Next

क्रिएटिव स्टूडेंट्स के लिए भारत में उपलब्ध हैं ये आकर्षक करियर ऑप्शन्स

क्रिएटिविटी हमारी ऐसी क्वालिटी है जिसके कारण सदियों से मानव सभ्यता का सतत विकास होता रहा है. हम लोगों में से कई लोग निरंतर कुछ नया करना चाहते हैं. हमारे देश में आज से कुछ वर्ष पहले तक क्रिएटिव फ़ील्ड्स में जॉब या करियर के कम ही अवसर मौजूद थे लेकिन, अब समय बदल चुका  है. अब, कई क्रिएटिव और ऑफ-बीट करियर्स जॉब मार्केट में अपनी पहचान बना रहे हैं. इन दिनों भारत की जॉब मार्केट परिवर्तन के दौर से गुजर रही है और वर्ष 2022 तक देश की लगभग 600 मिलियन वर्क-फोर्स में से 9% लोग ऐसी जॉब्स करेंगे जो अभी भारत की जॉब मार्केट में मौजूद नहीं हैं. भारत में आने वाले दिनों में, 37% जॉब्स के लिए बिलकुल अलग स्किल-सेट्स की जरूरत होगी (सोर्स: फिक्की – नैसकॉम एंड ईवाई रिपोर्ट). यहां आपकी सहूलियत के लिए हम कुछ ऐसे प्रमुख क्षेत्रों की एक लिस्ट पेश कर रहे हैं जिनमें क्रिएटिव स्टूडेंट्स अपना करियर शुरू करके सफलता हासिल कर सकते हैं:

यहां कुछ ऐसे करियर ऑप्शन्स पेश हैं जिन्हें अपनाकर आप काफी पैसा कमाने के साथ अपनी क्रिएटिविटी को भी संतुष्ट कर सकते हैं.

इंटीरियर डिज़ाइनर

सबसे अधिक क्रिएटिव पेशों में से एक इंटीरियर डिज़ाइनर्स ऐसे पेशेवर होते हैं जो बिल्डिंग की आंतरिक साज-सज्जा (इंटीरियर डिजाइनिंग) का काम करते हैं. उन्हें इंटीरियर्स के विशेष डिज़ाइन तैयार करने के साथ ही सुरक्षा, सुंदरता, स्टाइल और डिज़ाइन की उपयोगिता का पूरा ध्यान रखना होता है. इस जॉब के लिए छात्रों के पास इंटीरियर डिजाइनिंग या ड्राइंग में बैचलर डिग्री होनी चाहिए और उन्हें अपनी फील्ड में इस्तेमाल किये जाने वाली डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर की काफी अच्छी जानकारी होनी चाहिए. हमारे देश में आमतौर पर असिस्टेंट इंटीरियर डिज़ाइनर्स एवरेज रु. 30 हज़ार – रु. 40 हज़ार तक कमाते हैं और सीनियर इंटीरियर डिज़ाइनर्स रु. 8 लाख – रु. 30 लाख तक सालाना कमाते हैं.

Trending Now

भारत में इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:

एनिमेटर

इस पेशे में मुख्य रूप से ऐसी इमेजेज तैयार करनी होती हैं जो स्क्रीन पर लाइव हो जाती हैं. किसी एनिमेटर के तौर पर, आप वेबसाइट्स, वीडियो, गेम्स, फीचर फिल्म्स और अन्य मीडिया में इस्तेमाल की जाने वाली चलती-फिरती इमेजेज तैयार करते हैं.  छात्रों को विशेष कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर ग्राफ़िक्स और हैंडमेड ड्राइंग्स में ट्रेंड होना चाहिए ताकि छात्र विभिन्न किस्म के 2डी और 3डी एनीमेशन्स बना सकें. छात्रों के काम में ड्राइंग्स, स्पेशलिस्ट सॉफ्टवेयर, मॉडल मेकिंग, एनीमेशन की प्रत्येक स्थिति के लिए अलग इमेजेज तैयार करना शामिल होता है. इस फील्ड में भी आप अपनी सहूलियत के अनुसार रेगुलर जॉब या फ्रीलांसिंग पर काम कर सकते हैं. हमारे देश में जूनियर एनिमेटर्स/ ट्रेनर्स एवरेज रु. 8 हज़ार – रु. 15 हजार कमाते हैं और 3 से 5 वर्ष के वर्क एक्सपीरियंस के बाद रु. 25 हजार – रु. 40 हजार तक कमाते हैं. एक अच्छे अनुभवी एनिमेटर को रु. 50 हजार – 60 हजार मासिक मिलते हैं.

भारत में एनीमेशन का कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:

फोटोग्राफर

एक पेशेवर फोटोग्राफर के तौर पर छात्र लोगों, स्थानों, इवेंट्स, वाइल्डलाइफ, ट्रेवल आदि में से अपनी कोई खास फील्ड चुन सकते हैं. कुछ लोग फैशन, एडवरटाइजिंग, क्लिनिकल या वेडिंग फोटोग्राफी में भी स्पेशलाइजेशन करते हैं. अधिकतर पेशेवर फोटोग्राफर्स अकेले काम करना पसंद करते हैं. लेकिन इस फील्ड में एंट्री करने के लिए छात्रों को शुरू में किसी प्रतिष्ठित फोटोग्राफर के साथ काम करना चाहिए ताकि आप अपने काम में महारत हासिल कर सकें और जब आप अपना काम शुरू करें तो उनके कॉन्टेक्ट्स आपके काम आ सकें. वैसे तो इस फील्ड के लिए आपको कोई एकेडेमिक क्वालिफिकेशन नहीं चाहिए लेकिन, आजकल अधिकांश पेशेवर फोटोग्राफर्स टेक्निकल स्किल्स प्राप्त करने के लिए फोटोग्राफी में कोर्स करने लगे हैं.

भारत में फोटोग्राफी का कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:

गेम डिज़ाइनर

अगर आपको वीडियो गेम्स खेलना अच्छा लगता है तो आप एक गेम डिज़ाइनर के तौर पर अपना करियर शुरू कर सकते हैं. गेम डिज़ाइनर्स नई-नई कंप्यूटर गेम्स बनाते हैं. वे अपनी गेम के रूल्स, सेटिंग, स्टोरी और कैरेक्टर आदि तैयार करते हैं. गेम डिज़ाइनर को प्रोग्रामर्स, आर्टिस्ट्स, एनिमेटर्स, प्रोड्यूसर्स और ऑडियो इंजीनियर्स के साथ मिलकर काम करना होता है ताकि गेम काफी अच्छी बने. आप टेक्नोलॉजिकल डेवलपमेंट्स पर एक शॉर्ट-टर्म कोर्स कर सकते हैं ताकि आपको इस फील्ड में इस्तेमाल किये जाने वाले सॉफ्टवेयर की जानकारी मिल जाए. लेकिन, आपको जॉब करते हुए ही अपने काम की प्रैक्टिकल जानकारी मिलती है. यह वीडियो गेम लवर्स के लिए सबसे उपयुक्त करियर ऑप्शन है.

भारत में गेम डिजाइनिंग का कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:

ग्राफ़िक डिज़ाइनर

इस जॉब के लिए आपके पास क्रिएटिव स्किल के साथ-साथ बढ़िया बिजनेस सेंस भी होना चाहिए. इस जॉब में आपको क्लाइंट की जरूरतों के अनुसार विजूअल इमेजेज, इलस्ट्रेशन्स, टेक्स्ट, एनीमेशन्स और प्रमोशनल मेटीरियल तैयार करना होता है. इस जॉब के तहत आपको मैगजीन्स, वेबसाइट्स, न्यूज़पेपर्स, जर्नल्स और अन्य ऐसे पब्लिकेशन मीडियम्स के लिए विशिष्ट सॉफ्टवेयर पर लोगोस, ब्रोशर्स, एडवरटाइजमेंट्स, एनीमेशन्स, इलस्ट्रेशन्स आदि तैयार करने होते हैं. आपको एडवरटाइजर्स, प्रमोशनल मैनेजर्स, पब्लिक रिलेशन्स विशेषज्ञों, मार्केटिंग मैनेजर्स, कैंपेन प्लानर्स और टीम के ऐसे अन्य क्रिएटिव मेंबर्स के साथ मिलकर अपना काम करना पड़ता है. आप किसी डिज़ाइन स्टूडियो में फुल टाइम जॉब या एक फ्रीलांसर के तौर पर जॉब कर सकते हैं.

भारत में ग्राफ़िक डिजाइनिंग का कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:

वीडियो एडिटर

किसी वीडियो एडिटर के तौर पर आप एक रॉ रिकॉर्डिंग को एक फिनिश्ड प्रोडक्ट के रूप में तैयार करते हैं ताकि उस रिकॉर्डिंग को वांछित प्लेटफॉर्म्स पर ब्रॉडकास्ट या अपलोड किया जा सके. आपका पोस्ट-प्रोडक्शन प्रोसेस में काफी अहम रोल होता है क्योंकि आप हाई-क्वालिटी अंतिम प्रोडक्ट पेश करने के लिए पूरी तरह जिम्मेदार होते हैं. आप विज्ञापन एजेंसियों, प्रोडक्शन कंपनियों, टेलीविजन स्टूडियो या अन्य ऐसे संगठनों में काम कर सकते हैं. इस कार्यक्षेत्र में भी आप रेगुलर जॉब या फ्रीलांसिंग कर सकते हैं. लेकिन इस बात का पूरा ध्यान रखें कि यहां आपको बहुत कम समय में और काफी प्रेशर के तहत काम करना पड़ेगा.

भारत में वीडियो एडिटिंग का कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:

फ्रीलांस राइटर

फ्रीलांसर राइटर्स असल में ऑनलाइन, प्रिंट, टेलीविज़न या रेडियो आदि के लिए आर्टिकल्स, स्टोरीज, बुक्स या अन्य कंटेंट मैटर की रिसर्च करते हैं और विषयवस्तु तैयार करते हैं. टेक्निकल बैकग्राउंड वाले लोग टेक्निकल राइटिंग का काम कर सकते हैं लेकिन इसके लिए बढ़िया एजुकेशनल बैकग्राउंड के साथ ही आपको अपनी राइटिंग फील्ड की काफी अच्छी जानकारी होनी चाहिए. फ्रीलांसर राइटर बनने के लिए आपको क्रिएटिव राइटिंग में किसी डिग्री की जरूरत नहीं होती है. जर्नलिज्म, इंग्लिश लिटरेचर, स्क्रिप्ट राइटिंग और अन्य संबद्ध कोर्स कर सकते हैं. फ्रीलांस राइटिंग के लिए आपको किसी राइटिंग कोर्स में डिग्री की कोई जरूरत नहीं है लेकिन आपमें अपने काम के संबंध में क्रिएटिविटी और समर्पण के साथ ही मोटिवेशन होना चाहिए.

क्रिएटिव छात्रों के लिए कुछ अन्य खास करियर ऑप्शन्स

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

कॉलेज स्टूडेंट्स ये टिप्स आजमाकर बन सकते हैं बहुत क्रिएटिव

डायरी राइटिंग से कॉलेज स्टूडेंट्स को होने वाले 7 विशेष लाभ

आपके ये शौक बन सकते हैं बेहतरीन करियर ऑप्शन जो देंगे बढ़िया कमाई

 

Related Categories

Live users reading now