Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

भारत में हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA करके शुरू करें अपना शानदार करियर

Anjali Thakur

बेशक “मनुष्य का सबसे बड़ा धन उसका स्वस्थ शरीर होता है.” साधारण इंसान भी अक्सर यह कहते हैं कि स्वास्थ्य हजार नियामत है. भारत में पिछले कुछ वर्षों में हेल्थ केयर इंडस्ट्री में 25% की विकास दर देखी गई है. इस वजह से यकीनन भारत में हेल्थ केयर सेक्टर में जॉब्स की भरमार हो जायेगी. देश-दुनिया में अब हेल्थ केयर सेक्टर और हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में हाइली क्वालिफाइड प्रोफेशनल्स की मांग लगातार बढ़ती ही जा रही है. इसलिए अगर आप MBA की डिग्री हासिल करके अपना करियर शुरू करना चाहते हैं और आपको हेल्थ और हॉस्पिटल लाइन के कामकाज में भी गहरी दिलचस्पी है तो आप हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA की डिग्री हासिल करके इस फील्ड में अपनी ड्रीम जॉब हासिल करने का प्रयास जरुर कर सकते हैं. आपकी सुविधा के लिए हम इस आर्टिकल में MBA - हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी पेश कर रहे हैं. आइये आगे पढ़ें यह आर्टिकल:

MBA – हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन अर्थात MBA की डिग्री एक पोस्टग्रेजुएशन कोर्स है. यह प्रोग्राम फ्रेश मैनेजमेंट स्टूडेंट्स के साथ-साथ मेडिकल लाइन से संबद्ध विभिन्न प्रोफेशनल्स भी कर सकते हैं क्योंकि हमारे देश में विभिन्न हॉस्पिटल्स में एडमिनिस्ट्रेशन के लिए ट्रेंड प्रोफेशनल्स की काफी ज्यादा मांग है जो लगातार बढ़ रही है. असल में, हेल्थकेयर फील्ड में MBA की डिग्री से कैंडिडेट्स हेल्थकेयर इंडस्ट्री की सभी एक्टिविटीज को सपोर्ट करने के काबिल बन जाते हैं क्योंकि इस कोर्स के तहत स्टूडेंट्स को केस स्टडी और ग्रुप असाइनमेंट्स के मेथड से पढ़ाया जाता है. आमतौर पर हमारे देश में फुल टाइम MBA प्रोग्राम कोर्सेज की अवधि 2 वर्ष है लेकिन पार्ट टाइम प्रोग्राम्स में ये कोर्सेज 3 वर्ष की अवधि में भी पूरे किये जा सकते हैं क्योंकि इन कोर्सेज में अक्सर वर्किंग स्टूडेंट्स ही एडमिशन लेते हैं. इसी तरह INSEAD विभिन्न प्रोफेशनल्स के लिए 1 वर्ष की अवधि का MBA प्रोग्राम ऑफर करता है. 

Trending Now

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA करने के बाद स्टूडेंट्स को एथिकल इश्यूज, इकनोमिक एंड पॉलिसीज के साथ ही डिसिजन मेकिंग के बारे में जानकारी और समझ मिल जाती है. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA करने के दौरान स्टूडेंट्स निम्नलिखित टॉपिक्स के बारे में अच्छी जानकारी और काबिलियत प्राप्त करते हैं:

भारत में हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर का जॉब प्रोफाइल

एक हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर का प्रमुख काम यह सुनिश्चित करना होता है कि जिस हॉस्पिटल में वह जॉब कर रहा है, उस हॉस्पिटल का सारा कामकाज सुचारू रूप से चलता रहे. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर अपने हॉस्पिटल के फाइनेंशियल आस्पेक्ट्स की देख-रेख करता है. हम किसी हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर के रोजाना के काम को निम्नलिखित प्वाइंट्स में रेखांकित कर सकते हैं:

भारत के प्रमुख MBA इंस्टीट्यूट्स

MBA – हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन: प्रमुख रिक्रूटिंग इंडस्ट्रीज

भारत में हेल्थकेयर सेक्टर के टॉप रिक्रूटर्स

भारत में MBA – हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स

भारत में MBA हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर्स का सैलरी पैकेज

आमतौर पर हमारे देश में किसी हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर की एवरेज सैलरी रु. 414,536/- सालाना होती है. शुरू में इस फील्ड में किसी फ्रेशर को एवरेज सैलरी पैकेज रु. 1.5 लाख से रु. 3.5 लाख तक सालाना मिल सकता है. हरेक अन्य पेशे और करियर फील्ड की तरह ही इस फील्ड में भी गुजरते हुए समय और बढ़ते हुए कार्य अनुभव के साथ सैलरी पैकेज में इजाफ़ा होता रहता है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए भारत में उपलब्ध हैं ये वोकेशनल कोर्सेज

भारत में फाइनेंस की फील्ड में आपके लिए उपलब्ध हैं ये नए करियर ऑप्शन्स

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग: भारत में टॉप कोर्सेज और करियर स्कोप

 

Related Categories

Live users reading now