कॉलेज स्टूडेंट्स पढ़ाई के दौरान ही कैसे करें इंटरप्रेन्योरीयल क्वालिटी का विकास ?

पढ़ाई का मुख्य मकसद ज्ञान अर्जित करने के साथ साथ एक अच्छा करियर बनाना भी होता है. करियर का चुनाव छात्रों की व्यक्तिगत रूचि पर निर्भर करता है. कुछ छात्र 9-5 जॉब में कम्फर्टेबल होते हैं जबकि कुछ खुद का अपना व्यवसाय शुरू कर अपनी निजी स्वतंत्रता को बरकरार रखने में ज्यदा रूचि रखते हैं. लेकिन अच्छे करियर की चाह तथा उसमें सफलता की इच्छा हर किसी की होती है.

हर छात्र शायद इसीलिए पढ़ाई भी करता है. कॉलेज से ही स्टूडेंट्स को अपने करियर पर फोकस करना चाहिए क्योंकि तैयारी के लिए यह सबसे बेहतर समय होता है. अगर आप स्वतंत्र प्रकृति के हैं तथा किसी के स्वामित्व में काम करना आपको पसंद नहीं है तो भविष्य में इन्टरप्रेन्योर बनना आपके लिए करियर से सम्बंधित एक सही निर्णय हो सकता है.

लेकिन इसके लिए आपको कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही इसकी तैयारी शुरू कर देनी होगी तभी आप पढ़ाई समाप्त करते ही एक अच्छे इन्टरप्रेन्योर बनने का सपना देख सकते हैं. इसके लिए आपको अपने अन्दर तत्काल निर्णय लेने की क्षमता, किसी भी बिजनेस का भविष्य, मुश्किल परिस्थितियों में भी डंटकर काम करने की क्षमता, अपने कम्युनिकेशन स्किल्स से लोगों को आकर्षित करने की क्षमता, मार्केट ट्रेंड तथा अपनी रूचि का सही ज्ञान आदि क्वालिटिज का विकास करना होगा तभी आप एक अच्छे इंटरप्रेन्योर बन पायेंगे.

कॉलेज में ही आपको अपने दूरदर्शी दृष्टिकोण का विकास करना होगा ताकि आप प्रॉफिट वाले बिजनेस की पहचान आसानी से कर सकें. इन सभी क्वालिटिज का विकास एक कॉलेज स्टूडेंट, कॉलेज कैंपस में खुद की मेहनत, दोस्तों के सहयोग तथा फैकल्टी के उचित मार्गदर्शन से बिना किसी परेशानी के कर सकते हैं और भविष्य में अपने इन्टरप्रेन्योर बनने के सपने को साकार कर सकते हैं.

चलिए आज इस सन्दर्भ में कुछ कॉलेज स्टूडेंट्स से बात कर यह जानने की कोशिश करते हैं कि यदि वे इन्टरप्रेन्योर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आवश्यक गुणों का विकास वे अपने अन्दर किस तरह करते हैं या फिर इस संबंध में उनकी क्या राय है ?

छात्र के लिए सवाल आप एक इंटरप्रेन्योर क्यों बनना चाहते हैं ?

छात्र का जवाब – इंटरप्रेन्योरशिप में रिस्क होता है और मुझे विश्वास है कि मैं अपने दिमाग में आये आईडिया के आधार पर वह रिस्क ले सकती हूं. मैं अपना बिजनेस शुरू करने के लिए प्लान बना रही हूं क्योंकि मैं किसी कंपनी के क्लोज्ड एनवायरनमेंट में काम नहीं कर सकती. दरअसल, हरेक कंपनी में आपको किसी मैनेजर या बॉस के अंडर काम करना पड़ता है. मैं अपनी कंपनी में खुद अपनी बॉस बनना चाहती हूं और इसी कारण मैं एक इंटरप्रेन्योर बनना चाहती हूं. दूसरे, मेरे पास एक आईडिया है जो सोसाइटी और मार्केट में चेंज ला सकता है. हां! इन कारणों से मैं एक इंटरप्रेन्योर बनना चाहती हूं.  

छात्र के लिए सवाल आपके अनुसार एक इंटरप्रेन्योर में कौन-कौन से गुण होने चाहिए?

छात्र का जवाब – अगर आप एक इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं तो आप में कॉन्फिडेंस होना चाहिए, आप में लीडरशिप क्वालिटीज होनी चाहिए और आप की प्रेजेंटेबल पर्सनालिटी होनी चाहिए. आप में रिस्क लेने की क्षमता हो और आपके इंटरेक्शन स्किल्स काफी अच्छे हों ताकि आप एक अच्छी टीम बना सकें. एक इंटरप्रेन्योर के लिए ये सभी क्वालिटीज काफी इम्पोर्टेन्ट होती हैं और अगर आपकी टीम अच्छा काम करेगी तो आपकी कंपनी को ही फायदा होगा और आपकी कंपनी की खास पहचान बन जायेगी. हमेशा यह कहा जाता है कि अगर कंपनी के लोग खुश हैं तो कंपनी भी तरक्की करती है.

छात्र के लिए सवाल क्या कॉलेज के दौरान ही अपने संभावित बिजनेस के विषय में सोचना शुरू कर देना चाहिए ?

छात्र का जवाब – हां बिलकुल! अब तो यह स्टार्टअप का कल्चर काफी ट्रेंड में है जैसेकि आप देख सकते हैं कि हमारे आस-पास, खासकर इंजीनियरिंग कॉलेजों में स्टूडेंट्स अपने स्टार्टअप और बिजनेस शुरू कर रहे हैं क्योंकि इससे काम करने का फ्रीडम भी मिलता है और आप टाइम-बाउंड नहीं रहते. आप अपनी मर्जी से काम कर सकते हैं और 9 से 5 बजे तक आपको काम नहीं करना पड़ता. डीयू ने भी इंटरप्रेन्योरशिप के लिए काफी सारे इनिशिएटिव्स लिए हैं जैसेकि मोतीलाल कॉलेज में एक ई-सेल खुला है. कॉलेज में आप कई लोगों से इंटरैक्ट करते हैं और एक-दूसरे को जानते और समझते हैं. इससे आपको अधिकतर लोगों और उन लोगों की जरूरतों के बारे में पता चलता है. इससे आपको अपना बिजनेस शुरू करने का माहौल मिलता है. कैपिटल की भी आजकल ज्यादा दिक्कत नहीं होती क्योंकि आजकल इन्वेस्टर्स आसानी से मिल जाते हैं. इसलिए आप अपना कोई बिजनेस शुरू कर सकते है.  

छात्र के लिए सवाल -  कॉलेज के दोस्त और फैकल्टी एक इंटरप्रेन्योर बनने में किस तरह आपकी मदद कर सकते हैं ? 

छात्र का जवाब – असल में, अगर आप एक इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं तो 2 बातें बहुत मायने रखती हैं – आपकी अपनी क्वालिटीज और वे लोग जिनके साथ आप इंटरैक्ट करते हैं. आपके आस-पास कौन से लोग हैं? एक स्टूडेंट होने के नाते मेरे टीचर्स और फ्रेंड्स मेरे लिए सबसे इम्पोर्टेन्ट हैं. मैं सोचता हूं कि आपका फ्रेंड सर्कल अच्छा होना बहुत जरुरी है क्योंकि वे आपके वेंचर में आपको सपोर्ट करते हैं. वे आपके आईडियाज को समझते हैं और अपने विचार आपको बताते हैं. आपके दोस्त आपको सपोर्ट करते  हैं. आपके दोस्त आपको हमेशा प्रमोट करते हैं और इमोशनली और फाइनेंशियली आपकी मदद करते हैं. हमारे टीचर्स भी, जहां तक मैं जानता हूं, काफी सपोर्ट करते हैं. हमारे टीचर्स हमें बता सकते हैं कि इंटरप्रेन्योरशिप के लिए हमारे लिए कौन-सा फील्ड बेस्ट रहेगा? इसलिए टीचर्स की तो इस मामले में बहुत ज्यादा इम्पोर्टेंस है.   

छात्रों के जवाब तो यही दर्शा रहें हैं कि आज के युग में अधिकांश स्टूडेंट्स 9-5 की हाई पैकेज नौकरी की बजाय खुद का अपना बिजनेस शुरू करने में ज्यादा इंटरेस्टेड हैं. इसकी मुख्य वजह आजकल तेजी से बढ़ता स्टार्टअप बिजनेस भी है. साथ ही खुद मालिक होने का भाव भी स्वतः लीडरशिप क्वालिटी के विकास की ओर प्रेरित करता है जो इंटरप्रेन्योरशिप के लिए अति आवश्यक है.

अगर आपको हमारा यह वीडियो अच्छा लगा,तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करना न भूलें. ऐसे ही कुछ रोचक और जानकारी पूर्ण वीडियो देखने के लिए हमारी वेबसाईट  www.jagranjosh.com पर लॉग इन करें.

Related Categories

Popular

View More