IBPS Clerk 2018: जानें कितना जा सकता है कट-ऑफ स्कोर

IBPS Clerk की तैयारी करने वाले उम्मीदवार अक्सर इसकी कट-ऑफ को लेकर प्रश्न पूछते हैं और इस लेख में हम IBPS Clerk 2018 की Cut-off के बारे में बात करेंगे और इसके आलावा पिछले वर्ष हुए एग्जाम की कट-ऑफ के बारे में भी जानेंगे. IBPS Clerk Prelims 2018 की परीक्षा हो चुकी है. इस बार परीक्षा में बहुत बड़ा बदलाव देखने को मिला था जिसके बारे में अधिक जानकारी आपको इस लिंक से मिलेगी. हम इस आर्टिकल के द्वारा जानेंगे कि इस बार का कट-ऑफ कितना जा सकता है.

IBPS Clerk Prelims 2018 का Result जारी हो चुका है जिसे आप इस लिंक से चेक कर सकते हैं

IBPS Clerk की भर्ती के लिए आयोजित होने वाली परीक्षाओं का कट-ऑफ तीन मुख्य बातों पर निर्भर करता है:

• रिक्तियों की संख्या

• आवेदनों की संख्या और क्षेत्र

• परीक्षा के प्रश्नों का स्तर

आइये अब हम एक-एक करके इन बिंदुओं के बारे में विस्तार से जानते हैं

रिक्त स्थानों की संख्या

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष इस पद के लिए रिक्त स्थानों की संख्या में कमी देखने को मिली है. वर्ष 2017 में रिक्त स्थानों की संख्या 7,884 के आस पास थी मगर इस वर्ष (2018) यह संख्या 7,275 है. ये कमी इस बात की ओर संकेत देती है कि इस साल का कट-ऑफ़ पिछले वर्ष के मुक़ाबले ज़्यादा हो सकता है.

आवेदनों की संख्या और क्षेत्र

सरकारी नौकरियों के लिए आवेदनों की संख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है और इस बार भी यही माना जा रहा है कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष आवेदनों के संख्या ज़्यादा होगी.

क्षत्रों की अगर बात करें तो अलग-अलग क्षत्रों में IBPS Clerk की पोस्ट के लिए रिक्त स्थानों की संख्या अलग-अलग है. जैसे उत्तर प्रदेश में ये संख्या सबसे ज्यादा है (944) मगर आवेदनों की संख्या भी इस प्रदेश से अन्य प्रदेशों की तुलना में काफी अधिक रहती है.

वैसे तो IBPS Clerk की कट-ऑफ अलग क्षत्रों के हिसाब से अलग होती है लेकिन अगर इसके उतर-चढ़ाव की बात करें तो प्रतिशत के हिसाब से ये लगभग सामान ही होता है. उदाहरण के लिए अगर एक प्रदेश में कट-ऑफ स्कोर पिछले वर्ष के मुकाबले 5% ऊपर गया है तो दूसरे प्रदेश में ये 4.5% से लेकर 5.5% तक हो सकता है.

आईबीपीएस की तैयारी के लिए टिप्स

परीक्षा के प्रश्नों का स्तर

कभी-कभी परीक्षा में बहुत कठिन प्रश्न पूछ लिए जाते हैं और कभी-कभी बहुत आसान. जब परीक्षा में बहुत ज़्यादा कठिन प्रश्न पूछे जाते हैं तो कट-ऑफ कम जाता है और जब परीक्षा में बहुत सरल प्रश्न पूछे जाते हैं तो कट-ऑफ हाई जाता है.

हाल ही में IBPS द्वारा आयोजित कराई गई परीक्षाओं में पिछले वर्ष के मुक़ाबले इस वर्ष कोई खास बदलाव देखने को नहीं मिला और इसे देखते हुए हम यह मान सकते है कि IBPS Clerk 2018 की परीक्षा के स्तर में कोई ख़ास बदलाव देखने को नहीं मिलेगा.

कितना जा सकता है IBPS Clerk 2018 का Cut-off?

अगर एग्जाम में पूछे जाने वाले प्रश्नों के स्तर में कोई खास बदलाव देखने को नही मिला और सीटों की कम संख्या और बढ़ते हुए आवेदनों की संख्या को अगर देखें तो इस बार IBPS Clerk 2018 की Prelims और Mains परीक्षा के कट-ऑफ में पिछले वर्ष के मुकाबले 5% to 15% ज़्यादा हो सकती है.

मान लीजिये पिछले वर्ष अगर उत्तर प्रदेश में इस पोस्ट के लिए कट-ऑफ़ 76.25 थी तो इस बार ये 80.06 से लेकर 87.68 तक हो सकती है.

पिछले वर्ष 2017 (Prelims & Mains) और 2018 (Prelims & Mains) की कट-ऑफ के बारे में विस्तार से जानकारी आपको इस लिंक से मिलेगी.

आईबीपीएस 2018 की तैयारी के लिए टिप्स

Advertisement

Related Categories