क्लाउड आर्किटेक्ट: भारत में एलिजिबिलिटी और करियर स्कोप

भारत में इस साल अर्थात 2020 तक क्लाउड कंप्यूटिंग मार्केट का कुल कारोबार 4 बिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है और वर्ष 2022 तक भारत में क्लाउड कंप्यूटिंग की फील्ड से संबद्ध 01 मिलियन से ज्यादा जॉब्स जनरेट होंगी. बेशक क्लाउड कंप्यूटिंग की फील्ड में एक्सपर्ट पेशेवरों की मांग में निरंतर बढ़ोतरी होगी क्योंकि आजकल देश-दुनिया में अधिकतर कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को अपना रही है. अगर आप भी एक IT और सॉफ्टवेयर एक्सपर्ट हैं तो आप क्लाउड कंप्यूटिंग की फील्ड में क्लाउड आर्किटेक्ट या अन्य संबद्ध जॉब प्रोफाइल में अपना करियर बना सकते हैं. एक क्लाउड आर्किटेक्ट किसी प्रोजेक्ट की तकनीकी आवश्यकताओं को आर्किटेक्चर और डिजाइन में परिवर्तित करने के लिए जिम्मेदार है जो एंड प्अरोडक्क्सट को गाइड करता है. क्लाउड आर्किटेक्ट्स क्लाउड में जटिल व्यावसायिक समस्याओं और समाधानों के बीच अंतराल को कम करने के लिए भी जिम्मेदार होते हैं. हमारे देश सहित पूरी दुनिया में क्लाउड कंप्यूटिंग से जुड़े एक्सपर्ट पेशेवरों को काफी आकर्षक सैलरी पैकेज ऑफर किये जाते हैं.

क्लाउड कंप्यूटिंग का परिचय

क्लाउड कंप्यूटिंग में सभी संबद्ध कंप्यूटर रिसोर्सेज को शेयर किया जाता है और इसमें प्रोसेसिंग के लिए लोकल सर्वर्स या अन्य डिवाइसेस का इस्तेमाल किया जाता है. दूसरे शब्दों में, क्लाउड कंप्यूटिंग एक ऐसी प्रोसेस है जिसके तहत बार-बार इस्तेमाल किये जाने वाले डाटा को मल्टीप्ल सर्वर्स पर स्टोर किया जाता है और इंटरनेट के माध्यम से क्लाउड कंप्यूटिंग के सभी कार्य किए जाते हैं. आसान शब्दों में,  इंटरनेट के जरिये ही यूजर्स के कंप्यूटर सिस्टम को सर्वर्स, स्टोरेज फैसिलिटी और अन्य जरुरी एप्लीकेशन्स प्रदान किए जाते हैं. ड्रापबॉक्स और गूगल अपने यूजर्स को ये सुविधायें उपलब्ध करवाते हैं.

क्लाउड कंप्यूटिंग के फायदे:

देश-दुनिया में क्लाउड कंप्यूटिंग का प्रचलन बढ़ता ही जा रहा है क्योंकि इससे कंप्यूटर और इंटरनेट यूजर्स को निम्नलिखित फायदे मिलते हैं:

जानिए आर्किटेक्ट बनने के लिए कुछ कारगर टिप्स

क्लाउड आर्किटेक्ट:

ये पेशेवर IT की फील्ड के एक्सपर्ट्स होते हैं और आमतौर पर संबद्ध कंपनी के क्लाउड कंप्यूटिंग सिस्टम की देख-भाल करते हैं. ये पेशेवर मुख्य रूप से अपनी कंपनी या संस्थान के लिए क्लाउड एप्लीकेशन डिज़ाइन्स तैयार करते हैं और क्लाउड कंप्यूटिंग से संबद्ध प्लान्स को अप्रूव करने के साथ-साथ क्लाउड स्टोरेज की समुचित व्यवस्था भी करते हैं. इन पेशेवरों को क्लाउड डेवलपर या क्लाउड सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर के नाम से भी जाना जाता है.

क्लाउड आर्किटेक्ट्स के लिए जरुरी वर्क-स्किल्स

इन पेशेवरों के पास एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के अलावा निम्नलिखित वर्क-स्किल्स जरुर होने चाहिए:

क्लाउड आर्किटेक्ट: भारत में एलिजिबिलिटी और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

देश-दुनिया में क्लाउड कम्प्यूटिंग की फील्ड से जुड़ी विभिन्न जॉब्स के लिए विशेष डिग्री की जरूरत नहीं होती है. लेकिन इंजीनिरंग और/ या कम्प्यूटर सांइस की डिग्री रखने वाले स्टूडेंट्स को आसानी से जॉब मिलती है. आईटी और कम्प्यूटर बैकग्राउंड वाले स्टूडेंट्स को इस फील्ड में प्राथमिकता दी जाती है. इसके अलावा, कम्प्यूटर और प्रोगामिंग अच्छी जानकारी इस फील्ड में करियर शुरू करने के लिए बेहद जरुरी है  क्योंकि क्लाउड कम्प्यूटिंग में पूरा काम कम्प्यूटर पर इंटरनेट के माध्यम से ही होता है.

क्लाउड कंप्यूटिंग से संबद्ध हैं ये सर्टिफिकेट्स

आप निम्नलिखित सर्टिफिकेट्स हासिल करने के बाद भारत में किसी क्लाउड कंप्यूटिंग एक्सपर्ट या क्लाउड आर्किटेक्ट के तौर पर कार्य कर सकते हैं:

क्लाउड आर्किटेक्ट: भारत में टॉप एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स

भारत में स्टूडेंट्स निम्नलिखित प्रमुख इंस्टीट्यूशन्स से क्लाउड कंप्यूटिंग से संबद्ध विभिन्न कोर्सेज कर सकते हैं:

सिटी या टाउन प्लानर बनकर सवारें अपना करियर

भारत में प्रमुख क्लाउड कंप्यूटिंग जॉब्स और करियर विकल्प

देश-दुनिया में इंटरनेट और डाटा के लगातार बढ़ते हुए इस्तेमाल के कारण आजकल क्लाउड कंप्यूटिंग की फील्ड में क्लाउड आर्किटेक्ट्स या क्लाउड पेशेवरों के लिए कई किस्म की जॉब्स या करियर विकल्प मौजूद हैं लेकिन हरेक जॉब प्रोफाइल के लिए क्लाउड कंप्यूटिंग की बेसिक जानकारी के साथ-साथ संबद्ध फील्ड की विशेष जानकारी इन पेशेवरों को जरुर होनी चाहिए. हमारे देश सहित पूरी दुनिया में क्लाउड कंप्यूटिंग से जुड़ी प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स या करियर विकल्प निम्नलिखित हैं:

क्लाउड आर्किटेक्ट को भारत में मिलने वाला सैलरी पैकेज

अगर हम अपने देश  में क्लाउड कंप्यूटिंग की फील्ड से संबद्ध विभिन्न पेशेवरों के आकर्षक सैलरी पैकेज की चर्चा करें तो, करियर शुरू करते ही इन पेशेवरों को कम से कम 5 – 7 लाख रूपये सालाना का सैलरी पैकेज ऑफर किया जाता है और कुछ वर्षों के वर्क-एक्सपीरियंस के बाद ये पेशेवर एवरेज 10 – 12 लाख रूपये सालाना कमाने लगते हैं. आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि हमारे देश में बड़े ब्रांड्स और मल्टी नेशनल कंपनियां 15-20 साल का वर्क एक्सपीरियंस रखने वाले हाईली क्वालिफाइड और टैलेंटेड सीनियर क्लाउड पेशेवरों को 1 करोड़ रुपये सालाना का सैलरी पैकेज भी ऑफर कर रही हैं.

जानिए आर्किटेक्ट बनने के लिए कुछ कारगर टिप्स

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

 

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x