अब फोन रीचार्ज करवाने दुकान क्यों जाना जब है आपके पास ये एप

कोरोना वायरस के रहते, आज पूरा विश्व एक कठिन दौर से गुज़र रहा है। पर ऐसी स्थिति में हम खुद पर भरोसा करते हैं और आगे बढ़ने के लिए भरपूर प्रयास करते हैं। ऐसे में ज़रूरत है कि आप अपने भरोसे को मजबूती दें और एक सजग नागरिक की तरह विपत्ति की इस घड़ी में अपने दोस्तों और सगे-संबंधियों के साथ-साथ आम लोगों को भी जागरूक करें। अगर इस कठिन घड़ी से उबरना है तो हमें एकजुटता दिखानी होगी। एकजुटता इस बात की कि पूरी जिम्मेदारी के साथ हम अपने दायित्व का निर्वाहन करें और खुद के साथ-साथ दूसरों की भी मदद करें। संक्षेप में कहें तो जो ज़्यादा सक्षम है उसे जरूरतमंद लोगों की मदद करनी चाहिए।

जैसा कि हम सब जानते हैं, इस मुश्किल दौर से बाहर निकलने का बस एक ही रास्ता है, और वो है घर में रहना। लेकिन यह जितना आसान लगता है उतना है नहीं। घर में रहने का मतलब है बहुत से कामों का अधूरा रह जाना। इसमें फोन का रीचार्ज भी शामिल है। यह दिखने में छोटा उदाहरण है, लेकिन आज के समय में इसकी बहुत ज़्यादा जरूरत है, क्योंकि इसके जरिए आप अपनों से जुड़े रहते हैं। सबसे ज़रूरी बात ये है की रीचार्ज करने के लिए बाहर किसी दुकान पर भी जाने की जरूरत नहीं है। घर पर सुरक्षित रहकर आसानी से आप ऑनलाइन रीचार्ज कर सकते हैं! इसके लिए आप Airtel Thanks App को अपने स्मार्टफोन पर इंस्टॉल कीजिए। उसके बाद रीचार्ज टैब पर क्लिक कीजिये। फिर अपना मोबाइल नंबर डालकर जो भी रीचार्ज पैक पसंद हो उसे सेलेक्ट कीजिए। पेमेंट करने के साथ ही रीचार्ज हो जाएगा।

 

अगर आपने Airtel Thanks App के जरिए अपना फोन रीचार्ज कर लिया है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपका काम पूरा हो गया है। एक जिम्मेदार नागरिक की तरह आपको दूसरों की भी मदद करनी चाहिए। ये वो लोग हैं जो फोन पर इंटरनेट कोटा या बैलेंस खत्म होने पर रीचार्ज के लिए दुकान की ओर दौड़ते हैं। इनमें ड्राइवर, कुक, मेड, मज़दूर और रेहड़ी वाला आदि शामिल हैं। अगर आप सक्षम हैं तो Airtel Thanks App के जरिए इन लोगों को फोन (और DTH) रीचार्ज करने में मदद कर सकते हैं ताकि आपकी तरह ये भी घर में सुरक्षित रह सकें और अपनों से बातें कर सकें। इसके लिए आपको रीचार्ज करते वक्त Airtel थैंक्स एप में दूसरे शख्स का मोबाइल नंबर एंटर करना होगा। इसके बाद रीचार्ज अमाउंट एंटर करें और पेमेंट कर दें।क्योंकि जितनी जरूरत एक अच्छे नेटवर्क की हमें है, उतनी ही उन्हें भी है!

Note - This is Brand Desk content

Related Categories

NEXT STORY