बोर्ड एग्जाम 2019: कक्षा 10वी का रिजल्ट महत्त्वपूर्ण है या नहीं?

एक स्टूडेंट के जीवन में कक्षा 10वीं का परिणाम काफी महत्व रखता है. लेकिन क्या ये कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी की उनका पूरा जीवन केवल इस एक परिणाम पर ही निर्भर करता है?

छात्र जीवन में तीन चीजें होती हैं, - दोस्त, दोस्तों के साथ मस्ती और उसके बाद पढ़ाई लेकिन जैसे ही एक छात्र कक्षा 10वी में प्रवेश करता है अचानक ही उसकी जिंदगी में बदलाव आ जाता है और पढ़ाई सबसे पहली और जरूरी चीज हो जाती है. फिर अन्य दो चीजें छोड़ने का दवाब अभिभावक बच्चों पर डालने लगते हैं जिसके कारण न चाहते हुए भी छात्रों पर पढ़ाई को लेकर दबाव बढ़ने लगता है.

छात्रों में यह बढ़ता दबाव कुछ तो अभिभावकों के कारण और कुछ शिक्षक और अन्य लोगों के कारण ही उत्पन्न होता है और यह दबाव कुछ छात्रों के लिए काफी घातक साबित होता है क्यूंकि यह बढ़ता दबाव ऐसे छात्रों को अवसाद और आत्महत्या की प्रवृत्ति की ओर ले जाता है.

आज हम इस आर्टिकल में कक्षा 10वी के बोर्ड परीक्षा के अच्छे और बुरे दोनों ही परिणाम के मुख्य बिन्दुओं पर चर्चा करेंगे:

UP Board, CBSE, तथा अन्य बोर्ड: कक्षा 10वी के बोर्ड परीक्षा के अच्छे परिणाम का अच्छा और बुरा प्रभाव-

कक्षा 10वी के अच्छे परिणाम का अच्छा प्रभाव

कक्षा 10वी के अच्छे परिणाम का गलत प्रभाव

कक्षा 10वी में अच्छा स्कोर छात्र के आत्मविश्वास के स्तर को बढ़ावा देने में काफी सहायक साबित होता है.

 

कक्षा 10वी के अच्छे परिणाम के कारण कई छात्रों में अनचाहा आत्मविश्वास आ जाता है जोकि सही नहीं है.

कक्षा 10वी के अच्छे परिणाम के बाद कक्षा 11वी में छात्र अपने अनुसार किसी भी स्ट्रीम का चयन कर सकतें हैं, हालाकि अधिकतर छात्र विज्ञान स्ट्रीम का चयन करतें है.

अच्छा स्कोर या अभिभावकों के दबाव से प्रेरित होकर छात्र आम तौर पर विज्ञान स्ट्रीम का चयन कर लेतें हैं और बाद में कुछ छात्रों को पछतावा होता है कि उनके पास इनसे अच्छे विकल्प भी थे.

 

एक अच्छे स्कोर से प्रेरित होकर, कुछ छात्र IIT JEE, NEET आदि) की कोचिंग कक्षाओं में शामिल होने यानि प्रतियोगी परीक्षा के लिए तैयारी शुरू करने का भी निर्णय ले लेते हैं.

कक्षा 10 और कक्षा 11 पाठ्यक्रम के सिलेबस में बहुत अंतर होता है. अर्थात जो छात्र ठीक तरीके से दोनों ही पाठ्यक्रम को समझ नहीं पाते हैं वह  कोचिंग क्लासेज होने के बावजूद, स्कूल और प्रतियोगी परीक्षा दोनों की तैयारी में फस कर असफल हो जाते हैं.

 

माता-पिता की उम्मीदें भी छात्रों को परोत्साहित करने लगती हैं और कुछ समय बाद छात्र इससे प्रेरित होकर अच्छी तरह से प्रदर्शन करते हैं.

वहीँ दूसरी तरफ कुछ छात्र माता-पिता के बढ़ते उम्मीदों के समक्ष नहीं हो पातें और अवसाद में ग्रसित हो जाते हैं.

 ऊपर बताए बिन्दुओं से यह स्पष्ट रूप से प्रतीत होता है कि कक्षा 10वी बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक से उत्तीर्ण होने के अच्छे फायदें तो है ही लेकिन साथ ही साथ कुछ नुकसान भी है.

ज़रूर जाने ये बातें अगर आप नए अकादमिक वर्ष में अगली कक्षा में ले रहे हैं प्रवेश

इसी प्रकार ,

UP Board, CBSE, तथा अन्य बोर्ड: कक्षा 10वी के बोर्ड परीक्षा के बुरे परिणाम का अच्छा और बुरा प्रभाव-

कक्षा 10वी के बुरे परिणाम का गलत प्रभाव

कक्षा 10वी के बुरे परिणाम का अच्छा प्रभाव

एक बुरा स्कोर मिलने के बाद, कुछ छात्र उदास हो जाते हैं और इस कारण उनमें आत्महत्या की प्रवृत्ति तक विकसित होने लगती है.

और दूसरी तरफ कुछ छात्र अपने परिणाम को देख अपनी गलतियों को सुधार कर और अच्छा प्रदर्शन करते हैं.

छात्रों को अपनी पसंद की परवाह किए बगैर वाणिज्य और कला स्ट्रीम का चयन करना पड़ जाता है.

 

वहीँ दूसरी तरफ कुछ छात्र इन स्ट्रीम को लेने के बाद भी अच्छी तरह से प्रदर्शन करते हैं.

 

कुछ छात्र दोस्त और परिवार से लगातार अपने परिणाम को लेकर ताना सुनने के कारण काफी डीमोटीवेट हो जाते हैं.

उनमें से कुछ छात्र इन बातों को प्रेरणा स्रोत के रूप में लेते हैं और अच्छा प्रदर्शन करने के लिए उत्साह का विकास कर आगे बढ़ते हैं.

 

कुछ छात्र अपने परिवार से उच्च शिक्षा के लिए आगे वित्तीय सहायता प्राप्त करने में असमर्थ हो जाते हैं, जिसकी वजह से इच्छा होने के बावजूद अच्छे कॉलेजों में अध्ययन करने के लिए सक्षम नहीं हो पाते हैं.

उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता के अभाव के कारण, कुछ स्टूडेंट 12वीं के बाद ही किसी अच्छे व्यापार या बिजनस आदि क्षेत्रों में अच्छी तरह से प्रदर्शन करते हैं.

 

 ऊपर बताए सभी बिन्दुओं के आधार पर अब हम कुछ स्पष्ट सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे :

प्रश्न :  कक्षा 10वीं का परिणाम एक छात्र के जीवन में कितना महत्व रखता है?

उत्तर : हाँ. जिस प्रकार आपने यहाँ कक्षा 10वी के परिणाम के फायदे और नुकसान दोनों ही देखे वह स्पष्ट रूप से यह प्रदर्शित करता है कि कक्षा 10वी का परिणाम एक छात्र के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

प्रश्न : क्या अच्छा या बुरा स्कोर 10वीं कक्षा के परिणाम में एक छात्र के जीवन में महत्वपूर्ण  है?

उत्तर : हाँ, UP Board, CBSE Board  तथा अन्य बोर्ड  में कक्षा 10वीं का परिणाम सकारात्मक या नकारात्मक रूप से एक छात्र के जीवन को प्रभावित करता है. 

प्रश्न : यदि कोई छात्र कक्षा 10वी में कम अंक प्राप्त करता है, तो क्या यह उसके जीवन का अंत है?

उत्तर : नहीं, हम कह सकते हैं कि यह उसके जीवन में नए चरण की शुरुआत हो सकती है. हालांकि, कक्षा 10वी में अच्छा या बुरा स्कोर सकारात्मक या नकारात्मक तरीके से छात्र के नए चरण को प्रभावित कर सकता है.

निष्कर्ष- हाँ, कक्षा 10वीं का परिणाम एक छात्र के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण  है, हालांकि अच्छा या बुरा स्कोर एक छात्र के जीवन पर सकारात्मक या नकारात्मक प्रभाव छोड़ जाता है. अर्थात छात्रों को बहुत ज्यादा ओवर कॉंफिडेंट नहीं होना चाहिए. इसके अलावा, छात्रों को उदास नहीं होना चाहिए अगर उन्होंने औसत या बहुत कम स्कोर किया है. यह सिर्फ एक छात्र के जीवन के कई परीक्षाओं में से एक है यह मान कर सकारात्मक रूप से आगे बढ़ना चाहिए.

कक्षा 10वी के बाद स्ट्रीम चयन करने के कुछ आसान टिप्स

Advertisement

Related Categories