जानें SSC CHSL परीक्षा के द्वारा कौन कौन से पदों पर होती है भर्ती एवं क्या चाहिए आवश्यक योग्यता

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) भारत में सरकारी नौकरी भर्ती परीक्षाओं का आयोजन करने वाले महत्वपूर्ण संगठनों में से एक है. सरकारी विभागों में रिक्त हजारों पदों पर योग्य उम्मीदवारों के चयन के लिए SSC हर वर्ष परीक्षा का आयोजन करती है. भारत में करियर के रूप में सरकारी नौकरी युवाओं की पहली पसंद होती है. सरकार देश में सरकारी संगठनों का और भी विकास करने के लिए प्रयासरत है जिससे देश के हर व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं की पहुँच सुगमता से हो सके. ऐसा करने के लिए आने वाले वर्षों में लाखों नौकरियां के लिए भर्ती करना आवश्यक हो जायेगा. SSC देश की अग्रणी भर्ती संगठन है जो भारत में लाखों छात्रों को हर वर्ष रोजगार प्रदान करता है. कर्मचारी चयन आयोग (SSC) भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों/विभागों/संगठनों में भर्ती के लिए हर साल संयुक्त उच्च माध्यमिक स्तर (CHSL) परीक्षा आयोजित करता है.

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए संयुक्त उच्च माध्यमिक स्तर (CHSL, 10 + 2) परीक्षा आयोजित करता है-

SSC CHSL परीक्षा
SSC CHSL परीक्षा 3 चरणों (टीयर) में आयोजित की जाती है. जहां पहला ऑनलाइन होता है, जबकि बाकी दो ऑफ़लाइन परीक्षा हैं. SSC CHSL परीक्षा के लिए आवेदन पूरी तरह ऑफिशियल वेबसाइट से ऑनलाइन होती है. उम्मीदवार को SSC CHSL परीक्षा के अगले चरण में जाने के लिए प्रत्येक चरण उत्तीर्ण होना आवश्यक होता है.

SSC CHSL परीक्षा पैटर्न:
कर्मचारी चयन आयोग (SSC) 2016 से विभिन्न पदों के लिए तीन स्तरों में संयुक्त उच्च माध्यमिक स्तर (CHSL) आयोजित कर रही है-
टीयर- प्रकार - मोड
टियर-1- ऑब्जेक्टिव मल्टीपल च्वाइज़ - कंप्यूटर
टियर -2- अंग्रेजी/हिंदी में द्वितीय वर्णनात्मक पेपर- पेन और पेपर मोड
टीयर-3- स्किल टेस्ट/कंप्यूटर प्रवीणता टेस्ट- जहां लागू हो

SSC CHSL की तैयारी शुरू करने से पहले, परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम में परिवर्तनों को ध्यान में रखना महत्वपूर्ण है. 2016 से लागू होने वाले SSC CHSL परीक्षा पैटर्न में वर्ष 2017 में संशोधन किये गये है. 2017 का संशोधित पाठ्यक्रम की जानकारी हम आपको नीचे दे रहे हैं-

चूंकि SSC CHSL परीक्षा का आयोजन 3 विभिन्न चरणों में होगा,  इसलिए हमें जरुरत है हर चरण की परीक्षा की तैयार संतुलन के साथ किया करने की.
यह एक ऑब्जेक्टिव परीक्षा है जो ऑनलाइन आयोजित की जाएगी. SSC CHSL 2017 की टीयर 1 परीक्षा में 4 अनुभाग हैं, जिसमें 100 प्रश्न हैं, जो कुल 200 अंकों के लिए है. विषयवार विवरण नीचे दिए गए हैं:
खंड -विषय -प्रश्न – प्रश्नों की संख्या -अधिकतम अंक -परीक्षा अवधि

  1. सामान्य बुद्धि और तर्क -25 -50 -60 मिनट
  2. सामान्य जागरूकता -25 -50
  3. मात्रात्मक योग्यता -25 -50
  4. अंग्रेजी समझ -25 -50

कुल 100  -200

SSC CHSL टीयर 1 सिलेबस
जनरल इंटेलीजेंस और रीजनिंग

क्वांटिटेटिव एबिलिटी:-

अंग्रेजी भाषा:-

जनरल अवेयरनेस:-

महत्वपूर्ण बिंदु:

SSC CHSL टीयर 2 का सिलेबस:
यह एक वर्णनात्मक परीक्षा है जिसे अंग्रेजी/हिंदी में उम्मीदवारों के लिखित कौशल का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया गया है. पेपर में 200-250 शब्दों का निबंध और लगभग 150-200 शब्दों का पत्र/ आवेदन लेखन शामिल होगा. टियर -2 में न्यूनतम योग्यता अंक 33 प्रतिशत होंगे. इसकी तैयार करने का सबसे अच्छा और आसान तरीका विभिन्न अख़बारों से बहुत सारे लेखों को पढ़ते रहना है.

महत्वपूर्ण बिंदु:

SSC CHSL टीयर 3 परीक्षा सिलेबस:
SSC CHSL परीक्षा 2017 टीयर 3 में कुछ कौशल परीक्षण शामिल हैं, जो कि कुछ सरकारी पदों के लिए आवश्यक हैं.

डेटा एंट्री ऑपरेटर (डीईओ) के लिए कौशल टेस्ट:

डाक सहायक/छंटनी सहायक एलडीसी और कोर्ट क्लर्कों के लिए टाइपिंग टेस्ट:

नोट: कौशल परीक्षण या टाइपिंग टेस्ट के बाद, उन उम्मीदवारों को जो कि योग्यता प्राप्त करते हैं, मेरिट सूची में उनकी पोजीशन के आधार पर नियुक्त किया जाएगा.

SSC CHSL पात्रता मानदंड:
तीन महत्वपूर्ण मानदंड हैं, जो एक उम्मीदवार को SSC CHSL परीक्षा के लिए पात्र होने के लिए पूरा करना होगा. 3 पैरामीटर नीचे दिए गए हैं:

  1. नागरिकता: उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए.
  2. आयु सीमा: 01.01.2017 को 18-27 वर्ष (उम्मीदवार का जन्म 01-01-1999 के बाद,या 02-01-1990 के पहले न हो).
  3. शैक्षिक योग्यता: अभ्यर्थियों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 12 वीं कक्षा या समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है.

Related Categories

NEXT STORY