ये हैं 10वीं/ 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए प्रमुख जॉब ओरिएंटेड डिप्लोमा कोर्सेज

डिप्लोमा कोर्स: महत्व और करियर लाइन में योगदान

हमारे देश में आजकल भी कई बार स्टूडेंट्स अपनी पारिवारिक, आर्थिक या सामाजिक परिस्थिति के कारण 10वीं या 12वीं क्लास पास करने के बाद आगे नहीं पढ़ पाते हैं. लेकिन, भले ही आपके पास कोई हायर एजुकेशनल डिग्री हो या न हो, आपको अपने रोज़गार का कोई तरीका तो अपनाना ही पड़ता है.....चाहे वह कोई जॉब हो या अपना छोटा-सा कारोबार. ऐसे में भारत के विभिन्न सरकारी और प्राइवेट एजुकेशनल/ टेक्निकल इंस्टीट्यूट्स द्वारा करवाए जाने वाले विभिन्न डिप्लोमा कोर्सेज आपके करियर को एक नई दिशा देते हैं. यह तो हम सभी अच्छी तरह जानते हैं कि, प्रत्येक मनुष्य के जीवन की स्थिति और परिस्थितियां अलग-अलग होती हैं. करीबन 1.35 अरब की जनसंख्या वाले हमारे देश में बहुत से यंगस्टर्स/ स्टूडेंट्स ऐसे भी हैं जिन्हें बचपन में सुरक्षित माहौल नहीं मिलता है और इस कारण उनकी पढ़ाई अधूरी रह जाती है. बहुत बार तो ऐसे लोग 10वीं क्लास या 12वीं क्लास भी पास नहीं कर पाते हैं.

हमारे देश में डिप्लोमा कोर्सेज को अक्सर “शॉर्ट-टर्म कोर्सेज” कहा जाता है. ये डिप्लोमा कोर्सेज अपने सिलेबस के मुताबिक लंबी अवधि के भी हो सकते हैं. ये डिप्लोमा कोर्सेज जॉब ओरिएंटेड कोर्सेज हैं और फुल टाइम डिग्री कोर्सेज की तुलना में इन डिप्लोमा कोर्सेज की लागत और समयावधि काफी कम होती है. डिप्लोमा कोर्सेज में विभिन्न प्रकार के स्पेशलाइजेशन होते हैं जिन्हें आप अपनी पसंद और स्किल-सेट के अनुसार चुन सकते हैं. एक बार किसी प्रोफेशन या वर्क-स्किल में डिप्लोमा कोर्स पूरा करने के बाद स्टूडेंट्स कोई संबद्ध जॉब या पेशा आसानी से शुरू कर सकते हैं.  

डिप्लोमा कोर्स से मिलते हैं स्टूडेंट्स को अनेक फायदे:

आजकल डिप्लोमा कोर्सेज की इतनी ज्यादा लोकप्रियता का कारण सरल एडमिशन प्रोसेस, कम फीस और अपनी मनचाही जॉब करने की सहूलियत या फिर, अपनी मनचाही फील्ड में करियर शुरू करने का एक आधार है. अगर आप भी अपने लिए कम समय में एक अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं, मुश्किल  कॉम्पीटिशन से बचना चाहते हैं या फिर, आगे पढ़ाई जारी रखने के लिए आपकी वित्तीय स्थिति इजाजत नहीं देती है तो आप अपनी 10वीं/ 12वीं क्लास पास करने के बाद अपनी पसंद का कोई जॉब ओरिएंटेड डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं.

12वीं पास स्टूडेंट्स दे सकते हैं ये एंट्रेंस एग्जाम्स

इसके अलावा, अगर आप कम समय में अपना पसंदीदा करियर शुरू करना चाहते हैं तो अपने स्पेशलाइजेशन में डिप्लोमा कोर्स कर लें क्योंकि आजकल अधिकांश इंडस्ट्रीज कैंडिडेट्स के एकेडेमिक रिकार्ड्स पर ज्यादा ध्यान न देकर उनकी वर्क-स्पेशलाइजेशन-फील्ड में टेक्निकल स्किल सेट को ज्यादा महत्व देती हैं. किसी डिग्री कोर्स की तुलना में, डिप्लोमा कोर्सेज में स्टूडेंट्स और कैंडिडेट्स को उनकी वर्क-फील्ड की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग ज्यादा दी जाती है. इसलिए अपनी फील्ड में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आपके करियर में ग्रोथ के चांसेज काफी बढ़ जाते हैं.

जॉब ओरिएंटेड डिप्लोमा कोर्स करने की यह है महत्वपूर्ण वजह

आजकल के इस ‘इंस्टेंट टाइम’ में स्टूडेंट्स बहुत जल्दी अपनी पढ़ाई खत्म करके अपनी पसंद की जॉब पाना चाहते हैं या फिर, अपना पसंदीदा पेशा शुरू करना चाहते हैं. इसलिए, डिप्लोमा कोर्सेज स्टूडेंट्स की  पहली पसंद बन चुके हैं. यद्यपि, ये डिप्लोमा कोर्सेज जॉब/ करियर ओरिएंटेड होते हैं तो भी स्टूडेंट्स/ कैंडिडेट्स को कोई जॉब करने के साथ ही कॉरेस्पोंडेंस के माध्यम से अपनी ग्रेजुएशन/ पोस्ट-ग्रेजुएशन की डिग्री जरुर प्राप्त करनी चाहिए ताकि वे अपने पेशे या जॉब-फील्ड में काफी तरक्की कर सकें.

एकेडेमिक फील्ड में हायर डिग्रीज पाने तक अपनी पढ़ाई लगातार जारी रखने की तीव्र इच्छा के बावजूद अगर 10वीं या 12वीं के बाद आगे की पढाई नहीं कर पाये और आपकी कई सामाजिक, आर्थिक मजबूरियां हैं तो विभिन्न डिप्लोमा कोर्सेज आपको अपनी मंजिल तक पहुंचा सकते हैं. यकीन करें, अगर आपने सफलतापूर्वक कोई डिप्लोमा कोर्स कर लिया तो फिर, जॉब के लिए आपको बहुत दिन तक भटकना नहीं पडेगा. मिनिस्ट्री ऑफ़ माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइसेज के साथ-साथ कई राज्य स्तरीय संस्थान विभिन्न डिप्लोमा कोर्सेज करवाते हैं. इन डिप्लोमा कोर्सेज में से अपनी पसंद का कोई कोर्स कर लेने पर आप अपनी मनचाही फील्ड में जॉब कर सकते हैं या फिर, अपना पेशा शुरू कर सकते हैं. आपकी सहूलियत के लिए यहां कुछ प्रमुख डिप्लोमा कोर्सेज की एक लिस्ट पेश है:

डिप्लोमा कोर्स उन सभी स्टूडेंट्स के लिए बहुत अच्छा ऑप्शन है जो अपना करियर 10वीं/ 12वीं क्लास के बाद ही शुरू करना चाहते हैं, स्टूडेंट्स अपने इंटरेस्ट के मुताबिक कोई डिप्लोमा कोर्स करके अपने स्किल्स को इम्प्रूव कर सकते हैं. इसी तरह, जो स्टूडेंट्स अपनी 12वीं क्लास पास नहीं कर पाते हैं, उनके लिए भी 10वीं क्लास के आधार पर कई तरह के कोर्स उपलब्ध हैं.

अगर आये हैं 12वीं में कम मार्क्स तो भी कर सकते हैं DU से ये वोकेशनल कोर्सेज

ये हैं भारत में उपलब्ध प्रमुख जॉब ओरिएंटेड डिप्लोमा कोर्सेज

हमारे देश में 10वीं या 12वीं पास स्टूडेंट्स निम्नलिखित डिप्लोमा कोर्सेज में से मनचाहा कोर्स पूरा करके अपना पेशा शुरू कर सकते हैं या किसी संबद्ध कंपनी में जॉब ज्वाइन कर सकते हैं:

10वीं/ 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कोर्सेज:

  • डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्स (माइक्रोप्रोसेसर)
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग (रेफ्रीजरेशन एंड एयरकंडीशनिंग)
  • डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग (टूल एंड डाई)
  • डिप्लोमा इन मरीन इंजीनियरिंग

10वीं/ 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्सेज:

  • डिप्लोमा इन फ़ूड एंड बिवरेज सर्विस
  • डिप्लोमा इन बेकरी एंड कन्फेक्शनरी
  • डिप्लोमा इन क्राफ्ट कोर्सइन फ़ूड प्रोडक्शन
  • डिप्लोमा इन कुकरी
  • डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग
  • डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग
  • डिप्लोमा इन रेस्टोरेंट एंड काउंटर सर्विस
  • डिप्लोमा इन ब्यूटी कल्चर
  • डिप्लोमा इन हेयर स्टाइल
  • डिप्लोमा इन ट्रेवल एंड टिकटिंग
  • डिप्लोमा इन फ़ूड टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन स्टेनोग्राफी/ पीएस
  • डिप्लोमा इन होटल रिसेप्शन एंड बुक कीपिंग
  • होटल एंड हॉस्पिटैलिटी ऑपरेशन मैनेजमेंट

10वीं/ 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कोर्सेज:

  • डिप्लोमा इन फैशन डिज़ाइन
  • डिप्लोमा इन फ़ूड टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन गारमेंट टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन इंस्ट्रूमेंटेशन टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाईन एंड डेकोरेशन
  • डिप्लोमा इन लेदर टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन लेदर टेक्नोलॉजी (फुटवियर)
  • डिप्लोमा इन लाइब्रेरी एंड इनफार्मेशन साइंस
  • डिप्लोमा इन लेदर टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन प्लास्टिक टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन प्रोडक्शन एंड इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन टेक्सटाइल प्रोसेसिंग

ई–लर्निंग: एक सस्ता, सुगम और बेहतर ऑप्शन

10वीं/ 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए कुछ लोकप्रिय कंप्यूटर डिप्लोमा कोर्सेज:

  • टैली
  • वेब डिजाइनिंग
  • एनीमेशन
  • सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन डेवलपमेंट
  • हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग
  • फोटोशॉप
  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग
  • डाटा एनालिस्ट

10वीं/ 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए ये भी हैं उपयोगी डिप्लोमा कोर्सेज:

  • टेक्सटाइल डिजाइनिंग
  • हेयर एंड स्किन केयर
  • इवेंट मैनेजमेंट
  • ऑफिस मैनेजमेंट
  • हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर मैनेजमेंट (नर्सिंग)
  • इंग्लिश कम्युनिकेशन एंड प्रेजेंटेशन स्किल्स
  • कास्मेटिक एंड लाइफस्टाइल प्रोडक्ट डिजाइनिंग
  • कैटरिंग मैनेजमेंट
  • डिप्लोमा इन आर्किटेक्चरल असिस्टेंटशिप
  • डिप्लोमा इन वेडिंग कार्ड्स एंड नेम प्लेट्स की प्रिंटिंग
  • डिप्लोमा इन जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी
  • डिप्लोमा इन फार्मेसी
  • डिप्लोमा इन ऑडिटिंग एंड फाइनेंस
  • डिप्लोमा इन इंस्ट्रूमेंट रिपेयरिंग
  • डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनिंग
  • डिप्लोमा इन डाई मेकिंग

फाइनली,

अगर किसी कारण से स्टूडेंट्स को अपनी 10वीं/ 12वीं क्लास पास करने के बाद जॉब करनी पड़े या फिर अपना करियर शुरू करना पड़े तो अब वे बिना किसी परेशानी के ये डिप्लोमा कोर्सेज में से अपनी पसंद का कोई कोर्स चुन सकते हैं और कोर्स पूरा करने के बाद अपनी मनचाही फील्ड में जॉब या करियर शुरू कर सकते हैं. अपनी फील्ड में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आपका स्किल-सेट निखर जाता है और आपको जॉब में अन्य फ्रेशर कैंडिडेट्स की तुलना में ज्यादा प्रेफरेंस मिलती है या फिर, आप अपना करियर भी शुरू करके अपने कारोबार में सफलता के नए आयाम प्राप्त कर सकते हैं. 

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Also Read +
x