Advertisement

ब्रेक के बाद करियर की शुरुआत कैसे करें?

जॉब फील्ड में बदलावों को देखते हुए एक लंबे ब्रेक के बाद करियर को फिर से शुरू करना किसी के लिए भी आसान नहीं होता। खासतौर से कामकाजी महिलाओं के लिए यह और भी चुनौतीपूर्ण होता है, क्योंकि तब जरूरत के मुताबिक आपके पास स्किल नहीं होती। कॉन्फिडेंस लेवल पहले जैसा नहीं होता है। नई पारी की शुरुआत के लिए खुद को कैसे तैयार किया जाए, बता रही हैं जॉब्सफॉरहर की फाउंडर एवं सीईओ नेहा बगारिया...

कंपनियों में पहले जैसा माहौल नहीं रहा। नियोक्ता अब हायरिंग में उन महिलाओं को भी खास तवज्जो दे रहे हैं, जो करियर में 2-3 साल के ब्रेक के बाद फिर से जॉब करना चाहती हैं। ऐसा इसलिए कि एक तो ये कामकाजी महिलाएं पर्याप्त अनुभवी होती हैं, परिपक्व होती हैं और एक लंबे समय बाद काम पर लौटने की वजह से उत्साह से लबरेज भी होती हैं। लेकिन एक नई नौकरी पाने के लिए सिर्फ इतना ही काफी नहीं है। कंपनियां कैंडिडेट में यह भी देखती हैं कि कहीं वे अपनी प्रोफेशनल स्किल्स को भूले तो नहीं हैं। यह भी कि ब्रेक के दौरान आपने क्या नई स्किल सीखी, कौन सी उच्च शिक्षा हासिल की। यहां बताए गए कुछ तरीकों को अपनाकर फिर से अच्छे करियर की शुरुआत की जा सकती है:

सीखते रहें नई स्किल्स

जॉब में फिर से फिट होने के लिए जो चीज सबसे जरूरी है, वह है री-स्किलिंग। अगर आप अपने करियर में फिर से एक नई और अच्छी शुरुआत चाहते हैं, तो खुद को इंडस्ट्री की अपेक्षाओं के अनुरूप अपडेट रखने पर ध्यान देना होगा। जो लोग पहले किसी तकनीकी फील्ड में रहे हैं, उनके लिए यह और भी जरूरी है, क्योंकि जब वे दोबारा से काम पर लौटते हैं, तब तक बहुत-सी नई तकनीक आ चुकी होती हैं। एक चीज यह भी देखा गया है कि कुछ अंतराल के बाद फिर से जॉब तलाशने वालों का कान्फिडेंस लेवल पहले जैसा नहीं होता है, जिसे री-बिल्ड करने पर भी जोर होना चाहिए।

ऑनलाइन ट्यूटोरियल्स

अगर किसी कारणवश दो-तीन साल तक के लिए जॉब लाइन से दूर रहते हैं, तो इसका सदुपयोग आप अपने क्षेत्र की नई-नई स्किल्स सीखने में कर सकते हैं। इसके लिए आजकल बहुत से ऑनलाइन ट्यूटोरियल्स चल रहे हैं, जहां पर तमाम तरह के स्किल्स और विषयों की जानकारी दी जाती है। अपनी रुचि के अनुसार आप इनमें से कोई भी चुन सकते हैं। इसके अलावा, समय-समय पर वर्कशॉप/मीटिंग वगैरह में भी शामिल होते रहें। ऐसा करके आप अपनी प्रोफेशनल अभिरुचि को बनाए रखते हुए खुद को मोटिवेट रख सकते हैं।

अपडेट रेज्यूमे

ब्रेक के बाद तुरंत अच्छी नौकरी पाने में अपडेट रेज्यूमे की बड़ी अहम भूमिका होती है। इसलिए किसी भी जॉब साइट पर रेज्यूमे पोस्ट करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि वह अपडेट हो। साथ ही रेज्यूमे में उन सभी अनुभवों और कार्यों का जिक्र करना न भूलें, जो आपने ब्रेक के दौरान सीखी हैं, अर्जित की हैं। हो सकता है कि इस दौरान आपने कहीं कोई स्वयंसेवा की हो या फिर फ्रीलांस के तौर पर सेवाएं दी हों, किसी पार्टटाइम काम से कोई अनुभव हासिल किया हो। इससे आप अपने भावी नियोक्ता को काफी हद तक आश्वस्त करने में कामयाब हो सकते हैं कि फलां जॉब के लिए आप कितने उपयुक्त हैं।

नेटवर्किंग पर ध्यान

अपनी नेटवर्किंग को मजबूत करने के लिए कॉन्फ्रेंस/वर्कशॉप अटेंड करना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इससे आपको अपने फील्ड के अन्य प्रोफेशनल्स से कनेक्ट होने का मौका मिलेगा। साथ ही आप इंडस्ट्री ट्रेंड से भी वाकिफ हो जाएंगे कि इन दिनों क्या कुछ चल रहा है।

Advertisement

Related Categories

Advertisement