Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!

इन Problems से बचें वरना Exam में अच्छी तैयारी के बावजूद नहीं आएगा अच्छा रिजल्ट

Mayank Uttam

बोर्ड एग्ज़ाम शुरू होने में अब बहुत काम समय बाकी रह गया है l 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी जोर शोर से बोर्ड परीक्षा की तैयारी में लगे हुए हैं l अधिकतर विद्यार्थी पढ़ाई और परीक्षा की तैयारी में कोई कमी नहीं रखते है मगर पढ़ाई के आलावा कुछ और बहुत महत्वपूर्ण बातें है जिनका ख़ास ध्यान रखना बहुत ज़रूरी होता है l

Exam time के दौरान होने वाली कुछ छोटी-छोटी Problems जिनके बारें में अक्सर विद्यार्थी नहीं सोचते न ही उनके लिए खुद को मानसिक तौर पर तैयार करते हैं l ये कुछ Problems सुनने में भले हि छोटी लगें मगर किसी भी विद्यार्थी के Result में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती हैं l

आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे Exam time के दौरान होने वाली कुछ छोटी-छोटी Problems के बारे में जिनके लिए विद्यार्थियों को मानसिक तौर पर तैयार रहना बहुत ज़रूरी है l

तो ये Problems कुछ इस प्रकार हैं:

1: एग्ज़ाम से एक दिन पहले क्या और कितना पढ़ना है (या एग्ज़ाम से एक दिन पहले क्या Revise करना है) -

यह एक ऐसी समस्या जिसके बारे में अधिकतर विद्यार्थी पहले ध्यान नहीं देते हैं l एग्ज़ाम से एक दिन पहले क्या पढ़ना है और कितना पढ़ना हैं इसका पता होना बहुत ज़रूरी है l

किस विषय में कौन सा टॉपिक एग्ज़ाम के लिए सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण है? क्या आप उस टॉपिक को बार-बार भूल रहे हैं? किस चैप्टर को Revise करने में आपको कितना समय लगता है?

Trending Now

ये कुछ ऐसे सवाल हैं जनके उत्तर अगर आपको पता होंगे तभी आप समझ पाएंगे कि एग्ज़ाम से एक दिन पहले क्या और कितना पढ़ना है l इन सवालों के जवाब आपको Practice से मिलेंगे l

Practice के लिए आपको अपने Pre-Board एग्ज़ाम सही से देने होंगे और इसके आलावा आपको कई बार ये मान कर Revision करना होगा कि कल आपका एग्ज़ाम होने वाला है l

इन 5 तरीकों से आपकी पढ़ाई करने की क्षमता दोगुनी हो जायेगी

2: Paper सॉल्व करते समय टाइम मैनेजमेंट:

पेपर हल करते समय टाइम मैनेजमेन्ट बहुत ज़रूरी होता है l पेपर के किस सेक्शन को कितना समय देना है और किस सेक्शन को सबसे पहले हल करना है ये सब बातें प्रैक्टिस द्वारा ही समझ आएंगी l Paper सॉल्व करते समय टाइम मैनेजमेंट आना बहुत ज़रूरी है l इसलिए एग्ज़ाम से पहले ज़्यादा से सैंपल पेपर और प्रैक्टिस पेपर आदि हल करने की कोशिश l

एग्जाम के बारे में इन रोचक तथ्यों को ज़रूर जानें

3: Paper में मिलने वाले Surprises -
एग्ज़ाम के दौरान प्रश्न पत्र में कौन सा सेक्शन पहले करना है और कौन सा बाद में ये आपको पहले से क्लियर होना चाहिएl मगर प्रश्न पत्र कठिन भी आ सकता है और सरल भी l

आप क्या करेंगे अगर आपके Favourite सेक्शन (सेक्शन जो आप सबसे पहले करने वाले थे) के ज़्यादातर सवाल कठिन आ गए?

कई विद्यार्थी ऐसी परिस्थिति में घबरा जाते हैं और फिर उन्हे उन सवालों में भी दिक्कतें होने लगती हैं जो उन्हें अच्छे से आते हैं l

ऐसी स्थिति के लिए भी विद्यार्थियों को हमेशा तैयार रहना चाहिये l विद्यार्थियों को पेपर के अनुसार अपनी रणनीति में बदलाव करने के लिए तैयार रहना चाहिये l

कैसे करें किसी भी एग्जाम की तैयारी: जब बचा हो एक महीना या एक हफ्ता या फिर एक दिन

4: एग्ज़ाम सेंटर को लेकर Nervousness

कुछ विद्यार्थी नयी जगह पर असहज महसूस करते हैं l ऐसे विद्यार्थियों को नई जगह पर एग्ज़ाम देते समय स्ट्रेस महसूस होता है l एग्ज़ाम देते समय अगर कक्ष निरीक्षक उनके पास आ जाये तो वो परेशान होने लगते है l इसका सीधा असर एग्ज़ाम में उनके प्रदर्शन पर पड़ता है l ऐसे विद्यार्थियों को एग्जाम से पहले, किसी भी स्थिति के लिए खुद को मानसिक रूप से तैयार कर लेना चाहिए l

5: एग्जाम सेंटर में समय से न पहुँचना और ज़रूरी कागज़ात साथ न रखना

एग्ज़ाम के दौरान विद्यार्थियों एग्ज़ाम सेंटर में समय से ज़रूर पहुँचना चाहिए वार्ना उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है l बोर्ड एग्जाम के दौरान ज़रूरी चीज़े (जैसे: ज्योमेट्री बॉक्स, एडमिट कार्ड, आधार कार्ड इत्यादि) साथ ले जाना मत भूलें वार्ना हो सकता है कि आपको बोर्ड एग्ज़ाम में न बैठने दिया जायेl

सारांश:

ये थीं कुछ ऐसी Problems जिनकी वजह से अच्छी से अच्छी तैयारी के बाद भी विद्यार्थियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है l इसलिए बोर्ड एग्ज़ाम के दौरान इन दिक्कतों का सामना करने के लिए खुद को मानसिक रूप से तैयार कर ले l ये Problems सुनने में भले ही छोटी लगें मगर इन्हे नज़रअंदाज़ करने पर इसका सीधा असर आपके बोर्ड एग्जाम रिज़ल्ट पर पड़ेगा l

इन पाँच तरीकों से बना सकते गणित को एक सरल और रोचक विषय, परीक्षा में आएंगे पूरे नंबर

Related Categories

Live users reading now