कक्षा 10 NCERT गणित: चैप्टर 13; पृष्ठीय क्षेत्रफल और आयतन

UP बोर्ड के छात्रों के लिए हम यहाँ ncert गणित विषय के अध्याय 13 “पृष्ठीय क्षेत्रफल और आयतन” का पूरा पीडीऍफ़ हिंदी में उपलब्ध करा रहे हैं. छात्रों को यहाँ गणित के अध्याय को हिंदी में उपलब्ध कराने का उद्देश्य यह है कि वह आसानी से इस अध्याय को अच्छी तरह समझ कर अपनी प्रैक्टिस शुरू कर सकें. गणित एक ऐसा विषय है जिसमें छात्र अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं लेकिन इसके लिए छात्रों का सभी अध्यायों पर अच्छी पकड़ होना अति आवश्यक है.

ncert का पूरा पाठ्यक्रम UP बोर्ड में शामिल करने से कई लाभ हैं या फिर हम यह भी कह सकते हैं कि ncert की किताबें तथा ncert का पूरा पाठ्यक्रम छात्रों अकादमिक स्तर पर एक बड़ी भूमिका निभाती है. यहाँ हम आपको ncert के किताबों के कुछ मुख्य विशेषताओं के बारे में भी बताएंगे ताकि छात्रों को पूरी तरह यह समझ आ जाएं की इस नए सत्र के बदले पाठ्यक्रम की किताबें उनके लिए किस प्रकार सहयोगी साबित होने वाली हैं:

 

1. ncert की किताबें दुसरे किताबों की तुलना में साधारण भाषा में प्रकाशित की जाती हैं जिस कारण छात्रों के लिए टॉपिक्स को समझना दुसरे रेफ़रेंसबुक की तुलना में ज्यादा आसान होता है.

2. किसी भी काम्प्लेक्स/जटिल विषय को समझने के लिए ncert की किताबें ज्यादा लाभप्रद होती हैं. कॉन्सेप्ट्स को अच्छी तरह क्लियर करना हो या किसी विशेष टॉपिक पर कोई डाउट हो तो वह आसानी से ncert के ज़रिए आप समझ सकते हैं क्यूंकि इसमें टॉपिकस का आसान तथा संक्षिप्त विवरण होता है.

3. ncert की किताबें सीबीएसई का पूरा पाठ्यक्रम कवर करती हैं तो छात्रों को एग्जाम की तैयारी और अपना सिलेबस पूरा करने के लिए अन्य प्रकार की किताबों की आवश्यकता नहीं पड़ती है.

4. एग्जाम के समय अन्य बुक्स की तुलना में यदि आप ncert की बुक्स से तैयारी करते हैं तो वह ज्यादा आसान होता है तथा आपके समय की भी बचत होती है.

5. ncert के किताबों में हर एक अध्याय के अंत में विभिन्न प्रकार के प्रश्न छात्रों को उपलब्ध कराएँ जाते हैं जिनको यदि छात्र अच्छी तरह प्रैक्टिस करें तो उनकी उस अध्याय पर कांसेप्ट तो क्लियर होती ही है साथ ही एग्जाम में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं यह भी पता चलता है.

कक्षा 10 NCERT गणित: चैप्टर 12; वृतों से सम्बंधित क्षेत्रफल

छात्रों को सलाह है कि वह दिए गए पूरे चैप्टर को अच्छी तरह समझ कर तथा हल किए हुए उदाहरणों के प्रैक्टिस के बाद अंत में उपलब्ध कराए प्रश्नों को भी अच्छी तरह प्रैक्टिस करें. ताकि वह ज्यादा से ज्यादा टॉपिक्स को अच्छी तरह समझ सकें. यहाँ हम आपको अध्याय 13 के कुछ महत्वपूर्ण टॉपिक्स से भी अवगत करायेंगे ताकि चैप्टर पढ़ते समय छात्र अच्छी तरह दिए गएँ सभी टॉपिक्स को कवर कर सकें.

1. ठोसों के संयोजन का पृष्ठीय क्षेत्रफल

2. ठोसों के संयोजन का आयतन

3. एक ठोस का एक आकार से दुसरे आकर में रूपांतरण

4. शंकु का छिन्नक

पूरे चैप्टर को प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x