इन तरीकों से गणित हो जाएगी सरल

गणित एक महत्वपूर्ण विषय है, क्यूँकि गणित का उपयोग सिर्फ परीक्षा में पास होने तक सीमित नहीं है | परीक्षा में पास होने के साथ-साथ रोजमर्रा की ज़िन्दगी में गणित का अक्सर उपयोग होता है | बहुत से छात्र गणित को कठिन विषय मानते है और इससे डरते है,  अक्सर ऐसे छात्रों के नंबर गणित में बहुत कम आतें है | वही बहुत से छात्र ऐसे भी है जो गणित को सबसे स्कोरिंग विषय मानते है और ऐसे छात्रों के सबसे ज्यादा नंबर गणित में ही आते हैं | गणित के बहुत से अध्यापक और छात्र यहाँ तक मानते हैं की गणित ही ऐसा विषय है जिसमें आसानी से अधिक नंबर (या पूरे) नंबर प्राप्त किए जा सकते है | इस लेख के द्वारा आज हम यह जानेंगे कि क्यों कुछ छात्रों को गणित एक कठिन विषय लगता है और वो क्या करें की उनके लिए गणित भी एक सरल विषय बन जाए |

1. बेसिक कन्सेप्टस को क्लियर करें और भरपूर प्रैक्टिस करे:


गणित में महारत हासिल करने के लिए बेसिक कंसेप्ट्स का क्लियर होना बहुत ज़रूरी है | गणित मे कुछ बेसिक कंसेप्ट्स जिनकी ज़रूरत हमें अक्सर पड़ती वह इस प्रकार हैं

पहाड़ा 1 से 20 तक

1 से 10 तक वर्गमूल और घनमूल

बीजगणित के कंसेप्ट्स जैसे कि,  

• (a + b)2 = a2 + b2 + 2ab

• (a – b)2 = a2 + b2 – 2ab

• (a2 – b2) = (a – b) (a +b)

• (a + b)3 = a3 + b3 + 3 a b (a + b)

• (a − b)3 = a3 − b3 − 3 a b (a − b)

• (a + b + c)2 = a2 + b2 + c2 + 2ab + 2ac + 2bc

• (x) × (x) = x2

• [(x)a]b = xa × b

• x−1 = 1/x

फ़ैक्टराइज़शन करने का तरीका जैसे कि,  [x2 – 3 x + 2] = [x2 – 2 x – x + 2] = [x (x − 2) −1(x – 2)] = [(x – 1) (x – 2)].

बेसिक कन्सेप्टस का क्लियर होना पहला पड़ाव था अगर किसी के बेसिक कन्सेप्टस क्लियर है तो भी बिना प्रैक्टिस के गणित में महारत हासिल करना नामुमकिन है | अगर आप दौड़ना जानते है पर फिर भी आप बिना प्रैक्टिस किये मैराथन में फर्स्ट नहीं आ सकते उसी तरह गणित में भी बिना प्रैक्टिस किये आप हर सवाल परीक्षा में हल नहीं कर सकते | गणित में महारत हासिल करने के लिये आपको पेन और पेपर की मदद से रोज़ाना प्रैक्टिस बहुत ज़रूरी हैं |

2. क्लास में जानें से पहले टॉपिक को पढ़ें:

यह तरीक़ा सबसे प्रभावी तरीको में से एक है | जो भी टॉपिक आपको क्लास में पढ़ाया जानें वाला है उसे पहले से पढ़ कर जाएं | इससे आपको कन्सेप्टस समझने में आसानी होगी और साथ-साथ आपको क्लास में इंटरेस्ट भी आएगा | टॉपिक को पहले से पढ़ कर क्लास में जानें से आप आसानी से टीचर से क्रॉस क्वेश्चन कर सकते जिसकी वजह से टीचर का भी पढ़ाने में मन लगेगा |

3. गलती से भी क्लास मिस न करें:

गणित जैसे विषय में कई टॉपिक्स आपस में एक दुसरे से सम्बंधित होते हैं | अगर आप कोई क्लास मिस कर देते हैं तो हो सकता है की कुछ कंसेप्ट्स अपने मिस कर दिये हों जिनका उपयोग अगली क्लास में पढ़ाए जानें वाले टॉपिक्स में इस्तेमाल हों | ऐसे में हो सकता है कि आपको क्लास में कुछ समझ न आएं | इसलिए कभी क्लास मिस न करें | खासकर पहली क्लास तो बिल्कुल मिस न करें जो सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण होती है | अगर किसी कारण की वजह से आपकी कोई क्लास मिस हो गई है तो अगली क्लास में जाने से पहले किसी दोस्त की मदद से उस दिन पढ़ाये गये टॉपिक्स को तैयार कर ले |

4. टीचर जो पढ़ाएं उस पर पूरा ध्यान दे और उनके साथ-साथ सवालों को सॉल्व करने की कोशिश करें:

जैसा की हम ऊपर पढ़ चुके है की गणित जैसे विषय में कई टॉपिक्स आपस में एक दुसरे से सम्बंधित होते हैं | अगर क्लास में आपका ध्यान थोड़ी देर के लिए भी अगर भटक गया तो हो सकता है की आपको अगले टॉपिक्स बिल्कुल समझ ना आएं | इसलिए टीचर जो पढ़ाएं उस पर पूरा ध्यान दे | कोशिश करें की जैसे टीचर सवाल सॉल्व करें आप भी उनके साथ-साथ सॉल्व करने की कोशिश करें | इससे आपका मन क्लास क्लास से नहीं भटकेगा | साथ-साथ ही आपकी प्रैक्टिस भी होती रहेगी |

5. क्लास खत्म होने के बाद अपने दोस्तों के साथ ग्रुप डिस्कशन करें:

ये तरीका भी बहुत महत्वपूर्ण है, क्लास खत्म होने जो पढ़ाया गया उसके बारें में अपने दोस्तों से ज़रूर चर्चा करें| अगर आप क्लास में किसी क्वेश्चन में दिक्कत महसूस कर रहे थे तो उसे क्लास के बाद अपने टीचर के आलावा दोस्तों की भी मदद ले सकते है | गणित के टॉपिक्स से जुड़ी हुई किसी तरह की उलझन दिमाग में न रखे | आप अपने दोस्तों के साथ घर आते वक़्त भी पढ़ाये गए टॉपिक्स पर चर्चा कर सकते है|

हो सकता है ऊपर दिए गए तरीके आपको पुराने जमाने के लगे पर गणित में महारत हासिल करने के यही तरीके बेस्ट है| यह भी हो सकता है शुरुआत में ये तरीकें अपनानें में दिक्कतों का सामना करना पड़े पर लगातार कोशिश से आपको यह तरीकें आसान लगने लगेंगे| लगातार प्रैक्टिस करें और टॉपिक को दोहरातें रहें गणित जैसे विषय में कोई शॉर्टकट नहीं चलता| बेसिक कन्सेप्टस पर मजबूत पकड़, लगातार प्रैक्टिस और बेसिक कन्सेप्टस पर मजबूत पकड़, लगातार प्रैक्टिस और लगातार टॉपिक्स दोहराने से गणित भी अन्य विषयों की तरह आसान विषय बन जायेगा और आप इस विषय में पूरे-पूरे नंबर हासिल कर सकेंगे|

आखिर क्यों ज़रूरी है करियर काउंसलिंग तथा करियर कोचिंग

Related Categories

Also Read +
x