IBPS PO इंटरव्यू 2018:10 अत्यंत महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके जवाब

बेहद कठिन और जटिल मेन्स परीक्षा के बाद, जो इंटरव्यू राउंड तक पहुंच पाए हैं, उन्हें जरूर बहुत राहत महसूस करनी चाहिए. लेकिन जंग अभी बाकी है और एक अच्छा इंटरव्यू ही आपको देश के किसी भी PSB में अधिकारी की प्रतिष्ठित नौकरी दिला सकता है. इस लेख में हम, इंटरव्यू में पूछे जाने वाले आम सवालों और उसका जवाब देने के तरीके पर चर्चा करेंगे.

IBPS PO इंटरव्यू 2018: सबसे सामान्य सवाल 

इंटरव्यू आपके चरित्र का परीक्षण होता है और जाहिर है, आप कभी भी इंटरव्यू में सिर्फ सामान्य प्रश्नों के पूछे जाने की उम्मीद नहीं कर सकते. आपको अपनी इस प्रक्रिया में हर एक चीज का सामना करने की तैयारी रखनी चाहिए.

जानिए SBI PO Exam 2018 की तैयारी के लिए आपको कौन सा न्यूज़ पेपर पढना चाहिए

1. हमें अपने बारे में कुछ बताएं 

 ज्यादातर मामलों में यह पहला सवाह है जो कमरे में दाखिल होने के बाद सुनाई देता है. पूरे इंटरव्यू को नियंत्रित करने के साथ साथ अपनी अच्छी शुरुआत करने का यह आपका महत्वपूर्ण अवसर होता है. अपने नाम और मूल स्थान (गृह नगर) के साथ शुरु करें, अपना शैक्षणिक पृष्ठभूमि बताएं और फिर पारिवारिक पृष्ठभूमि, अपनी रूचियां और आखिर में अपना कार्यानुभव, यदि है तो। पारिवारिक पृष्ठभूमि को विस्तार से बताने से बचें क्योंकि इंटरव्यू लेने वालों को सिर्फ आपकी पृष्ठभूमि से मतलब होता है आपके भाई – बहनों, रिश्तेदारों की दिनचर्या से नहीं। 

Trending Now

2. बैंकिंग क्षेत्र में आने का आपका क्या उद्देश्य है? 

 इंटरव्यू पैनल को प्रभावित करने का यह आपका मौका है. काम की प्रकृति जैसे ग्राहकों के साथ लेन– देन, गरीबों को वित्तीय सहायता और बतौर बैंक कर्मी आप जो सामाजिक छाप छोड़ सकते हैं, से शुरुआत करें. अगली बात जो आपको बतानी है वह है एक बैंकर के रूप में आपको मिलने वाला सामाजिक सम्मान और आखिर में नौकरी में प्रोमोशन के पहलू पर बोलें. ये आपको महत्वाकांक्षी, ईमानदार/ गंभीर और सामाजिक व्यक्ति के तौर पर प्रस्तुत करेगा. इसके सिवा उन्हें एक बैंकर में और क्या चाहिए? 

IBPS PO इंटरव्यू 2018 में आपके एजुकेशनल बैकग्राउंड का महत्व

3. महानगर के युवा/ युवती होने के नाते, क्या आप ग्रामीण इलाकों में काम करने में सहज होंगे? 

 यह आपकी ईमानदारी को जांचने वाला प्रश्न है. कोई भी ग्रामीण पोस्टिंग नहीं चाहता और इसी वजह से सरकार ने बैंकिंग क्षेत्र में प्रोमोशन के लिए इसे अनिवार्य कर दिया है. इसलिए कभी भी इस प्रश्न की चरमसीमा पर न जाएं. बहुत विनम्रता के साथ कहें कि आप अपने रास्ते में आने वाले किसी भी और प्रत्येक चुनौती का सामना करने को तैयार हैं और इसमें ग्रामीण सेवा का मानदंड भी शामिल है. 

4. अगर आपको बेहतर अवसर मिलता है, तो क्या आप बैंकिंग छोड़ देंगे/ देंगी या फिर भी इसी में बने रहेंगे/ रहेंगीं? 

 एक बार फिर ईमानदारी की परीक्षा और आपको अपने उत्तर में तार्किक होना चाहिए. कोई भी बेहतर अवसर को बर्बाद नहीं करना चाहता है. आप भी अपवाद नहीं हैं और इंटरव्यू लेने वाले भी यह बात अच्छी तरह जानते हैं। आपके उत्तर में मनुष्यों की इस बुनियादी विशेषता का उल्लेख होना चाहिए कि हर कोई  बेहतर अवसर की तलाश में रहता है और यदि आपको भी मिले, तो आप उसके लिए बैंक छोड़ देंगे. इंटरव्यू लेने वाले सच सुनना चाहते हैं, चीनी जैसे मीठे शब्दों में लिपटे झूठ नहीं. 

5. आपको घाटे में चल रही शाखा का शाखा प्रबंधक/ ब्रांच मैनेजर बना दिया जाता है. स्थिति को सही करने के लिए आप क्या करेंगें? 

 ब्रांच मैनेजर के तौर पर मैं सबसे पहले उन क्षेत्रों को समझना चाहूंगा जिनमें ब्रांच बेकार में पैसे गंवा रहा है और सबसे पहले उसे ही नियंत्रित करने की कोशिश करूंगा. इसके बाद, मैं नए व्यापार लाने की कोशिश करूंगा और कम लागत वाली जमाओं जैसे सीएएसए जमा और खुदरा अग्रिम (रीटेल एडवांसेस) पर ध्यान केंद्रित करूंगा ताकि उन्हें ज्यादातर सुरक्षित किया जा सके और साथ ही ब्रांच की आमदनी को बढ़ाया जा सके। एक और महत्वपूर्ण चीज होगी ब्रांच का एनपीए कम करना और ग्राहक सेवा में सुधार लाना ताकि लोग अन्य बैंकों के मुकाबले हमारे बैंक को पसंद करें. 

6. वर्तमान में बैंकिंग क्षेत्र को संकट में डालने वाले प्रमुख मुद्दे कौन से हैं?

 सबसे पहली चीज जिस पर ध्यान देने की जरूरत है, वह निश्चित रूप से  गैर निष्पादित संपत्तियों (non performing assets) का मुद्दा है क्योंकि यह बैंक के बैलेंस शीट को बना या बिगाड़ सकता है. दूसरी चीज बैंकिंग के नियमक पहलुओं बेस III फ्रेमवर्क, से जुड़ी है जहां आपको अधिक पूंजी लगाने की आवश्यकता है. अगली महत्वपूर्ण चीज मानव संसाधन का उचित तरीके से उपयोग करना क्योंकि कर्मचारियों की कमी ग्राहक सेवा को काफी हद तक प्रभावित करती है.

7. पांच वर्षों के बाद आप खुद को कहां देखते हैं?

 यह ऐसा प्रश्न है जो आपके भविष्य की योजनाओं और महत्वाकांक्षाओं की जांच करता है लेकिन याद रखें आपको कुछ ऐसा कहने की जरूरत होगी जो यथार्थवादी हो और जिसे अगले पांच वर्षों में प्राप्त करना वाकई संभव हो. आप इस तरह जवाब दे सकते हैं – आगामी वर्षों में मैं जितना संभव हो सके उतना बैंकिंग के अलग – अलग पहलुओं को सीखना चाहता हूं और इस समय में जितना संभव हो सके उतना प्रोमोशन भी प्राप्त करने की कोशिश करूंगा. 

यदि आप बैंक पीओ परीक्षा में असफ़ल हो रहे है तो इन 6 स्टेप्स को अपनाए !

8. अपनी खूबियां और खामियां बताएं।

 यह आपके अध्ययन के विश्लेषण का हिस्सा है और इंटरव्यू लेने वाले उम्मीद करते हैं कि इंटरव्यू में आने से पहले आपने इसे बहुत अच्छे से किया होगा. सिर्फ उन्हीं खूबियों को बताएं जो बैंकिंग के लिए जरूरी है जैसे अच्छा संचार कौशल, समस्या को हल करने की योग्यता, सॉफ्ट स्किल्स, ग्राहक से बातचीत आदि. खामियों के लिए आपको हमेशा कुछ ऐसा कहना चाहिए जो वास्तव में आपकी खूबियों को बताए जैसे मैं बहुत काम करने वाला (workaholic) व्यक्ति हूं या  मैं पूर्णतावादि (perfectionist) व्यक्ति हूं आदि. इंटरव्यू लेने वाले यह देखना चाहते हैं कि क्या आपने इस प्रश्न के माध्यम से खुद को सही तरीके से जाना है। 

बैंकिंग परीक्षाओ के लिए अंग्रेजी भाषा की तैयारी कैसे करे?

9. हमें आपको नौकरी क्यों देनी चाहिए? 

अरे वाह, अब गेंद आपके पाले में है और आपको इसका सबसे अधिक लाभ उठाने की कोशिश करनी है. पहली चीज, आपके कौशल सेट से संगठन पर जो प्रभाव आप डाल सकते हैं, होनी चाहिए. आप ग्राहकों के साथ बहुत अच्छे से सौदा कर सकते हैं और आप उत्पादों को बहुत अच्छे से बेच सकते हैं आदि. आपमें अपने तरीके से लोगों को समझाने की क्षमता है और विश्वास करिए, बैंकिंग में, यदि आपमें यह खूबी है तो आपको काफी महत्व मिलेगा. संगठन को जिन चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, उस पर फोकस करें और अपने कौशलों को समाधान के रूप में प्रस्तुत करें. इससे दो काम होंगें: उन्हें पता चलेगा कि  आपने अपना होमवर्क किया है और साथ ही वे आसानी से संगठन में आपकी भूमिका की कल्पना कर लेंगे. 

10. आप एक इंजीनियर/ ह्यूमैनीटीज ग्रेजुएट/साइंस ग्रेजुएट आदि हैं. आपको बैंकिंग के पृष्ठभूमि की कोई जानकारी नहीं है. एक बैंक में आप कैसे काम कर पाएंगे?

 ध्यान रखें कि यह सवाल आपकी असावधानी को पकड़ने के लिए नहीं है क्योंकि IBPS PO के लिए न्यूनतम आवश्यक योग्यता किसी भी विषय में ग्रेजुएट होना है और वह आपके पास है. अपने अकादमिक पृष्ठभूमि से अर्जित कौशल जैसे एक इंजीनियर को तकनीकी विशेषज्ञता होगी, पर ध्यान लगाएं और तकनीक के माध्यम से वित्तीय समावेशन के साथ इसका प्रयोग बैंक के तकनीकी उन्नति में किया जा सकता है. कला विषय में स्नातक (आर्ट्स ग्रेजुएट) होने के नाते आपका संचार कौशल और विश्लेषण करने की क्षमता अच्छी है, बैंकिंग के लिए ये बहुत महत्वपूर्ण हैं. अपने कौशलों पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें और सकारात्मक रूप से जवाब दें. सवाल आपके कौशलों को बैंकिंग क्षेत्र की जरूरतों से संबद्ध करना है और कुछ नहीं. 

एक अधिकारी के तौर पर देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक में प्रवेश करने से पहले इंटरव्यू आखिरी बाधा है जिसे आपको पार करनी है. इसके लिए आपको अच्छे से तैयारी करनी होगी और यह हमेशा देखा गया है कि लिखित परीक्षा में कम अंक होने के बावजूद एक अच्छे इंटरव्यू के साथ आपके पास अंतिम चयन किए जाने का अवसर होता है. होशियारी और मेहनत से पढ़ें और अपनी पहचान बनाएं। 

जानिए बैंकिंग परीक्षा के पैटर्न में हुए बदलाव एवं इसमें महारत हासिल करने के तरीके

Related Categories

Also Read +
x