करियर में तरक्की के लिए इंग्लिश लैंग्वेज पर ऐसे बनाएं अपनी पकड़

हमारे देश के संविधान की 8वीं अनुसूची में कुल 22 भाषाओँ को राष्ट्रीय भाषा का दर्जा प्राप्त है और 720 से अधिक बोलियां या डायलेक्ट्स यहां के लोग बोलते हैं. इसी तरह विश्व में लगभग 6500 भाषाएं बोली जाती हैं. इंग्लिश लैंग्वेज विश्व की सबसे ज्यादा बोली और समझी जाने वाली भाषाओँ में से एक है. पूरे विश्व में, मेंडरिन चाइनीज़ भाषा (1.1 बिलियन स्पीकर्स) के बाद इंग्लिश दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा (983 मिलियन स्पीकर्स) है. यूनाइटेड नेशन ऑर्गेनाइजेशन के चार्टर ने चाइनीज के बाद, इंग्लिश को दूसरी ऑफिशल इंटरनेशनल लैंग्वेज के तौर पर अपनाया है. इसी तरह, आजकल इंटरनेट पर 50% कंटेंट इंग्लिश लैंग्वेज में होता है.

भारत में आजादी मिलने के बाद से आज तक इंग्लिश लैंग्वेज का महत्व लगातार बढ़ा है और आगे आने वाले समय में भारत के साथ इंटरनेशनल लेवल पर भी इंग्लिश लैंग्वेज का यह महत्व कायम रहेगा. लेटेस्ट डाटा के मुताबिक, इंग्लिश भारत सहित लगभग 70 देशों की ऑफिशल लैंग्वेज है. ऐसे में यह सच है कि अगर हमें इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल है तो न सिर्फ हमें कोई सूटेबल जॉब सरलता से मिल जाती है बल्कि हम अपने करियर में लगातार तरक्की करते जाते हैं. कैसे? सबसे पहले तो हमें अपनी इंग्लिश लैंग्वेज में पकड़ बनानी होगी ताकि हम फ़्लूएंट इंग्लिश बोलकर और बिना किसी गलती के इफेक्टिव इंग्लिश लिखकर अपनी करियर लाइफ में आने वाले हरेक अवसर का पूरा फायदा प्राप्त करें. आइये इस पर चर्चा करें:

आखिर क्यों है हमारे लिए इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल करना जरुरी?

अक्सर हम यह महसूस करते हैं कि हमारी रोजमर्रा की लाइफ में स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी की एजुकेशन में इंग्लिश का काफी ज्यादा होता महत्व है. आप कोई एंट्रेंस एग्जाम जैसेकि, CAT, MAT, XAT, TET दें या किसी इंटर्नशिप/ जॉब के लिए किसी कॉम्पीटीटिव एग्जाम या इंटरव्यू में शामिल हों, आप इंग्लिश लैंग्वेज में प्रोफिशिएंसी का टेस्ट जरुर देते हैं और इंटरव्यू में भी आपकी इंग्लिश लैंग्वेज में महारत आंकी जाती है. अगर आप इंग्लिश बोलने और लिखने में कुशल हैं तो फिर आपकी पढ़ाई, ट्रेनिंग, इंटर्नशिप, जॉब और किसी भी प्रोफेशन के लिए  अनेक मौके आपको समय-समय पर मिलते ही रहते हैं.

वैसे तो हरेक लैंग्वेज का अपना विशेष महत्व होता है और सभी लैंग्वेजेज में स्कॉलर्स और शिष्ट लोगों की कोई कमी नहीं है तो भी, मॉडर्न डिजिटल और इंटरनेट की दुनिया में इंग्लिश बोलने वाले व्यक्ति को बहुत सभ्य, शिष्टाचारी, मॉडर्न, पढ़ा-लिखा और इंटेलीजेंट समझा जाता है. इंग्लिश हमारे देश की टॉपमोस्ट कम्युनिकेशन लैंग्वेज है. आइये इंग्लिश लैंग्वेज से मिलने वाले कुछ खास लाभों की चर्चा करें:

इंग्लिश लैंग्वेज में एक्सपरटाइज से मिलते हैं आपको अपने करियर में कई फायदे

अगर आप इंग्लिश लैंग्वेज में माहिर हैं तो आपको किसी भी ऑफिस में कोई भी काम सीखने में कभी दिक्कत नहीं हो सकती है क्योंकि अक्सर सभी सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों, कंपनियों और संगठनों में विभिन्न एडमिनिस्ट्रेटिव, टेक्निकल, कंटेंट डेवलपमेंट और फाइनेंस से संबद्ध काम अक्सर इंग्लिश लैंग्वेज में ही होते हैं. अगर आपका इंग्लिश लैंग्वेज स्किल सेट बढ़िया है तो आपको अपनी जॉब या करियर में लगातार तरक्की के मौके मिलते ही रहेंगे क्योंकि:

•    अगर आपको इंग्लिश बोलनी, लिखनी नहीं आती है तो अपने लिए कोई सूटेबल जॉब प्राप्त करना  आज के जमाने में आपके लिए एक चुनौती साबित होगा.
•    बढ़िया इंग्लिश स्किल्स का मतलब है बढ़िया नेगोशिएशन और कम्युनिकेशन स्किल्स.
•    इंग्लिश में माहिर एम्पलॉईज होते हैं ज्यादा स्मार्ट और प्रोफेशनल.
•    इंग्लिश लैंग्वेज हमारे लिए जॉब और करियर के कई मौके मुहैया करवाती है.
•    इंग्लिश इंटरनेट के लिए एक जरुरी लैंग्वेज है और तकरीबन सारी जानकारी हमें इंग्लिश में ही इंटरनेट में उपलब्ध होती है.
•    बढ़िया इंग्लिश स्किल सेट से आपको ‘सॉफ्ट पॉवर’ भी मिलती है.
•    बढ़िया इंग्लिश लैंग्वेज स्किल सेट आपको आकर्षक सैलरी पैकेज दिलवाने में मील का पत्थर साबित होता है.
•    इंग्लिश हमें मनोरंजन के ज्यादा साधन उपलब्ध करवाती है.
•    अच्छी इंग्लिश आने पर बढ़ता है हमारा आत्मविश्वास.

इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल करने के कुछ सरल टिप्स

आप सेल्फ-स्टडी के माध्यम से कैसे इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल कर सकते हैं? नीचे हमें आपकी सहूलियत के लिए कुछ खास लेकिन आसान टिप्स पेश किये हैं जिन्हें आजमा कर आप भी इंग्लिश लैंग्वेज में एक्सपर्ट बन सकते हैं:

•    कभी भी गलती करने पर न घबराएं और अपना आत्म विश्वास बनाए रखें.
•    अपने आस-पास इंग्लिश बोलने और लिखने से संबद्ध माहौल तैयार करें.
•    इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल करने तक, इंग्लिश बोलने और लिखने की रोजाना प्रैक्टिस करें.
•    इंग्लिश लैंग्वेज से संबद्ध 4 जरुरी स्किल्स – रीडिंग, राइटिंग, सेपकिंग और लिसनिंग की लगातार प्रैक्टिस करें.
•    इंग्लिश लैंग्वेज में अपनी काबिलियत की जांच करने के लिए समय-समय पर इंग्लिश लैंग्वेज के टेस्ट देते रहें.
•    इंग्लिश लैंग्वेज सीखने के लिए शॉर्ट-टर्म और लॉन्ग टर्म गोल्स निर्धारित करें.
•    लिखते और बोलते समय नये वर्ड्स का इस्तेमाल करें और रोजाना कुछ नए वर्ड्स सीखें.
•    अपने पास एक अच्छी डिक्शनरी जरुर रखें.
•    अच्छे राइटर्स का इंग्लिश लिटरेचर पढ़ें.
•    इंग्लिश लैंग्वेज से संबद्ध गेम्स/ वर्ड पज़ल्स खेलें.
•    समय-समय पर फीडबैक लेते रहें.

इंग्लिश लैंग्वेज लर्नर्स के लिए कुछ बढ़िया ऐप्स:

आजकल स्मार्ट फ़ोन्स का जमाना है और आप अपने स्मार्ट फ़ोन्स पर निम्नलिखित ऐप्स के माध्यम से बेहतरीन इंग्लिश सीख सकते हैं:

•    डयूलिंगो – फ्री लैंग्वेजेज सीखें
•    लर्न लैंग्वेजेज बुसू
•    मेमराइज – लर्न लैंग्वेजेज फ्री
•    क्यूलेंगो – लर्न लैंग्वेजेज इजीली
•    इम्प्रूव इंग्लिश – वर्ड गेम्स
•    लर्न इंग्लिश ग्रामर – (यूके एडिशन)
•    लर्न लैंग्वेज – रोसेट्टा स्टोन
•    लर्न इंग्लिश विद बेबल

कुछ प्रमुख इंग्लिश कोर्सेज

अगर आप इंग्लिश लैंग्वेज में कोई प्रोफेशनल कोर्स कर लें और कोई डिग्री/ डिप्लोमा या सर्टिफिकेट प्राप्त कर लें तो आपके पास इंग्लिश लैंग्वेज का बेहतरीन स्किल सेट होने के साथ – साथ सर्टिफिकेशन भी हो जाएगा जिससे आपके रिज्यूम में चार चांद लग जाएंगे और आगे करियर में तरक्की के अवसर निरंतर मिलते रहेंगे. इन कोर्सेज की लिस्ट निम्नलिखित है:

•    वेब्स टॉक के स्पोकन इंग्लिश और पब्लिक स्पीकिंग कोर्सेज
•    स्पोकन इंग्लिश और आईईएलटीएस/ पीटीई ट्रेनिंग प्रोग्राम
•    पेप टॉक स्किल्स
•    इनलिंगुआ के इंग्लिश कोर्सेज/ प्रोग्राम्स
•    बाफेल के 4 विभिन्न इंग्लिश लैंग्वेज कोर्सेज
•    ब्रिटिश काउंसिल के स्पेशली डिज़ाइंड स्पोकन इंग्लिश कोर्सेज
•    इंग्लिशमेट के प्रोफेशनल इंग्लिश कोर्सेज
•    ऑक्सफ़ोर्ड स्कूल ऑफ़ इंग्लिश के प्रोफेशनल इंग्लिश के नोवाईस, मेज्ज़ो और विज़ार्ड कोर्सेज प्रोग्राम्स  
•    एस इंस्टीट्यूट के बेसिक, इंटरमीडिएट और एडवांस्ड लेवल कोर्सेज  
•    न्यु अमेरिकन इंस्टीट्यूट के ब्रिटिश, अमेरिकन इंग्लिश स्पीकिंग कोर्सेज.

भारत में इंग्लिश लैंग्वेज कोर्सेज करवाने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स:इंग्लिश लैंग्वेज से संबद्ध हैं निम्नलिखित जॉब्स या करियर फ़ील्ड्स:

अगर हमें इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल करनी है और फिर, अगर हमारे पास अपनी योग्यता को साबित करने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज से संबद्ध कोई डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट है तो फिर, जॉब और करियर की राह में हमारी तरक्की को कोई नहीं रोक सकता है. नीचे हमारे देश के कुछ प्रमुख इंस्टीट्यूट्स की एक लिस्ट आपकी सहूलियत के लिए पेश है जहां एडमिशन लेकर आप इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल कर सकते हैं:

•    दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
•    जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
•    जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
•    सेंट ज़ेवियर कॉलेज, मुबई
•    अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़
•    बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बनारस
•    इग्लिश एंड फॉरेन लैंग्वेज यूनिवर्सिटी, हैदराबाद
•    ऑक्सफ़ोर्ड स्कूल ऑफ़ इंग्लिश
•    ब्रिटिश काउंसिल, दिल्ली  
•    इंग्लिश मेट, दिल्ली

इंग्लिश लैंग्वेज से संबद्ध हैं निम्नलिखित जॉब्स या करियर फ़ील्ड्स:

वैसे तो हमारे देश में आजकल तकरीबन हरेक नौकरी या करियर के लिए जॉब सीकर्स को इंग्लिश लैंग्वेज में महारत हासिल होनी चाहिए लेकिन आपकी सहूलियत के लिए नीचे हम मोटे तौर पर, इंग्लिश लैंग्वेज से संबद्ध कुछ खास जॉब या करियर फ़ील्ड्स दे रहे हैं:
•    केंद्र और राज्य सरकारों के विभिन्न मंत्रालयों, सभी सरकारी और गैर-सरकारी विभागों, दफ्तरों, कंपनियों और मल्टीनेशनल कंपनियों में ऑफिसर लेवल की जॉब्स.
•    एम्बेसियों में जॉब्स
•    राइटिंग एंड ट्रांसलेशन जॉब्स
•    मैनेजमेंट/ सेल्स एंड मार्केटिंग जॉब्स
•    एनाउंसर/ एंकर/ रेडियो जॉकी
•    टीवी एंड सोशल मीडिया जॉब्स
•    नेशनल/ इंटरनेशनल कॉल सेंटर्स में जॉब्स
•    मेडिकल लाइन में करियर
•    लॉ फील्ड
•    बैंक्स एंड फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट्स
•    टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी

जॉब, करियर और कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Popular

View More