JagranJosh Education Awards 2022 - Nominations Open!
Next

भारत में स्टूडेंट्स और यंग प्रोफेशनल्स के लिए एयरोस्पेस इंजीनियरिंग कोर्स और करियर्स

Anjali Thakur

देश-दुनिया में इंजीनियरिंग की विभिन्न ब्रांचेज में अनेक आकर्षक करियर ऑप्शन्स और जॉब ऑफर्स हमेशा ही उपलब्ध रहेंगे. अगर आपको स्पेस रिसर्च और स्पेस एक्सप्लोरेशन से संबंधित किसी करियर के बारे में पता चले और आपके पास जरुरी स्किल-सेट, टैलेंट के साथ जरुरी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन भी हो फिर तो ‘सोने पे सुहागा’ क्योंकि तब आप भारत में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की फील्ड में कोई मनचाहा करियर शुरु कर सकते हैं. इस आर्टिकल में हम स्टूडेंट्स और यंग प्रोफेशनल्स के लिए एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के विभिन्न कोर्सेज और भारत में उपलब्ध बेहतरीन करियर्स से संबंधित सारी जरुरी जानकारी पेश कर रहे हैं.

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग का परिचय

दरअसल, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग की एक ऐसी ब्रांच है जिसका संबंध ‘स्पेस रिसर्च और स्पेस एक्सप्लोरेशन’ से है. यह एक बड़ी दिलचस्प इंजीनियरिंग फील्ड है. इंजीनियरिंग की इस फील्ड में एयरक्राफ्ट और स्पेसक्राफ्ट्स की स्टडी और डेवलपमेंट से संबंधित सभी कार्य शामिल होते हैं. भारत में अभी इस फील्ड में काफी विकास कार्य और संभावनाएं शेष हैं. एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में हाई-टेक सिस्टम्स की डिजाइनिंग और मैन्युफैक्चरिंग शामिल होती है इसलिए, एयरोस्पेस इंजीनियर्स के पास बेहतरीन मैन्युअल, टेक्निकल, मैकेनिकल टैलेंट और कार्य-क्षमता होनी चाहिए.

Trending Now

एयरोस्पेस इंजीनियर

आमतौर पर एयरोस्पेस इंजीनियर्स विभिन्न मिलिट्री और सिविल एयरक्राफ्ट्स, रॉकेट्स, मिसाइल्स, वेपन सिस्टम्स और सैटेलाइट्स को डिज़ाइन, डवेलप और टेस्ट करते हैं ताकि उनकी परफॉरमेंस को मेंटेन रखा जा सके. ये पेशेवर पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर्स में जॉब ज्वाइन कर सकते हैं. इन पेशेवरों के लिए भारत सहित विदेशों में भी जॉब के अनेक अवसर उपलब्ध हैं जैसेकि ये लोग दुनिया-भर में प्रसिद्ध NASA में भी अपना करियर शुरू कर सकते हैं.  

आपको यह जानकर काफी ख़ुशी होगी कि 22 जुलाई, 2019 को चंद्रयान - 2 के सफल लॉन्च के बाद मिनिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट (MoHRD), भारत सरकार 29 जुलाई, 2019 से अपने “स्वयं” पोर्टल के माध्यम से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में ऑनलाइन कोर्सेज ऑफर करेगी. MoHRD का ‘स्वयं’ पोर्टल एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में 6 ऑनलाइन कोर्स ऑफर करेगा ताकि स्टूडेंट्स को स्पेसक्राफ्ट, एयरक्राफ्ट, मिसाइल्स और वेपन्स सिस्टम्स की डिजाइनिंग, मैन्युफैक्चरिंग और मेंटेनेंस के बारे में जानकारी के साथ जरुरी स्किल्स हासिल हो जायें. इन कोर्सेज का विवरण निम्नलिखित है:

भारत में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के लिए जरुरी एजुकेशनल और एलिजिबिलिटी

यह 3 साल की अवधि का कोर्स है और किसी एजुकेशनल बोर्ड से कम से कम 10वीं पास स्टूडेंट्स इस डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं.

किसी एजुकेशनल बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स सब्जेक्ट्स सहित 12 वीं पास स्टूडेंट्स एयरोस्पेस इंजीनियरिंग और/ या एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में 4 साल की अवधि के बीटेक और बीई कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं.

किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से बीटेक/ बीई की डिग्री हासिल करके स्टूडेंट्स एयरोस्पेस इंजीनियरिंग और/ या एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में 2 साल की अवधि के एमटेक/ एमई कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं. आप एयरोस्पेस/ एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं.

पीएचडी  एयरोस्पेस इंजीनियरिंग. इस कोर्स की अवधि आमतौर पर 5 – 6 वर्ष है और एयरोस्पेस इंजीनियरिंग या किसी संबंधित सब्जेक्ट में किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से पोस्टग्रेजुएट स्टूडेंट्स इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं.  

भारत में इन टॉप इंस्टीट्यूट्स से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के कोर्सेज

अगर आप भारत में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की फील्ड में ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल के विभिन्न कोर्सेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आप निम्नलिखित टॉप इंस्टीट्यूट्स में एडमिशन ले सकते हैं:

एयरोस्पेस इंजीनियर्स के लिए जरुरी प्रोफेशनल स्किल्स

इस फील्ड में अपना करियर शुरू करने के लिए पेशेवरों के पास कुछ जरुरी वर्किंग/ प्रोफेशनल स्किल्स होने ही चाहिए ताकि वे अपने करियर में कामयाबी हासिल कर सकें. ये वर्किंग स्किल्स हैं:

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग: टॉप इंडियन जॉब प्रोवाइडर्स

भारत में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की फील्ड से संबंधित जॉब्स के लिए पेशेवर निम्नलिखित सरकारी और प्राइवेट सेक्टर्स में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं:  

भारत में एयरोस्पेस इंजीनियर्स के लिए उपलब्ध करियर्स

हमारे देश में एयरोस्पेस इंजीनियर्स निम्नलिखित करियर ऑप्शन्स या जॉब प्रोफाइल्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं:

 भारत में एयरोस्पेस इंजीनियर्स का सैलरी पैकेज

भारत में इस फील्ड में फ्रेशर कैंडिडेट्स को आमतौर पर 4 लाख – 6 लाख का सालाना सैलरी पैकेज मिलता है. किसी सुप्रसिद्ध IIT से ग्रेजुएट एयरोस्पेस इंजीनियर्स को 15 लाख रुपये तक सालाना का एवरेज सैलरी पैकेज भी मिल सकता है. भारत के सरकारी क्षेत्र के साथ प्राइवेट सेक्टर्स में भी इस फील्ड के प्रोफेशनल्स को काफी आकर्षक सैलरी पैकेज सालाना दिया जाता है.

अगर आपको भी स्पेस रिसर्च और स्पेस एक्सप्लोरेशन की फ़ील्ड्स में दिलचस्पी है और आपके पास बेहतरीन मैथमेटिक्स, टेक्निकल और मैकेनिकल स्किल्स हैं तो आप एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की फील्ड में सूटेबल डिग्रीज़ लेकर एयरोस्पेस इंजीनियरिंग से संबंधित जॉब/ करियर ऑप्शन्स चुनकर देश की सेवा में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं. ऑल दी वैरी बेस्ट!

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

ये हैं इंडियन स्टूडेंट्स के लिए एनर्जी इंजीनियरिंग में उपलब्ध बेहतरीन कोर्सेज और करियर ऑप्शन्स

भारत में आपके लिए फायर इंजीनियरिंग के कोर्सेज और करियर स्कोप

कंप्यूटर इंजीनियरिंग के बाद आपके लिए टॉप करियर ऑप्शन्स

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश

Related Categories

Live users reading now