडवरटाइजिंग कोऑर्डिनेटर
  • एडवरटाइजिंग मैनेजर
  • पब्लिक रिलेशन्स मैनेजर
  • ब्रांड मैनेजर
  • मीडिया बायर
  • चीफ मार्केटिंग ऑफिसर
  • कॉपी राइटर/ कॉपी एडिटर  
  • वेब प्रोड्यूसर
  • एरिया/ रीजनल सेल्स मैनेजर
  • सेल्स एंड मार्केटिंग डायरेक्टर
  • डायरेक्ट कंज्यूमर सेल्स

सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में प्रमुख कार्यक्षेत्र

भारत सहित दुनिया-भर के देशों में सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में प्रमुख कार्यक्षेत्रों को निम्नलिखित विभागों में बांटा जा सकता है – ब्रांड मैनेजमेंट, प्रोडक्ट मैनेजमेंट, सेल्स एंड रिप्रजेंटेशन डिपार्टमेंट, फाइनेंस सर्विसेज, स्पोर्ट्स मार्केटिंग, एडवरटाइजिंग डिपार्टमेंट, स्पॉन्सरशिप मैनेजमेंट, बिजनेस डेवलपमेंट डिपार्टमेंट, मार्केटिंग रिसर्च, इंटरनेट मार्केटिंग, बिजनेस मार्केटिंग, डिजिटल मार्केटिंग. डिजिटल प्रोडक्ट रिसर्च डिपार्टमेंट आदि.

सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में करियर बनाने के प्रमुख कारण

  • सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में जॉब करने से आप एक बेहतर इंसान बनते हैं क्योंकि आप हरेक परिस्थिति में एडजस्टमेंट करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं.
  • रोज़ाना कई तरह के अनेक लोगों से मिलने के कारण आपका सोशल नेटवर्क बढ़ता है और आपको ह्यूमन साइकोलॉजी की अच्छी समझ और जानकारी प्राप्त हो जाती है.
  • सेल्स एंड मार्केटिंग का काम हरेक कंपनी या इंडस्ट्री में होता है इसलिए आप किसी भी इंडस्ट्री और फील्ड में काम कर सकते हैं.
  • सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में जॉब्स के बेशुमार अवसर मौजूद रहते हैं क्योंकि सेल्स एंड परचेज़ दुनिया की सबसे बड़ी इकनोमिक एक्टिविटीज़ में से एक है. इसलिए इस फील्ड के एक्सपर्ट्स कभी बेरोज़गार नहीं रह सकते हैं.
  • देश-विदेश की बड़ी कंपनियां और कॉर्पोरेट हाउसेस क्वालिफाइड और टैलेंटेड सेल्स एक्सपर्ट्स को बेहतरीन सैलरी पैकेज ऑफर कर रही हैं. इसके साथ ही, आमतौर पर सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में एम्पलॉईज़ को प्रॉफिट शेयर या मासिक सैलरी के साथ ही एक्स्ट्रा पर्क्स/ इंसेंटिव्स दिए जाते हैं. इसलिए इस फील्ड में पैसा कमाने की कोई लिमिट निर्धारित नहीं की जा सकती है.
  • सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में क्वालिफाइड और टैलेंटेड पर्सन्स अपना मनचाहा कारोबार भी शुरू कर सकते हैं.
  • प्रेशर और चुनौतीपूर्ण माहौल में काम करने के कारण ये पेशेवर ज्यादा कामयाब पेशेवर बन जाते हैं.

भारत में सेल्स एंड मैनेजमेंट की फील्ड के लिए जरुरी स्किल सेट और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

इस फील्ड में करियर शुरू करने के लिए अगर किसी कैंडिडेट के पास कुछ बेसिक स्किल्स अगर हों तो उस कैंडिडेट को सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में किसी भी जॉब-प्रोफाइल में सफलता मिल जाती है. इस स्किल सेट में बढ़िया कम्युनिकेशन स्किल्स, एनालिटिकल थिंकिंग, क्रिएटिविटी, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी की जानकारी, नेगोशिएशन या सौदेबाजी में माहिर होने के साथ मल्टीटास्किंग जैसे स्किल्स को शामिल किया जा सकता है.

अगर हम इस फील्ड के लिए जरुरी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के बारे में चर्चा करें तो कैंडिडेट ने किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से प्रेफरेबली कॉमर्स स्ट्रीम में अपनी 12वीं क्लास पास की हो. कैंडिडेट ने किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज/ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो. इस फील्ड के लिए बैचलर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (BBA), बैचलर ऑफ़ बिजनेस मैनेजमेंट (BBM) या बीकॉम की डिग्री बेहतर साबित होती है. मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA) या पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (PGDM) सेल्स एंड मार्केटिंग की फील्ड में हायर एजुकेशनल डिग्रियां हैं. इसके अलावा, आप इस फील्ड में एजुकेशनल क्वालिफिकेशन हासिल करने के लिए ऑनलाइन/ ऑफ लाइन सर्टिफिकेशन कोर्सेज भी कर सकते हैं जैसेकि – गूगल एडवर्ड्स सर्टिफिकेशन, गूगल एनालिटिक्स सर्टिफिकेशन और ई-मार्केटिंग इंस्टीट्यूट का ऑनलाइन मार्केटिंग सर्टिफिकेशन आदि.

भारत में सेल्स एंड मैनेजमेंट की फील्ड में विभिन्न कोर्सेज करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज़

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट (अहमदाबाद, कलकत्ता, बॉम्बे, इंदौर, लखनऊ, बैंगलोर, कालीकट)
  • ज़ेवियर लेबर रिसर्च इंस्टीट्यूट, जमशेदपुर
  • इंडियन स्कूल ऑफ़ बिजनेस, हैदराबाद
  • फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज़, दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली

भारत में सेल्स एंड मैनेजमेंट की फील्ड में मिलता है ये सैलरी पैकेज

हमारे देश में इस फील्ड में एंट्री लेवल पर आमतौर पर किसी भी कैंडिडेट को लगभग 3.6 लाख रुपये का सालाना सैलरी पैकेज मिलता है और कुछ वर्षों का कार्य-अनुभव रखने वाले किसी क्वालिफाइड सेल्स एंड मार्केटिंग मैनेजर की एवरेज सालाना सैलरी 6.8 लाख रुपये है. इस फील्ड में तकरीबन 20 वर्षों के वर्क एक्सपीरियंस वाले मैनेजर्स एवरेज 9.6 लाख रुपये सालाना तक कमा सकते हैं. इस फील्ड में कैंडिडेट्स के सैलरी पैकेज पर कंपनी के लेवल और प्रॉफिट शेयर का भी सीधा असर देखा जा सकता है.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटी, के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.    

Related Categories

Popular

View More