जॉब सीकर्स जरुर करवाएं अपने रिज्यूम का प्रोफेशनल क्रिटिकल एग्जामिनेशन

हमारे देश में आजकल भी बहुत कम लोग किसी पेशेवर रिज्यूम राइटर के द्वारा अपना रिज्यूम लिखवाना या उनके द्वारा अपने रिज्यूम को रिव्यु करवाना पसंद करते हैं. अधिकांश लोग इसे व्यावहारिक नहीं समझते. कारण? आसान शब्दों में, पेशेवर रिव्यु करवाने के लिए बहुत ज्यादा पैसा खर्च करने के बाद भी इसकी कोई गारंटी नहीं होती है कि आपका रिज्यूम आपको अपनी पसंद की नौकरी दिलवा ही देगा. लेकिन, अब जमाना काफी बदल चुका है और आपको हरेक जॉब प्रोफाइल के मुताबिक अपने रिज्यूम में बदलाव करने पड़ते हैं. ऐसे में, अगर आप रिज्यूम राइटिंग के प्रोफेशनल एक्सपर्ट्स की राय लें तो आपको अपनी मनचाही जॉब हासिल करने में काफी सहायता मिल सकती है. वह भी ऐसी स्थिति में जब हमारे देश में एक-एक वेकेंसी के लिए बड़ी संख्या में जॉब सीकर्स अप्लाई करते हैं और इंटरव्यू में शामिल होते हैं. दरअसल अगर आप अपने रिज्यूम का प्रोफेशनल रिव्यु करवा लें तो आपको न सिर्फ अपनी गलतियां ही पता चलती हैं बल्कि आप अपने रिज्यूम को काफी इम्प्रेसिव भी बना सकते हैं जिसे देखते ही एचआर मैनेजर इंटरव्यू के लिए सिलेक्ट कर लेते हैं. आइये इस आर्टिकल में अपने रिज्यूम का प्रोफेशनल क्रिटिकल एग्जामिनेशन करवाने के फायदों के बारे में पढ़ें.

  • एक्सपर्ट रिव्यु हासिल करने के मिलते हैं कई फायदे

अक्सर अधिकांश स्टूडेंट्स यह समझ नहीं पाते हैं कि कोई भी रिक्रूटर 15 सेकंड्स से भी कम समय में कोई रिज्यूम देखता है. HR के डेस्क पर रिज्यूम्स का ढेर लगा रहता है और अगर वे प्रत्येक रिज्यूम को अच्छी तरह से देखने लगें तो वे किसी संगठन में निकली पोस्ट को कभी भर नहीं सकेंगे. इसलिये, आपका रिज्यूम ऐसा होना चाहिए जो पहली नजर में ही भावी एम्प्लॉयर का ध्यान अपनी ओर खींच ले. इसे सुनिश्चित करने का सबसे बढ़िया तरीका यह है कि आप अपने रिज्यूम का रिव्यु किसी एक्सपर्ट या किसी पेशेवर से करवाएं.

बहुत बार, छात्र अपने रिलेटिव , फ्रेंड्स और परिवार के सदस्यों से अपने रिज्यूम का रिव्यु करवाते हैं. लेकिन असल में, जो लोग आपको जानते हैं उनके लिए आपके प्रोफाइल का आलोचनात्मक विश्लेषण करना बहुत मुश्किल होता है. हालांकि, इसके ठीक विपरीत कोई एक्सपर्ट आपको अपनी निष्पक्ष राय दे सकता है और आपके रिज्यूम से गैर-जरुरी पॉइंट्स हटवा सकता है जो आपको किसी जॉब हेतु अपनी उम्मीदवारी के लिए अच्छे लगते हैं लेकिन ये पॉइंट्स वास्तव में उस जॉब के लिए आपकी उम्मीदवारी कमजोर कर देते हैं. आपके लिए अपने रिज्यूम का पेशेवर विश्लेषण करवाना क्यों जरुरी है? इसके कुछ महत्वपूर्ण कारण आपकी सुविधा के लिए नीचे दिए जा रहे हैं:

इस साल जॉब पाने के लिए कुछ ऐसे तैयार करें अपना रिज्यूम

  • एक्सपर्ट्स जॉब ट्रिक्स से होते हैं अवगत

पेशेवर रिज्यूम राइटिंग एक्सपर्ट्स रोज़ाना ढेरों रिज्यूम पढ़ते और लिखते हैं. यह कहना सही होगा कि तकरीबन रोज़ यह काम करने से इन लोगों को रिज्यूम राइटिंग के सभी तरीकों की अच्छी जानकारी होती है जैसेकि इस समय अच्छे रिज्यूम्स लिखने के क्या ट्रेंड्स चल रहे हैं ? वे रिज्यूम के फॉर्मेट, स्टाइल और बनावट से अच्छी तरह वाकिफ होते हैं. वे विभिन्न नौकरियों के लिए आपके लिए अपने रिज्यूम विशेष तरीके से प्रस्तुत करने में काफी मददगार साबित होते हैं.

  • आपके रिज्यूम को एचआर मैनेजर के मुताबिक बनाता है प्रोफेशनल रिज्यूम क्रिटिक

पेशेवर रिज्यूम राइटर्स विभिन्न कार्यक्षेत्रों और औद्योगिक पृष्ठभूमि में काम पर रखने वाले प्रबंधक के दृष्टिकोण से भली भांति परिचित होते हैं. उन्हें पता होता है कि मैनेजर्स किसी रिज्यूम में क्या देखते हैं और क्या एक झलक में उन्हें आकर्षित कर सकता है. उन्हें यह भी पता होता है कि आजकल भावी कैंडिडेट्स को छांटने के लिए कई संगठनों द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे एप्लीकेशन ट्रैकिंग सिस्टम से आपका रिज्यूम कौन सी टिप्स और ट्रिक्स की मदद से पास हो सकता है?

कॉलेज स्टूडेंट्स और फ्रेश ग्रेजुएट्स के लिए कुछ असरदार रिज्यूम राइटिंग टिप्स

  • एक्सपर्ट्स पेशेवर अंदाज़ से बताते हैं आपके रिज्यूम की मिस्टेक्स

आपको क्यों अपना रिज्यूम अन्य लोगों या पेशेवरों से रिव्यु करवाना चाहिए? इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि हम अक्सर अपने लिखे हुए मैटीरियल में खुद छोटी-छोटी गलतियां नहीं पकड़ पाते हैं. यह हर किस्म के लेख के लिए सही है और अगर आप किस्मत से एक पेशेवर लेखक हैं तो आप इस फैक्ट से भलीभांति परिचित होंगे. लेकिन अगर आपने अपना रिज्यूम किसी पेशेवर से रिव्यु करवाया है तो वे तुरंत आपकी गलतियां बता देंगे और आपको अपना रिज्यूम ठीक करने और अपने तरीके से लिखने का काफी समय मिल जायेगा. 

पेशेवर रिज्यूम रिव्युअर ट्रेंड एक्सपर्ट्स होते हैं जो एम्प्लॉयर्स के सोचने और काम करने के तरीके से सुपरिचित होते हैं और उन्हें यह भी पता होता है कि एम्प्लॉयर्स अपने भावी कैंडिडेट के भीतर क्या विशेषताएं तलाशते हैं ? उदाहरण के लिए, अधिकांश स्टूडेंट्स अभी भी यही सोचते हैं कि उनकी एकेडमिक क्वालिफिकेशन्स उनके रिज्यूम में सबसे ज्यादा ध्यान आकर्षित करती हैं लेकिन असल में, शायद किसी मामले में ऐसा बिलकुल न हो. ऐसा भी हो सकता है कि एम्प्लॉयर एकेडमिक सेक्शन में शायद 5 सेकंड ही नजर मारे क्योंकि शायद वह आपकी एक्स्ट्रा-करीकुलर एक्टिविटीज में जायदा इंटरेस्टेड हो. आज इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स भी इस बात से सहमत हैं कि स्टूडेंट्स को अपने रिज्यूम्स के लिए कोई पेशेवर विवेचन जरुर करवाना चाहिए.

कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए रिज्यूम राइटिंग के लेटेस्ट ट्रेंड्स

जॉब्स, लेटेस्ट करियर ट्रेंड्स और एजुकेशनल कोर्सेज के बारे में और अपडेट्स के लिए हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट करें.

Related Categories

Also Read +
x