SSC CHSL: LDC और DEO पोस्ट की जॉब प्रोफाइल

हर साल, कर्मचारी चयन आयोग (SSC) विभिन्न मंत्रालयों और विभागों में विभिन्न पदों पर CHSL परीक्षा के माध्यम से उम्मीदवारों की भर्ती करता है। ये पद विभिन्न कार्य-प्रकृति के होते हैं जो उम्मीदवारों की योग्यता पर निर्भर करते हैं। लोअर डिवीजन क्लर्क (LDC) और डेटा एंट्री ऑपरेटर (DEO) पद SSC CHSL परीक्षा द्वारा दिए जाने वाले पदों में से एक है। इन पदों पर भर्ती होने वाले उम्मीदवारों का कार्य मुख्य रूप से संबंधित विभाग में कार्यालय के पारंपरिक कार्य को करना होता है। उम्मीदवारों को संबंधित भर्ती प्राधिकरण द्वारा आयोजित लिखित परीक्षा, टाइपिंग परीक्षा और व्यक्तिगत साक्षात्कार के बाद भर्ती किया जाता है। ये सभी टेस्ट्स चयन की संभावनाओं को निर्धारित करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। विभिन्न कार्यालयों में LDC और DEO का काम दिन-प्रतिदिन के कामकाज से संबंधित दस्तावेज को संभालना होता है. इस लेख में, हम LDC और DEO पोस्ट्स की जॉब प्रोफाइल के बारे में विस्तार से जानेंगे-

बिना कोचिंग के SSC CHSL की तैयारी कैसे करें?

SSC CHSL LDC पोस्ट की जॉब प्रोफाइल

एक LDC, कार्यलय में क्लेरिकल कार्यों की जिम्मेदारियां संभालता हैं जिनमें वरिष्ठों के साथ समन्वय करना और डॉक्यूमेंटेशन को तैयार करने का कार्य सम्मिलित हैं. इस पद के तहत, आप से आधिकारिक कार्यों/जिम्मेदारियों को सक्षमता और सरलता से सँभालने की आशा की जाती हैं. इन कार्यों में सम्मिलित हैं-

How to Crack SSC CHSL Exam?

1. आपको सम्बंधित कार्यालयों में सरल कार्यों को ही करना होता है और इसके अलावा, डेटा, फाइलों और दस्तावेजों की अच्छी तरह से रखरखाव करने की जिम्मेदारी भी आपकी होगी।

2. आपको संबंधित कार्यालय या विभाग के डेटाबेस या इनफार्मेशन लाइब्रेरी से सूचना को भी निकालना होता हैं और साथ ही, आपको सम्बंधित कार्यालय में काम करने वाले स्टाफ के मासिक वेतन की स्लिप्स को भी तैयार करना होता हैं.

3.आपको अपने वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दिए गए निर्देशों के आधार पर कुछ महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स को भेजना या प्राप्त करना भी होता हैं और साथ ही आवश्यकता के आधार पर, उन्हें सम्बंधित व्यक्ति के समक्ष भी प्रस्तुत करना होता हैं.

4. आपको सभी क्लाइंट्स के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी और आपको इन क्लाइंट्स की फ़ोन कॉल्स का उत्तर देना होता हैं और कभी कभी उन्हें ई-मेल भी भेजनी होती हैं.

5. लोअर डिवीज़न क्लर्क को कार्यरत स्टाफ के रजिस्टर को भी अपडेट करना होता हैं और इस रजिस्टर में कर्मचारियों की मासिक छुट्टियों का ब्यौरा होता हैं.

उपरोक्त जिम्मेदारियों के अलावा, एक लोअर डिवीज़न क्लर्क को अधिकाँश कार्यालयों में रु० 1900 की न्यूनतम ग्रेड-पे के साथ रु० 9200-20200 का मासिक वेतन प्रदान किया जाता हैं.

SSC CHSL परीक्षा में सफलता हेतु पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों की भूमिका

इस पद के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार की आयु 18 से 27 वर्ष के मध्य होनी चाहिए और वह किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / इंस्टिट्यूट से 10 + 2 या ग्रेजुएशन में उत्तीर्ण होना चाहिए. विभिन्न कार्यालयों में लोअर डिवीजन क्लर्क (SSC के अलावा) में से अधिकांश संविदात्मक आधार पर भर्ती होते हैं, जो अपने काम में अच्छे प्रदर्शन के बाद, कार्यालय में स्थायी पद हांसिल कर लेते हैं। संबंधित विभाग में SSC CHSL परीक्षा के माध्यम से चुने गए लोअर डिवीजन क्लर्क को कुछ अनुभव प्राप्त करने के बाद अपर डिवीजन क्लर्क के पद पर प्रमोट कर दिया जाता है। इसके अलावा, उनको समयानुसार डिवीजन क्लर्क या डिवीज़न क्लर्क के प्रमुख के रूप में पदोन्नत भी किया जा सकता है.

SSC CHSL डेटा एंट्री ऑपरेटर पोस्ट की जॉब प्रोफाइल

डेटा एंट्री ऑपरेटर की पोस्ट इस परीक्षा से मिलने वाली एक अन्य पोस्ट हैं जो कि लोअर डिवीजन क्लर्क पोस्ट के अनुरूप है। इस पद के लिए चुने गए उम्मीदवारों को अंग्रेजी या किसी भी अन्य क्षेत्रीय भाषा का ज्ञान होना चाहिए और साथ ही उम्मीदवार को कार्यालयों में अधिकांशत: प्रयुक्त होनी वाली कंप्यूटर एप्लीकेशन का पर्याप्त ज्ञान व अच्छी टाइपिंग स्पीड भी होनी चाहिए. DEO किसी भी सरकारी कार्यालयों में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति होता हैं, जो दैनिक आधार पर स्टाफ से सम्बंधित आधिकारिक रिकॉर्डस को रखने और अन्य गतिविधियों के लिए जिम्मेदार होता हैं.एक DEO के पद पर, आपको प्रतिदिन निम्नलिखित कार्यों को करना होता हैं-

1. एक DEO के रूप में, आपको कम्प्यूटर डेटाबेस में सभी प्रासंगिक और महत्वपूर्ण आंकड़ों को अपडेट या पुन: प्रविष्ट कराना होता हैं इसमें कंपनियों की जानकारी, उनके उत्पादों, ग्राहकों और बिक्री रिपोर्टस का विवरण होता हैं.

2. आपको आन्तरिक श्रमिकों और कर्मचारियों के रिकॉर्ड को भी बनाना होता हैं। एक DEO को कंपनी की सभी उचित जानकारियों और आंकड़ों को स्कैन करना होता है ताकि इस डेटाबेस को संदर्भित करके भविष्य में इन जानकारियों का उपयोग जरूरत पड़ने पर किया जा सके।

3. इसके अलावा, लोअर डिवीजन क्लर्क की अनुपस्थिति में आपको कभी-कभीपत्राचार भी करना पद सकता हैं. DEO का वेतनमान लोअर डिवीज़न क्लर्क के समान ही होता हैं.

SSC CHSL परीक्षा को क्रैक करने की 100 दिन की योजना

इस पद के लिए आवेदन करने हेतु, उम्मीदवार की आयु 18 से 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए तथा साथ ही उसे 10+2 या स्नातक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के साथ-साथ अंग्रेजी या किसी भी क्षेत्रीय भाषा की टाइपिंग में निपुण होना चाहिए।

Advertisement

Related Categories