भारत में फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट बनकर पायें पायें आकर्षक जॉब ऑफर्स

अगर आप कोई एडिशनल लैंग्वेज सीख लें तो निश्चित तौर पर यह महत्वपूर्ण स्किल आपके करियर चार्ट को काफी उंचाइयों तक ले जायेगा और आपको अनेक आकर्षक जॉब ऑफर्स भी मिलेंगे. इसी तरह, अगर आप एक ऐसे लैंग्वेज एक्सपर्ट हैं जो अपने देश की विभिन्न भाषाओँ के साथ अन्य देशों की लैंग्वेजेज सीखने में भी गहरी दिलचस्पी रखता है तो आप एक या एक से अधिक फॉरेन लैंग्वेजेज सीखकर एक फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर अपना करियर बना सकते हैं. अगर आप फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए उपलब्ध करियर ऑप्शन्स के बारे में जानकारी पाना चाहते हैं और यह भी जानना चाहते हैं कि कौन-सी फॉरेन लैंग्वेजेज सीखना भारत में आपके लिए एक बेहतरीन करियर विकल्प रहेगा तो इस आर्टिकल में हम आपके लिए भारत में लोकप्रिय कुछ फॉरेन लैंग्वेजेज के बारे में सटीक जानकारी देने के साथ-साथ फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स के लिए उपलब्ध विशेष करियर ऑप्शन्स और जॉब ऑफर्स की जानकारी भी पेश कर रहे हैं.

फॉरेन लैंग्वेज सीखने से मिलते हैं अनेक लाभ

हम ग्लोबलाइजेशन के युग में जी रहे हैं, जहां लोगों के आपसी संबंध या बिजनेस और इकनोमिक सिस्टम्स के संबंध जियोग्राफिक बाउंड्रीज लांघ चुके हैं. आसान शब्दों में, आजकल भारतीय बाज़ार में मल्टीनेशनल कंपनियों और ग्लोबल दिग्गजों के एंटर करने और भारतीय कंपनियों द्वारा विदेशों में अपना बिजनेस बढ़ाने के साथ ही ऐसे लोगों की मांग लगातार काफी बढ़ रही है जो लोग विभिन्न व्यक्तियों, भारतीय कंपनियों, मल्टीनेशनल कंपनियों और ग्लोबल दिग्गजों के बीच एक लिंगविस्टिक ब्रिज का काम कर सकें. ठीक इसी जगह पर हमें फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स का महत्व पता चलता है. फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स वे पेशेवर होते हैं जो लैंग्वेज बैरियर्स को लांघ कर विभिन्न कल्चरल एक्सचेंजों और बिजनेस ट्रांजेक्शन्स के लिए सुचारु कम्युनिकेशन मुहैया करवाते हैं. एक करियर के तौर पर फॉरेन लैंग्वेजेज का स्कोप बहुत विशाल है और जो कैंडिडेट्स इस फील्ड में आगे बढ़ना चाहते हैं, उनके लिए विभिन्न मल्टीनेशनल कंपनियों और संगठनों में जॉब के ढेरों अवसर मौजूद हैं.

Trending Now

फॉरेन लैंग्वेज सीखना कहां और कैसे शुरू करें?

अब, यह एक मिलियन डॉलर का प्रश्न है, उन लोगों के लिए भी जो एक करियर ऑप्शन के तौर पर फॉरेन लैंग्वेज की व्यापक संभावनाओं को समझते हैं. यह ठीक है कि हरेक व्यक्ति अपने अध्ययन के शुरू के वर्षों में  लैंग्वेज स्किल्स को अच्छी तरह सीख और समझ सकता है, फिर भी जो लोग मेहनत करने को तैयार रहते हैं, उनके लिए इस फील्ड में ऐसी कोई बाधा नहीं आती है. लेकिन अगर आपके पास ऐसा कोई ऑप्शन मौजूद हो तो आप अपने स्कूल के दिनों में ही कोई फॉरेन लैंग्वेज अवश्य सीख लें. अगर आपने अपने स्कूल के दिनों में कोई फॉरेन लैंग्वेज नहीं सीखी है तो, अब भी आपके लिए विभिन्न फॉरेन लैंग्वेजेज में कई ऐसे सर्टिफिकेट और डिप्लोमा लेवल कोर्सेज मौजूद हैं जो हमारे देश में कई इंस्टीट्यूशंस ऑफर कर रहे हैं. आप अपनी पसंदीदा फॉरेन लैंग्वेज में कोई कोर्स कभी भी कर सकते हैं.

भारत में इन फॉरेन लैंग्वेजेज का है खास महत्त्व

जब एक बार आपने कोई फॉरेन लैंग्वेज सिखने का इरादा कर लिया है तो अब आपको क्या करना चाहिए? अगला प्रश्न जिसका जवाब आपको अवश्य तलाशना होगा, वह प्रश्न है – कौन-सी फॉरेन लैंग्वेज सीखी जाये? यह वह प्रश्न है जिसके लिए आपको स्मार्ट बनना पड़ेगा और हरेक फॉरेन लैंग्वेज से संबद्ध करियर के विभिन्न अवसरों का मूल्यांकन करना होगा. इस मुद्दे पर आपकी सहायता के लिए हम यहां  भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय फॉरेन लैंग्वेजेज की एक लिस्ट पेश कर रहे हैं. आईये आगे पढ़ते हैं:

स्पेनिश:
यह दुनिया भर में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है. इसलिए इसमें हैरान होने वाली कोई बात नहीं है कि यह लैंग्वेज भी हमारी लिस्ट में टॉप पर है. स्पेनिश लैंग्वेज आपको विभिन्न यूरोपीय देशीं के साथ ही कई लैटिन अमेरिकन देशों में भी विभिन्न कंपनियों और दफ्तरों में जॉब्स मुहैया करवाती है जिन लैटिन अमेरिकन देशों ने स्पेनिश को अपनी नेटिव लैंग्वेज के तौर पर अपनाया है.
स्पेनिश लैंग्वेज के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स:
इनलिंगुआ- ऑल इंडिया नेटवर्क
इंस्टिट्यूटो हिस्पनिया – ऑल इंडिया नेटवर्क
इंस्टिट्यूटो सर्वेंटेस, नई दिल्ली
पुणे यूनिवर्सिटी, पुणे

फ्रेंच:
जब भारत में फोरेंग लैंग्वेजेज की चर्चा चलती है तो निश्चित रूप से फ्रेंच लैंग्वेज लिस्ट में सबसे टॉप पर है. भारत के कई स्कूल्स पहले से ही 9वीं और 10वीं क्लासेज में या जूनियर क्लासेज में एक ऑप्शनल सब्जेक्ट के तौर पर फ्रेंच लैंग्वेज पढ़ा रहे हैं. लेकिन अपने रिज्यूम में कॉलेज लेवल पर फ्रेंच लैंग्वेज में डिग्री या डिप्लोमा अवश्य ही हमारे देश और विदेश में भी रिक्रूटर्स का ध्यान आपके कैंडिडेचर की तरफ खींचेगा.
फ्रेंच लैंग्वेज के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स:
अलायन्स फ़्रैंकेज – ऑल इंडिया नेटवर्क
इंग्लिश एंड फॉरेन लैंग्वेज यूनिवर्सिटी, हैदराबाद
दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली

चाइनीज:
आज विश्व में चीन एक तेज़ी से विकसित होती हुई इकॉनमी के तौर पर उभरा है और भारत का एक पड़ोसी देश होने के नाते से भी, दोनों देशों के बीच बिजनेस रिलेशन्स नए आयाम छू रहे हैं. इसलिए, उन चाइनीज लैंग्वेज एक्सपर्ट्स की मांग पिछले कुछ वर्षों में काफी बढ़ गई है जो दोनों देशों – भारत और चीन – के बीच एक ब्रिज के तौर पर काम कर सकें. चाइनीज लैंग्वेज सिंटेक्सेज और सेमांटिक्स के साथ सीखने में काफी मुश्किल भाषा है क्योंकि ये सिंटेक्सेज और सेमांटिक्स इंग्लिश लैंग्वेज से पूरी तरह अलग हैं. चाइनीज इंटरप्रेटर्स काफी कम होते हैं. अगर आप एक चाइनीज इंटरप्रेटर हैं तो बहुत ही कम समय में आपका करियर ग्राफ नई ऊंचाइयां प्राप्त कर लेगा.
चाइनीज लैंग्वेज के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स:
दी स्कूल ऑफ़ चाइनीज लैंग्वेज, कोलकाता
विश्वभारती यूनिवर्सिटी, पश्चिम बंगाल
इंडो-चाइना चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, मुंबई
जेएनयू, दिल्ली
बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी

जर्मन:
आमतौर पर, जो स्टूडेंट्स जर्मनी में हायर एजुकेशन प्राप्त करना चाहते हैं, वे जर्मन लैंग्वेज कोर्सेज करते हैं. यूएसए के बाद, जर्मनी का सबसे बढ़िया एजुकेशन सिस्टम है और जर्मनी में पढ़ने के लिए जर्मन लैंग्वेज की जानकारी होना स्टूडेंट्स के लिए बहुत जरुरी होता है. इसके अलावा, जर्मन लैंग्वेज स्टूडेंट्स के लिए कई करियर ऑप्शन्स भी मुहैया करवाती है.
जर्मन लैंग्वेज के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स:
गोएथे इंस्टिट्यूट - ऑल इंडिया नेटवर्क
गार्गी कॉलेज, दिल्ली
श्री वेंकटेश्वर कॉलेज, दिल्ली
कॉलेज ऑफ वोकेशनल स्टडीज, दिल्ली

जैपनीज
चाइनीज लैंग्वेज की तरह ही, जैपनीज लैंग्वेज भी एक अन्य एशियन लैंग्वेज है जो सिंटेक्सेज और सेमांटिक्स के संबंध में पूरी तरह से अलग लैंग्वेज है. इसके अलावा, जापान एशिया का इकनोमिक दिग्गज रहा है और इसके भारत के साथ काफी अच्छे बिजनेस रिलेशन्स हैं. इससे एक जैपनीज लैंग्वेज एक्सपर्ट या इंटरप्रेटर के तौर पर करियर बनाना स्टूडेंट्स के लिए एक अच्छी च्वाइस साबित हो सकती है.
जैपनीज लैंग्वेज के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स:
निहोंगो-बाशी, बैंगलोर
पुणे यूनिवर्सिटी, पुणे
निहोनकाई जैपनीज लैंग्वेज इंस्टीट्यूट, दिल्ली

फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स यहां कर सकते हैं अप्लाई

कोई नई भाषा सीखने पर शानदार भविष्य के दरवाजे आपके लिए खुल सकते हैं. जॉब्स के संबंध में, कोई फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट विभिन्न सेक्टरों जैसेकि, टूरिज्म, एम्बेसीज, डिप्लोमेटिक सर्विस, एंटरटेनमेंट, पब्लिक रिलेशन्स एंड मास कम्युनिकेशन, इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन्स, पब्लिशिंग, इंटरप्रिटेशन और ट्रांसलेशन आदि में जॉब कर सकता है. ये एक्सपर्ट्स यूनाइटेड नेशन्स ऑर्गेनाइजेशन (यूएनओ) और उसके संबद्ध संगठनों जैसे फ़ूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन और भारत के अन्य कई राष्ट्रीय संगठनों जैसेकि, विदेश मंत्रालय और रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (आरबीआई) में भी जॉब के अवसर तलाश सकते हैं क्योंकि उक्त संगठनों में हमेशा फॉरेन लैंग्वेजेज के एक्सपर्ट प्रोफेशनल्स की मांग बनी ही रहती है.  
जॉब रोल्स के बारे में अगर बात की जाए तो, फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स को विभिन्न जॉब रोल्स और कार्यों के लिए काम पर रखा जा सकता है.

फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स को मिलने वाले आकर्षक जॉब ऑफर्स:

भारत और दुनिया के बीच इकनोमिक रिलेशन्स के विकास के साथ ही फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स के लिए निर्धारित जॉब रोल्स भी लगातार विकसित हो रहे हैं. इसलिए फॉरेन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स का भारत में काफी शानदार भविष्य है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

टॉप फॉरेन लैंग्वेज कोर्सेज़ जिनमें वेतन है लाखों में

टॉप 5 फॉरेन लैंग्वेज कोर्सेज और उनकी प्रोस्पेक्टिव सैलरी पैकेजेज

प्रोफेशनल इंग्लिश सीखने के लिए ये हैं टॉप कोर्सेज

Related Categories

Also Read +
x