एचआरडी मिनिस्ट्री, भारत सरकार ने जारी की कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए डिजिटल लर्निंग रिसोर्सेज की लिस्ट

आज पूरा संसार कोविड 19 की चपेट में है और इस विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे महामारी घोषित कर दिया है. ऐसे में, कोरोना वायरस से जूझ रही दुनिया के अधिकतर देश अपने कई शहर लॉक डाउन कर रहे हैं और इस लॉक डाउन के दौरान संबद्ध शहर में कुछ अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी आर्थिक, सामाजिक गतिविधियों को बंद कर दिया जाता है. इसमें स्कूल-कॉलेज की क्लासेज, एग्जाम, कॉम्पीटीटिव एग्जाम्स और जॉब इंटरव्यूज़ भी शामिल हैं.

हमारे देश में भी इन दिनों फिलहाल 31 मार्च तक देश के कई बड़े शहरों को लॉक डाउन कर दिया गया है. अब देश में अधिकतर स्कूलों में तो स्टूडेंट्स के फाइनल एग्जाम्स हो चुके हैं लेकिन बोर्ड के कुछ एग्जाम्स अभी कैंसिल कर दिए गये हैं और इसी तरह, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स की क्लासेज भी 31 मार्च तक नहीं लगेंगी. इतना ही नहीं, अन्य सभी एजुकेशनल एक्टिविटीज़ को भी यूजीसी के हाल ही के निर्देश के मुताबिक 31 मार्च तक स्थगित कर दिया गया है.

एचआरडी मिनिस्ट्री, भारत सरकार का भारत के स्कूल और कॉलेज के स्टूडेंट्स को तोहफ़ा: ई-लर्निंग रिसोर्सेज

लेकिन, जैसाकि हम सभी यह अच्छी तरह जानते हैं कि हमारे देश के विभिन्न कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज़ में अब टर्म-एंड/ सेमिस्टर एग्जाम्स होने वाले हैं. ऐसे में, स्टूडेंट्स के लिए क्लासेज या एकेडमिक गाइडेंस बहुत जरुरी है. ऐसे में, भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट ने कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए डिजिटल लर्निंग के लिए ई-लर्निंग रिसोर्सेज की एक लिस्ट जारी की है. स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर तो यह है कि स्टूडेंट्स इन ई-लर्निंग रिसोर्सेज को फ्री ऑफ़ कॉस्ट इस्तेमाल कर सकते हैं.

जानिये ऑनलाइन लर्निंग के लिए कौन-सी हैं 5 बेहतरीन वेबसाइट्स ?

स्वयं ई-लर्निंग पोर्टल

भारत सरकार ने 01 फरवरी, 2017 को अपने बजट सेशन के दौरान संसद में ऑनलाइन एजुकेशन पोर्टल ‘स्वयं’ को शुरू करने के बारे में घोषणा की थी. स्वयं ई-लर्निंग पोर्टल भारत में ही आईटी प्लेटफ़ॉर्म द्वारा तैयार किया गया है और इस पोर्टल में भारत के स्कूलों की 9वीं क्लास से यूनिवर्सिटी लेवल के पोस्ट ग्रेजुएशन तक के स्टूडेंट्स के लिए सभी विषयों के ऑनलाइन कोर्सेज उपलब्ध करवाए गए हैं. यह भी स्कूल-कॉलेज के सभी स्टूडेंट्स के लिए एक खुशखबरी है कि मिनिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट, भारत सरकार और ऑल इंडियन काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन के सहयोग से स्टूडेंट्स को फ्री ऑनलाइन कोर्सेज करवाने के लिए तैयार किया गया है जिसे भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने 09 जुलाई, 2017 को लॉन्च किया था. देश के विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज़ में पढ़ने वाले सभी स्टूडेंट्स स्वयं पोर्टल पर 2 हजार से ज्यादा ऑनलाइन कोर्सेज फ्री ऑफ़ कॉस्ट कर सकते हैं और कोर्स पूरा होने के बाद नाममात्र की फीस देकर सर्टिफिकेट भी हासिल कर सकते हैं.

MOOC कोर्सेज: ये कोर्सेज हैं स्टूडेंट्स के लिए काफी महत्वपूर्ण और लोकप्रिय

स्वयं प्रभा ई-लर्निंग रिसोर्स

यह भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट की एक अन्य पहल है जिसमें 32 ‘डायरेक्ट टू होम’ (DTH) चैनल्स 24x7 आधार पर स्टूडेंट्स के लिए हाई क्वालिटी के एजुकेशनल प्रोग्राम टेलीकास्ट करते हैं और इसके लिए GSAT-15 सेटेलाइट का इस्तेमाल किया जा रहा है. सबसे अच्छी बात तो यह है कि रोज़ाना इस ई-लर्निंग रिसोर्स में स्टूडेंट्स के लिए 4 घंटों की अवधि का नया लर्निंग कंटेंट टेलीकास्ट किया जाता है जिसे उस रोज़ 5 बार और दोहराया जाता है ताकि स्टूडेंट्स अपनी सुविधा के मुताबिक वह टेलीकास्ट देखकर उस लर्निंग प्रोग्राम से लाभ उठा सकें. इस ई-लर्निंग पोर्टल के लिए  देश के सुप्रसिद्ध एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स – यूजीसी, इग्नू, आईआईटीज़, सीईसी, एनसीईआरटी  और एनआईओएस एजुकेशनल कंटेंट तैयार करते हैं.

ऑनलाइन लर्निंग: कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए मॉडर्न और फायदेमंद कॉन्सेप्ट

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

NEXT STORY