CBSE 10th हिंदी कोर्स (B) बोर्ड परीक्षा 2020: स्पर्श (भाग 2) के महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर

CBSE class 10 hindi कोर्स (B) की किताब स्पर्श (भाग 2) के कुछ ज़रूरी प्रश्न और उत्तर हमने  नीचे दिए हुए हैं | जो विद्यार्थी 29th फरवरी को होनी वाली इस परीक्षा को देने वाले हैं, वो इन प्रश्नों से अभ्यास कर सकते हैं | स्पर्श (भाग 2) के ये प्रश्न मतवपूर्ण हैं और CBSE कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा में आ सकते हैं |

पद्य खंड

Chapter 1 (कबीर - साखी)

 Q1- मीठी वाणी बोलने से औरों को सुख और अपने तन को शीतलता किस प्रकार  प्राप्त होती है?

Ans- मीठी वाणी का प्रभाव चमत्कारिक होता है और किसी के भी मन से क्रोध और घृणा के भाव नष्ट हो जाते हैं।

CBSE 10th हिंदी (B) बोर्ड परीक्षा 2020: संचयन (भाग 2) के महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर

Q2- भाव स्पष्ट कीजिए

बिरह भुवंगम तन बसैमंत्र न लागै कोइ।

Ans- इस कविता का भाव यह है कि जिस भी व्यक्ति के हृदय में ईश्वर के प्रति प्रेम रुपी विरह का सर्प बस जाता है, उस पर किसी भी प्रकार का मंत्र असर नहीं करता है। इसका अर्थ है की भगवान के विरह में कोई भी जीव सामान्य नहीं रहता है। उस पर किसी बात का कोई असर नहीं होता है।

Q3- अपने स्वभाव को निर्मल और शांत रखने के लिए कबीर ने क्या उपाय सुझाया है?

Ans- कबीर के अनुसार हमें अपने आसपास निंदक रखने चाहिए ताकि वे हमारी त्रुटियों को बता सके। निंदक हमारे सबसे अच्छे हितैषी होते हैं और उनके द्वारा बताए गए त्रुटियों को दूर करके हम अपने स्वभाव को निर्मल और शांत बना सकते हैं। 

Chapter 2 (मीरा - पद )

Q1- मीराबाई ने श्रीकृष्ण के रुप-सौंदर्य का वर्णन इसमें कैसे किया है?

Ans- मीरा ने कृष्ण के रुप-सौंदर्य का वर्णन दिया है और कहा है कि उनके सिर पर मोर के पंखों का मुकुट है, वे पीले वस्त्र पहने हैं | उनके गले में वैजंती फूलों की माला है, वे बाँसुरी बजाते हुए गायें चराते हैं हुए बहुत सुंदर लगते हैं।

Q2- पहले पद में मीरा ने हरि से अपनी पीड़ा हरने की विनती किस प्रकार की है?

Ans- मीरा ने हरि से अपनी पीड़ा हरने की विनती ऐसे की है जिस प्रकार प्रभु ने द्रोपदी का वस्त्र बढ़ा दिया था और उसकी लाज रखी थी, उन्होनें नरसिंह का रुप धारण करके हिरण्यकश्यप को मार कर प्रह्लाद को बचाया था और जिस प्रकार जब मगरमच्छ ने हाथी को अपने मुँह में ले लिया तो उसे बचाया था । मीरा ने इसी तरह  संकट से बचने की विनती की है ।

Q3- काव्य-सौंदर्य स्पष्ट कीजिए-

बूढ़तो गजराज राख्योकाटी कुण्जर पीर।

दासी मीराँ लाल गिरधरहरो म्हारी भीर।

Ans- इन पंक्तियों में मीरा ने कृष्ण से अपने दुखों को दूर करने की प्रार्थना की है। हे भक्त वत्सल जैसे डूबते गजराज को बचाया और उसकी रक्षा की वैसे ही मीरा प्रार्थना करती है कि उसकी पीड़ा को दूर करो। इसमें दास्य भक्तिरस है और भाषा ब्रज मिश्रित राजस्थानी है। इसमें अनुप्रास अलंकार है और इसकी भाषा सरल तथा सहज है।

CBSE Class 10 Hindi Course B Syllabus for Board Exam 2020

Chapter 3 (बिहारी- दोहे)

 Q1- छाया भी कब छाया ढूँढ़ने लगती है?

Ans- जेठ के महीने में धूप इतनी तेज़ होती है कि वो सिर पर आने लगती है जिससे की छाया छोटी होती जाती है। इसलिए कवि कहना चाहते हैं कि जेठ की दुपहरी की भीषण गर्मी में छाया भी छाया ढूँढ़ने लगती है।

Q2- गोपियाँ श्रीकृष्ण की बाँसुरी किस कारण से छिपा लेती हैं?

Ans-  गोपियाँ श्रीकृष्ण से बातें करना चाहती हैं इसलिए उनका ध्यान अपनी और आकर्षित करने के लिए मुरली छिपा देती हैं।

Q3- इसका भाव स्पष्ट कीजिए-

जगतु तपोबन सौ कियौ दीरघ-दाघ निदाघ।

Ans- ग्रीष्म ऋतु की भीषण गर्मी की वजह से पूरा जंगल तपोवन बन गया है। सबकी आपसी दुश्मनी समाप्त हो गई है और साँपहिरण और सिंह सभी गर्मी से बचने के लिए साथ रह रहे हैं। 

Chapter 4 (मैथिलीशरण गुप्त- मनुष्यता)

 Q1- कवि ने सभी को एक होकर चलने की प्रेरणा क्यों दी है?

Ans- कवि ने सबको एक होकर चलने की प्रेरणा इसलिए दी है ताकि सब मैत्री भाव से आपस में मिलकर रहें | कवि के अनुसार एक होने से सभी कार्य सफल होते हैं और ऊँच-नीचवर्ग भेद नहीं रहता।

Q2- इस कविता के आधार पर बताइए कि व्यक्ति को किस प्रकार का जीवन व्यतीत करना चाहिए?

Ans- कविके अनुसार हमें ऐसा जीवन व्यतीत करना चाहिए जो दूसरों के काम आए। मनुष्य को अपने स्वार्थ का त्याग करना चाहिए और परहित के लिए जीना चाहिए।

Q3- उदार व्यक्ति की पहचान कैसे होती है?

Ans- उदार व्यक्ति अपना पूरा जीवन पुण्य व लोकहित कार्यो में बिता देता है। वह किसी से भेदभाव नहीं रखता, आत्मीय भाव रखता है। वह निज स्वार्थों का त्याग कर देता है और जीवन का मोह भी नहीं रखता। 

Chapter 5 (सुमित्रानंदन पंत- पर्वत प्रदेश में प्रवास)

 Q1- पावस ऋतु के समय प्रकृति में कौन-कौन से परिवर्तन आते हैंकविता के आधार पर स्पष्ट कीजिए?

Ans- पावस ऋतु के समय जल पहाड़ों के नीचे इकट्ठा होता है और दर्पण जैसा लगने लगता है। अचानक आकाश में काले-काले बादल घिर आते हैं। ऐसा लगने लगता है  मानो बादल रुपी पंख लगाकर पर्वत उड़ना चाहते हैं।

Q2- कवि ने तालाब की समानता किसके साथ दिखाई है और क्यों दिखाई है ?

Ans- कवि ने तालाब की समानता दर्पण के साथ दिखाई है । दर्पण से समानता दिखने का कारण यह है की जैसे दर्पण में प्रतिबिंब स्वच्छ व स्पष्ट दिखाई देता है, उसी प्रकार तालाब का जल स्वच्छ और निर्मल होता है।

Q3- शाल के वृक्ष भयभीत होकर धरती में क्यों धँस गए हैं ?

Ans- आसमान में अचानक बादलों के छाने से भयंकर वर्षा होने लगी। वर्षा की भयानकता और धुंध के कारण शाल के वृक्ष भयभीत होकर धरती में धँस गए प्रतीत होते हैं।

Chapter 6 (महादेवी वर्मा- मधुर मधुर मेरे दीपक जल! )

यहपाठ केवल पठन के लिए हैं

Chapter 7 (वीरेन डंगवाल- तोप)

 Q1- विरासत में मिली चीज़ों की बड़ी सँभाल क्यों होती हैइसे स्पष्ट कीजिए।

Ans- विरासत में मिली चीज़ों की बड़ी सँभाल इसलिए होती है क्योंकि ये वस्तुएँ हमें अपने पूर्वजों से जोड़ कर रखती हैं और हमारे इतिहास की याद दिलाती हैं |

Q2- कंपनी बाग में रखी तोप क्या सीख देती है?

Ans- कंपनी बाग में रखी तोप यह सिखाती है कि अत्याचार का अंत होता है। मानव विरोध के सामने उसे हार माननी ही पड़ती है।

Q3- कविता में तोप को दो बार चमकाने की बात करी गयी है। यह दो अवसर कौन-से होंगे?

Ans- यह दो अवसर 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) और 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) है |

Chapter 8 (कैफ़ी आज़मी- कर चले हम फ़िदा)

 Q1- क्या इस गीत की कोई ऐतिहासिक पृष्ठभूमि है?

Ans- यह गीत 1962 के भारत-चीन युद्ध की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि के आधार पर  लिखा गया है। चीन ने तिब्बत की ओर से भारत पर आक्रमण किया और भारतीय वीरसेना ने इस आक्रमण का मुकाबला जम कर किया।

Q2- गीत में ऐसी कौन सी खास बात होती है कि वे जीवन भर याद रह जाते हैं?

Ans- जिन गीतों में भावनात्मकतामार्मिकतासच्चाई आदि गुण होते हैंवे गीत जीवन भर याद रह जाते हैं। 'कर चले हम फ़िदा' ऐसा गीत है जिसमें बलिदान की भावना स्पष्ट झलकती है। इसी कारण यह किसी एक विशेष व्यक्ति का गीत न बनकर सभी भारतीयों का ही गीत बन गया।

Q3- इस गीत में 'सर पर कफ़न बाँधनाकिस ओर संकेत करता है?

Ans- इसका अर्थ है हँसते-हँसते देश की रक्षा के लिए अपने जीवन को बलिदान करना और शत्रुओं का मुकाबला जम कर करना |

Chapter 9 (रवींद्रनाथ ठाकुर - आत्मत्राण)

Q1- 'विपदाओं से मुझे बचाओंयह मेरी प्रार्थना नहीं' − कवि इस पंक्ति में क्या कहना चाहता है?

Ans- कवि यह कहना चाहते हैं कि हे ईश्वर मैं यह नहीं कहता कि मुझ पर कोई विपदा या परेशानी न आए बल्कि मैं यह कहना चाहता हूँ कि मुझमें इन विपदाओं को सहने की शक्ति दें। 

Q2- कवि सहायक के न मिलने पर क्या प्रार्थना करता है?

Ans- कवि यह प्रार्थना करता है कि उसका बल पौरुष बिलकुल ना हिले और कोई भी कष्ट वह धैर्य से सह ले।

Q3- भाव स्पष्ट करिए 

नत शिर होकर सुख के दिन में

तव मुख पहचानूँ छिन-छिन में।

Ans- इन पंक्तियों में कवि कहना चाहते हैं कि वह सुख के दिनों में भी सिर झुकाकर ईश्वर को याद करना चाहते हैं , वह एक भी पल ईश्वर को भुलाना नहीं चाहता।

गद्य खंड

Chapter 1 (प्रेमचंद- बड़े भाई साहब)

Q1- कहानी में बड़े भाई छोटे भाई से हर समय पहला सवाल क्या पूछते थे?

Ans- छोटा भाई जब भी बाहर से आता था, तो बड़े भाई हर समय यही सावल पूछते "अब तक कहाँ थे"? 

Q2- एक दिन जब गुल्ली-डंडा खेलने के बाद छोटे भाई बड़े भाई साहब के सामने पहुँचा तो बड़े भाई की क्या प्रतिक्रिया हुई?

Ans- एक दिन जब छोटे भाई गुल्ली-डंडा खेलने के बाद बड़े भाई साहब के सामने पहुँचे तो उनकी प्रतिक्रिया बहुत ही भयानक थी। बड़े भाई बहुत ही क्रोधित थे। उन्होंने छोटे भाई को बहुत डाँटा और उसे पढ़ाई पर ध्यान देने को कहा |

Q3- कहानी में बड़े भाई साहब के अनुसार जीवन की समझ कैसे आती है?  

Ans- बड़े भाई साहब के अनुसार जीवन की समझ सिर्फ किताबी ज्ञान से ही नहीं बल्कि जीवन में किये गए अनुभवों से भी आती है | अनुभवी व्यक्ति को समझ होती है और वे हर परिस्थिति में अपने को ढालने की क्षमता रखते हैं।

Chapter 2 (सीताराम सेकसरिया- डायरी का एक पन्ना)

Q1- कलकत्ता वासियों के लिए 26 जनवरी 1931 का दिन महत्वपूर्ण क्यों था? 

Ans- देश में स्वतंत्रता दिवस एक वर्ष पहले इसी दिन मनाया गया था। इससे पहले बंगाल वासियों की भूमिका नहीं थी पर अब वह प्रत्यक्ष तौर पर जुड़ गए थे, इसलिए यह दिन उनके लिए महत्वपूर्ण था |

Q2- पुलिस कमिश्नर के दिए हुए नोटिस और कौंसिल के नोटिस में क्या अंतर था?

Ans- पुलिस और कौंसिल के नोटिस एक दुसरे के बिल्कुल खिलाफ थे | पुलिस कमिश्नर के नोटिस के अनुसार कोई भी जनसभा करना या जुलूस निकालना कानून के खिलाफ़ होगा। जबकि कौंसिल के नोटिस में लिखा था कि मोनुमेंट के नीचे चार बजकर चौबीस मिनट पर झंडा फहराया जाएगा और साथ ही स्वतंत्रता की प्रतिज्ञा पढ़ी जाएगी।

Q3- आशय स्पष्ट कीजिए −

खुला चैलेंज देकर ऐसी सभा पहले नहीं की गई थी?

Ans- पुलिस ने कानून निकाला कि कोई जुलूस आदि आयोजित नहीं होगा परन्तु सुभाष बाबू की अध्यक्षता में कौंसिल ने नोटिस निकाला और सभी को आमंत्रित किया  कि मोनुमेंट के नीचे झंडा फहराया जाएगा और स्वतंत्रता की प्रतिक्षा पढ़ी जाएगी।

Chapter 3 (लीलाधर मंडलोई- तताँरा-वामीरो कथा)

Q1- तताँरा-वामीरो कहाँ की प्रचलित कथा है?

Ans-यह अंदमान निकोबार द्वीप समुह की बहुत ही प्रचलित लोक कथा है।

Q2- तताँरा की तलवार के बारे में लोगों का क्या मत था?

Ans- तताँरा की तलवार लकड़ी की बनी हुई थी औऱ हर समय उसकी कमर पर बँधी रहती थी। वह इसका प्रयोग सबके सामने नहीं करता था। उसमें अद्भुत दैवीय शक्ति थी, इसी वजह से तताँरा के साहसिक कारनामों के चर्चे चारों तरफ़ थे। वास्तव में वह तलवार एक रहस्य थी।

Q3- प्राचीन काल के समय मनोरंजन और शक्ति प्रदर्शन के लिए किस प्रकार के आयोजन किए जाते थे?

Ans- प्राचीन काल में प्रदर्शन के लिए हष्ट पुष्ट पशुओं के साथ शक्ति प्रदर्शन किए जाते | खाने पीने की दुकाने, जानवरों की नुमाइश, ये सभी मनोरंजन के साधन थे। 

Chapter 4 (प्रहलाद अग्रवाल- तीसरी कसम के शिल्पकार शैलेंद्र)

यह पाठ केवल पठन के लिए हैं

Chapter 5 (अंतोंन चेखव - गिरगिट)

यह पाठ केवल पठन के लिए हैं

Chapter 6 (निदा फ़ाज़ली- अब कहाँ दूसरों के दुःख से दुखी होने वाले)

 Q1- बड़े-बड़े बिल्डर समुद्र को पीछे क्यों धकेल रहे थे?

Ans- प्रतिदिन आबादी बढ़ रही है जिसकी वजह से बिल्डर नई-नई इमरातें बनाने के लिए वन जंगल तो खतम कर ही रहे हैं। साथ ही समुद्र के किनारे इमारतें बनाने के कारण समुद्र को भी पीछे धकेल रहे हैं । 

Q2- अरब में लशकर को नूह के नाम से क्यों याद किया जाता हैं?

Ans- लशकर को अरबवासी नूह के नाम से याद करते हैं। नूह को पैगम्बर या ईश्वर का दूत भी माना जाता है । उसके मन में करूणा होती थी और उनके पावन ग्रंथों में इनका ज़िक्र मिलता है।

Q3- लेखक की माँ ने पूरे दिन रोज़ा क्यों रखा?

Ans- लेखक के घर एक कबूतर का घोसला था जिसमें दो अंडे थे, एक अंडा बिल्ली ने झपट कर तोड़ दिया और दूसरा अंडा बचाने के लिए माँ उतारने लगीं तो उनसे  टूट गया। इस पर उन्हें दुख हुआ, इस दुःख का प्रायश्चित करने के लिए माँ ने पूरे दिन रोज़ा रखा और नमाज़ पढ़कर माफी माँगती रहीं। 

Chapter 7 (रवींद्र केलेकर- पतझर में टूटी पत्तियां)

 Q1- शुद्ध सोना और गिन्नी का सोना अलग क्यों होता है?

Ans- शुद्ध सोने में थोड़ा-सा ताँबा मिलाया जाता है तब गिन्नी बनता है। ऐसा करने से ही सोना चमकता है।

Q2- चाय पीने के बाद लेखक ने स्वयं में क्या बादलाव महसूस किया?

Ans- चाय पीने के बाद लेखक ने यह बदलाव महसूस किया कि उसका दिमाग सुन्न होता जा रहा है और उसकी सोचने की शक्ति धीरे-धीरे मंद हो रही है। इस वजह से  सन्नाटे की आवाज भी सुनाई देने लगी। उसे लगने लगा कि भूत-भविष्य दोनों का चिंतन न करके वर्तमान में जी रहा हो। इससे उसे बहुत सुख मिलने लगा।

Q3- आपके विचार से कौन-से ऐसे मूल्य हैं जो शाश्वत हैंवर्तमान समय में इन मूल्यों की प्रांसगिकता स्पष्ट कीजिए।

Ans- ईमानदारी, सत्य, अहिंसा आदि ऐसे मूल्य हैं जिनकी प्रांसगिकता आज भी है। इनकी आज भी उतनी ही आवश्यकता है जितनी पहले थी।

Chapter 8 (हबीब तनवीर- कारतूस (एकांकी)

Q1- कर्नल ने सवार पर नज़र रखने के लिए क्यों कहा?

Ans- कर्नल ने सवार पर नज़र रखने के लिए इसलिए कहा क्योंकि धूल के उड़ने से उसे अंदाजा लगा कि लोग ज़्यादा हैं और वज़ीर को ढूंढ़ रहे हैं।

Q2- कंपनी के वकील का कत्ल करने के बाद वज़ीर अली ने अपनी हिफ़ाज़त कैसे की?

Ans- कंपनी के वकील की हत्या करने के बाद वज़ीर अली आजमगढ़ भाग गया | वहाँ के नवाब ने उसकी सहायता की और उसे सुरक्षित घागरा पहुँचा दिया। तब से वह वहाँ के जंगलों में रहने लगा।

Q3- सआदत अली को अवध के तख्त पर बिठाने के पीछे कर्नल का क्या मकसद था?

Ans- सआदत अली आराम पसंद अंग्रेज़ों का पिट्ठू था। अंग्रेज़ कर्नल ने उसे तख्त पर बिठाया क्यूंकि कर्नल को अवध की धन सम्पत्ति पर अधिकार करना था। उसने अंग्रेज़ों को आधी सम्पत्ति और दस लाख रूपये तक दिए। इस कारण सआदत अली को गद्दी पर बैठाने से उन्हें लाभ ही लाभ था। 

Related Categories

Also Read +
x