एक्सपर्ट से जानिये अपने लिए सही करियर ऑप्शन चुनने के कुछ खास टिप्स

आजकल जब हमारे देश में लाखों स्टूडेंट्स अपने 10वीं या 12वीं क्लास के रिजल्ट्स प्राप्त करने के बाद आगे पढ़ाई जारी रखने या फिर, कोई नौकरी या पेशा शुरू करने के बारे में गंभीरता से सोच रहे हैं और ऐसे समय में, जब अक्सर कई स्टूडेंट्स कंफ्यूज हो जाते हैं कि अपनी 10वीं क्लास पास करने के बाद आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस स्ट्रीम में से कौन-सी स्ट्रीम चुनें या फिर, अपनी 12वीं क्लास पास करने के बाद कौन-सा करियर या पेशा उनके लिए सबसे बेहतर करियर ऑप्शन साबित होगा?......तो ऐसे सभी स्टूडेंट्स का कंफ्यूजन दूर करने के लिए हम इस आर्टिकल में आपके साथ करियर एक्सपर्ट शुभांकर घोष के विचार साझा कर रहे हैं जो कि आईआईएम, अहमदाबाद के एलुमनाई हैं और इन्होनें अपने 18 साल के करियर में कई बड़ी और नामी कंपनियों के साथ काम किया है. इस समय शुभांकर घोष ज़ूम इंश्योरंस ब्रोकर्स प्राइवेट लिमिटेड के चीफ पीपल ऑफिसर हैं. आइये जानते हैं इन्होंने स्टूडेंट्स को उनके करियर के बारे में क्या राय दी है?

10वीं क्लास पास करने के बाद स्टूडेंट्स सही करियर स्ट्रीम कैसे चुनें?

वास्तव में करियर में आपके पेशे या नौकरी को शामिल किया जाता है जोकि आपकी कमाई का जरिया होता है. अपने करियर में लोग सिक्योरिटी चाहते हैं. इसलिए अपनी 10वीं क्लास पास करने के बाद स्टूडेंट्स को अच्छी तरह सोच-विचार करने के बाद ही कोई कदम उठाना चाहिए. स्टूडेंट्स को अपने लिए करियर चुनते समय दो बातों का ध्यान रखना चाहिए. पहला, मार्केट में कौन कौन-सी जॉब्स की ज्यादा डिमांड है. ऐसी जॉब्स से संबंधित कोर्स या सब्जेक्ट्स स्टूडेंट्स को जरुर पढ़ने चाहिए. इसके अलावा, स्टूडेंट्स अपने पैशन के मुताबिक भी कोई अन्य सब्जेक्ट लेकर अपनी स्टडीज़ पूरी करें. अगर स्टूडेंट्स का इंटरेस्ट उन्हीं सब्जेक्ट्स में है जिनसे संबंधित जॉब्स मार्केट में काफी हैं फिर तो परेशानी की कोई बात ही नहीं है. लेकिन अगर किसी स्टूडेंट का इंटरेस्ट किसी करियर लाइन में है लेकिन, उस फील्ड में जॉब्स ज्यादा नहीं हैं तो स्टूडेंट्स को ऐसी किसी फील्ड में नौकरी हासिल करने में काफी मुश्किल होगी. इसलिए, स्टूडेंट्स एक सब्जेक्ट अपने पैशन के मुताबिक चुनें और एक सब्जेक्ट ऐसा भी चुनें जिससे संबंधित काफी जॉब्स मार्केट में उपलब्ध हों.

करियर चुनते समय पैशन और एप्टीट्यूड का महत्व

हमारे एक्सपर्ट की राय में करियर चुनते समय पैशन और एप्टीट्यूड, इन दोनों का ही खास महत्व होता है. अगर स्टूडेंट्स में किसी सब्जेक्ट को लेकर पैशन नहीं होगा तो फिर उनमें उस करियर फील्ड को लेकर जोश की काफी कमी होगी. लेकिन स्टूडेंट्स को अपनी करियर फील्ड में जोश या पैशन तो रखना ही होगा. अगर स्टूडेंट्स के पास किसी करियर के प्रति पैशन है तो उन्हें कोचिंग क्लासेज लेकर अपना एप्टीट्यूड लेवल बढ़ाना होगा. किसी भी करियर के लिए पैशन और एप्टीट्यूड, इन दोनों का ही खास महत्व होता है. यहां तक कि नौकरी पेशा लोग भी अपनी जॉब और करियर में पैशन के साथ एप्टीट्यूड लगातार बढ़ाते रहें. नौकरी ज्वाइन करने के साथ कैंडिडेट्स अपनी पढ़ाई भी जारी रखें और जरूरत पड़ने पर अपने स्किल्स से पूरा फायदा उठायें तभी वे तरक्की कर सकते हैं.

कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए करियर चैलेंजेज का सामना करने के टिप्स  

अक्सर कॉलेज में पढ़ते या पढ़ाते समय स्टूडेंट्स और टीचर्स का ध्यान किसी भी सब्जेक्ट के थ्योरी आस्पेक्ट्स की तरफ रहता है और वे प्रैक्टिकल एप्रोच को अक्सर नज़रंदाज़ कर देते हैं. लेकिन कोई जॉब करते समय या करियर शुरू करने पर अक्सर प्रैक्टिकल एप्रोच का ही इस्तेमाल होता है. हमारे करियर एक्सपर्ट के मुताबिक स्टूडेंट्स उन लोगों के साथ ज्यादा से ज्यादा सम्पर्क कायम करें जिन लोगों से स्टूडेंट्स की पहचान नहीं है. असल में, किसी भी ऑफिस में टेक्निकल इश्यूज कम आते हैं लेकिन बिहेवियरल इश्यूज के कारण करियर में ज्यादा रुकावट आती है. एप्लाइड बिहेवियरल साइंस पर स्टूडेंट्स अपना फोकस रखें क्योंकि करियर में काफी इश्यूज ह्यूमन साइकोलॉजी से संबद्ध होते हैं. स्टूडेंट्स अपने जीवन में थ्योरी आस्पेक्ट्स के साथ ही प्रैक्टिकल एप्रोच का पूरा ध्यान रखें. अन्य लोगों से बातचीत करते समय या अन्य लोगों के साथ काम करते समय आपका उन लोगों पर जो प्रभाव पड़ता है, उसका बहुत महत्व होता है. इसी तरह, दूसरे लोगों के बिहेवियर का आप पर जो प्रभाव पड़ता है, उसका भी काफी महत्व होता है. ये दोनों पॉइंट्स जिसने समझ लिए, वह व्यक्ति हरेक करियर और फील्ड में सफल हो जायेगा.        

टॉप 5 एमर्जिंग करियर ऑप्शन्स और उनका स्कोप

आजकल जॉब मार्केट में उपलब्ध सारी जॉब्स का निकट भविष्य में भी काफी अच्छा स्कोप है. टेक्निकल और डिजिटल फ़ील्ड्स में स्किल बेस्ड जॉब्स को बढ़ावा मिलेगा. लोगों को अपने टेक्निकल और डिजिटल स्किल्स लगातार बढ़ाने होंगे. टॉप 5 एमर्जिंग करियर ऑप्शन्स में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉक चेन इंजीनियरिंग, गिग इकॉनमी, कंसलटेंट, डाटा साइंटिस्ट इंजीनियरिंग बहुत खास एमर्जिंग करियर ऑप्शन्स साबित होंगे.

ह्युमन रिसोर्स में करियर स्कोप

आजकल ह्यूमन रिसोर्स का जॉब प्रोफाइल पहले की तुलना में काफी अलग हो गया है. अब एचआर के जॉब प्रोफाइल में अटेंडेंस, पेरोल या एम्पलॉईज़ की परफॉरमेंस से कहीं ज्यादा आगे कंपनी की ओवरऑल स्ट्रेटेजी भी शामिल हो गई है. आजकल एचआर डिपार्टमेंट किसी भी कंपनी के बिजनेस पार्टनर की तरह काम कर रहा है. एचआर कैंडिडेट्स को अपनी कंपनी के प्रोडक्ट, बिजनेस टारगेट्स, सेल्स सहित सारी जानकारी रखनी होगी. कंपनी के बिजनेस को अच्छी तरह समझने के बाद आप उपयोगी एचआर स्ट्रेटेजीज तैयार कर सकेंगे. एचआर डिपार्टमेंट को लोगों को सही राह दिखानी होगी और कंपनी के हित में तथा लोगों को उनके करियर के संबंध में बेहतरीन राय देनी होगी.     

जॉब, करियर, इंटरव्यू और विभिन्न एजुकेशनल कोर्सेज के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स प्राप्त करने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित रूप से विजिट करते रहें.

Related Categories

Popular

View More