ये शॉर्ट-टर्म टेक्निकल कोर्सेज दिला सकते हैं आपको तुरंत जॉब

आजकल पूरी दुनिया में रोज़ाना बड़ी तेज़ गति से टेक्निकल एडवांसमेंट हो रही है. इसलिए, अब कोई टेक्निकल स्किल हासिल करके अपनी मनचाही जॉब पाना काफी आसान हो गया है. एक अनुमान के मुताबिक वर्ष 2022 तक हमारी लेबर मार्किट में 104.62 मिलियन फ्रेश कैंडिडेट्स शामिल हो जायेंगे अर्थात हरेक साल भारत में लगभग 8.1 मिलियन जॉब्स तैयार करने की जरूरत है. दरअसल, अगले दशक में विश्व में अमरीका और चीन के बाद तीसरे स्थान पर इंडियन इकॉनमी होगी. लेकिन इस अनुमान को सच्चाई का जामा पहनाने के लिए भारत में एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट का विकास  अधिकतम स्तर तक करना एक अनिवार्य शर्त है. आज हम आपके लिए कुछ ऐसे खास शॉर्ट टर्म टेक्निकल कोर्सेज की चर्चा कर रहे हैं जिससे आप अपनी मनचाही टेक्निकल फील्ड में जरूरी स्किल्स हासिल करके तुरंत जॉब ज्वाइन कर लें या फिर किसी टेक्निकल फील्ड में अपना पेशा या कारोबार शुरू कर सकें.

  • वेब डिजाइनिंग

भारत की तेज़ी से विकसित होने वाली डिजिटल इकॉनमी ने यंग प्रोफेशनल्स के लिए रोजगार के कई नए अवसर उपलब्ध कराये हैं. अब वेब डिजाइनिंग में शॉर्ट टर्म कोर्स करने के बाद भी आप काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं क्योंकि आजकल पूरे विश्व में तकरीबन हर कोई इनटरनेट का रोज़ाना इस्तेमाल कर रहा है. इसलिए तकरीबन हरेक कंपनी और दफ्तर अपनी वेबसाइट बनाना चाहता है. 12वीं पास या ग्रेजुएट स्टूडेंट्स वेब डिजाइनिंग का शॉर्ट टर्म कोर्स करके नई और प्रोफेशनल वेबसाइट्स बनाने की पूरी जानकारी प्राप्त कर लेंगे जिसके बाद ये पेशेवर शुरू में एवरेज 20 हजार से 50 हजार रुपये मासिक के आकर्षक सैलरी पैकेज वाली जॉब ज्वाइन कर सकते हैं. इसी तरह, आप इस फील्ड में अपना कारोबार भी शुरू कर सकते हैं. आजकल ये पेशेवर फ्रीलांसिंग पर काम करके भी काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.

  • मोबाइल रिपेयरिंग/ इंजीनियरिंग

आजकल हमारे देश सहित पूरी दुनिया में मोबाइल और स्मार्ट फ़ोन्स तकरीबन सभी लोग इस्तेमाल करते हैं. बेशक आजकल मोबाइल फ़ोन हर किसी की जरुरत बन चुका है. अगर आपका मोबाइल ख़राब हो जाए तो आप काफी परेशान हो जाते हैं और तुरंत नया फ़ोन खरीद लेते हैं या फिर, अपने मोबाइल को किसी अच्छे रिपेयरिंग/ सर्विस सेंटर से रिपेयर करवाना चाहते हैं. मोबाइल रिपेयरिंग के काम में भी अच्छी कमाई होती है. मोबाइल रिपेयरिंग का शॉर्ट टर्म कोर्स अंडरग्रेजुएट या ग्रेजुएट स्टूडेंट्स कर सकते हैं. हमारे देश में फ़िलहाल तो मोबाइल रिपेयरिंग से जुड़े कोर्सेज कराने वाले इंस्टीट्यूट्स कम ही हैं लेकिन इसका बाजार धीरे-धीरे विकसित हो रहा है. यह कोर्स पूरा करके आप शुरू में एवरेज 20 – 25 हजार रुपये मासिक तक कमा सकते हैं. बढ़ते हुए वर्क एक्सपीरियंस के साथ आपकी कमाई भी बढ़ती जायेगी. आप अपनी मोबाइल रिपेयर शॉप या सर्विस सेंटर शुरू करके काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.

  • कंप्यूटर हार्डवेयर/ नेटवर्किंग

आजकल पूरी दुनिया में कंप्यूटर और लैपटॉप कई किस्म के व्यक्तिगत और प्रोफेशनल काम करने के साथ-साथ एंटरटेनमेंट का भी बेहतरीन साधन बन चुके हैं और हम अपने दैनिक जीवन में कंप्यूटर पर कई काम करते हैं. किसी भी कंप्यूटर सिस्टम के  सही तरीके से काम करने के लिए उसके सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का सही होना बेहद ज़रूरी है. अगर किसी कंप्यूटर के हार्डवेयर में कोई खराबी आती है तो इस कोई हार्डवेयर टेक्नीशियन ही ठीक कर सकता है. यह कोर्स 6 महीने से 12 महीने की अवधि का है और 12वीं पास या ग्रेजुएट स्टूडेंट्स यह कोर्स कर सकते हैं. कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग/ टेकनिशियन कोर्स करने के दौरान स्टूडेंट्स को कंप्यूटर हार्डवेयर से जुड़ी सभी बारीकियों का टेक्निकल नॉलेज दी जाती  है. ये पेशेवर कंप्यूटर हार्डवेयर में होने वाली खराबी को ठीक करना अच्छी तरह जानते हैं. यह कोर्स सफ़लता पूर्वक पूरा करने के बाद आप किसी भी सेल्स या रिपेयर एजेंसी में एक टेकनिशियन या कंप्यूटर इंजीनियर की जॉब कर सकते हैं. कुछ लोग हार्डवेयर टेक्नीशियन का पेशा भी शुरू करते हैं या फिर कोई मैन्युफैक्चरिंग कंपनी भी शुरू कर सकते है.

  • डिजिटल मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग हमारे देश में सबसे लोकप्रिय शॉर्ट-टर्म कंप्यूटर कोर्सेज में से एक है जिसमें डिजिटल मार्केटिंग के सभी आस्पेक्ट्स जैसेकि, SEO मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, कंटेंट मार्केटिंग, एफिलिएट मार्केटिंग, एनालिटिक्स को शामिल किया जाता है. हमारे देश में स्टूडेंट्स डिजिटल मार्केटिंग में अब ऑनलाइन और ऑफलाइन कोर्स कर सकते हैं. डिजिटल मार्केटर्स की बढ़ती हुई लोकप्रियता और जॉब डिमांड को देखते हुए कई एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स आजकल हमारे देश में डिजिटल मार्केटिंग में डिप्लोमा कोर्स करवा रहे हैं. डिजिटल मार्केटिंग में स्पेशलाइज्ड कोर्सेज जैसे SEO मार्केटिंग, कंटेंट राइटिंग भी किये जा सकते हैं. डिजिटल मार्केटिंग में शॉर्ट-टर्म ऑफलाइन कोर्सेज 3-6 महीने की अवधि के होते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग में कोई सूटेबल पेशेवर कोर्स करने के बाद आप भारत में बैंकिंग, टूरिज्म, हॉस्पिटैलिटी, आईटी, मीडिया, कंसल्टेंसी, मार्केट रिसर्च, पीएसयू, पीआर एडं एडवरटाइजिंग, मल्टी नेशनल कंपनियों और रिटेल सेक्टर्स में काफी बढ़िया सैलरी पैकेज में जॉब कर सकते हैं. जहां तक सैलरी पैकेज का प्रश्न है, तो किसी एंट्री लेवल डिजिटल मार्केटर की सालाना एवरेज सैलरी 3 लाख - 3.5 लाख रुपये  तक होती है और कुछ वर्षों के अनुभव के बाद ये डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट्स एवरेज 2.5 लाख रूपये मासिक तक भी कमा सकते हैं.

  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग

ग्राफिक डिजाइनर आमतौर पर बहुत ही आकर्षक कवर पेज या मैगज़ीन, न्यूज पेपर या सोशल मीडिया में आकर्षक इंफ़ोग्राफ़िक्स तैयार करते हैं. एक स्किल्ड ग्राफिक डिजाइनर के लिए आजकल काम की अपार संभावनाएं है. अगर आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री है तो आप हमारे देश में 3 से 4 महीने का शॉर्ट टर्म ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स करके सॉफ्टवेयर की बेसिक नॉलेज जैसे  फोटोशॉप, कोरल ड्रा तथा इन-डिजाइन में मास्टरी हासिल करके  विभिन्न एडवरटाइजिंग, पब्लिशिंग या ऑनलाइन कंपनियों में क्रिएटिव डायरेक्टर, लोगो डिजाइनर, विज़ुअल इमेज डेवलपर, इंटरफेस डिज़ाइनर, आर्ट प्रोडक्शन मैनेजर के तौर कार्य कर सकते हैं. इस पेशे में अपना करियर शुरू करने के लिए आपके पास क्रिएटिविटी और बेसिक कंप्यूटर स्किल्स जरुर होने चाहिए. शुरू में इन पेशेवरों को एवरेज 20 – 25 हजार रुपये मासिक सैलरी मिलती है.

  • एनीमेशन

बहुत बार काफी महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स, प्रेजेंटेशन्स, एंटरटेनमेंट या अपने इश्यूज़ को असरदार तरीके से अन्य लोगों के सामने पेश करने के लिए लोग आजकल एनीमेशन का सहारा लेते हैं. अगर आप बचपन से कार्टून देखने या बनाने में इंटरेस्ट लेते हैं तो यह कोर्स अवश्य ही आपके लिए काफी फायदेमंद रहेगा क्योंकि अपनी मनचाही फील्ड में अपना करियर शुरू करने पर आप अच्छी कमाई करने के साथ-साथ अपनी क्रिएटिविटी भी दिखा सकेंगे. आजकल काफी स्टूडेंट्स एनीमेशन फील्ड में शॉर्ट टर्म कोर्स करके कोई जॉब ज्वाइन कर सकते हैं. एनीमेशन कोर्स करके आप एडवर्टाइजिंग कंपनियों. कार्टून इंडस्ट्री, सिनेमा इंडस्ट्री तथा अन्य डिजिटल फ़ील्ड्स  में बड़ी आसानी से अपनी योग्यता के अनुसार जॉब कर  सकते हैं. वे ग्रेजुएट कैंडिडेट्स, जो क्रिएटिव होने के साथ-साथ बेसिक कंप्यूटर नॉलेज रखते हैं, यह कोर्स करने के बाद शुरू में एवरेज 25 – 30 हजार रुपये मासिक कमा सकते हैं.

  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन

अगर एक और बढ़िया टेक्निकल कोर्स की हम बात करें तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) शॉर्ट टर्म कोर्स करके पेशेवर SEO प्रोफेशनल सर्च इंजिन रिजल्ट में वेबसाइट की विजिबिलिटी बढ़ाने का काम करते हैं. इन पेशेवरों का प्रमुख काम गूगल रैंकिंग में अपने क्लाइंट की वेबसाइट को टॉप सर्च रिजल्ट में लाना होता है. आजकल यह कोर्स करके आप सीधे ऐसी कोई कंपनी ज्वाइन कर सकते हैं जहां आप या फ्रीलांसिंग करके अपन क्लाइंट्स के विभिन्न प्रोजेक्ट्स पर काम करते हैं. भारत में कई एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स एससीओ की प्रोफेशनल डिग्री प्रदान करते हैं. अगर आप SEO शॉर्ट टर्म कोर्स करना चाहते हैं तो आपके आप किसी विषय में ग्रेजुएशन कि डिग्री के साथ कंप्यूटर और इंटरनेट की बेसिक नॉलेज जरुर होनी चाहिए. इस फील्ड में शुरू में पेशेवर 20 – 25 हजार रुपये मासिक कमाते हैं.

भारत में ये शॉर्ट टर्म टेक्निकल कोर्सेज करवाने वाले प्रमुख इंस्टीट्यूशंस

  • नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ़ डिजाइन, अहमदाबाद
  • नेशनल स्मॉल इंडस्ट्रीज़ कॉर्पोरेशन, दिल्ली
  • दिल्ली स्कूल ऑफ़ इंटरनेट मार्केटिंग, दिल्ली
  • टीजीसी एनीमेशनस एंड मल्टीमीडिया, दिल्ली
  • जेटकिंग कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग इंस्टीटयूट, दिल्ली
  • नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली

इन टेक्निकल कोर्सेज और हायर एजुकेशनल डिग्री के माध्यम से आप एक क्वालिफाइड स्किल्ड एम्पलॉयी की केटेगरी में शामिल हो जायेंगे और इस वजह से एम्पलॉयर्स अन्य नॉन-टेक्निकल या कम क्वालिफाइड कैंडिडेट्स की तुलना में आपको संबंधित जॉब ऑफर करना ज्यादा पसंद करेंगे. इसलिए आप भी उक्त टेक्निकल कोर्सेज में से अपनी पसंद का कोई कोर्स करके मनचाही जॉब तुरंत हासिल कर लें या फिर आप अपनी संबंधित टेक्निकल फील्ड में अपना पेशा या कारोबार भी शुरू कर सकते हैं. हमारी शुभ कामनाएं आपके साथ हैं!  

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, प्रोफेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.  

Related Categories

Popular

View More