अगर चाहते हैं कि आपका रेज्यूमे पहली नजर में ही सेलेक्ट हो जाए तो भूलकर भी न करें ये 5 गलतियां

किसी भी संस्थान में नौकरी पाने के लिए सबसे पहला काम जो करना होता है वह है उस संस्थान के एच आर के पास अपना रेज्यूमे भेजना. इसलिए यदि आप जॉब करने के लिए सीरियस हैं तो सबसे पहले अपने रेज्यूमे पर एक दृष्टि डालिए तथा उसे पहली नजर में ही सेलेक्शन के लायक बनाइये. याद रखिये एक नियोक्ता के लिए आवेदक का रेज्यूमे ही उसकी पहचान होती है तथा उसी आधार पर वे नियुक्ति कि प्रक्रिया को आगे बढ़ाता है. लेकिन अक्सर लोग इन्टरव्यू के वनिस्पत अपने रेज्यूमे  को गंभीरता से नहीं लेते हैं जिस कारण प्रतिभाशाली होने के बावजूद भी उन्हें अच्छी नौकरी नहीं मिलती है. अतः अपना रेज्यूमे बनाते समय इन पांच बातों पर अवश्य गौर करें –

फॉन्ट और कलर

अपना रेज्यूमे बनाते समय उसके फॉन्ट और कलर का विशेष रूप से ध्यान रखें. फॉन्ट और कलर हमेशा स्पष्ट, पढ़ने योग्य तथा मन को रुचिकर लगने वाला होना चाहिए. रेज्यूमे में अलग-अलग तरह के फॉन्ट का इस्तेमाल करने से नियोक्ता को उसे पढ़ने में परेशानी  हो सकती है. इसके अतिरिक्त रेज्यूमे में  कभी-कभी भिन्न भिन्न तरह के रंगों का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए. क्योंकि हो सकता है कि इससे नियोक्ता पर आपका गलत इम्प्रेशन पड़े.

बहुत सारे मोबाइल नंबर देना

रेज्यूमे में संभव हो सके तो एक से ज्यादा फोन नंबर देने से बचें. एक से ज्यादा फोन नंबर देना अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है. आप जितने ज्यादा फोन नंबर देंगे आपके महत्वपूर्ण सन्देश को मिस करने की संभावना भी उतनी ही होगी. इसलिए रेज्यूमे में हमेशा एक ही नंबर दें और सारे संदेहों से दूर रहें. रेज्यूमे में यथा संभव अपना पर्सनल मोबाइल नंबर ही देने की कोशिश करें ताकि आपकी जॉब को लेकर जो भी लेटेस्ट अपडेट हो वो सीधे सीधे आपको ही प्राप्त हों.

जनरल राइटिंग मिस्टेक

रेज्यूमे बनाते समय आप जनरल राइटिंग मिस्टेक पर विशेष ध्यान दें तथा कोशिश करें कि इस तरह की गलतियाँ बिलकुल ही नहीं हो. अन्यथा आपके रेज्यूमे के शॉर्टलिस्ट होने की संभावना बिलकुल नगण्य होगी. इसके अतिरिक्त इससे आपकी छवि भी नियोक्ता पर विपरीत तथा नकारात्मक पड़ेगी साथ ही इससे आपकी राइटिंग कैपसिटी का भी आकलन किया जायेगा. इसलिए रेज्यूमे बनाते समय स्पेलिंग मिस्टेक तथा जनरल राइटिंग मिस्टेक को बार बार चेक करें.

रेज्यूमे का सामान्य आकार

रेज्यूमे बनाते समय उसके साइज का भी पूरा ख्याल रखें. आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि सारे स्किल तथा अनुभवों के वर्णन के साथ साथ उसका आकार भी बहुत बड़ा नहीं होना चाहिए. इसके लिए आपको अपनी हर बात संक्षिप्त में प्रभावशाली तरीके से लिखना चाहिए. जिनका रेज्यूमे क्रिस्पी होता है उनके रेज्यूमे के सेलेक्शन के चांसेज ज्यादा होता है. हाँ लेकिन आकार सामन्य करने के चक्कर में जरुरी जानकारी नहीं छुट जाए इस बात का पूरा पूरा ध्यान रखना चाहिए.

अतिरिक्त स्किल और एक्सपीरियंस

याद रखिये कोई भी नियोक्ता आपकी तात्कालिक जॉब से जुड़े स्किल तथा एक्सपीरियंस को छोड़कर अतिरिक्त स्किल और एक्सपीरियंस के बारे में जानना नहीं चाहता है.इसलिए अपने रेज्यूमे में हमेशा अपने प्रजेंट जॉब से जुड़ी उपलब्धियों के बारे में बताएं. ऐसा करने से आपका रेज्यूमे छोटा और प्रभावशाली होगा.

Related Categories

Popular

View More