JagranJosh Education Awards 2022 - Nominations Open!
Next

इंडियन प्राइवेट बैंकिंग में प्रोफेशनल्स के लिए बेहतरीन करियर्स और ग्रोथ प्रॉस्पेक्ट्स

Anjali Thakur

इंडियन इकनोमिक स्टेबिलिटी का गोल हासिल करने के साथ ही, यहां बैंकिंग सेक्टर ने भी सतत विकास किया है. भारत में इस समय बैंकिंग सेक्टर में सरकारी और प्राइवेट सेक्टर, दोनों ही अपनी एक्टिव भूमिका निभा रहे हैं. वर्तमान में भारत में 27 सार्वजानिक क्षेत्र के बैंक्स और कुल 93 कमर्शियल बैंक्स हैं. इसी तरह, वर्तमान में हमारे देश के बैंकिंग सेक्टर की लगभग 8.5% सालाना ग्रोथ रेट है जिससे पता चलता है कि भारत में फाइनेंशियल/ बैंकिंग सेक्टर में स्थिर ग्रोथ रेट है. इंडियन प्राइवेट बैंकिंग सेक्टर में सैलरी पैकेजेस भी काफी आकर्षक हैं और बैंकिंग सेक्टर के कर्मचारियों को काम करने के अच्छे माहौल के साथ कई किस्म की जीवनोपयोगी फैसिलिटीज भी मिलती हैं. ऐसे अनेक कारणों से इंडियन बैंकिंग सेक्टर की सभी जॉब्स हमेशा से यंगस्टर्स और प्रोफेशनल्स के बीच काफी लोकप्रिय रही हैं. 

भारत में विभिन्न प्राइवेट बैंक भारतीय बैंकिंग सेक्टर के ऐसे महत्वपूर्ण हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हैं जो प्राइवेट तथा पब्लिक सेक्टर से मिलाकर बना है.  प्राइवेट बैंक ऐसे बैंक होते हैं जिनमें शेयर या इक्विटी की अधिक से अधिक हिस्सेदारी प्राइवेट शेयर होल्डर्स के अधिकार में होती है तथा सरकार का इस पर कोई अधिकार नहीं होता है.

इंडियन प्राइवेट बैंकिंग के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी

हमारे देश में वर्ष 1993 में बैंकिंग प्रणाली में अधिक उत्पादकता और कुशलता लाने के लिए भारतीय बैंकिंग प्रणाली में प्राइवेट सेक्टर को नए बैंक खोलने की अनुमति दी गई. प्राइवेट सेक्टर के इन बैंकों के लिए  निम्नलिखित न्यूनतम शर्तों का अनुपालन करना अनिवार्य है:

Trending Now

टॉप इंडियन प्राइवेट बैंक्स

इस समय भारत में तकरीबन 22 बैंक प्राइवेट सेक्टर के तहत कार्यशील हैं और टॉप प्राइवेट बैंकों की एक लिस्ट निम्नलिखित है:  

भारत के किसी प्राइवेट बैंक में करियर्स के लिए जरुरी एजुकेशन और एलिजिबिलिटी

हमारे देश में विभिन्न बैंकिंग जॉब्स में अप्लाई करने के लिए स्टूडेंट्स ने:

  1. नाबार्ड (नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट) ग्रेड ए और बी ऑफिसर
  2. एसबीआई (स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया) पीओ
  3. एसबीआई क्लर्क
  4. आरबीआई (रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया) ग्रेड बी ऑफिसर
  5. आईबीपीएस (इंस्टीट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन) पीओ
  6. आईबीपीएस क्लर्क
  7. आरबीआई ऑफिस असिस्टेंट

इन टॉप इंडियन एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स से करें बैंकिंग के विभिन्न कोर्सेज

भारत में आप निम्नलिखित एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स से बैंकिंग से संबंधित विभिन्न डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्सेज कर सकते हैं:

इंडियन प्राइवेट बैंक्स में प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स

हमारे देश में अर्थव्यवस्था के सतत विकास के साथ ही बैंकिंग सेक्टर को भी लगातार बढ़ावा मिल रहा है. ऐसे में, देश के विभिन्न सरकारी और प्राइवेट बैंकों में भी कई करियर ऑप्शन्स/ जॉब प्रोफाइल्स उपलब्ध हैं जो इंटरनेट, डिजिटलीकरण और ई-बैंकिंग के कारण और ज्यादा महत्वपूर्ण होते जा रहे हैं. हमारे बैंकिंग सेक्टर में अब प्रोबेशनरी ऑफिसर, क्लर्क और सपोर्ट स्टाफ के अलावा भी कई आकर्षक और विशेष करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं जैसेकि:

ये पेशेवर अपनी बैंक ब्रांच के ओवर-ऑल इंचार्ज होते हैं जो बैंक के समस्त कामकाज और सुचारू संचालन के लिए जिम्मेदार होते हैं. क्लाइंट्स अपनी विभिन्न समस्याओं और बैंकिंग सेवाओं में किसी भी प्रकार की कमी के बारे में इन्हें अवगत करा सकते हैं.  

ये पेशेवर अपने क्लाइंट्स के लिए बैंक में कैश की व्यवस्था करते हैं और बैंक के कैश फ्लो को बनाये रखने के साथ ये पेशेवर क्लाइंट्स की कैश नीड्स, लागत, लाभ और जोखिम का विश्लेषण करके कैश के संबंध में बैंक की नीतियां निर्धारित करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं.

ये पेशेवर संबद्ध बैंक के क्लाइंट्स और कॉर्पोरेट क्लाइंट्स के लोन से संबंधित सभी कामकाज संभालते हैं. ये पेशेवर अपने बैंक क्लाइंट्स का इंटरव्यू लेकर लोन हासिल करने के लिए क्लाइंट्स की एलिजिबिलिटी का पता करते हैं और बैंक की बैलेंस शीट का मुल्यांकन भी करते हैं.

ये पेशेवर नेशनल और इंटरनेशनल लेवल के बड़े ब्रांड्स और कॉर्पोरेट हाउसेस को उनकी जरूरत के मुताबिक बैंकिंग सर्विसेज और बैंक फैसिलिटीज़ उपलब्ध करवाते हैं.

ये पेशेवर अपने बैंक में पब्लिक डीलिंग से संबद्ध सभी कामकाज देखते हैं. बैंक के क्लाइंट्स को लेन-देन के सभी किस्म के कार्यों में मदद देने के साथ-साथ ये पेशेवर बैंक क्लाइंट्स को सारी जरुरी जानकारी और विभिन्न बैंक प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की जानकारी भी प्रदान करते हैं.

भारत के प्राइवेट सेक्टर बैंक्स में कॉमन जॉब हायरार्की:

हमारे देश में प्राइवेट सेक्टर के बैंक्स में विभिन्न करियर ऑप्शन्स और जॉब प्रोफाइल्स के लिए आमतौर पर निम्नलिखित हायरार्की लेवल होता है. हालांकि, अलग-अलग बैंकों में विभिन्न पोस्ट्स के लिए अलग पदनाम या डेसिग्नेशन हो सकते हैं:

इंडियन प्राइवेट बैंकिंग सेक्टर में सैलरी पैकेज

हमारे देश में प्राइवेट बैंक्स में पेशेवरों को उनकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन, वर्क एक्सपीरियंस और जॉब प्रोफाइल के मुताबिक सैलरी पैकेज दिया जाता है. किसी सीनियर लेवल के ऑफिसर को एवरेज 12 – 15 लाख रुपये सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है तो मिडल लेवल के ऑफिसर को एवरेज 8 -10 लाख सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है. क्लर्क को भी एवरेज 4 – 6 लाख रुपये का सालाना सैलरी पैकेज मिलता है. इसी तरह सपोर्ट स्टाफ जैसेकि अटेंडेंट आदि को भी एवरेज 15 – 18 हजार रुपये मासिक वेतन मिलता है.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, प्रोफेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.  

अन्य महत्तवपूर्ण लिंक

बैंकिंग सेक्टर में जॉब पाने के लिए कुछ जरूरी स्किल्स

भारत में हाईएस्ट पेइंग एमबीए जॉब्स

जॉब सर्च कर रहे हैं तो अपनायें ये पाँच तरीके, जल्द मिल सकती है सफलता

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश

Related Categories

Live users reading now