हायरिंग एक्सपर्ट्स से जानिये कुछ कारगर इंटरव्यू टिप्स

जॉब इंटरव्यू देने से पहले अक्सर अधिकांश जॉब सीकर्स कुछ कंफ्यूज हो जाते हैं. काफी अच्छी तरह अपने जॉब इंटरव्यू की तैयारी करने के बाद भी जॉब सीकर कैंडिडेट्स को यह अनुमान नहीं होता है कि जॉब इंटरव्यू में हायरिंग एक्सपर्ट्स अचानक उनसे क्या पूछेंगे?. अब ये जॉब सीकर्स स्टूडेंट्स या फ्रेशर्स भी हो सकते हैं जो अभी शायद अपना पहला जॉब इंटरव्यू देने वाले हों. इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन की लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 18.6 मिलियन लोग बेरोजगार हैं और इस वर्ष यह संख्या 18.9 मिलियन तक पहुंचने की संभावना है. आजकल तकरीबन सभी कंपनियां अपनी कैंडिडेट्स सेलेक्शन प्रोसेस में भी दिन- ब-दिन बदलाव कर रही हैं. ऐसे बदलाव हम कैंडिडेट सेलेक्शन प्रोसेस के प्रत्येक लेवल पर देख सकते हैं जैसेकि, अगर हम जॉब इंटरव्यू पर ध्यान दें तो यह पाते हैं कि कई बार इंटरव्यूअर कैंडिडेट्स से ऐसे क्वेश्चन्स पूछ लेते हैं जो काफी कठिन होते हैं. अक्सर कैंडिडेट्स इंटरव्यू के दौरान ऐसे क्वेश्चन्स के  सूटेबल आंसर्स नहीं दे पाते हैं और इस वजह से कैंडिडेट्स को वह जॉब नहीं मिल पाती है. यहां हम आपके लिए हायरिंग एक्सपर्ट्स द्वारा बताये गए कुछ कारगर इंटरव्यू टिप्स पेश कर रहे हैं ताकि आप अपने अगले जॉब इंटरव्यू की काफी अच्छी तैयारी कर सकें और फिर, उस जॉब इंटरव्यू में  जरुर कामयाबी हासिल करें.

  • इंटरव्यू के लिए अच्छी तैयारी करना है जरुरी

कोई भी जॉब इंटरव्यू देने से पहले आप उसकी अच्छी तैयारी कर लें. इससे आपको अपने इंटरव्यू में सफलता मिलने की संभावना बढ़ जायेगी. दरअसल, इंटरव्यू के दौरान केवल आपके बेहतर रिज्यूम या सर्टिफिकेट के आधार पर ही आपको वह जॉब नहीं मिलती है बल्कि इंटरव्यू में आपकी ओवरऑल परफॉरमेंस के आधार पर ही आपको कोई जॉब मिलती है. इसलिए आपको अपने जॉब इंटरव्यू के लिए काफी अच्छी तैयारी करनी चाहिए. इंटरव्यू के आधार पर मिलने वाली जॉब्स अक्सर उन कैंडिडेट्स को मिल जाती हैं जिन्होंने अपने जॉब इंटरव्यू के लिए बढ़िया तरीके से अपना ‘होमवर्क’ किया हो क्योंकि ऐसे कैंडिडेट्स इंटरव्यू के दौरान सभी क्वेश्चन्स के समुचित जवाब देते हैं.

  • कंपनी के बारे में रिसर्च और अच्छी जानकारी हासिल करें

आजकल के इस इंटरनेट के दौर में, जब हरेक कंपनी की अपनी वेबसाइट होती है जिसमें कंपनी अपनी सारी महत्वपूर्ण डिटेल्स अपलोड और अपडेट करती रहती है, इंटरव्यूअर आपसे अपनी कंपनी के बारे में कुछ जरुरी प्रश्न पूछ सकते हैं. इसलिए, किसी भी कंपनी में जॉब इंटरव्यू देने से पहले आप उस कंपनी के बारे में गूगल पर अच्छी तरह रिसर्च कर लें और उस कंपनी की वेबसाइट से कंपनी के बारे में सारी महत्वपूर्ण जानकारी हासिल कर लें.  

  • सोशल मीडिया और नेटवर्किंग का करें बेहतरीन इस्तेमाल

आजकल एम्पलॉयर्स जॉब सीकर्स के सोशल मीडिया एकाउंट्स पर भी काफी ध्यान देते हैं. इसलिए, फेसबुक, इन्स्टाग्राम, ट्विटर और/ या लिंक्डइन में आपका प्रोफाइल लेटेस्ट और अट्रेक्टिव होना चाहिए. आप अपने स्किल-सेट, प्रोजेक्ट वर्क या टैलेंट को जाहिर करने के लिए अपने काम के सैंपल्स भी अपने प्रोफाइल के साथ अटैच कर सकते हैं. आप अपने मजबूत नेटवर्किंग लिंक्स का भी जॉब हासिल करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

  • इंटरव्यू के लिए जरुरी सामान अपने साथ जरुर लेकर जायें

जॉब इंटरव्यू देने के लिए आप अपना सीवी, रीसेंट फोटोग्राफ, आईडी प्रूफ जैसे आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस, वर्क एक्सपीरियंस सैंपल्स और सर्टिफिकेट, एकेडेमिक सर्टिफिकेट्स, एक्स्ट्रा-करीकुलर सर्टिफिकेट्स, 2-3 रेफ़रेंस डिटेल्स एंड लेटर्स, स्मार्ट फ़ोन, लैपटॉप, पेन, नोटपैड और कैलकुलेटर सहित जरुरी स्टेशनरी आइटम्स अपने साथ जरुर लेकर जायें.

एक और खास बात, इंटरव्यू के दिन, इंटरव्यू के निर्धारित समय से कम से कम आधा घंटा पहले आप इंटरव्यू लोकेशन पर जरुर पहुंच जायें.

  • इंटरव्यू के दिन फॉर्मल ड्रेस पहनें

इंटरव्यू के दिन आप फॉर्मल और अट्रेक्टिव ड्रेस पहने और अच्छी तरह से तैयार होकर जायें. आपके बाल सलीके से कॉम्ब्ड हों, बॉडी हेल्दी और साफ़-सुथरी लगे. एक्स्ट्रा मेक-अप या फैशनेबल ज्वैलरी का इंटरव्यू के दौरान नेगेटिव असर पड़ता है.

  • फेस पर स्माइल और कॉन्फिडेंस की झलक

फेस की फ्रेशनेस और स्माइल आपके कॉन्फिडेंस को दर्शाती है. इंटरव्यू के दौरान आप बैलेंस्ड एप्रोच के साथ शांतिपूर्वक सभी प्रश्नों के जवाब दें. अगर किसी प्रश्न का जवाब आपको नहीं पता तो घबराएं नहीं और न ही गलत उत्तर दें बल्कि ईमानदारी से बोल दें कि आप इस प्रश्न का जवाब नहीं जानते हैं. आपका ईमानदार रवैया और कॉन्फिडेंस आपको जॉब हासिल करने में पूरी मदद करते हैं.

  • अपना ब्रीफ लेकिन इफेक्टिव इंट्रोडक्शन देने की प्रैक्टिस है जरुरी

ज्यादातर कैंडिडेट्स सेल्फ-इंट्रोडक्शन में ऐसी जानकारियों को शामिल कर लेते हैं जिनका उन्होंने अपने रिज्यूम में जिक्र किया होता है. लेकिन, इस ‘ब्रीफ सेल्फ-इंट्रो’ में कुछ नया और रोचक न मिलने पर इंटरव्यूअर्स अक्सर कैंडिडेट्स को रिजेक्ट कर देते हैं. यह आप के साथ भी हो सकता है. इसलिए, जॉब इंटरव्यू में अपना इंट्रोडक्शन देते समय अपने स्किल्स, एक्सपर्टीज तथा नॉलेज के बारे में बताएं. आप किसी ऐसी घटना का भी जिक्र कर सकते हैं जिसने आपके करियर सेलेक्शन में निर्णायक भूमिका निभाई हो. इस तरह के जवाब से आप यह साबित करने में सफल हो सकते हैं कि आपमें उत्साह होने के साथ ही इस जॉब प्रोफाइल के लिए काफी रूचि भी है. इससे आपके इंटरव्यूअर्स जरुर प्रभावित होंगे. आप हरेक जॉब इंटरव्यू से पहले ब्रीफ सेल्फ-इंट्रोडक्शन की अच्छी प्रैक्टिस कर लें.

  • स्टोरी टेलिंग टेक्नीक से होते हैं इंटरव्यूअर्स इम्प्रेस

अगर आप स्टोरी टेलिंग टेक्नीक के माध्यम से इंटरव्यूअर को अपना परिचय दें या फिर किन्हीं महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दें तो इंटरव्यूअर को एहसास होगा कि आप एक पेशेवर होने के साथ ही एक बेहतर और दिलचस्प इंसान भी हैं. रिसर्च से अब यह बात साबित हो चुकी है कि स्टोरी टेलिंग का स्टाइल काफी दिलचस्प और इम्प्रेसिव होता है जिसका लिसनर्स पर पॉजिटिव इफ़ेक्ट पड़ता है और बातचीत समझने में आसान हो जाती है. लेकिन आपका स्टोरी टेलिंग स्टाइल लंबा और बोरिंग बिलकुल नहीं होना चाहिए.

  • अपने वर्क एक्सपीरियंस और जोश को करें जाहिर

आप अपनी स्पेशलाइजेशन फील्ड और वर्क एक्सपीरियंस को जरुर अपने इंटरव्यू में पूछे जाने वाले प्रश्नों के जवाब देते समय शामिल करें ताकि आपके टैलेंट और स्किल-सेट के बारे में इंटरव्यूअर को सही जानकारी मिल सके. लेकिन आप इस बात का पूरा ध्यान रखें कि यह वर्क एक्सपीरियंस आपके एप्लाइड जॉब प्रोफाइल के मुताबिक हो. आप अपने काम करने के जज्बे को भी इंटरव्यूअर के सामने जरुर जाहिर करें. इंटरव्यू के दौरान इंटरव्यूअर को कभी यह नहीं लगना चाहिए कि आपको उनके द्वारा ऑफर किए जा रहे जॉब प्रोफाइल में खास दिलचस्पी नहीं है.

  • इंटरव्यू के दौरान भावी एम्पलॉयर से उपयुक्त प्रश्न पूछें

अपने जॉब इंटरव्यू के आखिर में आप भी इंटरव्यूअर से अपने जॉब प्रोफाइल, एक्स्ट्रा-वर्क एक्सपेक्टेशन्स, टाइम शेड्यूल, इन्क्रीमेंट पॉलिसी आदि के बारे में विनम्रता से कुछ प्रश्न जरुर पूछें ताकि इंटरव्यूअर को संबंधित जॉब प्रोफाइल में आपके इंटरेस्ट और काम करने के जोश के बारे में मालूम हो जाए.  

  • भावी कंपनी की वेल्यूज़ को ध्यान में रखकर दें अपने जवाब

जिस कंपनी में आपने जॉब अप्लाई की है, उस कंपनी के विज़न और वेल्यूज़ के बारे में आप पहले से ही अच्छी जानकारी हासिल कर लें और फिर इंटरव्यू में पूछे जाने वाले हरेक क्वेश्चन का जवाब आप उस कंपनी के विज़न और वेल्यूज़ को ध्यान में रखकर ही दें. अगर आपको भावी कंपनी कल्चर का पता हो तो इंटरव्यूअर आपसे काफी इम्प्रेस हो जायेंगे.

  • सटीक उदाहरणों के साथ दे सभी प्रश्नों के उत्तर

यह सच है कि जॉब मार्केट में लगातार बढ़ते कॉम्पीटिशन के कारण ही आजकल इंटरव्यूअर्स अक्सर कैंडिडेट्स से दिमाग घुमा देने वाले क्वेश्चन्स पूछने लगे हैं, जिनका जवाब दे पाना कैंडिडेट्स के लिए अच्छी-खासी चुनौती बन जाता है और ये क्वेश्चन्स तब और मुश्किल हो जाते हैं जब कंपनी को किसी हायर पोजीशन के लिए कैंडिडेट का सेलेक्शन करना होता है. इन क्वेश्चन्स के जवाब देने में अक्सर कैंडिडेट खुद को असमर्थ पाते हैं. ऐसी किसी स्थिति में आपके लिए यह बेहतर रहेगा कि आप सटीक उदाहरण देते हुए इंटरव्यूअर द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्नों के आंसर्स दें. सटीक उदाहरण आप अपने आस-पास के परिवेश या देश-दुनिया के लेटेस्ट अफेयर्स और या हिस्ट्री के आधार पर दे सकते हैं. अगर आपने अपनी भावी कंपनी के बारे में इंटरव्यू से पहले काफी जानकारी हासिल कर ली है तो आप उस कंपनी से भी कुछ खास उदाहरण लेकर अपने आंसर्स दे सकते हैं.

  • लगातार प्रैक्टिस है सफलता का मूल मंत्र

बहुत बार किसी इंटरव्यू से पहले कैंडिडेट्स कई पूछे जा सकने वाले क्वेश्चन्स के जवाब अपने मन में सोच लेते हैं लेकिन जैसे ही इंटरव्यूअर आपसे ठीक वही क्वेश्चन पूछते हैं तो आप तुरंत और सही जवाब नहीं दे पाते. जबकि आपने अपने दिमाग में पहले से ही उस क्वेश्चन का जबाव सोच रखा था......ऐसा क्यों होता है अक्सर? इसका सबसे बड़ा कारण तो यह है कि हमने इंटरव्यू में शामिल होने से पहले एक्सपेक्टिंग क्वेश्चन्स के आंसर्स तो सोच लिए लेकिन उन आंसर्स को देने की प्रैक्टिस ऊंची आवाज़ में बोलकर नहीं की. आप शीशे के सामने खड़े होकर या अपने 2-3 दोस्तों के साथ मिलकर मॉक इंटरव्यू देने की लगातार प्रैक्टिस कर सकते हैं. आप अपने आंसर्स की रिकॉर्डिंग बार-बार सुनकर भी अपने आंसर देने के स्टाइल में सुधार कर सकते हैं.

  • इंटरव्यू के दौरान इम्प्रेसिव हो आपकी बॉडी लैंग्वेज

जी हां! यह सच है कि इंटरव्यू के दौरान आपकी बॉडी लैंग्वेज भी आपको अपने इंटरव्यू में सफलता या असफलता दिलवाती है. इंटरव्यूअर जब आपसे बात-चीत कर रहे होते हैं तो उस दौरान वे आपकी बॉडी लैंग्वेज पर भी अपना पूरा ध्यान देते हैं. इसलिए, अपने ड्रेसिंग स्टाइल के साथ ही आप अपने उठने, बैठने, चलने, बोलने और चेहरे के हाव-भाव अर्थात बॉडी लैंग्वेज पर भी पूरी नजर रखें और इंटरव्यू देने से पहले ही प्रैक्टिस के माध्यम से अपनी बॉडी लैंग्वेज को इम्प्रेसिव बना लें.

  • थैंक्स गिविंग ईमेल

इंटरव्यू देने के बाद आप अपने इंटरव्यूअर या हायरिंग रिसोर्स को एक थैंक्स गिविंग ईमेल जरुर भेजें और इस ईमेल में आप उन पॉइंट्स को मेंशन कर सकते हैं जो आप इंटरव्यू के दौरान डिस्कस नहीं कर पाए. आप इंटरव्यूअर से मिले मोटिवेशन के लिए भी उन्हें धन्यवाद दें और बताएं कि इस इंटरव्यू से आपने अपने अगले इंटरव्यू की तैयारी के लिए काफी प्रेरणा हासिल की है.

  • कभी हार न मानें और करें एक नई शुरुआत

अगर किन्ही कारणों से आपको अपने इंटरव्यू में सफलता नहीं मिली तो बिलकुल भी परेशान और निराश न हों और अपने अगले जॉब इंटरव्यू के लिए पूरे जोश से तैयारी करनी शुरू कर दें. आप लगातार मेहनत करके एक दिन अपनी ड्रीम जॉब जरुर हासिल कर लेंगे.  

अगर आप उक्त टिप्स के मुताबिक अपने इंटरव्यू की तैयारी करेंगे तो आपको अपने पहले ही इंटरव्यू या फिर अगले जॉब इंटरव्यू में जरुर कामयाबी मिलेगी और आप अपनी मनचाही जॉब हासिल कर लेंगे. हमारी शुभकामनायें आपके साथ हैं.  

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटी, के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

Related Categories

Popular

View More